भाजपा से समझौता करने के बजाय मरना मंजूर है : प्रियंका गांधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 1 नवंबर 2021

भाजपा से समझौता करने के बजाय मरना मंजूर है : प्रियंका गांधी

ever-compromise-with-bjp-priyanka-gandhi
गोरखपुर, 31 अक्टूबर, कांग्रेस की महासचिव एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच गुप्त समझौता होने के आरोपों का रविवार को खंडन करते हुये कहा कि वह मर जायेंगी मगर भाजपा के साथ कभी भी समझौता नहीं करेगी। श्रीमती वाड्रा ने यहां चम्पा देवी पार्क में पार्टी के चुनाव अभियान के तहत आयोजित प्रतिज्ञा रैली को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने इस आशय की मीडिया रिपोर्टों का खंडन करते हुए कहा, 'कुछ लोगों का आरोप है कि कांग्रेस और भाजपा के बीच कोई गुप्त समझौता है। मुझे मरना मंजूर है लेकिन भाजपा के साथ कभी भी समझौता नहीं कर सकती।' उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर उनके गुरू गोरक्षनाथ की शिक्षाओं और आदर्शों के प्रतिकूल काम करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार विकास के जो दावे कर रही है वह विकास जमीन पर नजर नहीं आता है। इसके उलट संकट की घडी में गरीबों, किसानों तथा महिलाओं की मदद करने के बजाय यह सरकार मुंह मोड लेती है। श्रीमती वाड्रा ने कहा कि कांग्रेस पिछले दो वर्षों में सक्रिय रूप से पीड़ित और वंचित लोगों के आंसू पोंछ रही है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि भाजपा सरकार में जरूरतमंद लोगों की मदद करने के बजाय उन पर अत्याचार हो रहा है। कांग्रेस की 70 सालों की मेहनत के फल को भाजपा ने सात सालों में गंवा दिया। उन्होंने कहा कि खाद, खेती और फसल सब बड़े बड़े उद्योगपतियों के हाथ में दे दी गई है। खाद के लिए लाइन में लगे लगे लोगों की मौत हो रही है। उन्हेंने प्रतिज्ञा रैली में आये लोगों के जोश का हवाला देते हुये कहा कि जो लोग कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का संगठन कमजोर है, उन्हें यहां मौजूद भीड़ को एक बार देखना चाहिये।  

कोई टिप्पणी नहीं: