विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 सितंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 सितम्बर

अनुषासनहीनता करने वाले अधिकारियों को दण्ड मिलना चाहिए-शषांक भार्गव


vidisha news
विदिशाः- विगत दिनों गंजबासौदा पुलिस ने बल द्वारा शांतिपूर्वक तरीके से विरोध प्रदर्षन कर रहे युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ अभद्रतापूर्ण व्यवहार कर उन्हें ािाने लाकर उनके साथ गाली गलौच करते हुए मारपीट की गई थी वहीं ग्यारसपुर में अपनी फरियाद लेकर तहसील कार्यालय पहंुचे किसान के साथ तहसीलदार द्वारा अभद्र व्यवहार करते हुए मोबाईल फेंक कर मार दिया जिससे किसान को गंभीर चोअ आई। इन घटनाओं से जिलेभर के कांग्रेस कार्यकर्ता एवं किसान बंधु आक्रोषित है। इन घटनाओं के दोषी अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की मांग को लेकर आज जिला युवा कांग्रेस, विदिषा विधानसभा युवा कांग्रेस ब्लॉक किसान कांग्रेस के संयुक्त तत्वाधान में सैकडों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता विवेकानंद चौराहे पर एकत्रित होकर नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय पहंुचे जहां राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर उमाषंकर भार्गव एवं पुलिस अधीक्षक मोनिका शुक्ला को ज्ञापन सौंपा गया।  विधायक शषांक भार्गव ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में विरोध प्रदर्षन करना विपक्षी दल के कार्यकर्ताओं का संविधान प्रदत्त अधिकार है। भाजपा सरकार के राज में सरकार का विरोध करने वालो की आवाज दबाने की कोषिषें लगातार की जा रही है। फरियादी किसान के साथ मारपीट की घटना में अधिकारियों की निरंकुषता स्पष्ट तौर पर दिखाई दे रही है। इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए दोषी अधिकारियों को निलंबित कर दण्डात्मक कार्यवाही होना चाहिए।  जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष वैभव भारद्वाज ने कहा कि गंजबासौदा के युवा कंाग्रेस कार्यकर्ताओं को न्याय दिलाने एवं उपनिरीक्षक जगदीष सोनकर को निलंबित किए जाने की मांग पूरी नही होने तक आंदोलन जारी रहेगा। विदिषा विधानसभा युवा कांग्रेस अध्यक्ष संयोग राज जैन ने कहा कि पुलिस द्वारा युवा कंाग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्षन के दौरान इस तरह की घटनाएं बर्दाष्त नहीं की जायेंगी।  ज्ञापन का वाचन ब्लॉक किसान कांग्रेस अध्यक्ष रूपेन्द्र सिंह (सोनू) राजपूत ने किया। ज्ञापन सौंपने के दौरान नरेन्द्र पीतलिया, एड. प्रभुदयाल यादव, विधायक प्रतिनिधि बाबूलाल वर्मा, नंदकिषोर शर्मा, मोहित रघुवंषी, मजीद भाई, सुरेष मोतियानी, जिनेष जैन टिंग्गी, अजय कटारे, नरेन्द्र रघुवंषी, दीवान किरार, वीरसिंह रघुवंषी, गोविन्द भार्गव, सुरेषबाबू पाठक, अरूण अवस्थी, सुनील रघुवंषी, नौनितराम किरार, हेमंत शर्मा, दीपक कपूर, डॉ. राजेन्द्र दांगी, मलखानसिंह मीणा, भूपेन्द्र रघुवंषी, जयप्रकाष चतुर्वेदी, बलराम सिंह लोधी, नवीन कोठारी, रामराज दांगी, बृजेन्द्र वर्मा, कमलेष शर्मा, सतेन्द्र पवार, नरेन्द्र दांगी, गोविन्द चौबे, चंद्रपाल सिंह राजपूत, प्रमोद ठाकुर, नवीन श्रीवास्तव, बसंत पीतलिया, मनोज जैन, मुआज कामिल, संतोष गौड़, कोमल जाटव, धन्नालाल कुषवाह, जावेद मंसूरी, भोलाराम अहिरवार, खिलानसिंह शाक्य, विनोद राजपूत, मनोज कुषवाह, मुलायम कुषवाह, रामभरोसे लोधी, ओ.पी. सोनी, लालू लोधी, डॉ. निषीथ मिश्रा, राजकुमार डिडोत, दीपक दुबे, हरिओम किरार, गणेष दांगी, रामसेवक दांगी, सुमित पाल, राहुल रघुवंषी, ऋषभ पासी, देवेष भावसार, अहजर खान, दानिष अली, अनिकेत सेन, गुरप्रीत सहित सैकडों की संख्या में युवा कांग्रेस एवं किसान कांग्रेस के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


राजस्व कार्यो का जायजा : नामांतरण आदेश पारित दिवस को ही ऋण पुस्तिका उपलब्ध कराएं-कलेक्टर श्री भार्गव


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज राजस्व कार्यो की समीक्षा बैठक में समस्त राजस्व अधिकारियों से कहा कि जिले में कोविड टीकाकरण कार्य के शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति हेतु अब समस्त एसडीएम अपने-अपने कार्यक्षेत्रों में स्वंय ही प्लान कर उसका क्रियान्वयन करेंगे। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है कि सर्वेक्षण उपरांत ऐसे क्षेत्र जहां टीकाकरण कार्य अनुपातिक आधार पर कम है उन क्षेत्रों की सूची संबंधित बीएमओ को उपलब्ध कराएं ताकि छूटे हुए नागरिकों का चिन्हांकन उपरांत टीकाकरण कार्य किया जा सकें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि जिले में फर्स्ट डोज का कम से कम 90 प्रतिशत टीकाकरण कार्य शीघ्रतिशीघ्र पूर्ण कराया जाए इसके लिए एसडीएम माइक्रोप्लान तैयार करेंगे। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि जिले में 17 सितम्बर को महा टीकाकरण अभियान संचालित किया जाएगा इसके लिए अभी से कार्ययोजना तय की जाए। इस दौरान बताया गया कि वर्तमान में वैक्सीन के पचास हजार डोज उपलब्ध है इन सबका शीघ्रतिशीघ्र सदुपयोग कर टीकाकरण से छूटे नागरिको को टीका लगे के लिए मोबाइल यूनिट डोर-टू-डोर सम्पर्क तथा प्रत्येक ग्रामो में छोटे-छोटे सत्र आयोजित करने पर बल दिया गया है। अंतर्रविभागीय समन्वय के तहत ऐसे कार्य लंबित ना रहे जो जनहितैषी है अतः एसडीएम ओर अधीनस्थ अमला अनुविभाग स्तर पर भी बैठको के माध्यम से समाधान कराना सुनिश्चित करें। बैठक में जिले में लंबित विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं, राष्ट्रीय राजमार्गो के निर्माण के संबंध में भी चर्चा कर समाधान की कारगर पहल करने के संबंध में दिशा निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने राजस्व अधिकारियों की प्रथम बैठक में उन सबको सचेत करते हुए कहा कि राजस्व अधिकारी अपने अच्छे आचरण, व्यवहार से जाने जाएं। उनके कदाचरण से पूरे विभाग की छवि धूमिल होती है। उन्होंने गोपनीय सूचनाएं प्राप्ति के लिए जनता से सीधा संवाद करने की सीख दी है। कलेक्टर श्री भार्गव ने कि आमजन के जायज काम रूके ना और नाजायज काम कदापि हो ना इस बात का पूरा ध्यान रखते हुए पूर्ण पारदर्शिता के साथ राजस्व कार्य समयावधि में संपादित करना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि राजस्व अधिकारियों में सीखने की ललक सदैव परलिक्षित हो ताकि कार्यो में सुधार दिखे और आमजनों की समस्याओं का समाधान शीघ्र कर उनके विश्वासो पर खरे उतरे। कलेक्टर श्री भार्गव ने एसडीएमो को निर्देश दिए है कि नामांतरण बंटवारा के जिन प्रकरणो में आदेश पारित होते है उन सभी प्रकरणो में अपने सामने रिकार्ड दुरूस्त कराना सुनिश्चित करें वही ऋण पुस्तिका ही संबंधित आवेदक को उसी दिन प्रदाय कराने की व्यवस्था क्रियान्वित की जाए। उन्होंने कहा कि कार्यालयों के औचक निरीक्षण अथवा भ्रमण के दौरान आमजनों से यह जानकारी प्राप्त हुई कि नामांतरण उपरांत ऋण पुस्तिका उसी दिन उपलब्ध नही कराई गई है तो संबंधित के खिलाफ कठोर एवं आर्थिक दण्ड की कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने खरीफ गिरदावरी परफेक्ट आंकडे अंकित किए जाएं। पटवारी द्वारा संबंधित काश्तकार के द्वारा जो फसल ली गई है उसी फसल का ही बीमा प्रीमियम शुल्क जमा कराया जाए ताकि बीमा राशि की भुगतान प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की त्रुटियों का सामना कृषक को करना ना पडें। जिला कोषालय में आरबीसी 6(4) के दावे भुगतान संबंधी बिलों के ट्रांजेक्शन फेल होते है तो इसकी सूचना संबंधित राजस्व अधिकारी को त्वरित प्राप्त हो इसके लिए निर्धारित साफ्टवेयर से राजस्व अधिकारी भलीभंति प्रशिक्षित हो की जबाबदेही जिला कोषालय को सौंपी है। कलेक्टर ने कहा कि ट्रांजेक्शन के दौरान फेल होने वाले बिलो की जानकारी अविलम्ब प्राप्त होने पर उनमें सुधार त्वरित कर पीडितो को राशि शीघ्रतिशीघ्र मिल सकें। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त एसडीमों को निर्देश दिए है कि जिला स्तर की तर्ज पर एसडीएम अनुविभाग क्षेत्र में राजस्व कार्यो की समीक्षा प्रत्येक माह में कम से कम तीन बार अनिवार्य रूप से करें ताकि राजस्व कार्यो के क्रियान्वयन में कहां दिक्कत आ रही है से अनुविभागीय अधिकारी भी भलीभांति अवगत होकर राजस्व कार्यो पर पकड बन सकें।   कलेक्टर श्री भार्गव ने राजस्व वसूली में आशातीत प्रगति परलिक्षित नही होने पर सभी एसडीएम सहित अन्य को स्पष्ट निर्देश दिए है कि सितम्बर माह में जिले का राजस्व लक्ष्य प्राप्ति का बीस प्रतिशत वसूली किया जाना सुनिश्चित करें इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी। लक्ष्य से कम प्रगति हासिल करने वालो के खिलाफ कठोर दाण्डिक कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने धारणाधिकार के तहत आवासीय व वाणिज्यिक अधिकार पत्रों के लिए प्राप्त होने वाले आवेदनों का पोर्टल पर दर्ज करने की प्रक्रिया, स्वामित्व योजना, राजस्व न्यायालयों में अवधि के लंबित प्रकरणों के अलावा बाढ राहत से पीडितो को शासन के मापदण्ड अनुसार प्रदाय की जाने वाली राहत राशि के अलावा ई-हस्ताक्षर, आरसीएमएस पर ऑनलाइन केस दर्ज करने के लिए प्रोत्साहित करना एवं न्यायालय शुल्क लिए जाने बावत, आरसीएमएस के माध्यम से प्रवासी श्रमिक राहत-शामक मॉडयूल के संबंध में डेटा प्रविष्टि व राहत राशि का वितरण, भूमि अधिग्रहण प्रशासनिक शुल्क के संबंध में, रेल्वे एनएच और सिंचाई परियोजनाओं आदि के अधिग्रहण के मामल, भू-अर्जन, लंबित बीएस आश्वासन, याचिका, लोक लेखा समिति, अभयदान का जबाव संबंध में, न्यायालय में लंबित गतिशील प्रकरणों को अद्यतन स्थिति, सीएम हेल्पलाइन का गुणवत्तापूर्ण समय सीमा में निराकरण, लोक सेवा गारंटी, एनएफबीसी वित्तीय कंपनियों द्वारा जमा राशि स्वीकार, वापसी एवं आयुक्त के पत्र पर कार्यवाही एवं निजी भूमि स्वामी (खदान पट््टे) इत्यादि शामिल है। इसी प्रकार भाग ब के अंतर्गत एसडीओ द्वारा बेबजीआईएस पर गैर कृषि भूमि के लिए ऑन लाइन पुनर्मूल्यांकन मॉडयूल का उपयोग, फसल गिरदावरी एवं बीमा, पीएम किसान सम्माननिधि योजना का कार्य, मॉडर्न रिकार्ड रूम की अवधारणा तथा अद्यतन रखना, आबादी सर्वे हेतु निर्देश, बेबजीआईएस खसरा त्रुटि सुधार परिमार्जन के कार्यो की गहन समीक्षा की गई है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार मौज्ूद रहें। 


नेशनल लोक अदालत का आयोजन आज, 10931 से अधिक प्रकरणों का निराकरण होगा, 28 खण्ड पीठो का गठन


मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला मुख्यालय के साथ-साथ तहसील न्यायालयों में 11 सितम्बर  को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया है। विदिशा जिले में नेशनल लोक अदालत के लिए कुल 28 खण्ड पीठो का गठन किया गया है। जिसमें जिला मुख्यालय पर 13, गंजबासौदा में आठ, सिरोंज में चार, लटेरी में दो तथा कुरवाई तहसील में एक खण्ड पीठ का गठन किया गया है। नेशनल लोक अदालत में कुल 10931 प्रकरणों का निराकरण किया जाएगा जिसमें 8043 प्रीलिटिगेशन के प्रकरण तथा 2888 विभिन्न न्यायालयों में लंबित विभिन्न प्रकृति के राजीनामा युक्त प्रकरणों को रेफर किया जा रहा है। जिला मुख्यालय के अलावा तहसील न्यायालय परिसरों में एक साथ आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में दीवानी, फौजदारी प्रकरणो, बैंको, बीएसएनएल, प्रीलिटिगेशन प्रकरणो सहित अन्य प्रकरणों का आपसी सुलह से निराकरण किया जाएगा। शनिवार 11 सितम्बर को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में जिले के न्यायिक न्यायालयों में लंबित प्रकरणो में से 354 फौजदारी, 886 चेक अनादर, 158 मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा, 60 विद्युत चोरी, 287 वैवाहिक भरण पोषण, 599 सिविल प्रकरण तथा 544 अन्य मामले सहित कुल 2888 प्रकरण समझौता हेतु रेफर्ड चिन्हित किए गए है। जबकि प्रीलिटिगेशन (मुकदमा पूर्व) के रूप में बैंको के रूप में ऋण वसूली से संबंधित 4403 प्रकरण, विद्युत बिल के 3073, जलकर के 140, बीएलएनएल के 352 तथा सम्पत्तिकर जलकर के 75 प्रकरण सहित कुल 8043 प्रीलिटिगेशन प्रकरण समझौता निराकरण हेतु रखे जाएंगे। लोक अदालत ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा समझौता योग्य किसी भी मामले का निराकरण पूर्ण रूप से हो जाता है यदि कोई प्रकरण लोक अदालत के माध्यम से समझौते द्वारा निराकरण किया जाता है तो उसकी अपील नही होती है साथ ही न्याय शुल्क भी नियमानुसार वापिस हो जाता है। जिससे पक्षकारो के मध्य वैमन्स्य समाप्त होकर सदा के लिए विवाद का अंत होता है। पक्षकारगणो से अपील है कि वे अपने समझौता योग्य प्रकरण का निराकरण नेशनल लोक अदालत में कराकर लाभ प्राप्त कर सकते है।


स्वतंत्रता दौड का आयोजन आज


आजादी के अमृत महोत्सव पर शनिवार 11 सितम्बर को स्वतंत्रता दौड का आयोजन किया गया है। नेहरू युवा केन्द्र के जिला युवा अधिकारी श्री सलीम खॉन ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम अंतर्गत युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार स्वतंत्रता दौड का आयोजन 11 सितम्बर की प्रातः नौ बजे से किया गया है। जिला मुख्यालय पर स्वतंत्रता दौड खेल परिसर से प्रातः नौ बजे शुरू होगी जो नीमताल चौक पर सम्पन्न होगी। उक्त दौड में शहर के गणमान्य नागरिकों, साहित्यकारों, वरिष्ठ खिलाडियों, समाजसेवियों सहित विभिन्न संस्थाओं को प्रतिभागिता हेतु आमंत्रित किया गया है। 


डीएलसीसी की बैठक 15 को


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में डीएलसीसी की बैठक बुधवार 15 सितम्बर को आयोजित की गई है। यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के सभागार कक्ष में दोपहर तीन बजे से शुरू होगी। 


’कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिये ऑनलाईन आवेदन सोमवार तक’


संयुक्त संचालक किसान कल्याण ने बताया कि वर्ष 2021-22 के लिये कृषि यंत्र अनुदान पोर्टल पर जिलेवार लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं । पोर्टल पर निर्धारित कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिये संभाग के सभी जिलों  के कृषक 13 सितम्बर 2021 तक पोर्टल ऑनलाईन आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। निर्धारित तिथि तक प्राप्त आवेदनों में से लक्ष्य के विरुद्ध 14 सितम्बर को लॉटरी की प्रक्रिया के तहत चयन किया जाएगा । चयनित कृषकों की सूची एवं प्रतीक्षा सूची दोपहर 3 बजे तक पोर्टल में प्रदर्शित कर दी जायेगी । कृषि यंत्रों के अनुदान के लिये कृषक अपने ऑनलाईन आवेदन निर्धारित यंत्रों के लिये ही कर सकेंगे । इन यंत्रों में स्वचलित रीपर, रीपर, मल्टीक्रॉप थ्रेशर, एक्सियल फ्लो पैडी थ्रेशर, पॉवर स्प्रेयर या बूम स्प्रेरयर (ट्रैक्टर चलित), विनोविंग फैन (ट्रैक्टर या मोटर ऑपरेटेड) यंत्रों पर अनुदान के लिये आवेदन ऑनलाईन किये जा सकते हैं ।


’धान उपार्जन हेतु पंजीयन 15 सितम्बर से’


खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में धान उपार्जन हेतु कृषक पंजीयन के लिये जारी उपार्जन नीति अनुसार किसान पंजीयन 15 सितम्बर से 14 अक्टूबर तक किया जायेगा। किसान पंजीयन की प्रक्रिया ई-उपार्जन पोर्टल एवं एमपी किसान एप गिरदावरी एवं कियोस्क कामन सर्विस सेंटरध्लोक सेवा केन्द्र पर गिरदावार के आधार पर होगी। पंजीयन में पूर्व से पंजीकृत किसान एवं नवीन किसान पंजीयन जिसमें किसान की भूमि का रकबा, फसल एवं फसल की किस्म की जानकारी गिरदावरी से ली जायेगी। पंजीयन ओटीपी आधारित व्यवस्था से होगा। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में किसान पंजीयन में 15 अगस्त 2021 तक कराए गए सिकमीध्बटाईदार अनुबंध ही मान्य होगे। उन्होंने कृषक से अपेक्षा की है कि पंजीयन की निर्धारित समयावधि में पंजीयन केन्द्रध्गिरदावर एप से पंजीयन करायें। 


जिले में औसत से अधिक वर्षा से अधिक हुई


विदिशा जिले में शुक्रवार दस सितम्बर को 14.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है जबकि अब तक 1078.7 मिमी वर्षा दर्ज हो चुकी है। गौरतलब हो कि जिले की औसत वर्षा 1075.50 मिमी है। अधीक्षक भू-अभिलेख श्री राजेशराम ने बताया की विदिशा में दस मिमी, कुरवाई में 19.2 मिमी,  सिरोंज में 33 मिमी, लटेरी में 25 मिमी,  ग्यारसपुर में चार मिमी, गुलाबगंज में दो मिमी, नटेरन में तीन मिमी, शमशाबाद में 43 मिमी और पठारी में 7.9 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। इसके अलावा बासौदा तहसील में वर्षा नगण्य रही।


80 फीसदी उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम से कर रहे बिजली बिल का भुगतान’, ’ऑनलाइन भुगतान सुविधा का लाभ उठाएं, रू. 20 तक की छूट पाएं’


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के निम्नदाब के विभिन्न श्रेणी के उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम से अपना बिजली बिल का भुगतान करने में अपनी प्रभावी भागीदारी सुनिश्चित कर रहे हैं। ऑनलाइन बिजली बिलों के भुगतान से उपभोक्ताओं को एक ओर जहॉं बिल भुगतान के लिए बिजली कंपनी के दफ्तरों में नहीं आना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर ऑनलाइन भुगतान पर कंपनी द्वारा रू. 20 तक की छूट भी प्रदान की जा रही है। कंपनी कार्यक्षेत्र के अंतर्गत लगभग 84 प्रतिशत निम्नदाब कनेक्शनों का बिल भुगतान ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त हो रहा है। इसका मतलब है कि करीब-करीब 80 फीसदी उपभोक्ता बिजली बिल के भुगतान के लिए ऑनलाइन माध्यम का उपयोग कर रहे हैं। इसी प्रकार उच्चदाब श्रेणी के शत-प्रतिशत उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम से बिजली बिलों का भुगतान करते हैं। चालू माह में कंपनी के विभिन्न जिलों के उपभोक्ताओं ने ऑनलाइन माध्यम से करीब 50 करोड़ रूपये का भुगतान किया है। चालू माह में ऑनलाइन माध्यम से लगभग 80 फीसदी उपभोक्ताओं से भुगतान प्राप्त हो रहा है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक ने बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे ऑनलाइन माध्यम से बिजली बिलों का भुगतान करें। इससे उन्हें 20 रूपये तक की छूट का लाभ मिलेगा, साथ ही ऑनलाइन भुगतान की रसीद भी प्राप्त होगी। उन्होंने कंपनी के उपाय एप के माध्यम से भी भुगतान का आग्रह किया है। साथ ही एम.पी.ऑनलाईन, कॉमन सर्विस सेन्टर, कंपनी पोर्टल portal.mpcz.in (नेट बैंकिंग, क्रेडिटध्डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड एवं वॉलेट आदि) फोन पे, अमेजान पे, गूगल पे एवं पेटीएम एप के माध्यम से बिल भुगतान कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: