मधुबनी : ईवीएम का फोटो वायरल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 अक्तूबर 2021

मधुबनी : ईवीएम का फोटो वायरल

  • राज्य निर्वाचन आयोग के निष्पक्ष पंचायत चुनाव दावा पर लग रहे प्रश्नचिन्ह, चौतरफा उठ रहे जांच की मांग

evm-photo-viral-in-madhubani-panchayat-election
मधुबनी : लदनियां प्रखंड सह अंचल कार्यालय नया भवन स्थित पंचायत आम चुनाव 2021 से सम्बंधित बज्र गृह से सील ईवीएम का फोटो वायरल होना पंचायत आम चुनाव के निष्पक्षता पर प्रश्न चिन्ह लग गया है। ज्ञात हो कि लदनियां प्रखण्ड सह अंचल कार्यालय के नया भवन में आरओ (पं०)सह बीडीओ लदनियां अखिलेश्वर कुमार के मौजूदगी में सभी पंद्रह पंचायतों के लिए पंचायत आम चुनाव 2021 का ईवीएम स्ट्रांग रूम ईवीएम सीलिंग कार्य कई दिनों से जारी है। हालांकि हम इस सील ईवीएम वायरल फोटो का पुष्टि नहीं करता है। जैसा कि पंचायत आम चुनाव का मतदान आगामी 24 अक्टूबर 2021 को है। पिपराही पंचायत का मतदान केन्द्र मवि पिपराही में भी बनाया गया है। इधर पिपराही पंचायत के पंचायत आम चुनाव 2021 से सम्बंधित 24 अक्टूबर को मवि पिपराही मतदान केंद्र का लदनियां प्रखंड कार्यालय में बने बज्रगृह से सील ईवीएम फोटो वायरल होना राज्य निर्वाचन आयोग पटना का निष्पक्ष और भयमुक्त चुनाव कराने के दावा पर प्रश्न चिन्ह खड़ा कर दिया है। गौरतलब है कि इसके पूर्व 17 अक्टूबर को जिला प्रशासन मधुबनी के सामने शिवगंगा बालिका हाई स्कूल भवन में लदनियां प्रखण्ड का पंचायत आम चुनाव से सम्बंधित वोटर लिस्ट का विखंडन कार्य एक गैर सरकारी व्यक्ति द्वारा किया जा रहा था, जिसमें उनके द्वारा वोटर लिस्ट पर हस्ताक्षर बनाया जा रहा था। इस बाबत वायरल विडिओ पर अभीतक दोषी के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं हो सका। वोटर लिस्ट पर हस्ताक्षर करने वाला व्यक्ति लदनियां प्रखंड कार्यालय में कार्यरत पंचायत सचिव का रिश्तेदार है। बिडम्बना है चुनाव जैसे कार्य में फर्जीवाड़े को भी गम्भीरता से नहीं लेना जांच का बिषय बन चुका। अब सवाल उठता है कि राज्य निर्वाचन आयोग इस परिस्थिति में लदनियां प्रखंड निष्पक्ष चुनाव करा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: