मधुबनी : डीएम ने नगर निगम के प्रशासक के रूप में दिए सख्त निर्देश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 5 अक्तूबर 2021

मधुबनी : डीएम ने नगर निगम के प्रशासक के रूप में दिए सख्त निर्देश

dm-madhubani-take-nagar-nigam-administration-charge
मधुबनी : आज दिनांक 4 अक्टूबर 2021 को श्री अमित कुमार, भाo प्रo से o, जिला पदाधिकारी, मधुबनी ने नगर निगम, मधुबनी के प्रशासक के रूप में पदभार ग्रहण किया। बताते चलें कि नगर परिषद, मधुबनी के भंग होने के बाद नगर निगम के चुनावों में अभी कुछ वक्त लग सकता है। ऐसे में सरकार के निर्देश के आलोक में नगर निगम, मधुबनी के प्रशासक के तौर पर तात्कालिक रूप से जिलाधिकारी के नेतृत्व में नगर निगम के सभी विकासात्मक कार्य संपन्न किए जायेंगे।  इस अवसर पर जिलाधिकारी ने नगर निगम, मधुबनी के कार्यालय के सभी कर्मियों के साथ एक संक्षिप्त बैठक की। सबसे पहले उन्होंने सभी कर्मियों को निष्पक्ष होकर काम करने का निर्देश दिया। अपने वक्तव्य में उन्होंने कहा कि मैं केवल और केवल काम में यकीन रखता हूं और नगर निगम को कार्य करने की जगह बनाना होगा। हमें नगर परिषद की मानसिकता से ऊपर उठकर काम करना होगा। इसलिए इसे हर प्रकार से निष्पक्ष, राजनीति एवं अन्य प्रभावों से मुक्त माहौल में काम करना चाहिए।  उन्होंने शहर में भारी जलजमाव और गंदगी पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। उनके द्वारा वहां उपस्थित अधिकारियों से निगम की आमदनी एवं व्यय की भी जानकारी ली गई।  उन्होंने कहा कि जब नगर निगम को बिजली का बिल भरना है, तो फिर शहर के स्ट्रीट लाइट असमय क्यों जलते रहते हैं। यदि नगर निगम द्वारा बिजली की बर्बादी पर रोक नहीं लगाई जाएगी तो वेतन से कटौती एवं अन्य कड़े कदम उठाए जाएंगे।  जिलाधिकारी महोदय ने मौजूद अधिकारियों से नगर निगम के क्षेत्र में होल्डिंग टैक्स, होर्डिंग से होने वाली आय, मोबाइल टावर से होने वाली आय और आय के अन्य श्रोतों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत करने को कहा। उनके द्वार उप नगर आयुक्त को  प्रत्येक नियमसंगत तरीकों से आय में वृद्धि करने हेतु निर्देश दिया गया।  जिलाधिकारी ने मौजूद अधिकारियों से नगर निगम के सभी आर्थिक एवं भौतिक श्रोतों को विस्तृत रूप से पटल पर रखने के निर्देश दिए हैं।  उन्होंने विशेषकर निगम की जमीन पर अतिक्रमण को लेकर सख्त नाराजगी जताई। अपने निर्देश में उन्होंने निगम के सभी अतिक्रमित भूमि का ब्योरा प्रस्तुत करने को कहा है।  उन्होंने सदर अस्पताल और शहर की मुख्य सड़कों पर लगे जल जमाव को लेकर भी गहरी नाराजगी व्यक्त की  और इसका जल्द समाधान निकालने को कहा। प्रशासक के रूप में अपने वक्तव्य में जिलाधिकारी ने कहा कि मधुबनी नगर निगम खूबसूरत तालाबों वाला एक खूबसूरत शहर है। इसके सौंदर्यीकरण से इसे बेहतरीन बनाया जा सकता है। यदि शीघ्र ही आपने अपनी छवि नहीं बदली तो प्रशासक की हैसियत से मुझे कड़े कदम उठाने होंगे। इसलिए मुझे परिणाम दिखाइए।

कोई टिप्पणी नहीं: