बिहार : औरंगजेब के रास्ते पर तेजस्वी, भाई-पिता सबको जेल में डालेंगे : जायसवाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 अक्तूबर 2021

बिहार : औरंगजेब के रास्ते पर तेजस्वी, भाई-पिता सबको जेल में डालेंगे : जायसवाल

sanjay-jaisawal-attack-tejaswi
पटना : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि तेजस्वी जी पूर्णतः औरंगजेब के रास्ते पर ही चल रहे हैं। जिस प्रकार औरंगजेब ने अपने बड़े भाई दारा शिकोह को समाप्त कर दिया था उसी प्रकार वह भी अपने बड़े भाई को राजनीतिक रूप से समाप्त करने के बाद अब निगाह आगरा के किले में बंद शाहजहां पर है। वह बेचारे 4 वर्ष कारावास झेलने के बाद बेल पर छूटे हैं पर सत्ता के लालच में ना उनकी उम्र का लिहाज कर रहे हैं और ना बीमारी का। जायसवाल ने कहा कि आज राष्ट्रीय जनता दल ने मछली के बहाने सीधे-सीधे कह दिया है कि अगर तेजस्वी कभी जीवन में सत्ता में गलती से आ गए तो सबसे पहले बिहार की सबसे बड़ी मछली अर्थात 1000 करोड़ का घोटाला करने वाले अपने पिताजी को सबसे पहले जेल में बंद करेंगे। क्योंकि, बिहार में उनके पिताजी से बड़ी घोटाले वाली मछली न कभी हुई है और ना कभी होगी। जायसवाल ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनधन खाता, आधार और मोबाइल को जोड़ देने के कारण भविष्य में कोई भी चारा घोटाला से ज्यादा बड़ा घोटाला कर नहीं पाएगा। वैसे भी बड़े भाई कह रहे हैं कि एक साजिश के तहत उनके पिताजी को दिल्ली में रखा गया है और बिहार नहीं आने दिया जा रहा है। पटना में भी जहां रेलवे घोटाले की जमीन पर बिहार का सबसे बड़ा मॉल बन रहा था वहां भी अब मछलियां ही तैर रही हैं। तेजस्वी जी चाहे तो कम से कम अपने सपने के बिहार के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल वाले स्थान पर जाकर भी मछली पकड़ सकते हैं। अगर कुछ शर्म बाकी हो तो जिन गरीबों का रेलवे के चतुर्थ वर्ग नौकरी के नाम पर छपरा में जमीनें ली गई हैं उनको लौटा दें। वे बेचारे पूर्व केंद्रीय मंत्रीयों की तरह अमीर नहीं है जो शौक से गोपालगंज से लेकर पटना तक के मकान एक छोटे बच्चे के नाम गिफ्ट कर दें। ज्ञातव्य हो कि बीते दिन चुनाव प्रचार के दौरान तेजस्वी यादव ने तारापुर में बच्चों के साथ एक तालाब में मछली मारने पहुंच गए थे। इस दौरान उन्होंने कहा था कि आज नीतीश कुमार की स्टाइल में ‘छोटी मछली’ को पकड़ा है (पर नीतीश जी की तरह जानबूझकर नहीं, पर जब सरकार में आएँगे तो ‘बड़ी मछलियों’ अर्थात पर्दे के पीछे के असली भ्रष्ट ‘खिलाड़ियों’ को पकड़ेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: