प्रियंका चोपड़ा को ब्राउनी अपने देश वापस जाओ कहकर चिढाया जाता था - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 9 अक्तूबर 2021

प्रियंका चोपड़ा को ब्राउनी अपने देश वापस जाओ कहकर चिढाया जाता था

  •  ·         जब प्रियंका चोपड़ा ने कहा था ‘मुझे ऐसा लगता है कि मैं किस्मत की सबसे पसंदीदा बच्ची हूं’
  • ·         बायोग्राफी में  प्रियंका और निक जोनास के मिलने और इनके रिश्ते के बारे में भी बात  की गई है
  • ·         प्रियंका चोपड़ा की बायोग्राफी को  स्टोरीटेल ऐप  पर  सुन सकते हैं

priyanka-chopra
नई दिल्ली : बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक नाम बना चुकी  प्रियंका चोपड़ा आज के समय में एक जानी मानी अभिनेत्री हैं.मगर क्या आप जानते हैं कि इस अभिनेत्री को भी भारतीय होने की वजह से  अमेरिका में रंगभेद का सामना करना पड़ा था । जब प्रियंका चोपड़ा  अमेरिका के स्कूल में पढ़ाई कर रही थी उस वक्त उन्हें  बहुत परेशान किया जाता था। स्टोरीटेल ऐप पर प्रियंका चोपड़ा की बायोग्राफी सुनते हुए ये पता चलता है कि स्कूल में बच्चे उन्हें चिढ़ाते हुए ब्राउनी पुकारते थे और अपने देश वापस लौट जाने के लिए कहते थे। प्रियंका से जुड़ी हुई कई और बातें भी उनकी इस बायोग्राफी के माध्यम से जानने को मिलती हैं। ऑडियोबुक प्लेटफार्म स्टोरीटेल हर क्षेत्र  से चुने हुए दुनियाभर के और भारत के महान शख्सियतों  की जिंदगी  की कहानियां लेकर आया है, जो आज के समय में हम सभी के प्रेरणा श्रोत हैं और इनकी जीवनियां हमें कुछ कर गुजरने का जज्बा प्रदान करती हैं। इन कहानियों में  श्रोताओं के लिए  फुल लेंथ  और शार्ट लेंथ बायोग्राफी हैं। अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा मेहनत और किस्मत की जिंदादिल  मिसाल हैं ,वे हर उस चीज को करने का हौसला रखती हैं जो आज तक किसी ने नहीं किया। प्रियंका ने अब तक सारी  बाधाओं को तोड़ते हुए खुद को परिभाषित किया है,मिस इंडिया से लेकर के मिस वर्ल्ड  तक,  बॉलीवुड से लेकर के हॉलीवुड तक प्रियंका के लिए कुछ भी असंभव  नहीं रहा  है। प्रियंका की बायोग्राफी पर आप  उनके बारे में कई सारी  चीजें सुन सकते हैं,मिसाल के तौर पर उनकी शॉर्ट बायोग्राफी में  ऐप पर यह बताया जाता है कि कैसे उन्होंने 2016  एक इंटरव्यू में कहा था,  "मुझे ऐसा लगता है कि मैं किस्मत की सबसे पसंदीदा बच्ची हूं"।


जमशेदपुर में जन्मी प्रियंका के माता-पिता दोनों ही भारतीय सेना में डॉक्टर थे, इसकी वजह से उनका परिवार कुछ-कुछ  सालों के अंतराल में अलग-अलग जगह पर  शिफ्ट होता रहा, जैसे कि दिल्ली, चंडीगढ़, अंबाला,  लद्दाख,  लखनऊ, बरेली, और पुणे।  13 साल की उम्र में प्रियंका पढाई  के लिए अमेरिका चली गई, जहां वह एक रिश्तेदार के साथ रहने लगी,लेकिन अमेरिका में हाई स्कूल में उनके लिए चीजें थोड़ी मुश्किल हो गई जब स्कूल में एक लड़की उन्हें चिढ़ाने लगी। प्रियंका को लगता था कि वह उन्हें इसलिए परेशान करती थी क्योंकि उसका बॉयफ्रेंड प्रियंका को पसंद करता था। वह लड़की प्रियंका को काफी उल्टी चीजें कहां करती थी जैसे कि ‘ब्राउनी अपने देश  में वापस जाओ आदि आदि।  कुछ सालों बाद प्रियंका अपने देश  वापस आ गई और वापस आकर  बरेली के आर्मी पब्लिक स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की,आगे हम यह जानते  हैं कि किस तरह से उनकी मां ने उनको मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में जाने के लिए  भेज दिया। प्रियंका  चोपड़ा का फिल्मी सफर एक तमिल फिल्म के साथ शुरू हुआ था और आज वह उस मुकाम पर हैं जहां हर किसी व्यक्ति के लिए पहुंचना संभव नही है। बॉलीवुड में  शोहरत के बाद प्रियंका  के करियर ने एक बड़ी करवट ली,उन्होंने अमेरिकन सीरीज क्वांटिको में मुख्य किरदार निभाया और ग्लोबल आईकॉन का खिताब हासिल कर लिया। यह पहली बार हुआ था कि एक साउथ एशियन ने अमेरिकन ड्रामा सीरीज को लीड किया था। प्रियंका को अपने सपनों का राजकुमार भी हॉलीवुड में ही मिला,इस बायोग्राफी में  प्रियंका और निक जोनास के मिलने और इनके रिश्ते के बारे में भी बात  की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: