मधुबनी : जिलाधिकारी ने पंचम चरण की मतगणना के लिए जारी किए कई निर्देश। - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 अक्तूबर 2021

मधुबनी : जिलाधिकारी ने पंचम चरण की मतगणना के लिए जारी किए कई निर्देश।

dm-madhubani-guideline-for-counting
मधुबनी : आज दिनांक 25 अक्टूबर 2021 को श्री अमित कुमार, भा. प्र. से. जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) सह जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में समाहरणालय के सभाकक्ष में दिनांक 26 अक्टूबर 2021 को होने वाले पंचम चरण के मतगणना कार्य से जुड़े पदाधिकारियों और तीनो प्रखंडों के निर्वाची पदाधिकारीयों और सहायक निर्वाची पदाधिकारीयों की बैठक संपन्न हुई। बताते चलें कि दिनांक 24 अक्टूबर 2021 को जिले के कलुआही, बासोपट्टी एवं लदनिया प्रखंडों में पंचायत आम चुनाव संपन्न हुए हैं। जिसके मतों की गणना का कार्य आर. के. कॉलेज, मधुबनी में दिनांक 26 अक्टूबर 2021 को किया जाना है।  बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी महोदय ने कहा कि मतगणना का कार्य ससमय पूरा किया जाना आवश्यक है। इसके लिए मतगणना कार्य से जुड़े सभी अधिकारीयों और मतगणना कर्मीयों की सुबह 6 बजे मतगणना स्थल पर उपस्थिति अनिवार्य है। जिससे पूर्वाह्न 8 बजे से मतगणना कार्य आरंभ करने से पूर्व सभी आवश्यक तैयारियों को पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन, मधुबनी लोकतंत्र की गरिमा को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है और इसलिए संपूर्ण मतगणना प्रक्रिया को पूर्व की भांति पारदर्शी बनाए रखना हमारा लक्ष्य है। इस बात को दृष्टिगत रखते हुए उद्घोषणा की वीडियो रिकॉर्डिंग भी  करवाने का आदेश दिया गया है। मतगणना प्रक्रिया को सुचारू एवं गतिशील बनाए रखने के लिए जिलाधिकारी ने और भी कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ये सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि मतगणना कार्य आरंभ होने से पूर्व संबंधित पंचायत के किसी भी पद के उम्मीदवार अथवा उनके प्रतिनिधियों को माइक द्वारा उद्घोषणा कर उनके पंचायत की मतगणना प्रारंभ होने की सूचना दी जाय। प्रशासन को यह शिकायत नहीं मिलनी चाहिए कि मतगणना के समय किसी पद के उम्मीदवार अथवा उनके प्रतिनिधि को सूचना ही नहीं दी गई थी। अतः स्पष्ट उदघोषणा और इसकी रिकॉर्डिंग पारदर्शिता के लिए आवश्यक है। इतना ही नहीं मतगणना परिसर में अनावश्यक भीड़ से बचने के लिए लोगों को उनके पंचायत की मतगणना से पूर्व क्रम की सूचना मतगणना स्थल पर प्रवेश द्वार पर ही दे दी जाय। इससे उम्मीदवारों को अपने क्रम का पूर्व अनुमान रहेगा और अनावश्यक लोग परिसर से बाहर रहेंगे।


उन्होंने निर्देश दिया कि मतगणना स्थल के मुख्य प्रवेश द्वार से पहली बार ऊपर के क्रम से तीन पंचायतों के उम्मीदवारों एवं प्रतिनिधियों को परिसर में प्रवेश करने की अनुमति होगी। इसके बाद पहले पंचायत के संबंधित उम्मीदवार अथवा प्रतिनिधि मतगणना कक्ष में प्रवेश पा सकेंगे। जैसे ही एक पंचायत की मतगणना संपन्न होगी, वैसे ही क्रम के अगले पंचायत से जुड़े लोगों को परिसर में प्रवेश करने दिया जायेगा। इससे मतगणना का कार्य सुचारू रूप से संपन्न करवाने में सुविधा होगी। तीनों प्रखंडों के निर्वाची पदाधिकारीयों को निर्देश दिया गया कि किसी पंचायत की मतगणना की प्रक्रिया नियमानुकूल पूर्ण हो जाने के बाद विजेता उम्मीदवार को जल्द से जल्द प्रमाण पत्र प्रदान कर दिया जाय, जिससे अनावश्यक भीड़ भाड़ से बचा जा सके।  जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि हमें किसी भी प्रकार की शिकायत को अनदेखा नहीं करना है। शिकायतों के निष्पादन में थोड़ी मेहनत हो सकती है, परंतु इससे जनसरोकार के प्रशासनिक लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई है कि मतगणना कार्य को पारदर्शी एवं शांतिपूर्ण रूप से संपन्न करवाने में विभिन्न पंचायतों के उम्मीदवारों एवं उनके प्रतिनिधियों का भी अपेक्षित सहयोग प्राप्त हो सकेगा। बैठक में श्री अवधेश राम, अपर समाहर्ता, मधुबनी, श्री विशाल राज, उप विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री सुरेन्द्र राय, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, मधुबनी,   श्री शैलेन्द्र कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी सह जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, मधुबनी, श्री अश्वनी कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर मधुबनी, श्रीमती बेबी कुमारी, अनुमंडल पदाधिकारी, जयनगर, श्री राकेश कुमार सिंह, निर्वाची पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी, बासोपट्टी, श्रीमति मंजू कनकन, निर्वाची पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी, बासोपट्टी, श्री अखिलेश्वर कुमार, निर्वाची पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी, लदनिया के साथ साथ जिले के वरीय पदाधिकारी एवं सहायक निर्वाची पदाधिकारी शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: