विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 20 सितंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितम्बर

टीएल बैठक आज


आज कलेक्टर कांफ्रेस होने के कारण आज सोमवार की टीएल बैठक स्थगित की गई है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि अब यह टीएल बैठक मंगलवार दिनांक 21 सितम्बर को 10.30 बजे से आयोजित की गई है। 


जनसुनवाई कार्यक्रम आज


जिले के समस्त शासकीय कार्यालयों में जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन आज मंगलवार 21 सितम्बर से पुनः शुरू हो रही है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि जिला मुख्यालय पर जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन पूर्वानुसार जिला पंचायत के सभागार कक्ष में प्रातः 11 बजे से दोपहर एक बजे तक आयोजित की जाएगी। उन्होंने जिला स्तरीय जनसुनवाई कार्यक्रम में संबंधित विभागो के जिलाधिकारियों को उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि जनसुनवाई कार्यक्रम में पीएम किसान, सीएम किसान संबंधी समस्याओं के निराकरण हेतु पृथक से अधीक्षक भू-अभिलेख श्री राजेशराम की ड्यूटी लगाई गई है उनकी मदद के लिए जूनियर डाटा इन्ट्री आपरेटर श्री गगन वर्मा मौजूद रहेंगे। प्रति मंगलवार को जनसुनवाई कार्यक्रम में किसानो से संबंधित खासकर पीएम किसान, सीएम किसान के आवेदनों का निराकरण उनके द्वारा किया जाएगा।


जनसुनवाई कार्यक्रम हेतु कार्यो का आवंटन आदेश जारी


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में प्रति मंगलवार को आयोजित होने वाली जनसुनवाई कार्यक्रम अवधि के दौरान आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने हेतु अधिकारी, कर्मचारियों को आवश्यक दायित्व सौंपे गए है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने जारी आदेश का हवाला देते हुए बताया कि जनसुनवाई कार्यक्रम जिला पंचायत के सभागार कक्ष में प्रति मंगलवार की प्रातः 11 बजे से दोपहर एक बजे तक आयोजित किया जाएगा। जनसुनवाई कक्ष का प्रभारी विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा को सौंपा गया है जबकि पंजीयन व्यवस्था, आवेदको के बैठने की व्यवस्था का दायित्व जिला खनिज अधिकारी श्री मेहताब सिंह रावत को, प्रति मंगलवार प्रातः साढे दस बजे से दोपहर दो बजे तक जनसुनवाई में प्राप्त आवेदन पत्रों का कम्प्यूटरीकरण कार्य हेतु कम्प्यूटर आपरेटर श्री सैयद ताहिर, श्री महेन्द्र राजपूत, श्री अभिषेक जैन के द्वारा संपादित किया जाएगा। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहकर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने का दायित्व जिन अधिकारियों कर्मचारियों को सौंपा गया है उनमें एपीसी श्री अग्निवेश आर्य, मण्डल संयोजक श्री विनोद भौंसले, कनिष्ठ सहायक नापतौल श्री शैलेन्द्र सिंह, सहायक अधीक्षक श्री बीएस पैठारी, सहायक ग्रेड -दो श्री माधौ प्रसाद पाठक, सहायक ग्रेड तीन श्री सुनील श्रीवास्तव के अलावा आवेदको की सुनवाई में सहयोग हेतु भृत्य सर्व श्री रमेश सिलावट, श्री लखन राजपूत, श्री शाकिर अली और श्री कांता प्रसाद मौजूद रहेंगे। 


जनसुनवाई कार्यक्रम हेतु अधिकारियों को नामांकित करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जनसुनवाई कार्यक्रम के लिए किए जाने वाले आवश्यक प्रबंधो की पूर्ति हेतु विभिन्न विभागो के अधिकारियों को नामांकित करने का आदेश जारी किया है ताकि नामांकित अधिकारी जनसुनवाई अवधि में मौजूद रहकर सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन कर सकें। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी  तथा सिविल सर्जन सह अधीक्षक को पत्र प्रेषित कर चिकित्सा अधिकारी की तैनाती सुनिश्चित कराने के निर्देश प्रसारित किए गए है ताकि कभी -कभी जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान कई आवेदक स्वास्थ्य संबंधी शिकायतो के साथ-साथ बीमारी, इलाज हेतु आवेदन प्रस्तुत करते है वहीं इलाजरत मरीज के लिए ड्रिप के साथ प्लास्टर लगे हुए मरीज स्ट्रेचर पर आ जाते है ऐसे मरीजो को तत्कालिक इलाज के लिए चिकित्सा अधिकारियों को नामांकित करते हुए एम्बुलेंस के साथ जनसुनवाई स्थल पर सुनिश्चित कराना सुनिश्चित करें। जनसुनवाई कार्यक्रम में पुलिस अधिकारी को भी नामांकित करने हेतु पुलिस अधीक्षक को पत्र प्रेषित किया गया है जिसमेंं उल्लेख है कि आवेदक कई बार उत्तेजित होकर कई बार शांति भंग करते है, आत्महत्या की कोशिश करते है। इस प्रकार की स्थिति जनसुनवाई के सभागार कक्ष में निर्मित ना हो इस हेतु सभाकक्ष में एक उपनिरीक्षक, सहायक उपनिरीक्षक की ड्यूटी हेतु नामांकित करें। इसी प्रकार दो होमागार्ड जवानो की तैनाती सुनिश्चित कराने हेतु डिस्ट्रिक्ट कमाण्डेट को निर्देश जारी किए गए है। 


स्वास्थ्य कार्यो की समीक्षा आज


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा स्वास्थ्य कार्यो की समीक्षा व्हीसी के माध्यम से मंगलवार 21 सितम्बर को आयोजित की गई है उपरोक्त समीक्षा सायं चार बजे से शुरू होगी। स्वास्थ्य विभाग के संचालक की अध्यक्षता में आयोजित व्हीसी समीक्षा में मुख्य रूप से राज्य बीमारी सहायता निधि योजना अंतर्गत भुगतान, अस्पतालो में साफ सफाई, सुरक्षा, भोजन, धुलाई एवं औषधियों की भौतिक एवं वित्तीय स्थिति एवं उल्लेखित कार्यो की जानकारी निर्धारित गूगल फार्म में प्रेषित करना तथा डबल फोर्टीफाइड कार्यक्रम के तहत आयोजित होने वाली गतिविधियों की समीक्षा की जाएगी। 


वैक्सीनेशन सर्वे व पर्यवेक्षण हेतु विकासखण्डवार अधिकारी को दायित्व


जिले में कोविड 19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत निर्धारित आयु वर्ग के व्यक्तियों का शत प्रतिशत वैक्सीनेशन कार्य कराए जाने हेतु हर स्तर पर कार्ययोजना तय कर उसे मूर्तरूप दिया जा रहा है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने टीकाकरण कार्यो में तेजी आए और क्रास मानिटरिंग की व्यवस्था को क्रियान्वित कराने हेतु विकासखण्डवार अधिकारियों को दायित्व सौंपने का आदेश जारी कर दिया है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि वैक्सीनेशन कार्य लक्ष्य प्राप्ति हेतु वर्तमान में विभिन्न सर्वे दलो द्वारा वैक्सीनेशन से छूटे द्वितीय डोज की ड्यू लिस्ट से छूटे व्यक्तियों का डोर-टू-डोर सर्वे किया जा रहा है कोविड संक्रमण के प्रसार की रोकथाम तथा वैक्सीनेशन कार्य पूर्ण किए जाने हेतु सर्वे कार्य तथा पर्यवेक्षण की महत्वता को देखते हुए जिलाधिकारियों को विकासखण्डो का आवंटन किया गया हैं तदानुसार विदिशा विकासखण्ड के लिए पिछडा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण के सहायक संचालक श्री एएस कुरैशी, 9425443106, नगर एवं ग्राम निवेश की सहायक संचालक सुश्री दक्षा सनाढ्य, 9926668324, श्रम पदाधिकारी श्री आरसी सतोहे 8319507254, जिला पंजीयक श्रीमती शिप्रा सेन 9425093155 को दायित्व सौपा गया है। ग्यारसपुर विकासखण्ड के लिए जिला योजना अधिकारी श्री महेन्द्र कुमार नवैया, 9981186808, जिला विपणन अधिकारी श्रीमती किरण झारे 6260402563, आईटीआई के अधीक्षक श्री अनुराग प्रसाद श्रीवास्तव 9425488456, नापतौल निरीक्षक श्री सतपाल शर्मा 9039469459 को तथा नटेरन विकासखण्ड के लिए जिला खनिज अधिकारी श्री मेहताब सिंह रावत 8109880046, प्रभारी उपायुक्त सहकारिता श्री पीएल बारोठिया 7999920184, जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेश जैन, 7987300278, अन्त्यवसायी के सीईओ श्री आरएस बकोरिया, 8319372210 तथा बासौदा विकासखण्ड के लिए मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क के महाप्रबंधक श्री केसी सोनी 9425425998, मध्यप्रदेश ग्रामीण सडक के महाप्रबंधक श्री एसपी आर्य 9425148843,पीएचई के ईई श्री एस के जैन 9425483293, आरइएस के ईई श्री शरद तंतुवाय 9009019221, कुरवाई विकासखण्ड के लिए जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी 9009212745, मण्डल संयोजक श्री विनोद भौंसले 8871505556, जीएमडीआईसी श्री पीडी वंशकार 9893091046, अक्षय ऊर्जा के जिला प्रबंधक श्री पीके शाडिल्य 9425641795, सिरोंज विकासखण्ड के लिए जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मुदगल 9425150292, प्रभारी अधिकारी योजना श्री विनोद चौधरी 9826741865, डीपीसी श्री एसपी जाटव 9827543553, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे 9165727777 इसी प्रकार लटेरी विकासखण्ड के लिए सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक डॉ पीके मिश्रा 9407256836, कॉ-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह, 7489902700, कृषि विभाग के सहायक संचालक श्री महेन्द्र ठाकुर 9685086465 तथा किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री पीके चौकसे, 9424729262 को जबावदेंही सौंपी गई है। 


आर्थिक मदद जारी


उपखण्ड अधिकारी विदिशा श्री गोपाल सिंह वर्मा के द्वारा आरबीसी के एक प्रकरण में  चार लाख रूपए की आर्थिक मदद के आदेश जारी कर दिए है। एसडीएम श्री वर्मा के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि विदिशा के ग्राम ठर्र निवासी सोनू की मृत्यु पानी में डूबने से हो जाने के कारण मृतक के पिता मथुराप्रसाद को चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता जारी की गई है।


वृत्तिकर जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर


मध्यप्रदेश वृत्तिकर संशोधन अधिनियम 2018 के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिये वृत्तिकर जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर 2021 है। जिला वाणिज्यकर अधिकारी ने बताया है कि जीएसटी में पंजीयत व्यवसाई, निजी विद्यालयध्महाविद्यालय, कम्प्यूटर सेंटर, चिकित्सक, चिकित्सा व्यवसायी, सीए, वकील, बीमा अभिकर्ता, बीमा कम्पनी, फाईनेंस बैंकध्कम्पनी, मदिरा दुकान संचालक, चिटफण्ड संचालित वाली संस्थायें या व्यक्ति, सहकारी सोसाईटी, ट्रांसपोर्टर, कोचिंग संस्थान, निजी चिकित्सालय, निजी जीएनएम, लेबटेक्नीशीयन, फर्मासिस्ट, एक्सरे ट्रेनिंग सेंटर, जिमसेंटर, धर्मकाटा, होटल, लॉज, विवाह मंडप, टेंट शामयाना, केवल ऑपरेटर, वीडियो पार्लर, ब्यूटी पार्लर, फाइनेंस कम्पनी, क्लीनिक, लैब पेथोलॉजी, नर्सिंग होम, क्योस्क सेंटर, फैशन डिजाईनर, बुटीक आदि उक्त तिथि तक अनिवार्यतः वृत्तिकर जमा करायें जिससे बिलंब से लगने वाली शास्ति व वसूली की कार्यवाही से बचा जा सके।


गम्भीर बीमारियों से सावधानी बरतने और वायरल होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाने की अपील


गम्भीर बीमारियों जैसे ब्लड प्रेशर, डायबिटीज किड़नी, अस्थमा, केंसर आदि बीमारियों से पीडित  व्यक्तियों से कोरोना से बचाव के लिये पूरी तरह सावधानियां बरतने की अपील की गई है।कोरोना के दृष्टिगत ऐसे व्यक्ति भीड़-भाड़ में न जायें, आपस में दो गज की दूरी बनाकर रखें। हाथों को सैनेटाइज करते रहना अथवा हाथों को साबुन से धोते रहने जैसी सावधानी बरतें। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने सलाह दी है कि किसी भी व्यक्ति को सर्दी, जुखाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, भूख न लगना, दस्त लगना आदि के लक्षण होने पर वे घर पर ही पारंपरिक उपचार लेते रहते है। ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते है, जिन्हे स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय उनकी बीमारी और बढ़कर जटिल हो जाती है। ऐसे लोंगो को  अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में कोविड-19 की जांच पॉजीटिव आती है तो उपचार और जटिल हो जाता है। ऐसे मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट या आईसीयू में भर्ती कर उपचार करना पड़ता है। ऐसी बीमारियों से प्रभावित व्यक्तियों को सलाह दी है कि उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, हाथ-पैरों में दर्द, शरीर में ऐठन, भूख न लगना खाने व सूघंने में स्वाद का पता न लगना आदि लक्षणों में आते ही वे तुरंत चिकित्सक से परामर्श ले। अथवा कोविड-19 की जांच करवाकर समय रहते पूर्व उपचार लेकर स्वास्थ्य हो। जिससे वे अपने परिवार को सुरक्षित रख सकें।


डीएपी उर्वरक के विकल्पों का उपयोग करें


जिले के कृषकबंधुओं से किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री पीके चौकसे ने आग्रह किया है कि किसानबंधु डीएपी उर्वरक पर निर्भर ना रहें। उसकी जगह अन्य विकल्पों का उपयोग करें। डीएपी (डायअमोनियम फास्फेट) उर्वरक एक महत्वपूर्ण उर्वरक है जिसमें 18 प्रतिशत नाइट्रोजन तथा 46 प्रतिशत फास्फोरस होता है। किसान भाई फसलों में नाइट्रोजन तथा फास्फोरस दोनो की पूर्ति हेतु उर्वरक का उपयोग कईबार से करते आ रहे है जिससे डीएपी उपयोग के आदी हो चुके है। भारत सरकार द्वारा 12 सौ रूपए प्रति बोरी की सब्सिडी दी जा रही है। डीएफी उर्वरक की अधिकतम मात्रा विदेशो से आयात की जाती है। ऐसी संभावना व्यक्त की जा रही है कि आने वाले रबी मौसम में डीएपी उर्वरक की उपलब्धता बहुत कम होगी। अतः किसान भाई अपनी फसलों के लिए आवश्यक पौषक तत्वों की पूर्ति डीएपी के स्थान पर अन्य उर्वरकों से करनी होगी। अतः किसान भाई डीएपी के स्थान पर नाइट्रोजन एवं फास्फोरस की पूर्ति बाजार में उपलब्ध अन्य उर्वरकों जैसे यूरिया, सिंगल सुपर फास्फेट तथा एनपीके आदि उर्वरको से पूर्ति कर सकते है।


स्वास्थ्य शिविर का आयोजन हुआ


vidisha news
आजादी का अमृत महोत्सव का आयोजन जिले में जारी है ततसंबंधी कार्यक्रम आज ग्यारसपुर जनपद पंचायत के प्रागंण में आयोजित किया गया था यहां स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी आयोजित किया गया था जिसमें आयुष विभाग के द्वारा 62 तथा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 17 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें रोगोपचार की दवाईयां प्रदाय की गई है। कार्यक्रम को बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी सम्बोधित किया तथा लाभांवित होने वाले हितग्राहियों को मौके पर सामग्री, उपकरण प्रदाय किए हैं प्राप्त जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य शिविर में तीन हितग्राहियो को ट्रायसाइकिल, दो को व्हील चेयर तथा दो को वैशाखी का वितरण किया गया। इसके अलावा अतिथियों द्वारा मंच से पांच हितग्राहियों को विवाह सहायता, दो हितग्राहियों हो परिवार सहायता तथा दस हितग्राहियों को पेंशन स्वीकृति के आदेश प्रदाय किए है।


नियमित टीकाकरण सत्र चिन्हित स्थलों पर


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि राज्य स्तर से प्राप्त दिशा निर्देशानुसार आज मंगलवार 21 सितम्बर को कोविड 19 टीकाकरण सत्रों के कारण ग्रामो में नियमित टीकाकरण सत्र आयोजित नही किए जाएंगे। अतः छोटे बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को टीके लगाने का कार्य मंगलवार को चिन्हित स्थलों पर नियमित टीकाकरण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उन स्थानो में जिला चिकित्सालय, सिविल अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शामिल है। अर्थात उल्लेखित स्थलों पर ही नियमित टीकाकरण कार्य संपादित किए जाएंगे। 


विदिशा शहर में सात स्थलों पर टीकाकरण


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि विदिशा नगर में 21 से 23 सितम्बर तक सात स्थलों पर कोविड 19 टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जाएगा उसमें रामलीला लंका भवन, सिटी हास्पिटल, जिला दिव्यांग पुर्नवास केन्द्र, माधवगंज क्रमांक दो टीलाखेडी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र करैयाखेडा एवं मोहनगिरी तथा शासकीय कन्या महाविद्यालय शामिल है।


विदिशा विकासखण्ड के 25 ग्रामो में टीकाकरण सत्र आज


विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा ने बताया कि अनुविभाग क्षेत्र के 25 ग्रामो में मंगलवार 21 सितम्बर को टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया गया है। चिन्हित स्थलों पर प्रातः आठ बजे से एक बजे तक टीकाकरण कार्य किया जाएगा उनमें क्रमशः ग्राम बागरी, खामखेडा चौरासी, बामोरा, हांसुओ, सौंथर, भाटनी, खरी, ठर्र, पांझ, सोंठिया, हरिसिंहमूडरा, कुंआखेडी, देवखजूरी, कागपुर, खेरूआहाट, लश्करपुर, करारिया, सतपाडासराय, थान्नेर, कोठीचारकलां में टीकाकरण किया जाएगा । वही प्रातः आठ बजे से दोपहर दो बजे तक जिन ग्रामो में टीकाकरण सत्र आयोजित किए गए है। उनमें पीपलखेडाकलां, बर्रो, सायर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अहमदपुरकस्बा, बालाबरखेडा शामिल है।


कलेक्टर, कमिश्नर कांफ्रेस का आयोजन


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंत्रालय से वर्चुअल कलेक्टर्स, कमिश्नर कांफ्रेस की। विदिशा के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव तथा पुलिस अधीक्षक श्रीमती मोनिका शुक्ला ने जिले की अद्यतन जानकारियों से अवगत कराया है। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, सहायक कलेक्टर श्री अनिल कुमार राठौर के अलावा विभिन्न विभागो के जिलाधिकारी मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: