झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 01 अक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 अक्तूबर 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 01 अक्टूबर

्रत्येक परिवार में वृद्धजन परिवार की मजबूत नींव के समान होते है -ः पदम्श्री महेष शर्मा

  • वृद्धजनों का सम्मान कर हर व्यक्ति को गौरव की अनुभूति होना चाहिए -ः कलेक्टर सोमेष मिश्रा,

सामाजिक महासंघ के बेनर तले जिला प्रषासन और सामाजिक न्याय विभाग द्वारा अंबा पैलेस पर वृद्धजनों का सम्मान समारोह रखा गया, शहर के 80 वर्ष से अधिक उम्र के करीब 30 महिला-पुरूषों का किया गया गरिमामय अभिनंदन


jhabua news
झाबुआ। 1 अक्टूबर, अंर्तराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर सामाजिक महासंघ के बेनर तले जिला प्रषासन और सामाजिक न्याय विभाग द्वारा मिलकर शुक्रवार को दोपहर 2 बजे से वृद्धजनांे से परिचर्चा एवं उनका वृदह सम्मेलन का आयोजन रखा गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पद्मश्री षिवगंगा प्रमुख महेष शर्मा एवं जिला कलेक्टर सोमेष मिश्रा उपस्थित थे। कार्यक्रम में विषेष अतिथि के रूप में जिला पेंषनर्स एसोसिएषन के अध्यक्ष रतनसिंह राठौर एवं वरिष्ठ नागरिक परिसंघ के जिलाध्यक्ष पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय मौजूद रहंेगे। समारोह की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्राचार्य एवं वरिष्ठ इतिहासकार डॉ. केके त्रिवेदी ने की। प्रारंभ में अतिथियांे द्वारा विद्या की देवी मां सरस्वतीजी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन किया गया। अतिथियांे का स्वागत उक्त समारोह की विषेष सहयोगी संस्था जिला पेंषनर्स एसोसिएषन एवं वरिष्ठ नागरिक फोरम की ओर से जयेन्द्र बैरागी, पीडी रायपुरिया, भेरूसिंह सोलंकी, बालमुकुंदसिंह चौहान, एमएल फुलपगारे, नाथुलाल पाटीदानर, जयंतीलाल राठौर आदि ने किया। स्वागत गीत युवा रोहित सारोलकर ने प्रस्तुत किया। स्वागत उद्बोधन आयोजन के सूत्रधार सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर ने दिया।


वृद्धजनांे के मान ही हमारी भारतीय संस्कृति है

अपने संक्षिप्त उद्बोधन में वरिष्ठ इतिहासकार डॉ. केके त्रिवेदी ने कहा कि जिस परिवार में वृद्धजनांे का साया रहता है, वह परिवार स्वर्ग के समान होता है। वृद्धजनांे से ही परिवार में खुषहाली रहती है और संकट तथा विपत्तियां कोसो दूर रहती है। पदम्श्री महेष शर्मा ने कहा कि हमारी भारतीय संस्कृति मंे वृद्धजनांे के सम्मान को सर्वोपरि माना गया है। यदि हम उनका सम्मान करंेगे तो ही देष और दुनिया हमारा सम्मान करेगी। जिला कलेक्टर सोमेष मिश्रा ने बताया कि आज पेंषनरांे और वरिष्ठ नागरिकों के लिए मप्र सरकार और कंेद्र सरकार द्वारा अनेक हितकारी योजनाएं संचालित की जा रहीं है। जिसका सभी पूरा लाभ ले। सरकार और प्रषासन की मंषा है कि वृद्धावस्था में आने के बाद किसी भी महिला-पुरूष को किसी भी तरह की कोई परेषानी या समस्याओं से ना जूझना पड़े।


पुष्पमाला और शाल-श्रीफल से किया अभिनंदन

कार्यक्रम में विषेष रूप से एसडीएम झाबुआ लक्ष्मीनारायण गर्ग, सामाजिक न्याय विभाग के उप-संचालक दिनेष वर्मा, नगरपालिका से सामाजिक न्याय विभाग की प्रभारी सुश्री निधि ठाकुर भी उपस्थित रही। सम्मान के क्रम में अतिथियों द्वारा शहर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के 80 वर्ष से अधिक उम्र के कार्यक्रम में मौजूद वृद्धजनांे का उनके स्थान पर जाकर ही पुष्पमाला पहनाकर एवं शाल ओढ़ाकर तथा श्रीफल भेंटकर अभिनंदन किया गया। ऐसे करीब 30 वृद्धजनांे का सम्मान कर उनका जयघोष के साथ उत्साहवर्धन किया।


यह रहे उपस्थित

समारोह का सफल संचालन सामाजिक महासंघ से जुड़े शरतचन्द्र शास्त्री ने किया। इस अवसर पर जिला पेंषनर्स एसोसिएषन और वरिष्ठ नागरिक फोरम से जुड़े समीउद्दीन सैयद, जितेन्द्र शाह, रूपसिंह खपेड़, सकल व्यापारी संघ से हरिष शाह लालाभाई, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी सहित बड़ी संख्या मंे अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे। आभार वरिष्ठ नागरिक फोरम से जयेन्द्र बैरागी ने माना।


कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा पोलेटेक्नीक कॉलेज झाबुआ में स्थापित ईवीएम/वीवीपेट वेयर हाउस का निरीक्षण किया


jhabua news
झाबुआ,। भारत निर्वाचन आयोग/स्थानीय निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गए निर्देश के पालन मंे कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता द्वारा पोलेटेक्नीक कॉलेज झाबुआ में स्थापित ईवीएम/वीवीपेट वेयर हाउस का निरीक्षण किया एवं संधारित रजिस्टर में हस्ताक्षर किए। यहां पर मशीनों के सुरक्षित संधारण एवं सुरक्षा के संबंध में बाहरी एवं आंतरिक निरीक्षण का निरीक्षण आज दिनांक 1 अक्टूबर, 2021 को किया गया। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आनंद सिंह वास्कले, डिप्टी कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनिल भाना, तहसीलदार झाबुआ श्री आशीष राठौर एवं अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग श्री डी. के. शुक्ला, जिला भाजपा पदाधिकारी श्री मनोज अरोरा, जिला कांग्रेस के पदाधिकारी श्री जितेन्द्र शाह, निर्वाचन सुपरवाईजर श्री प्रकाश सिंगाडीया, श्रीमती जीवनबाला जैन उपस्थित थे।


जिला पेंषनर्स एसोसिएषन ने मप्र के मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, 8 सूत्रीय मांगे रखी गई


jhabua news
झाबुआ। जिला पेंषनर्स एसोसिएषन द्वारा 8 सूत्रीय मांगांे को लेकर मप्र के मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन जिला कलेक्टर सोमेष मिश्रा को स्थानीय अंबा पैलेस पर उनके आगमन के दौरान सौंपा गया। जिसमें सभी मांगों का आगामी दीपावली पर्व के पूर्व निराकरण हेतु आग्रह किया गया। ज्ञापन संघ के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर के नेतृत्व मंे कार्यकारी अध्यक्ष बालमुकुंदसिंह चौहान, उपाध्यक्ष भगवतीलाल शाह, सचिव सुभाषचन्द्र दुबे, सह-सचिव पीडी रायपुरिया, परामर्षदाता जर्नादन शुक्ला, संगठन सचिव भागीरथ सतोगिया, जिला कोषाध्यक्ष भेरूसिंह सोलंकी, सह-कोषाध्यक्ष गोपालसिंह चौहान के साथ रूपसिंह खपेड़, राजेन्द्र सोनी, समीउद्दीन सैयद, जितेन्द्र शाह, कंुता सोनी, सुश्री रूक्मणी वर्मा आदि द्वारा सौंपा गया। इस अवसर पर संघ के संरक्षक डॉ. केके त्रिवेदी एवं अरविन्द व्यास भी मौजूद रहे। ज्ञापन मंे उल्लेख किया गया कि एसोसिएषन द्वारा पंेषनरांे और वरिष्ठ नागरिकांे की समस्याओं और मांगांे को लेकर लगतार प्रयास किए जा रहे है, लेकिन सरकार की ओर से सकारात्मक पहल नहीं होने से सभी में घोर अंसतोष एवं आक्रोष व्याप्त है।


यह रखी मांगे

ज्ञापन में 1 जनवरी 2006 से 31 अगस्त 2008 तक छटवे वेतनमान का 32 माह का एरियर भुगतान हेतु लंबित है। माननीय उच्च न्यायालय ने उक्त राषि 6 प्रतिषत ब्याज के भुगतान करने के आदेष दिए है। इसी प्रकार 1 जनवरी 2016 से 30 मार्च 2018 तक सातवे वेतनमान का 27 मासह का एरियर भी लंबित है, जो भी दिया जान,े केंद्र के समान महंगाई भत्ता की राषि का भुगतान दिया जाने तथा 5 प्रतिषत राषि का भुगतान 1 जुलाई 2019 से करने, समस्त पेंषनरांे को 1 हजार रू. प्रतिमाह चिकित्सा क्षतिपूर्ति भत्ता पेंषन के साथ प्रतिमाह देने,ख् वर्तमान में पंेषनरांे को 80 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 20 प्रतिषत की बढ़ोत्तरी की जाती है, इसे 70 वर्ष करने, कंेद्र के पेंषनरांे के समान राज्य शासन के पंेषनरांे को भी न्यूनतम पेंषन 7 हजार 500 रू. के स्थान पर 9 हजार 500 रू. किए जाने, पुरानी पंेषन बहाली की जाने, पेंषनरांे को भी शासकीय कर्मचारियों की भांति मृत्यु उपरांत पेंषनरों के एक्सेग्रसिया की राषि 50 हजार रू. दी जाए तथा कर्मचारियों की भांति पेंषनरांे को भी त्यौहार अग्रिम के 10 हजार रू. स्वीकृत किए जाए, जो समान 10 किष्तांे में मिलने वाली पेंषन में से समायोजित किए जाने मांग रखी गई।


नारद पुराण कथा मंे नारदजी का जन्मोत्सव मनाया गया, 2 अक्टूबर को समापन परफरियाली खिचड़ी और कलाकंद का प्रसाद सभी भक्तों को वितरित किया जाएगा


jhabua news
झाबुआ। शहर के पैलेस गार्डन पर श्री नवदुर्गा महिला मंडल समिति द्वारा श्री नारद पुराण कथा का आयोजन किया जा रहा है। जिसके पांचवे दिन कथा में श्री नारदजी के जन्मोत्सव का प्रसंग आया। इस दौरान दो बालक नारद और नारायण बनकर आए। प्रस्तुत भजनों पर महिलाओं ने आनंदित होकर नृत्य भी किया। कथा की विश्रांति पर 2 अक्टूबर, शनिवार को स्वादिष्ट फरियाली खिचड़ी एवं कलाकंद का प्रसाद सभी भक्तों को वितरित किया जाएगा। जानकारी देते हुए श्री नवदुर्गा महिला मंडल समिति की अध्यक्ष अनिता जाखड़ एवं सचिव हरिप्रिया निगम ने बताया कि कथा मंे प्रतिदिन अलग-अलग यजमानों द्वारा नारद मुनिजी की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं कथा की पूजन कर आरती करने का लाभ लिया गया। वहीं प्रतिदिन प्रसादी के भी अलग-अलग लाभार्थी परिवार की ओर से कथा के समापन पर प्रसादी वितरण किया गया। कथा में मातृ शक्तियां उत्साहपूर्वक भाग लेकर श्रवण कर रहीं है। विषेष प्रसंग आने पर उनके द्वारा धार्मिक गीतों और भजनों पर नृत्य भी कर माहौल को धर्ममय बनाया जा रहा है। कथा का संगीतमय वाचन पं. सुंदरलाल अग्निहोत्री उज्जैन ने करते हुए नारदजी के जन्म से लेकर उनके कार्यों को विस्तारपूर्वक बताकर सभी को आनंदित एवं उत्साहित किया। पांचवे दिन नारद जन्मोत्सव का वर्णन किया गया।


आज बटेगा कलाकंद और फरियाली खिचड़ी का प्रसाद

आयोजन के सूत्रधार पं. प्रदीप भट्ट ने बताया कि 2 अक्टूबर को अंतिम दिन दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक कथा बाद समापन पर सभी विषेष सहयोगियांे का अभिनंदन किए जाने के साथ ही विभिन्न लाभार्थी परिवारांे के सहयोग से सभी भक्तजनों को कलाकंद और फरियाली खिचड़ी का प्रसाद वितरित कर समापन होगा।


शिक्षिका अन्ना भाबर के सेवानिवृत्त होने पर दी अभूतपूर्व विदाई

 

jhabua news
थांदला। शासकीय माध्यमिक विद्यालय सूजापुरा में पदस्थ शिक्षिका श्रीमती अन्ना भाबर के शिक्षा क्षेत्र में सेवा कार्य पूर्ण कर सेवानिवृत्त होने पर उनके सहयोगी शिक्षक - शिक्षिकाओं ने उनके कर्तव्य स्थल पर सम्मान समारोह आयोजित कर अभूतपूर्व विदाई दी। विदाई समारोह में शिक्षिका अन्ना भाबर के बड़े पुत्र कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता सुधीर भाबर, पुत्रवधु राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की तहसील अध्यक्ष पूर्व पार्षद श्रीमती वंदना भाबर, छोटे बेटे युवा रवि भाबर आदि परिवार सदस्य रिश्तेदार भी शामिल हुए। शिक्षिका के सम्मान समारोह में बच्चों के अभिभावक आदि गांव के सदस्य भी समारोह में पहुँचे व उनके सेवा कार्यों की सराहना की। इस अवसर पर सहयोगी सभी शिक्षक शिक्षिकाओं ने अन्ना भाबर को पुष्प माला पहनाकर सम्मानित किया वही उनके सुखद भविष्य की कामना की। इस अवसर पर शिक्षिका अन्ना भाबर ने ईश्वर के प्रति धन्यवाद देते हुए कहा की उन्हें शिक्षा के माध्यम से भारत के भविष्य कहे जाने वाले नन्हे बच्चों को संस्कारित करने का अवसर मिला इस दौरान वे भाव विभोर हो गई व उन्होंने अपने सहयोगी स्टॉफ के सपोर्ट के लिए व उनके शिक्षा क्षेत्र के अंतिम दिन को यादगार विदाई में परिवर्तन करने के लिए धन्यवाद दिया।


गांधी जयंती पर विशेष : ‘‘हमें गर्व है की अकादमी ने अल्प समय में राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई - संजय कांठी‘‘


jhabua news
झाबुआ। गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर उषाराज साहित्य अकादमी द्वारा गोपाल कॉलोनी मां सदन में नगर के वरिष्ठ सम्मानित कपल समाज सेवी श्री संजय कांठी और श्री मति समता कांठी के मुख्य आतिथ्य में अकादमी ने राष्ट्रीय स्तर पर 8 साहित्यकारों को साहित्य साधक सम्मान और वेद कला विद्या मंदिर को निःशुल्क साहित्य भेंट किया। इस समारोह में झाबुआ के साहित्य साधक सम्मान से सम्मानित श्री लोकेंद्रसिंह चौहान जी को मंच से मुख्य अतिथि श्री कांठी श्रीमती कांठी आदि ने सम्मान-पत्र और रवींद्रनाथ ठाकुर की गीतांजलि और कलम डायरी भेंट कर सम्मान किया। साथ ही देश के अन्य साहित्य साधक सम्मान से सम्मानित साहित्यकार श्री कपिलदेव त्रिवेदी, देव यदुवंशी, अबीदा रहमान, निर्मला सिन्हा, गोपाल दास गुप्ता, मनजीत शर्मा मीरा, सुमन यूसुफपुरी के नाम की भी घोषणा करते हुए संजय कांठी ने कहा की हमें गर्व है की अकादमी ने अल्प समय में देश स्तर पर अपनी पहचान बनाई है यह वनवासी अंचल झाबुआ के लिए सचमुच बेहद सुखद अहसास है , मैं सभी साहित्यकारों को बधाई देता हूं । तत्पश्चात मुख्य अतिथि समता कांठी ने वेद कला मंदिर शाला के वाचनालय हेतु अकादमी द्वारा दी गई साहित्यिक कृतियों को संस्था प्रधान श्रीमती अनु हिरण खेड़े को भेंट की। अंत में उषाराज साहित्य अकादमी के संचालक डॉ रामशंकर चंचल ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए सम्मानित साहित्यकारों को बधाई दी। कार्यक्रम का संचालन मनीष त्रिवेदी ने किया ।


माननीय मुख्यमंत्री जी के भ्रमण पर प्रशासनिक  तैयारियां हेतु बैठक आयोजित


jhabua news
झाबुआ। माननीय मुख्यमंत्री जी मध्यप्रदेश शासन का झाबुआ भ्रमण कार्यक्रम दिनांक 5 अक्टूबर को निश्चित हुआ है। माननीय मुख्यमंत्री जी का दोपहर 1ः41 पर हवाई पट्टी गोपालपुरा पर आगमन होगा एवं दोपहर 2ः00 बजे से 4ः00 बजे तक पॉलिटेक्निक कॉलेज झाबुआ में जनजातीय सम्मेलन में उपस्थित होंगे। इस कार्यक्रम के लिए कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने जिला अधिकारियों से बैठक में चर्चा की एवं विभागीय गतिविधियों की जानकारी एवं हितग्राही मूलक योजनाओं की जानकारी के संबंध में निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त हवाई पट्टी गोपालपुरा पर की जाने वाली  व्यवस्थाएं, लॉ एंड ऑर्डर  की व्यवस्था, पॉलिटेक्निक कॉलेज सभा स्थल पर शामियाने की व्यवस्था, पानी की व्यवस्था ,बैठक व्यवस्था, पत्रकार गणों के लिए व्यवस्था, गणमान्य नागरिकों के लिए बैठक की व्यवस्था, ग्रामीण क्षेत्र से आए लोगों के लिए बैठक की व्यवस्था, जिले की सामान्य जानकारी, पेटलावद क्षेत्र  में टीकाकरण के उत्कृष्ट कार्यो के लिए सम्मान, माननीय मुख्यमंत्री जी की घोषणाएं,  मंचीय व्यवस्था, लोकार्पण, शिलान्यास, भूमि पूजन, सभा स्थल पर विभागों द्वारा लगाई जाने वाली प्रदर्शनी , हितग्राहियों को उनके  स्वत्व का वितरण, फायर बिग्रेड, एंबुलेंस की व्यवस्था, पार्किंग, पानी के टैंकर की व्यवस्था, जिला स्तर पर कंट्रोल रूम की व्यवस्था, इन कार्यों के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति ,कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए मास्क की व्यवस्था, माननीय मुख्यमंत्री जी को सभा स्थल पर प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों की व्यवस्था , इस संबंध में यह बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में दिए गए निर्देशों का पालन पूर्ण करने की कार्यवाही/स्थिति का आकलन करने हेतु दिनांक 1 अक्टूबर ,2021 को दोपहर 4ः00 बजे बैठक पुनः आयोजित की गई है। आज की इस बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन , वनमंडलाधिकारी वन मंडल श्री एम. एल. हरित ,अपर कलेक्टर श्री जीएस बघेल, डिप्टी कलेक्टर एवं डीपीएम डॉ. श्री अभय सिंह खराड़ी, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अंकिता प्रजापति, एसडीएम झाबुआ श्री एम एल गर्ग, एडिशनल सीईओ श्री दिनेश वर्मा, ऐ सी ट्राईबल श्री प्रशांत आर्य एवं अन्य जिला अधिकारी उपस्थित थे।


जनजातीय सम्मेलन में मुख्यमंत्री जी मध्यप्रदेश शासन का आगमन की तैयारी

 

jhabua news
झाबुआ। माननीय मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन श्री शिवराज जी चौहान झाबुआ में दिनांक 5 अक्टूबर को जनजातीय सम्मेलन में उपस्थित रहेंगे। इस संबंध में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता द्वारा आवश्यक व्यवस्था के संबंध में आज प्रातः शासकीय पॉलेटेक्नीक कॉलेज ग्राउण्ड़ झाबुआ पहुंचे जहां पर सभा आयोजित होगी उसका निरीक्षण किया एवं यहा पर चल रही व्यवस्थाओं का जायजा लिया एव इस संबंध में जिला अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए। इस दौरान अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आनंदसिंह वास्कले, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री एल.एन.गर्ग, एसडीओ पीआईयू श्री साल्वे, एसडीओ लोक निर्माण विभाग श्री डी.के.शुक्ला, प्राचार्य पोलेटेक्नीक कॉलेज श्री गिरीश गुप्ता, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री एल.एस.डोडिया, जिला खनी अधिकारी श्री धर्मेन्द्र चौहान, तहसीलदार झाबुआ श्री आशिष राठौर, पी.डब्यू.डी के उपयंत्री अरूण कुमार मंडलोई आदि जिला अधिकारी उपस्थित थे।


एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा मोचन बल) और जिला आपदा प्रबंधन ने किया संयुक्त मॉक ड्रिल का अभ्यास

   

jhabua news
झाबुआ,।  आज 1 अक्टूबर, 2021 को अचानक कोई जवान डेस्क के नीचे लेटा था, तो कोई अपनी कमरे से बाहर की तरफ भाग रहा था। कहीं अपना सर ढंकते नजर आए तो कहीं दूसरे की मदद करते हुए दिख रहे थे। होमगार्ड जिला मुख्यालय में बुधवार को यह नजारा देखने को मिला। आप सोच रहे होंगे कि होम गार्ड जिला मुख्यालय में कोई हादसा हो गया हो, जिसकी वजह से ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई, लेकिन जरा ठहरिये। यह कोई हादसा नहीं था बल्कि किसी आपदा से निपटने के लिए आयोजित मॉक ड्रिल का दृश्य था। “ वर्तमान समय में पूरा विश्व प्राकृतिक और मानव कृत आपदाओं का सामना कर रहा है जिसके कारण अत्यधिक रूप से जन और धन का विनाश होता है आपदा कभी बताकर नहीं आती और ना ही आपदा आने के उपरांत तैयारी कर सकते हैं, जो भी तैयारी करनी है, वह आपदा आने से पहले अपने आप को तैयार करना होता है, जिससे आपदा से कम से कम जनधन का नुकसान हो। 11वीं एनडीआरएफ के कमांडेंट श्री मनोज कुमार शर्मा के मार्गदर्शन में संपूर्ण मध्य प्रदेश में मॉक ड्रिल का आयोजन किया जा रहा है,  इसी क्रम को ध्यान में रखते हुए, आज जिला झाबुआ में श्री सोमेश मिश्रा कलेक्टर एवं  जिला दण्डाधिकारी के अध्यक्षता में भूकंप आपदा पर आधारित संयुक्त अभ्यास, एन.डी.आर.एफ. और अन्य हित धारकों के साथ  होमगार्ड जिला मुख्यालय झाबुआ में किया गया “। सुबह 12ः00 बजे मॉक ड्रिल की शुरुआत हुई। 12ः20 मिनट पर अचानक आपातकालीन सायरन बजी। जवानों को भूकंप आने की सूचना दी गई। क्योंकि जवानों को पहले ही प्रशिक्षण दिया गया हैं कि भूकंप के दौरान क्या करना चाहिए। इसलिए घबराए नहीं, बल्कि  सावधानी से डेस्क के नीचे सर ढंककर बैठ गए। भूकंप थमने के बाद खुले स्थान पर इकट्ठा हुए जहां उनका हेड काउंट किया गया यह ड्रिल करीब 40 मिनट तक चलता रहा। इस दौरान अभ्यास में एनडीआरएफ के 32 बचाव कर्मी मौजूद थे। ड्रिल के दौरान जिला दंडाधिकारी श्री सोमेश मिश्रा होमगार्ड मुख्यालय में पहुंचे और जायजा लिया । तत्पश्चात इसकी सूचना  एनडीआरएफ टीम  को दी गई जो कि मौके पर इंस्पेक्टर राहुल कुमार के नेतृत्व में टीम घटना स्थल पर पहुंच कर तुरंत ही बचाव और राहत कार्य शुरू कर दिया ।  इसी बीच सूचना मिलती है कि कुछ लोग बिलिं्डग के ऊपरी मंजिल में फंसे हुए हैं जहां पहुंचना बहुत ही मुश्किल कार्य था  परंतु एनडीआरएफ की रोप रेस्क्यू टीम के  बचाव कर्ता रोप तकनीकों का इस्तेमाल कर बिलिं्डग के ऊपरी मंजिल पर पहुंचकर फंसे हुए लोगों को सुरक्षित बाहर निकाले स एनडीआरएफ की टीम का यह कार्य देखते ही बन रहा था लोगों ने इसकी बहुत प्रशंसा की स इसी दौरान सूचना मिलती है कि बिलिं्डग के भूतल में भी कुछ लोग फंसे हैं जिनको एनडीआरएफ की सीएसएसआर टीम के बचाव करता अत्याधुनिक उपकरणों का इस्तेमाल करते हुए दीवार को काटकर पीड़ित तक पहुंच बनाएं व उनको फर्स्ट एड दिए साथ ही साथ सुरक्षित बाहर  निकाल कर अस्पताल के लिए रवाना किए। जिला-दंडाधिकारी झाबुआ श्री सोमेश मिश्रा के संस्तुति में भूकंप पर आधारित मॉक एक्सरसाइज किया गया जिसमें एनडीआरएफ,पुलिस प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग,होमगार्ड, एनसीसी, व अन्य महत्वपूर्ण एजेंसियों ने भाग लिया द्य मॉक ड्रिल का उद्देश्य आपदाओं के दौरान राहत एवं बचाव कार्य की तैयारी को जांचने व सभी एजेंसियों के  मध्य सामंजस्य स्थापित करना था । इस पूरी एक्सरसाइज को सब इंस्पेक्टर मनीष चौबे ने अपने शब्दों में बया किया। एनडीआरएफ के टीम कमांडर राहुल कुमार ने बताया कि इस मॉक ड्रिल के माध्यम से आपदा की स्थिति में अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अपनी जिम्मेदारियों से अवगत करवाया गया, ताकि भविष्य में ऐसी किसी भी आपदा के समय जान-माल के नुकसान को कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि हमें आपदा प्रबंधन की शुरुआत स्वयं से शुरू करनी होगी तथा जन-जन को आपदा प्रबंधन के बारे में जागरूक करना होगा। इस मॉक  एक्सरसाइज के दौरान मुख्य रूप से  डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अंकिता,  प्रजापति, होमगार्ड के डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट श्री गुलाब सिंह,एनसीसी से कैप्टन श्री गोपाल भूरिया तथा एनडीआरएफ से उपनिरीक्षक मनीष चौबे, उपनिरीक्षक संचार राम बहादुर, सहायक उपनिरीक्षक विजय कुमार, जिसानुल्लाह , मुख्य आरक्षी विजय कुमार  एवं एनडीआरएफ के  सभी जवान उपस्थित  थे।


केवीके में कड़कनाथ व बकरी पालन विषय पर पॉच-पॉच दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न


jhabua-news
झाबुआ। कृषि विज्ञान केन्द्र, झाबुआ के अटल बिहारी वाजपेयीसभागार में आर्या परियोजना अंतर्गत पांच - पांच दिवसीय कड़कनाथ एवंम बकरी पालन विषय पर प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में चयनित ग्राम उदयपुुुुुुुुरिया, खजूरी एवंम सेजीमलजी साथ के 50 कृषकों को प्रशिक्षित किया गया। इस कार्यक्र्रम का शुभारंभ करते हुए केन्द्र के वरिष्ठ एवं प्रमुख डॉ. आई.एस. तोमर ने आर्या परियोजना के उद्देश्य एवं इससे प्रशिक्षण प्राप्त किसानों को होने वाले लाभों पर प्रकाश डाला एवं बताया कि इस परियोजना के एक मुख्य घटक कड़कनाथ मुर्गीपालन एवंम बकरी पालन प्रशिक्षण द्वारा किसानों के आजिविका के स्थायित्व एवं उनकी आय का दोगुनी करने में सहायक होगा। इस प्रशिक्षण में डॉ. चन्दन कुमार, वैज्ञानिक, केवीके झाबुआ, डॉ. अमित दोहरे. पशु चिकित्सक, झाबुआ, डॉ.अमर सिंह दिवाकर ने प्रशिक्षण प्रदाय किया । डॉ. चन्दन कुमार, वैज्ञानिक ने किसानों को भा.कृ.अनु.प. द्वारा संचालित आर्या परियोजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए वैज्ञानिक पद्धति से कड़कनाथ पालन एवंम बकरी पालन के बारे में बताते हुुए किसानों को मुर्गीपालन  और बकरी पालन में आने वाली समस्यों के निराकरण के बारे में बताया साथ ही बताया की परियोजना अंतर्गत चयनित किसानों को प्रशिक्षण उपरांत रोजगार उपलब्ध कराने के प्रयास किये जायेगे । डॉ. अमित दोेहरे, वी ए एस झाबुआ द्वारा नस्ल सुधार से होने वाले लाभो के अतिरिक्त भौगोलिक परिस्थिति अनुसार पाली जाने वाली नस्लों के बारे में बताया साथ ही जिले के लिए उपयुक्त बकरी के नस्ल जैसे- बरबरी, सिरोही एवं सोजत बकरियों को पालने की सलाह दी। श्री अमर सिंह दिवाकर ने बकरियों में आने वाली बीमारियों एवं उनसे बचाव व रोकथाम के बारे में किसानों को जानकारी प्रदान की। डॉ. अमित दोहरे, पशुचिकित्सक, झाबुआ ने किसानों से चर्चा करते हुए बीमारियों की रोकथाम के लिए मुख्य रूप से लगने वाले टीकों एवं कृमिनाशक दवाओं के बारे में बताया एवं साथ ही जिले में युवकों के लिए संचालित विभिन्न शासकीय योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान की। प्रशिक्षण के समापन पर केन्द्र प्रमुख डॉ. आई.एस. तोमर ने किसानों को खेती के साथ सह व्यवसाय के रूप में कड़कनाथ पालन द्वारा किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के विषय पर विस्तृत जानकारी प्रदान की एवं साथ ही बताया कि किस प्रकार ग्रामीण बेरोजगारों के लिए कड़कनाथ पालन एक बेहतर विकल्प बन सकता है। बायफ फाउंडेशन से श्री डी. एन बैरागी, श्री कुशवाह तथा केन्द के डॉ. जगदीश मौर्य, डॉ.वी.के सिंह, डॉ.आर.के. त्रिपाठी, दयाराम चौहान, लोखन्डे जी का सहयोग मिला।

कोई टिप्पणी नहीं: