मधुबनी : मादक पदार्थों के अवैध व्यापार पर नियंत्रण हेतु बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 29 अक्तूबर 2021

मधुबनी : मादक पदार्थों के अवैध व्यापार पर नियंत्रण हेतु बैठक

narco-meeting-madhubani
मधुबनी, 29 अक्टूबर, आज दिनांक-29.10.2021 को जिला पदाधिकारी के अध्यक्षता में मादक पदार्थों के अवैध व्यापार पर नियंत्रण हेतु नारको-को-ओडिनेशन सेंटर (एन.सी.ओ.आर.डी.) की जिला स्तरीय बैठक जिला सभागार में सम्पन्न हुई। इस दौरान अपर समाहर्त्ता, मधुबनी श्री अवधेश राम, जिला पंचायत राज पदाधिकारी -सह- जिला सूचना एवं जनसम्पर्क पदाधिकारी, मधुबनी, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, सदर मधुबनी, वरीय उप समाहर्त्ता, मधबनी सुश्री आरती कुमारी, समादेष्टा, 48वीं बटालियन एस.एस.बी. जयनगर एवं समादेष्टा, 18वीं बटालियन एस.एस.बी., राजनगर, उत्पाद अधीक्षक, सहायक औषधि नियंत्रक तथा अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे। बैठक के दौरान जिला पदाधिकारी महोदय, मधुबनी द्वारा कहा गया कि ये नारको-को-ओडिनेशन सेंटर की पहली बैठक है। ये बैठक अब प्रत्येक 03 महीना पर आयोजित की जायेगी। इस बैठक का आयोजन मुख्य रूप से जिले के अंदर मादक पदार्थों के अवैध व्यापार पर रोकथाम हेतु किया गया। 

जिला पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा निम्न बिन्दुओं पर चर्चा किया गया:-

1. ड्रग्स की प्रवृति के संबंध में सूचना/जानकारी का आदान-प्रदान करना।

2. जिले में अवैध अफीम एवं गांजा की खेती का अनुश्रवण, पहचान एवं विनिष्टीकरण।

3. अवैध खेती वाले क्षेत्रों में एन.डी.पी.एस. एक्ट के प्रावधानों एवं हानिकारक प्रभावों के संबंध में जन-जागरूकता अभियान चलाना।

4. ड्रग्स की पहचान हेतु उपकरणों की आवश्यकता का आकलन एवं इसके लिए अधियाचना समर्पित करना।

5. अर्न्त-राज्यीय काण्डों के अनुसंधान की प्रगति का अनुश्रवण करना।

 

जिला पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा नारकोटिक्स डिस्पोजल हेतु संबंधित अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया गया एवं ड्रग्स सिजर को कहा गया कि बॉर्डर वाले क्षेत्र जैसे जयनगर, हरलाखी इत्यादि क्षेत्रों में अधिक तस्करी की सूचना प्राप्त होती है संबंधित जगहों पर ज्यादा सक्रिय रहने की आवश्कता है साथ ही यह भी कहा गया की ड्रग्स या मादक पदार्थों की पहचान हेतु उपकरण भी रखना सुनिश्चित करेंगे ताकि पटना या अन्य जाँच केन्द्रों पर भेजे जाने वाली अवैध पदार्थ की जाँच जिला स्तर पर कराया जा सके तथा जिले के नगर थाना, मधुबनी में जब्त किये गये अवैध पदार्थ (गाँजा, अफीम, ड्रग्स इत्यादि) को भेजना सुनिश्चित करेंगे वहीं तस्करियों को संबंधित थाना क्षेत्र में पुलिस प्रशासन से समन्वय स्थापित कर अग्रेतर कार्रवाई हेतु संसुचित करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: