बिहार : नामांकन वापसी के बाद 1 लाख 05 हजार 658 उम्मीदवार मैदान में - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 31 अक्तूबर 2021

बिहार : नामांकन वापसी के बाद 1 लाख 05 हजार 658 उम्मीदवार मैदान में

seventh-phase-panchayat-election-bihar
पटना. बिहार में हो रहे त्रिस्तरीय पंचायत और ग्राम कचहरियों के लिए सातवें चरण में 27,730 पदों के लिए कुल 1,07,315 लाख प्रत्याशी मैदान में डट गए हैं. शनिवार को नाम वापसी की समय सीमा समाप्त होने के साथ ही मैदान में डटे रहने वाले प्रत्याशियों में चुनाव चिह्न बांट दिया गया.राज्य निर्वाचन आयोग द्वार सातवें चरण में नाम वापसी की समय सीमा शनिवार को समाप्त होने तक 1657 प्रत्याशियों ने नाम वापस ले लिया. वहीं, विभिन्न कारणों से 694 पर्चे रद हो गए. अब ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 12,2,72 पद के लिए 58,217, मुखिया के 904 पद के लिए 8121, पंचायत समिति सदस्य के 1243 पद की तुलना में 8469, जिला परिषद सदस्य 135 पद कुल तुलना में 1540, पंच के 12,2,72 की तुलना में 25,145 और सरपंच के 904 पद की तुलना में 5,823 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं.सातवें चरण के लिए 37 जिलों के 63 प्रखंडों में 15 नवंबर को चुनाव होना है. वहीं, 17 व 18 नवंबर को मतों की गिनती होगी. पटना जिले के बाढ़ अनुमंडल के पंडारक प्रखंड में पंचायत आम निर्वाचन 2021 के तहत अब तक कुल 1609 प्रत्याशियों ने विभिन्न पद के लिए अपना नामांकन कराया है.ग्राम पंचायत के सदस्य के लिए कुल 884, ग्राम कचहरी पंच के लिए 35, ग्राम पंचायत मुखिया पद के लिए 152, ग्राम कचहरी सरपंच के लिए 104 तथा पंचायत समिति के सदस्य के लिए कुल 118 प्रत्याशियों द्वारा नामांकन पर्चा भरा गया है. शनिवार को समीक्षा के उपरांत तीन उम्मीदवारों के नामांकन पत्र को रद्द कर दिया गया है. इसमें ग्राम पंचायत के सदस्य का एक तथा ग्राम कचहरी पंच के दो प्रपत्र शामिल हैैं.इस प्रकार 1609 में से अंतिम रूप से 1606 नामांकन पत्रों को स्वीकृत कर लिया गया है.


बिहार में सातवें चरण के पंचायत चुनाव को लेकर 694 नामांकन पत्र अस्वीकृत किए गए, जबकि 1657 नामांकन पत्र उम्मीदवारों द्वारा नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 30 अक्टूबर तक वापस लिए गए. राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार इस चरण में 37 जिलों के 63 प्रखंडों में चुनाव होना है.कुल 27 हजार 730 सीटों के लिए 1 लाख 8 हजार 9 नामांकन पत्र दाखिल किए गए.इनमें कुल 1 लाख 7 हजार 315 नामांकन पत्रों को स्वीकृत किया गया है। वहीं, नामांकन वापसी के बाद 1 लाख 05 हजार 658 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. पंचायत चुनाव के दौरान जोश में नामांकन करने के बाद वास्तविक स्थिति का आकलन होते ही मुखिया पद के सर्वाधिक 633 नामांकन पत्र वापस लिए गए. वहीं, पंचायत सदस्य के 562, पंचायत समिति सदस्य के 199, जिला परिषद सदस्य के 62, पंच के 103 व सरपंच के 98 नामांकन पत्र वापस लिए गए. सामाजिक कार्यकर्ता पप्पू राय ने कहा कि पटना सदर प्रखंड के नकटा दियारा ग्राम पंचायत से 8 प्रत्याशी पंचायत समिति सदस्य के लिए नामांकन पत्र दाखिल किये थे.इनमें से पंचायत समिति सदस्य के 3 प्रत्याशियों ने शिक्षित,सुयोग्य,कर्मठ,ईमानदार एवं समाजसेवी चंदन कुमार के समर्थन में नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 30 अक्टूबर को मैदान छोड़कर भाग खड़े हुए.समाजसेवी चंदन कुमार को चारपाई चुनाव चिंह मिला है.

कोई टिप्पणी नहीं: