सरकार अगले महीने गंगा उत्सव मनायेगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 अक्तूबर 2021

सरकार अगले महीने गंगा उत्सव मनायेगी

government-celebrate-ganga-festival-next-month
नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर, सरकार अगले महीने गंगा उत्सव मनाएगी और उसका ध्यान गंगा नदी के कायाकल्प की दिशा में हितधारकों की भागीदारी और जनभागीदारी को प्रोत्साहित करने पर होगा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी । अधिकारी ने बताया कि यह उत्सव सदियों से नदियों से जुड़ी परंपराओं के साथ संबंध बनाकर उसे फिर से जीवंत करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश को बढ़ावा देगा और आगे ले जायेगा । राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के अधिकारी ने कहा, ‘‘इसे ध्यान में रखते हुए, एक से तीन नवंबर तक केंद्र और राज्य स्तर पर तैयार किये गये कार्यक्रमों को प्रत्यक्ष एवं ऑनलाइन माध्यम से आयोजित किया जायेगा ।’’ उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्तर पर कार्यक्रम जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी और जल शक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल सहित अन्य की मौजूदगी में होगा । विभिन्न कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी देते हुये अधिकारी ने कहा कि इनमें प्रसिद्ध हस्तियों द्वारा कहानी प्रस्तुत करने के लिए ‘कहानी जंक्शन’, गंगा संवाद, ब्लॉग लेखन, ‘कचरे से कंचन’ - प्लास्टिक कचरे का उपयोग पर चर्चा आदि के अलावा अन्य अनेक कार्यक्रम शामिल है । इस कार्यक्रम में नेट जियो द्वारा फिल्म ‘गंगा: रिवर फ्रॉम स्काईज’ के प्रोमो का शुभारंभ, चाचा चौधरी और गंगा राम कॉमिक्स का विमोचन, गंगा पर कविता संकलन पुस्तक का विमोचन, गंगा तरंग पोर्टल का विमोचन भी शामिल होगा। उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर 75 विभिन्न स्थानों पर 75 कार्यक्रम आयोजित करने की योजना है। अधिकारी ने बताया कि इनमें गंगा दीपोत्सव और घाटों के किनारे कलाएं, प्रदर्शनियां, मेरी गंगा मेरी शान अभियान, गंगा मशाल को गंगा टास्क फोर्स के माध्यम से क्रियान्वित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पेंटिंग प्रतियोगिताएं, वनरोपण अभियान, रक्तदान शिविर आयोजित करना, प्रश्नोत्तरी, गंगा संवाद और हस्ताक्षर अभियान जैसी अन्य गतिविधियां भी होंगी। कार्यक्रमों की अन्य झलकियों में सांस्कृतिक संध्याएँ और श्रमदान गतिविधियाँ शामिल हैं। अधिकारी ने कहा कि शहरों में प्रमुख स्थानों पर सेल्फी पॉइंट और गंगा घाटों पर योग और ध्यान करने की भी सुविधा होगी ।

कोई टिप्पणी नहीं: