बिहार : फादर राजीव रंजन ने प्रभु का स्वर्गरोहण का पहली बार मिस्सा अर्पित किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 नवंबर 2021

बिहार : फादर राजीव रंजन ने प्रभु का स्वर्गरोहण का पहली बार मिस्सा अर्पित किया

  • * प्रेरितों की रानी ईश मंदिर (कुर्जी) में डीकेन रहे हैं राजीव रंजन
  • * पुरोहित बनने के बाद येसु समाज के पुरोहित राजीव रंजन को बधाई

god-missa-bihar
डुमरांव. बक्सर धर्मप्रांत के बिशप बनकर आर्चबिशप बनने वाले सेवानिवृत विलियम डिसूजा और सेबास्टियन कल्लुपुरा ने मिलकर डुमरांव पल्ली में रहने वाले उपयाजक राजीव रंजन को धार्मिक अनुष्ठान के दौरान शनिवार को विधिवत याजक बनाया.याजक बनने के बाद रविवार को फादर राजीव रंजन ने प्रभु का स्वर्गरोहण का गिरजाघर डुमरांव (पुराना भोजपुर) में पहली बार मिस्सा अर्पित किये. शनिवार 6 नवम्बर को बक्सर धर्मप्रांत  के डुमरांव पल्ली में पुरोहित बने फादर राजीव रंजन.रविवार 7 नवम्बर को पुरोहिताभिषेक के बाद फादर राजीव रंजन ने प्रभु का स्वर्गरोहण का गिरजाघर डुमरांव (पुराना भोजपुर) में पहली बार मिस्सा अर्पित किये. नवाभिषिक्त फादर राजीव रंजन की बहन अनीता रतन ने कहा पिता जी नाम प्रभु प्रताप और माता का नाम निर्मला देवी है. हमलोह 4 बहन और 2 भाई हैं.फादर की शिक्षा सेंट जोसेफ हाई स्कूल डुमरांव में हुआ है. फादर राजीव रंजन ने कहा कि मैं ईश्वर के बुलावे पर धर्म समाज की सेवा के लिए पुरोहित बने.ईश्वर ने मुझे जिस कार्य के लिए चुना है. उस कार्य को पूरी पवित्रता के साथ पूरा करूंगा. इसके लिए ईश्वर मुझे शक्ति प्रदान करते रहे.


कोई टिप्पणी नहीं: