बिहार : मल्लाह समाज से माफी मांगे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष : तेजस्वी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 अक्तूबर 2021

बिहार : मल्लाह समाज से माफी मांगे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष : तेजस्वी

tejaswi-demand-lalan-should-say-sorry-to-fisherman
पटना : बिहार विधानसभा की दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों द्वारा अब युद्ध स्तर पर तैयारी की जा रही है। इसी कड़ी में विपक्ष के नेता सत्तारूढ़ दलों पर हमला बोल रहे हैं तो सत्तारूढ़ दलों के नेता भी विपक्ष पर हमला बोलने से पीछे नहीं हट रहे हैं। इसी बीच अब बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह पर जोरदार हमला बोला है। राजद नेता और लालू प्रसाद यादव के छोटे लाल तेजस्वी यादव ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह पर मत्स्यजीवी समाज को अपमानित करने का आरोप लगाया है। तेजस्वी यादव ने कहा है कि “मत्स्यजीवी समाज को कम आत्मविश्वास वाला और मछली पकड़ने को हेय काम बताने वाले नीतीश जी के ‘राष्ट्रीय अध्यक्ष’ को पूरे मल्लाह समाज से माफी माँगनी चाहिए।” इसके अलावा तेजस्वी ने एनडीए सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि “ये जेडीयू और बीजेपी वाले अपनी सामंती सोच को बस किसी तरह दबा, छुपा कर बैठे है। रह-रहकर वंचितों के प्रति जहर इनके मुँह से निकलता ही रहता है।” जानकारी हो कि , जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा मछली पकड़ने वाले वीडियो पर बयानबाजी करते हुए कहा था कि जिसका आत्मविश्वास ऊंचा रहता है वह मछली नहीं मारता है। जिसके बाद अब उनके इस बयान को लेकर तेजस्वी यादव ने उन पर यह कड़ा प्रहार किया है। बहरहाल, देखना यह है कि तेजस्वी यादव के इन आरोपों पर भाजपा और जदयू किस तरह जवाब देती है क्योंकि इससे पहले मछली पकड़ने वाले वीडियो पर भाजपा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने भी तेजस्वी यादव को असमंजस में डाल दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं: