बिहार : ‘संविधान दिवस’ पर पटना में संविधान की उद्देशिका का हुआ पाठ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 26 नवंबर 2021

बिहार : ‘संविधान दिवस’ पर पटना में संविधान की उद्देशिका का हुआ पाठ

pib-patna-contitution-day
पटना, 26 नवंबर, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के पटना स्थित प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो(पीआईबी) और रीजनल आउटरीच ब्यूरो(आरओबी) पटना  में  आज संविधान दिवस के अवसर पर अधिकारियों और कर्मचारियों ने संविधान की ‘उद्देशिका’ का  पाठ किया I संसद के सेन्ट्रल हॉल में आयोजित संविधान दिवस समारोह के सजीव प्रसारण से जुड़ते हुए पीआईबी एवं आरओबी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने राष्ट्रपति के साथ संविधान की उद्देशिका का पाठ कियाI पीआईबी एवं आरओबी के अपर महानिदेशक एस.के.मालवीय के नेतृत्व में संविधान की उद्देशिका का पाठ किया गयाI मौके पर आरओबी के निदेशक विजय कुमार, पीआईबी के निदेशक दिनेश कुमार, सहायक निदेशक संजय कुमार, आरओबी के वरीय प्रशासनिक अधिकारी प्रशांत कुमार सहित अन्य मौजूद थेI    भारत की संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को भारत के संविधान को अपनाया था, जो 26 जनवरी 1950 से लागू हुआI नागरिकों के बीच संविधान के मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए हर साल 26 नवंबर को ‘संविधान दिवस’ के रूप में मनाने के भारत सरकार के निर्णय को सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने 19 नवंबर 2015 को अधिसूचित किया था तब से हर साल इस दिन को ‘संविधान दिवस’ के रूप में मनाया जाता हैI

कोई टिप्पणी नहीं: