बेतिया : और बेगम साहिबा को जीत का तोहफा दिया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 अक्तूबर 2021

बेतिया : और बेगम साहिबा को जीत का तोहफा दिया

panchayat-election-betiyah
बेतिया. एक ए.एन.एम.प्रशिक्षु से मौखिक परीक्षा के दरम्यान नर्सिग ट्यूटर ने उक्त प्रशिक्षु से पूछती है कि आप किचन गार्डन के बारे में  क्या जानती हैं? तब उक्त प्रशिक्षु ने ट्यूटर को जवाब में कहती हैं कि मैं किचन गार्डन के बारे में यही जानते  है कि किचन में पत्नी काम करती है और गार्डन में पति काम करते हैं.आजकल त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत के चुनाव के दौरान देखा जा रहा है.महिला उम्मीदवार चुनाव प्रचार न करके किचन में रहती हैं.केवल नामांकन पत्र दाखिल करने व विजयी होने के बाद ही घर के द्वार से बाहर नहीं निकलती हैं.इस दरम्यान सारा बागडोर महिला उम्मीदवार के पति ही संभालते रहते हैं. बता दें कि किचन गार्डन परिवार आधारित रसोई उद्यान अर्थात गृह वाटिका या किचन गार्डन (kitchen garden) को कहते है.इस प्रकार के सब्जी उत्पादन मे मुख्य ध्येय आर्थिक लाभ न होकर परिवार के पोषण स्तर को बढ़ाना तथा घर में ही ताजी शाक-सब्जी का उत्पादन करना होता है.इसके द्वारा आर्थिक लाभ भी कमाया जा सकता है.सब्जियों का चयन परिवार के सदस्यों की इच्छा अनुसार किया जाता है.घर के चारों और खाली पड़ी भूमि में छोटी-छोटी क्यारियाँ बना ली जाती है.क्यारियो में फसल चक्र अपनाए जाते है तथा फल-फूल एवं शाक-सब्जी का उत्पादन किया जाता है. बता दें कि पंचायतों में महिलाओं के आरक्षण की सीमा बढ़ाने से सार्वजनिक जीवन में महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में मदद मिलेगी. इससे पंचायतों में उनकी हिस्सेदारी बढ़ेगी और स्थानीय स्वशासन में उनका योगदान भी बढ़ेगा.परंतु पुरूष होने नहीं देते हैं. बता दें कि पश्चिम चम्पारण जिला में 42 जिला परिषद सीट है.इसमें चनपटिया जिला परिषद क्षेत्र में 3 सीट है.चनपटिया जिला परिषद क्षेत्र के 3 सीट में क्षेत्र संख्या 31 महिला आरक्षित सीट है.इसमें कुल 10 उम्मीदवार थे. मनुआपुल की रहवासी आरजू परवीन के पक्ष में 8179 मत पड़े.इस तरह चनपटिया जिला परिषद क्षेत्र संख्या 31की उम्मीदवार आरजू परवीन 883 मतों से विजयी घोषित हुई.दूसरे स्थान पर चुहड़ी की मंजू गुप्ता को 7296 और तीसरे स्थान पर  कुड़वा गठिया की सुशीला देवी को 5706 को मत पड़े. इस बीच चनपटिया जिला परिषद क्षेत्र संख्या 31की उम्मीदवार आरजू परवीन 883 मतों से विजयी घोषित हुई हैं.नव निर्वाचित जिला परिषद पार्षद आरजू परवीन के पति नसीम अहमद उर्फ पिंटू बाबू ने प्रण कर लिये कि बेगम साहिबा को विजयी करके ही दाढ़ी बनवागें.उन्होंने आठ पंचायत यथा गुरवलिया, टुनिया बिशुनपुर, कुरवा मठिया,चुहड़ी, पश्चिम तुर्हा पट्टी, चरगाहा, पूर्वी तुर्हा पट्टी और सीरसिया में संघन जनसंपर्क अभियान चलाया और बेगम साहिबा को जीत का तोहफा दिया.

कोई टिप्पणी नहीं: