दतिया : महिला सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम सम्पन्न - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 नवंबर 2021

दतिया : महिला सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम सम्पन्न

  • महिला थाना व स्वदेश संस्था के संयुक्त अभियान के अंतर्गत महिला सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम सम्पन्न
  • महिलाओं को सुरक्षित वातावरण प्रदान करना हम सबकी जिम्मेदारी- डॉ. संगीता भटनागर
  • डिजीटल प्लेटफार्म का उपयोग सावधानी से करें- नेहा शर्मा निरीक्षक

women-awareness-datiya
दतिया।  पुलिस मुख्यालय के निर्देशन व पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड़ के मार्गदर्शन में महिला थाना दतिया के एवं स्वदेश ग्रामोत्थान समिति दतिया के संयुक्त तत्वावधान में महिला सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन शासकीय कन्या महाविद्यालय दतिया के सभागार में आयोजित किया गया। आयोजित महिला सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्रीमती नेहा शर्मा निरीक्षक महिला थाना दतिया, विशिष्ट अतिथि श्रीमती अर्चना पाल उप निरीक्षक महिला थाना दतिया, रामजीशरण राय संचालक स्वदेश ग्रामोत्थान समिति दतिया रहे। कार्यक्रम में अध्यक्षता डॉ. संगीता भटनागर प्राचार्य शासकीय कन्या कन्या महाविद्यालय दतिया द्वारा की गई। कार्यक्रम का सफल व प्रभावी संचालन डॉ. मनोहर कुशवाह द्वारा किया गया। 


आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्रीमती नेहा शर्मा द्वारा उपस्थित छात्राओं को साइबर सेल से सुरक्षित रहने की टिप्स बताते हुए अनजान व अपरचित व्यक्ति के साथ अपना नंबर ना शेयर करने व फेसबुक व्हाट्सएप आदि प्लेटफार्म पर चैट सावधानीपूर्वक करने की सलाह दी। विशेष अतिथि श्रीमती अर्चना पाल ले महिला हेल्पलाइन 1090 की व्यापक जानकारी देते हुए महिला थाना जिले में संचालित महिला डेस्क की जानकारी प्रदान की।  विशिष्ट अतिथि पीएलव्ही/ समाजसेवी रामजीशरण राय द्वारा पीसीपीएनडीटी एक्ट-1994,  घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम-2005, लैंगिक हिंसा से बालकों का संरक्षण अधिनियम-2012, कार्यस्थल पर यौन हिंसा अधिनियम- 2013 के साथ ही महिलाओं पर होने वाली विभिन्न प्रति रूपों में हिंसा को उजागर करते हुए महिला हिंसा रोकने के प्रयास में सहभागी बनने की अपील की। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं डॉ. संगीता भटनागर द्वारा महिला महिलाओं के लिए सुरक्षित समाज की परिकल्पना को साकार करने में सभी की भूमिका महत्वपूर्ण है। अतः हम सबको महिलाओं को सुरक्षित वातावरण प्रदान करने की मुहिम में सहभागी बनना चाहिए। आयोजित कार्यक्रम में डॉ. सजन खत्री सहायक प्राध्यापक, डॉ. पल्लविका आर्य अतिथि विद्वान, मैथिलीशरण त्रिपाठी विजय यादव अतिथि विद्वान आदि ने महिला सुरक्षा हेतु अपने-अपने विचार व्यक्त किए।  कार्यक्रम में सुश्री चंचल पाठक, सुश्री रोशनी व आरक्षक रामप्रसाद सोलंकी, शेरा सिंह सहित बड़ी संख्या में छात्राएं उपस्थित रहीं।  कार्यक्रम के अंत में उपस्थित अतिथियों का छात्राओं का आभार आरक्षक शेरासिंह ने व्यक्त  किया। उक्त जानकारी निरीक्षक महिला थाना नेहा शर्मा ने दी।

कोई टिप्पणी नहीं: