बिहार : कांग्रेस ने डा.अम्बेडकर का कभी सम्मान नहीं किया : सुशील मोदी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 26 नवंबर 2021

बिहार : कांग्रेस ने डा.अम्बेडकर का कभी सम्मान नहीं किया : सुशील मोदी

congress-never-respact-ambedkar-sushil-modi
पटना। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सह राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी कभी लालू तो कभी कांग्रेस पर ट्वीट कर राजनीतिक बढ़ाने में लगे हैं.संविधान दिवस के अवसर पर ट्वीट कर कहा है कि कांग्रेस ने आजादी के बाद जिस संविधान के आधार पर 50 साल से ज्यादा राज किया, उस महान दस्तावेज और इसकी रचना में बड़ी भूमिका निभाने वाले डा. अम्बेडकर का उसने कभी सम्मान नहीं किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अम्बेडकर के सम्मान में पंचतीर्थ बनाये और उनकी 125 वीं जयंती पर 2015 में हर वर्ष संविधान दिवस मनाने की घोषणा की। कांग्रेस ने संविधान दिवस का बहिष्कार कर अम्बेडकर, संविधान और लोकतंत्र का अपमान किया।वहीं आकाश ने ट्वीट कर कहा है कि और आपके संघ ने 52 साल तक तिरंगा नहीं फहराया, गज़ब की है आपकी देशभक्ति वाली पार्टी।  उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे बड़े लिखित संविधान की रचना में बिहार का उल्लेखनीय योगदान रहा। प्रसिद्ध विधिवेत्ता डा. सच्चिदानंद सिन्हा संविधान सभा के पहले अन्तरिम अध्यक्ष थे। डा. राजेन्द्र प्रसाद सभा के अध्यक्ष हुए।डा. अम्बेडकर को संविधान की प्रारूप समिति का अध्यक्ष बनाने में बिहार के दोनों महापुरुषों की भूमिका थी। उन्होंने कहा कि संविधान के नीति निर्देशक सिद्धांत की धारा-47 के अनुसार मद्यनिषेध लागू करने की दिशा में प्रयत्नशील रहना सरकार का कर्तव्य है। बिहार सरकार जब संविधान की भावना के अनुरूप काम कर रही है, तब कांग्रेस और राजद जैसे दल इसका विरोध करने के नित नये कुतर्क गढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने शराब न पीने की शपथ दिलाते हुए संविधान दिवस मनाने की अच्छी मिसाल पेश की।राजेश ने कहा कि खुद नीतीश बाबू ने भी तो शपथ लिया था “ मिट जाएँगे , लूट जाएँगे , बर्बाद हो जाएँगे पर भाजपा से हाथ नही मिलाएँगे “ उनके शपथ का कैसा दुर्दशा हुआ ये जनता में देखा है ! 

कोई टिप्पणी नहीं: