मोहन गार्डन थाना पुलिस ने 12 घंटों में अपहरण,लूट,रोडरेज़ का सुलझाया मामला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 23 अक्तूबर 2021

मोहन गार्डन थाना पुलिस ने 12 घंटों में अपहरण,लूट,रोडरेज़ का सुलझाया मामला

mohan-garden-case-solved
नई दिल्ली। थाना मोहन गार्डन ने माह12 घण्टो में रोड रेंज़, अपहरण ओर लूट को अंजाम देने वालो धर दबोचा। दरअसल  पुलिस कंट्रोल रूम को अपहरण व लूट की काल मिली जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुची ओर मामले की जांच की जहां पीड़ित टेक चंद पुत्र साजन कुमार निवासी आरजेड-69, ए एम ब्लॉक धर्मपुरा, नजफगढ़, नई दिल्ली उम्र 22 वर्ष अपने छोटा हाथी टेंपो नंबर डीएल-1 एल ए डी -7930 से मिले पूछताछ में उसने बताया कि वह आने अन्य दो साथियों दीपक ओर योगेश के साथ लकड़ी की सेंट्रिंग लोड कर के जा रहे थे रास्ते मे एक सेंट्रो कर जिसमे तीन युवक थे उसके टेम्पो से थोड़ी सी कार टच हो गई जिसके बाद सेंट्रो कार से उन्होंने ओवर टेक कर टेम्पो रोक लिया और उससे हर्जाने की मांग करने लगे उसके मना करने पर  मारपीट कर उसे जबरन सेंट्रो कार में उठाकर ले गए और उससे टैम्पो की चाबी डैबिट कार्ड और मोबाइल छीन लिया पीड़ित ने बताया कि वह बामुश्किल दिल्ली गेट के निकट कार  से कूद गया वह कार के अंतिम नंबर 1775 को ही नोट कर सका । मामले की जानकारी थाना मोहन गार्डन थानाध्यक्ष राजेश कुमार मौर्या को दी गई जिन्होंने तत्परता दिखाते  हुए टीम गठित की जिसमे एफआईआर संख्या 598/21 धारा  382/34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई। एसीपी जितेंद्र पटेल,नजफगढ़ की देखरेख में एसएचओ राजेश कुमार मौर्य के नेतृत्व में पुलिस टीम में एसआई खुशीराम, एएसआई मनोज, कांस्टेबल  अश्विनी और कांस्टेबल  संदीप ने घटना स्थल और मार्ग पर लगे सीसीटीवी फुटेज को पूरी तरह से चेक किया। चेकिंग में पाया कि सैंट्रो कार की पूरी संख्या डीएल 4 सीबीए 1775 व उसके मालिक दिनेश वशिष्ठ पुत्र स्वर्गीय कमल वशिष्ठ थे। उसके बाद पुलिस ने उनके आवास पर छापे मारे गए, लेकिन घर पर नहीं मिला और यह मान लिया गया किया गया कि वह आरोपियों में से एक है।  इसके बाद उन दोनों को पेट्रोल पंप नजफगढ़ से पकड़ा गया और उसके कब्जे से वारदात में प्रयोग सैंट्रो कार बरामद की गई।  इसके बाद, दिनेश वशिष्ठ के सहयोगी पुनीत सोलंकी पुत्र रामकिशन निवासी आर जेड सी 19/22, मखसूदाबाद कॉलोनी, नजफगढ़ को भी गिरफ्तार कर लिया गया और उसके पास से शिकायतकर्ता का मोबाइल फोन और एक डेबिट कार्ड बरामद किया गया। तीसरे लड़के बृजेश पुत्र पन्ना लाल निवासी आरजेड 4/5, न्यू हीरा पार्क नजफगढ़ की तलाश अभी भी जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं: