मधुबनी : नौवें चरण के पंचायत चुनाव के लिएडीएम ने दिए मुस्तैद रहने के आदेश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 नवंबर 2021

मधुबनी : नौवें चरण के पंचायत चुनाव के लिएडीएम ने दिए मुस्तैद रहने के आदेश

madhubani-dm-order-for-9th-phase
मधुबनी, आज दिनांक 27 नवंबर 2021 को श्री अमित कुमार, भा. प्र. से. जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) सह जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में नगर भवन, मधुबनी में पंचायत आम चुनाव 2021 के नवम चरण के लिए नियुक्त सभी जोनल, सेक्टर दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की बैठक आहूत की गई। बताते चलें कि 29 नवंबर 2021 को जिले के दो प्रखंडों बेनीपट्टी एवं लौकही में पंचायत चुनाव संपन्न होने हैं। मतदाताओं की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए बेनीपट्टी के कुल 31 पंचायतों के लिए 436 मतदान केंद्र एवं लौकही के 18 पंचायतों के लिए 263 मतदान केंद्रों की स्थापना की गई है।  नौवें चरण के चुनाव में बेनीपट्टी से जिला परिषद के 5, पंचायत समिति के 43, मुखिया के लिए 31 इतने ही सरपंच के लिए और ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए 416 एवं इतने ही पंचों के लिए चुनाव होने हैं। वहीं लौकही से जिला परिषद के 03, पंचायत समिति के 25, मुखिया के लिए 18 इतने ही सरपंच के लिए और ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए 253 एवं इतने ही पंचों के लिए चुनाव होने हैं। जिला पदाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित सभी जोनल, सेक्टर दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को जिले में निष्पक्ष, पारदर्शी एवं शांतिपूर्ण पंचायत चुनाव संपन्न कराने के लिए कई आवश्यक निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि सभी मतदान केंद्रों पर ससमय मतदान प्रारंभ हो इसके लिए मतदान केंद्रों पर समय से ईवीएम मशीन पंहुचना सुनिश्चित करें। मतदान प्रारंभ होने के बाद सक्रियता दिखाते हुए सभी मतदान केंद्रों की गतिविधियों का जायजा लेते रहना आवश्यक है। यदि किसी मतदान केन्द्र पर अपराह्न 3 से 5 के बीच कतार में मतदाताओं की भीड़ हो तो इसकी सूचना कंट्रोल रूम को निश्चित रूप से प्रेषित करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक चरण का मतदान अपने आप में नई जवाबदेही है। ऐसे में इस मानसिकता से बाहर आने की जरूरत है कि हमने पूर्व में भी कई चुनाव संपन्न करवाया है। बल्कि, हमें यह सोचना चाहिए कि यह मेरे लिए नई जिम्मेवारी है, जिसे हमें सही से निभाना है। सर्दियां बढ़ गई हैं और दिन कुछ पहले ढल रहा है। ऐसे में आप सभी को अपने अपने मतदान केंद्रों पर उपलब्ध सुविधाओं विशेषकर प्रकाश आदि का जायजा ले लेना है। इतना ही नहीं आपको अपने अंतर्गत आने वाले प्रत्येक मतदान केंद्रों के हर छोटे बड़े रास्तों की जानकारी होनी चाहिए।


जिलाधिकारी ने बताया कि विभागीय निर्देश के आलोक में सभी मतदान केंद्रों पर टैब के माध्यम से बायोमेट्रिक द्वारा लिए गए वोटर टर्न आउट की रिपोर्ट प्रत्येक दो घंटे पर कंट्रोल रूम को प्रेषित करना आवश्यक है। जब कभी मतदान केंद्रों पर विजिट करें तो बायोमेट्रिक सिस्टम में कितने मतदाताओं की सूचना अपलोड हो सकी और वास्तविक वोटर टर्न आउट की जानकारी  प्राप्त कर उसकी सूचना निश्चित रूप से कंट्रोल रूम को प्रेषित करें। विभाग द्वारा जारी मोबाइल एप का उपयोग भी आवश्यक है। उन्होंने अपने निर्देश में कहा कि मतदान केंद्रों पर विजिट के समय  मुआइना कर सुनिश्चित करें कि मतदान कक्ष में मतदाता के अतिरिक्त कोई भी व्यक्ति न हो। यदि कोई अन्वश्यक रूप से पाया जाए तो उसपर अविलंब कार्रवाई करें। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि मतदान के दौरान सूचनाओं के आदान प्रदान से विधि व्यवस्था बनाए रखने में बेहद महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त होती हैं। ऐसे में मतदान की पूरी प्रक्रिया के दौरान मोबाइल कभी स्विच ऑफ नहीं होना चाहिए।  उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में मतदान केंद्रों के आस पास भीड़ एकत्रित नहीं होने देना है। आपके द्वारा नियमित स्तर पर मतदान केंद्रों के विजिट करने से मतदाताओं और अभ्यर्थियों को प्रशासन के सजग और मुस्तैद होने का भरोसा होता है और इस प्रकार अनावश्यक भीड़ स्वयं छंट जाती है। इतना ही नहीं किसी मतदान केंद्र पर मतदाता कतार के अतिरिक्त यदि कहीं भीड़ एकत्रित हो तो संवाद कर उन्हें जगह खाली करने को कहें। एक दंडाधिकारी के रूप में संवैधानिक रूप से आपके पास एक्शन लेने के अधिकार मौजूद हैं। ऐसे में गड़बड़ी होने से पहले उसपर नियंत्रण स्थापित किया जाय।


उन्होंने सभी दंडाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे जितनी बार भी मतदान केंद्रों पर जायजा लेने पहुंचे, उतनी बार विजिट शीट पर हस्ताक्षर अवश्य करें। इतना ही नहीं किसी मतदान केंद्र पर यदि आपको मतदान की प्रक्रिया धीमी लग रही हो तो तत्काल उसकी समीक्षा करें और मतदान कर्मियों अनावश्यक रूप से विलंब न करने को निर्देशित करें। मतदान निश्चित रूप से अपने निर्धारित समय सुबह के 7 बजे से शुरू हो जाना चाहिए। मतदान समाप्ति के लिए 5 बजे का समय निर्धारित किया गया है। यदि किसी मतदान केंद्र पर 5 बजे के बाद भी मतदाताओं की भीड़ रहती है तो इसकी सूचना अविलंब कंट्रोल रूम को प्रेषित करें। यदि किसी भी मतदान केंद्र पर 5 बजे भी मतदाता कतार में खड़े हैं, तो सबसे पिछले व्यक्ति से एक की संख्या से पर्ची वितरित किया जाय। इसके बाद आने वाले किसी भी व्यक्ति को मतदान में भाग लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी।  उन्होंने स्पष्ट किया कि निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण पंचायत चुनाव के लिए विभिन्न स्तरों पर प्रशासनिक अधिकारियों की पुख्ता तैनाती की गई है। ऐसे में किसी भी परिस्थिति में शांति भंग करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। दंडाधिकारी के रूप में आप सभी को विधि व्यवस्था को प्राथमिकता देते हुए शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव संपन्न करवाने का लक्ष्य दिया गया है। जिलाधिकारी महोदय ने बताया कि बेनीपट्टी एवं लौकही प्रखंडों के मतदान सामग्रियों को समर्पित करने के लिए आर. के. कॉलेज, मधुबनी को चिन्हित किया गया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि तब तक अपने क्षेत्र में बने रहेंगे, जब तक आपके अधीन सभी मतदान केंद्रों पर मतदान संपन्न नहीं हो जाते। साथ ही सभी प्रखंडों के रिजर्व ईवीएम आर. के. कॉलेज के परीक्षा भवन में जमा में  जमा किए जायेंगे। मौके पर श्री विशाल राज, उप विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री सुरेन्द्र कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, मधुबनी, श्री शैलेन्द्र कुमार, जिला पंचायतराज पदाधिकारी सह जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, मधुबनी के साथ साथ जिले के सभी वरीय प्रशासनिक पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: