कांग्रेस ने प्रियंका की रिहाई और अजय मिश्रा के गरफ्तारी की मांग की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 अक्तूबर 2021

कांग्रेस ने प्रियंका की रिहाई और अजय मिश्रा के गरफ्तारी की मांग की

congress-dimand-priyanka-release
नयी दिल्ली, चार अक्टूबर, कांग्रेस ने लखीमपुर खीरी जाते हुए प्रियंका गांधी वाद्रा को हिरासत में लिए जाने को गैरकानूनी कदम करार देते हुए सोमवार को कहा कि प्रियंका को तत्काल रिहा कर हिंसा में मारे गए किसानों के परिवारों से मिलने के लिए जाने दिया जाए तथा इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त कर उनके पुत्र की गिरफ्तारी की जाए। पार्टी के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला ने यह भी कहा कि कांग्रेस किसानों की ‘हत्या किए जाने’ के विरोध में मंगलवार को देशव्यापी प्रदर्शन करेगी। उन्होंने इस मामले में उच्च स्तरीय न्यायिक जांच की भी मांग की। शुक्ला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रियंका जी को गैरकानूनी ढंग से हिरासत में लिया गया है। जिन पुलिस वालों ने उनके साथ बदसलूकी की है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।’’ उनके मुताबिक, ‘‘पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को उत्तर प्रदेश नहीं जाने दिया जा रहा है। विपक्ष के अन्य नेताओं को भी रोका गया है। कांग्रेस की सरकार ने कभी किसी विपक्षी नेता को कहीं जाने से नहीं रोका था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारी मांग है कि प्रियंका गांधी जी को रिहा किया जाए और उन्हें किसानों के परिवारों से मिलने के लिए लखीमपुर खीरी जाने दिया जाए। मारे गए किसानों के परिवारों को उचित मुआवजा दिया जाए। गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त किया जाए और उनके पुत्र को गिरफ्तार किया जाए।’’ शुक्ला ने यह भी कहा, ‘‘किसानों के अलावा भी कुछ लोगों की मौत हुई हैं उनकी भी जांच होनी चाहिए। क्या किसानों को बदनाम करने के लिए ये हत्याएं की गईं? इसकी भी जांच होनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस मंगलवार को हर जिले में जिला अधिकारी कार्यालय का घेराव करेगी। हम देशव्यापी आंदोलन करेंगे। इसे लेकर कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक आंदोलन किया जाएगा।’’ लखीमपुर खीरी के तिकोनिया क्षेत्र में हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद सोमवार तड़के मौके पर जा रहीं प्रियंका गांधी वाद्रा को रास्ते में सीतापुर में हिरासत में ले लिया गया। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने बताया कि वाद्रा तथा कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा समेत कुछ वरिष्ठ नेता लखीमपुर खीरी जा रहे थे। तभी तड़के करीब पांच बजे रास्ते में उन्हें सीतापुर में हिरासत में ले लिया गया। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई।

कोई टिप्पणी नहीं: