मधुबनी : जिले के सभी व्यस्क मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में शामिल हों : डीएम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 12 नवंबर 2021

मधुबनी : जिले के सभी व्यस्क मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में शामिल हों : डीएम

camp-for-voter-list-correction
मधुबनी, आज दिनांक 12 नवंबर 2021 को श्री अमित कुमार, भा. प्र. से. जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में अहर्ता तिथि 01/01/2022 के आधार पर मतदाता सूची के विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम से संबंधित बैठक का आयोजन जिले के विभिन्न राजनैतिक दलों के साथ संपन्न हुआ। बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में मतदाता सूची का पुनरीक्षण निष्पक्ष मतदान के परिप्रेक्ष्य में एक महत्वपूर्ण कदम है। इसकी महत्ता को देखते हुए आप सभी जनप्रतिनिधियों से सहयोग की अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि इसी पुनरीक्षित मतदाता सूची के आधार पर जिले के नगर निकायों एवं निगम के चुनाव संपन्न किए जाने हैं। ऐसे में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों के नाम मतदाता सूची में शामिल हों यह अति आवश्यक है। ऐसे में मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम बेहद महत्वपूर्ण है। इसके लिए जिले में 21 नवंबर को व्यापक स्तर पर कैंप भी लगाया जाएगा। मतदाताओं की सहायता के उद्देश्य से बहुउपयोगी "वोटर हेल्पलाइन मोबाइल एप" की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि कोई भी मतदाता अपने नाम को मतदाता सूची में खोज सकते हैं। इसके अतिरिक्त अपनी जानकारी भी दर्ज करा सकते हैं। यदि किसी मतदाता का उम्र कुछ समय उपरांत मतदाता सूची में शामिल होने योग्य हो जायेगा तो वे भी अपनी जानकारी इस एप पर दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि मधुबनी जिले में कुल 3339 मतदान केंद्र हैं एवं कुल 3264471 मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में शामिल हैं। पुनरीक्षित सूची का प्रकाशन 5 जनवरी 2022 को किया जाना है। इससे पूर्व हर नए मतदाता का नाम मतदाता सूची में शामिल किया जाय। यदि कोई मतदाता मृत हो चुके हैं तो उनका नाम अचूक रूप से मतदाता सूची से हटा दिया जाय।


जिलाधिकारी ने बताया कि किसी नए मतदाता जिनके पास उनके जन्म तिथि सत्यापन हेतु निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित आयु संबंधी कोई प्रमाण पत्र नहीं है और उनकी आयु 18 वर्ष से 21 वर्ष के बीच है तो ऐसी स्थिति में उस मतदाता के अभिभावक  स्व अभिप्रमाणित कर उनकी जन्मतिथि की घोषणा कर उस मतदाता का नाम मतदाता सूची में जुड़वा सकते हैं। इस घोषणा से संबंधित फॉर्मेट जिले के प्रत्येक प्रखंड कार्यालय में उपलब्ध है। मतदाता सूची संबंधी किसी दावे को 30 नवंबर 2021 तक स्वीकार किया जाएगा। मतदाता सूची के पुनरीक्षण में यदि कोई दिव्यांग मतदाता एवं महिला मतदाता अभी तक अपना नाम मतदाता सूची में जोड़ नहीं सके हैं तो उनके नाम जोड़ने पर विशेष ध्यान दिया जाए। बताते चलें कि इस मौके पर जिलाधिकारी ने विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से कई सुझाव भी लिए और अपने संवाद में उन्होंने सभी राजनैतिक दलों से  कहा कि सभी राजनैतिक दल अपने बूथ लेवल एजेंट की  नियुक्ति पूरी कर उनकी सूची निर्वाचन कार्यालय को दें ताकि उसे निर्वाचन आयोग के वेब साइट पर अपलोड किया जा सके। इस बैठक के अवसर पर श्री विवेक कुमार, जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी, मधुबनी के साथ साथ श्री शंकर झा, जिलाध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी, श्री शीतलांबर झा, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस पार्टी, श्री मिथिलेश झा, जिलाध्यक्ष सी पी आई, श्री राजेश कुमार मिश्र, जिलाध्यक्ष सी पी आई (एम एल) एवं जदयू एवं बहुजन समाज पार्टी के प्रतिनिधि शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: