सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 16 नवंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 नवम्बर

शहर का नाम रोशन करने वाली बेटी का डोल-बाजे से किया सम्मान, कथक नृत्य में गुनगुन ने जीता राष्ट्रीय स्तर पर द्वितीय पुरस्कार


sehore news
सीहोर। शहर के सिंधी कालोनी में मंगलवार की शाम को शहर का नाम रोशन करने वाली बेटी गुनगुन पंजवानी का क्षेत्रवासियों ने डोल-बाजे के साथ पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। इस मौके पर बड़ी संख्या में समाजजन और क्षेत्रवासी शामिल थे। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सरस्वती कथक (डांस) कला केन्द्र की छात्रा गुनगुन पंजवानी ने विगत दिवस में राष्ट्रीय नृत्य प्रतियोगिता मुंबई मे आरंभ के नाम से प्रयास एंटरटेनमेंट के रचनात्मक आयोजन नृत्य गुरु श्रीमती रुपाली सोनी संचालिका सरस्वती कथक (डांस) कला केंद्र के मार्गदर्शन मे पहले राज्यस्तरीय मे प्रथम स्थान प्राप्त कर मुंबई मे ग्रांड फिनाले राउंड मे क्लासिकल डांस कम्पटीशन मे 13 नवंबर को मुंबई मे नृत्य जूनियर वर्ग मे द्वितीय स्थान प्राप्त कर सीहोर के साथ साथ प्रदेश को भी गौरवान्वित किया है, आयोजन समिति की और से ट्रॉफी, सर्टिफिकेट, कई गिफ्ट वाउचर देकर सम्मानित किया गया साथ ही भविष्य मे रियलिटी शो मे भाग लेने का मौका भी दिया जाएगा। गुनगुन इससे पहले भी जिला स्तरीय एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिता मे कई पुरस्कार जीत चुकी है। गुनगुन की इसका श्रेय कथक गुरु श्रीमती रुपाली सोनी जिनके मार्गदर्शन मे विगत 4 वर्षों से कथक सिख रही है। यह संस्था के साथ साथ सीहोर जिले के लिए भी गौरव की बात है कि यहाँ के बच्चे राष्ट्रीय स्तर तक अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे है। गुनगुन कथक मे डिप्लोमा भी कर रही है। आयोजकों ने इस बात पर खुशी व्यक्त की कि नृत्य के क्षेत्र मे एक से बढ़कर एक कलाकारों का आना इस बात को दर्शाता है कि हर दौर मे संगीत एवं नृत्य की महत्ता अक्षुण्ण रहती है संस्था सभी आयोजकों एवं निर्णायक मंडल का आभार मानती है।


आंगनबाड़ी केन्द्र में आने वाले बच्चों का किया स्वागत


sehore news
सीहोर। शासन के निर्देशानुसार महिला एवं बाल विकास विभाग परियोजना सीहोर ग्रामीण सेक्टर धनखेड़ी आंगनबाड़ी केंद्र चांदबड पर आइए आंगनबाड़ी कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसके अंतर्गत बच्चों को उत्साह के साथ आमंत्रित किया गया और आंगनबाड़ी क्षेत्र के जनप्रतिनिधि एवं सरपंच के द्वारा बच्चों का तिलक एवं पुष्पहारो से स्वागत किया गया साथ ही समूह के द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र पर बच्चों को भोजन में खीर पूरी खिलाया गया। आंगनबाड़ी में बड़े उत्साह से आंगनबाड़ी आइए उत्सव मनाया गया इस कार्यक्रम से बच्चों में काफी दिनों के बाद बड़ी खुशी का माहौल देखा गया और सभी बच्चे बड़े उत्साह के साथ आंगनबाड़ी केंद्र पर उपस्थित हुए कार्यक्रम में परियोजना अधिकारी अर्चना वाजपेई पर्यवेक्षक गुलनाज जहां आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सीमा वर्मा एवं सहायिका सरपंच जनप्रतिनिधि एवं सभी बच्चे उपस्थित रहे। 


आज खेला जाएगा प्रतियोगिता के पहला सेमीफाइनल, रोमांचक मैच में एसीई ने सीहोर ट्राईडेंट को दी चार रन से शिकस्त


sehore news
सीहोर। शहर के बीएसआई मैदान पर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के तत्वाधान में एसएन पहलवान स्मृति प्रथम टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता में मंगलवार को खेले गए एक रोमांचक मुकाबले में एसीई अकादमी भोपाल ने सीहोर ट्राईडेंट को एक नजदीकी मुकाबले में मात्र चार रन से शिकस्त दी। इस मैच में सीहोर ट्राईडेंट को अंतिम ओवर में छह रन की जरूरत थी, लेकिन एसीई के गेंदबाज ने शानदार गेंदबाजी करते हुए इस मैच में जीत हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। मंगलवार की सुबह सीहोर ट्राईडेन्ट ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला लिया। इस मौके पर मैदान में पहले बल्लेबाजी करने उतरी एसीई अकादमी भोपाल ने निर्धारित 20 ओवर में चार विकेट खोकर 147 रन के लक्ष्य की चुनौती दी। इसमें शिवम ने शानदार बल्लेबाजी करने हुए 50 रन की अद्र्धशतकीय पारी खेली। वहीं जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीहोर ट्राईडेंट टीम कांटे की टक्कर में चार रन से हार गई।


विस्फोटक बल्लेबाज जफर ने लगाए छह चौके
डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि इधर एक अन्य मुकाबले में बीएस अकादमी भोपाल ने एक तरफा मुकाबले में सन राइजिंग इलेवन लालघाटी को दस विकेट से हराकर प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। इस मैच के दौरान सन राइजिंग इलेवन भोपाल ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 16 ओवर में दस विकेट के नुकसान पर मात्र 74 रन बनाए थे। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी बीएस अकादमी भोपाल के जफर की छह चौके से सजी 40 रन की इस पारी की बदौलत यह मैच बिना किसी विकेट खोए दस विकेट से जीत हासिल की। प्रतियोगिता का लीग चरण पूरा हो गया है। आगामी दिनों में सेमीफाइनल और फाइनल मैचों की तैयारियां की जा रही है। बुधवार को प्रतियोगिता का पहला सेमीफाइनल मैच खेला जाएगा। जो एनसीसीसी और बीएस अकादमी के मध्य खेला जाएगा। 


वृद्धजनों किया भजन कीर्तन का आयोजन


sehore news
सीहोर। शहर के सैकड़ाखेड़ी स्थित संकल्प वृद्धाश्रम और नशा मुक्ति केन्द्र में बोर, भाजी, आंवला...उठो देव सांवला...जैसे भजनों के साथ भगवान की पूजा-अर्चना कर की आराधना की गई। इस मौके पर केन्द्र के संचालक राहुल सिंह ने कहा कि हमारे यहां पर सभी पर्व को आस्था के साथ मनाया जाता है। देव उठनी ग्यारस के दौरान यहां पर मौजूद वृद्धजनों ने एकादशी के पावन पर्व पर भजन संध्या का आयोजन किया था, इसके पश्चात जोरदार आतिशाबाजी के साथ पर्व मनाया गया। उन्होंने कहा कि एकादशी का बहुत अधिक महत्व होता है। हर माह में दो बार एकादशी पड़ती है। एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में। साल में कुल 24 एकादशी पड़ती हैं। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष में पडऩे वाली एकादशी को देवउठनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। इसे देवोत्थान एकादशी, देवउठनी ग्यारस, प्रबोधिनी एकादशी आदि के नामों से भी जाना जाता है।


राधा-कृष्ण का किया श्रद्धालुओं ने आकर्षक श्रृंगार, कार्तिक मास देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु को समर्पित-पंडित मयंक शर्मा


sehore news
सीहोर। कार्तिक माह देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु को समर्पित माह है। इस माह में महालक्ष्मी पूजा और भगवान विष्णु के जागने का समय होता है। इसी माह में दीपवाली के दिन मात लक्ष्मी की पूजा होती है। इसके अलावा अन्य स्थानों पर माता कालिका की पूजा होती है। इस माह में धनवंतरि देव, कुबेर, यमदेव, चित्रगुप्त, श्रीकृष्ण आदि की पूजा भी की जाती है। उक्त विचार शहर के गाड़ी अड्डा स्थित राधा कृष्ण मंदिर में कार्तिक मास पर जारी सात दिवसीय श्री अष्ट लक्ष्मी अर्चना एवं दिव्य यज्ञ में मंगलवार को पंडित मयंक शर्मा ने यहां पर उपस्थित श्रद्धालुओं से कहे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि भगवान विष्णु और माता की पूजा अर्चना करने से परिवार में सुख और समृद्धि होती है।  हर युग में भगवान नारायण अलग-अलग रूपों में आकर लोगों का कल्याण किया और दुष्टों का संहार किया। ऋषि मुनि यज्ञ व कथा प्रारंभ करते थे तो दैत्य उसमें विघ्न उत्पन्न करते थे। जब-जब ऐसा हुआ तब-तब भगवान हरि ने संत ब्राह्माणों और गाय की रक्षा के लिए अवतरित हुए।


द्रव्य अर्चना का बताया महत्व
मंगलवार को सात दिवसीय श्री अष्ट लक्ष्मी अर्चना एवं दिव्य यज्ञ के पांचवें दिवस यहां पर मौजूद दो दर्जन से अधिक जोड़ों ने अलग-अलग समय पर हजारों सिक्कों से द्रव्य अर्चना की। इस मौके पर पंडित पवन व्यास और मनोहर शर्मा ने द्रव्य अर्चना का महत्व बताया। पंडित श्री शर्मा ने कहा कि हर मनुष्य की चाहत होती है कि उसे अचानक अपार धन की प्राप्ति हो, लेकिन यह धन आपको सिर्फ चाहने भर से नहीं मिल सकता। इसके लिए आपको मां लक्ष्मी को प्रसन्न करना बहुत जरूरी है। जानकारों के अनुसार भी जीवन में धन-द्रव्य का महत्व नकारा नहीं जा सकता। अक्सर सुनने में आता है कि अमुक व्यक्ति बड़ा मेहनती है लेकिन, धन के लिए परेशान रहता है। धन संबंधी परेशानी किसी को भी कभी भी हो सकती है। ऐसे में अगर धन लक्ष्मी को प्रसन्न किया जाए तो धन-द्रव्य की सभी परेशानियां दूर की जा सकती हैं।


आज की जाएगी पुष्प अर्चना
क्षेत्र में जारी कार्तिक मास में सात दिवसीय दिव्य अनुष्ठान में छठवें दिवस सुबह भगवान के अभिषेक के साथ ही देवी मंत्रों के साथ हजारों पुष्प के साथ अर्चना की जाएगी। राधा कृष्ण महिला मंडल ने सभी क्षेत्रवासियों से धार्मिक कार्यक्रम में आने की अपील की है। 


नूतन कलेंडर का विमोचन कर विधायक सुदेश राय ने किया, नवनिर्मित भव्य राधेकृष्ण मंदिर और यज्ञशाला का अवलोकन

  • गीता मानस समिति ने किया पुष्प मालाओं से विधायक का स्वागत

sehore news
सीहोर। विधायक सुदेश राय मंगलवार को गीता मानस भवन कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे गीता मानस समिति के द्वारा नवनिर्मित भव्य मंदिर में देव प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर पांच दिवसीय भव्य महा आयोजन की तैयारियों का अवलोकन किया। विधायक सुदेश राय और भाजपा मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर ने नवनिर्मित भव्य राधेकृष्ण मंदिर और यज्ञशाला का निरीक्षण भी गीता मानस समिति सदस्यों के साथ किया। कार्यक्रम की तैयारियों में पहुंचे विधायक सुदेश राय और भाजपा मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर ने नूतन वर्ष के कलेंडर का विमोचन भी किया। विमोचन उपरांत कलेंडर का वितरण किया गया। गीता मानस समिति के तत्वाधान में नगर पुरोहित पृथ्वी वल्लभ दुबे के सानिध्य में नव निर्मित मंदिर में मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। मुख्य यजमान श्रीमती विद्या प्रदीप बिजोरिया रहेंगे। विमोचन शुभासर पर गीता मानस समिति सदस्य विष्णुदयाल अग्रवाल भरतिया, सत्यनारायण शर्मा, जी.पी. उपाध्याय, मोहन चौरसिया, अनिल शर्मा, चंद्रभान यादव, ओंकार प्रसाद जायसवाल, हरिशचंद अग्रवाल, बाबू भाई मिस्त्री, राधे गोविंद गीते, गोपालदास अग्रवाल, रवि ठकराल, दशरथ लाल शर्मा, राजमल गेहलोत, प्रेमनारायण लोवानिया, वी. पी. तिवारी, सुरेशचंद वशिष्ट, रामेश्वर दयाल शमाज़्, डॉ. कैलाश अग्रवाल, श्यामसुन्दर मोदी, अरविंद मरखेडकर, राजेन्द्र जायसवाल, नंदकिशोर जायसवाल, एस. पी. मालवीय, हरिओम उपाध्याय, कमल विजयवर्गीय, ओमदत्त मिश्रा, रामशरण ठकराल, एस. डी. सक्सेना राजू जायसवाल कन्हैयालाल मालवीय विनय भटेले राजेश परिहार, आशीष पचोरी सहित गणमानीय नागरिक उपस्थित रहे। 


सरगम 2021-22 वार्षिकोत्सव मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन त्याग एवं समर्पण का नाम ही मेंहदी है


sehore news
सीहोर। त्याग एवं समर्पण का पर्याय ही मेंहदी है। जिस प्रकार मेंहदी अपनें अस्तित्व को मिटाकर दूसरों के जीवन में रंग भर देती हैं, उसी प्रकार छात्र-छात्राओं को भी अपनें व्यक्तिगत जीवन में मेंहदी के त्याग से प्रेरणा लेकर आत्मसात करना चाहिए। उक्त उद्गार सम्राट अशोक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज के राकेश यादव नें कॉलेज में हुई मेंहदी प्रतियोगिता के उपरान्त व्यक्त किए। सम्राट अशोक कॉलेज में सरगम 2021-22 वार्षिकोत्सव में नित नई प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है जिसमें मंगलवार को मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कॉलेज की कु. नीतु वर्मा, कु. आरती वर्मा, कु. शिवानी वर्मा, कु. अंगुरी वर्मा, कु. निकिता वर्मा, कु. उषा मालवीय, कु. निकिता वर्मा, कु. अक्षिता परिहार, कु. रीषिका मैथिल एवं कु. तनु चौकसे नें भाग लिया। निर्णायक समिति में शामिल श्रीमति पूजा राय एवं श्रीमति सोनम यादव द्वारा कु. तनु चौकसे को प्रथम, कु. रीषिका मैथिल को द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। इस संबंध में जानकारी देते हुए कॉलेज संचालक हिमांशु राय ने कहा कि यह अत्यंत ही हर्ष का विषय है कि छात्राओं द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं में बढ़-चढ़कर भाग लिया जा रहा है तथा साथ ही छात्राओं को जीवन की हर छोटी-बड़ी प्रतियोगिता तथा जीवन की छोटी-छोटी बातों में छिपे मूल श्रेष्ठ गुणों को अपनें जीवन में अनुसरण करनें का प्रयास करनें को कहा। कॉलेज की कार्यक्रम व्यवस्थापक निखलेश गुर्जर नें बताया कि सरगम 2021-22 वार्षिकोत्सव के अंतर्गत बुधवार को निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। 


लोक अदालत की जानकारी आमजन तक पहुंचे ताकि अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हों - प्रधान जिला न्यायाधीश श्री चंद


sehore news
आगामी 11 दिसम्बर को वृहद स्तर पर आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत के प्रचार-प्रसार के लिए प्रधान जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद की अध्यक्षता में पत्रकारों के साथ बैठक आयोजित की गई। प्रधान जिला न्यायाधीश श्री चन्द ने कहा कि मीडिया प्रचार का सबसे सशक्त माध्यम है। सरल और सुलभ न्याय के लिए लोक आदालत सबसे अच्छा विकल्प है यह संदेश आमजन तक पहुंचाना होगा ताकि अधिक से अधिक लोग लोक अदालत मे आकर लंबित प्रकरणों का निकराकरण कराएं। बैठक में विशेष न्यायाधीश श्री सुरेश सिंह तथा विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं अपर जिला न्यायाधीश श्री मुकेश दांगी भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा लोक अदालत आयोजित करने का उद्देश्य यह है कि शीघ्र निराकरण योग्य प्रकरणों तथा लम्बे समय से चल रहे प्रकरणों का आपसी समझौतो से निराकरण किया जाए ताकि दोनों पक्षों का समय और व्यय बचें। वर्तमान में न्यायालय में 23269 प्रकरण लंबित हैं जिसमें से 3725 प्रकरणों को नेशनल लोक अदालत में रेफर किया गया है। आगामी 11 दिसम्बर को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा। इस लोक अदालत में चिन्हित प्री-लिटिगेशन एवं न्यायालयों में लंबित राजीनामा योग्य प्रकरणों का निराकरण किया जायेगा। इसके साथ ही न्यायालयों में लंबित चयनित प्रकृति के प्रकरण भी इस लोक अदालत में निराकृत किये जायेंगे। इस नेशनल लोक अदालत में समझौता योग्य आपराधिक, सिविल, पारिवारिक विवाद, घरेलू हिंसा अधिनियम, भरण-पोषण मामले, विद्युत चोरी प्रकरण, चैक बाउंस, बैंक रिकवरी, श्रम मामले, मोटर दुर्घटना दावा प्रकरण, भू-अर्जन, नगर निगम के जलकर एवं संपत्तिकर, बीएसएनएल प्रकरण आदि विषयक प्रकरणों का निराकरण किया जायेगा।



जनसुनवाई में आए 28 आवेदन समय-सीमा में निराकरण करने दिए निर्देश


sehore news

मंगलवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित जनसुनवाई के दौरान शहर सहित जिले के दूर-दराज अंचलों से आए 28 आवेदकों द्वारा अपनी-अपनी समस्याओं से संबंधित आवेदन डिप्टी कलेक्टर श्री रवि वर्मा के समक्ष प्रस्तुत किए गए। उन्होंने प्रत्येक आवेदक से चर्चा की एवं उनकी समस्याएं जानी और संबंधित कार्यालय प्रमुखों को समय-सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए।


वैक्सीनेशन महाअभियान को सफल बनाएँ सभी वर्ग – मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • 31 दिसम्बर तक सभी को दूसरा डोज़, हमारा लक्ष्य, वैक्सीन के लिए शेष सभी पात्र नागरिक सुनिश्चित करें स्वयं की स्वास्थ्य सुरक्षा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन के द्वितीय डोज़ से शेष रह गए सभी पात्र नागरिक स्वास्थ्य सुरक्षा चक्र का लाभ लें। प्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान जारी है। बुधवार 17 नवम्बर को भी निर्धारित केन्द्रों पर टीकाकरण की सुविधा रहेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपील की है कि ऐसे व्यक्ति जो अब तक वैक्सीन का दूसरा डोज़ नहीं लगवा सकें हैं, उन्हें खुद आगे आकर अपने स्वास्थ्य और जीवन की सुरक्षा के लिए वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाना चाहिए। प्रदेश में 31 दिसम्बर तक सभी पात्र लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज़ लगवाने का लक्ष्य है। समाज के सभी वर्गों द्वारा टीकाकरण महाअभियान में सहयोग मिला है। डेढ़ माह में सम्पूर्ण वैक्सीनेशन का कार्य सम्पन्न करना है। इसके लिए सभी समाजों के प्रतिनिधि, जन-प्रतिनिधि, धर्मगुरू, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य उन लोगों को ढूँढ कर आगे लाएँ, जिन्हें वैक्सीन का दूसरा डोज़ नहीं लगा है, उन्हें कोविड से सुरक्षित करने में सहयोग प्रदान करें।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142  है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 327 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 152, श्यामपुर से 75, नसरूल्लागंज 20, आष्टा से 60, बुधनी से 20 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 266395 हैं। जिनमें से 284804 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज160 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1377 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सैंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


अपने बैंक खाते को आधार से लिंक कराएं


भारत सरकार ने उचित मूल्य पर उपार्जित फसल का भुगतान संबंधित किसान को उसके आधार लिंक खातों में ही करने के निर्देश दिए है। समर्थन मूल्य का भुगतान किसान के आधार नंबर से लिंक बैंक खाते में ही किया जाएगा। यदि किसान पंजीयन क्रमांक में दिये गये मोबाईल एवं आधार नंबर में दर्ज मोबाइल नंबर अलग होने के कारण आधार नंबर का सत्यापन नहीं हो रहा है, ऐसी स्थिति में नजदीक के आधार पंजीयन केन्द्र पर जाकर आधार नंबर में पंजीयन में उल्लेखित मोबाइल नंबर दर्ज कराने के लिए कहा गया है।  


आंगनबाड़ी केन्द्र में किया बच्चों का स्वागत


गत दिवस आंगनबाड़ी केंद्र कोलीपुरा बढिय़ाखेड़ी में में आने वाले बच्चों का स्वागत किया एवं चिप्स टॉफी बिस्किट वितरण किया गया। प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत हितग्राहियों की सुरक्षा के लिए आँगनबाड़ी केंद्रों का संचालन स्थगित किया गया था। शासन ने कोविड-19 के संक्रमण से बचाव की मानक संचालन प्रक्रिया का पालन कर आँगनबाड़ी केंद्र प्रारंभ करने का निर्णय लिया है। गत दिवस आंगनबाड़ी केन्द्र पर जन-प्रतिनिधियों की उपस्थिति में हितग्राहियों के साथ आइए आंगनबाड़ी थीम पर समारोह पूर्वक प्रारंभ किया गया। आंगनबाड़ी में बच्चों को माला पहनाकर स्वागत किया गया एवं आंगनबाडयि़ों के द्वार पर सुंदर-सुंदर स्वागत रंगोलियां भी बनाई गई। आइए आँगनबाड़ी कार्यक्रम में समुदाय के सहयोग से स्थानीय खाद्य विविधता आधारित विशेष भोजन तैयार कर जनप्रतिनिधियों द्वारा हितग्राहियों को भोजन परोसा गया। आंगनबाड़ी केन्द्र प्रारंभ होने के बाद प्रतिदिन पूर्व की भांति नियत समय-सारणी अनुसार उनका संचालन किया जाएगा। कोविड-19 संक्रमण काल में 3 से 6 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को रेडी टू ईट सामग्री का वितरण स्थगित रखा जाएगा। बच्चों को नाश्ता और गर्म पका हुआ खाना प्रदाय किया जाएगा। कोविड-19 महामारी संक्रमण काल में संक्रमण के फैलाव की रोकथाम के लिए आँगनबाड़ी केंद्रों का संचालन स्थगित किया गया था। इस अवधि में हितग्राहियों को वैकल्पिक पूरक पोषण आहार निरंतर उपलब्ध कराया गया। आज से आंगनबाड़ी केंद्र का संचालन एवं सेवा प्रदाय करने के संबंध में मानक संचालन प्रक्रिया जारी की गई है।


प्रदेश में सभी आँगनबाड़ी केंद्र प्रांरभ


प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत हितग्राहियों की सुरक्षा के लिए आँगनबाड़ी केंद्रों का संचालन स्थगित किया गया था। राज्य शासन ने कोविड-19 के संक्रमण से बचाव की मानक संचालन प्रक्रिया का पालन कर आँगनबाड़ी केंद्र प्रारंभ करने का निर्णय लिया है। संचालक महिला बाल विकास डॉ राम राव भोसले ने बताया कि प्रदेश में गत दिवस से आँगनबाड़ी केंद्रों का संचालन जन-प्रतिनिधियों की उपस्थिति में हितग्राहियों के साथ आइए आंगनबाड़ी थीम पर समारोह पूर्वक प्रारंभ किया गया। उन्होंने बताया कि आइए आँगनबाड़ी कार्यक्रम में समुदाय के सहयोग से स्थानीय खाद्य विविधता आधारित विशेष भोजन तैयार कर हितग्राहियों को परोसा जाएगा। डॉ. भोसले ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्र प्रारंभ होने के बाद प्रतिदिन पूर्व की भांति नियत समय-सारणी अनुसार उनका संचालन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण काल में 3 से 6 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को रेडी टू ईट सामग्री का वितरण स्थगित रखा जाएगा। बच्चों को नाश्ता और गर्म पका हुआ खाना प्रदाय किया जाएगा।   संचालक महिला बाल विकास डॉ राम राव भोसले ने बताया कि कोविड-19 महामारी संक्रमण काल में संक्रमण के फैलाव की रोकथाम के लिए आँगनबाड़ी केंद्रों का संचालन स्थगित किया गया था। इस अवधि में हितग्राहियों को वैकल्पिक पूरक पोषण आहार निरंतर उपलब्ध कराया गया। उन्होंने बताया कि आँगनबाड़ी केंद्र का संचालन एवं सेवा प्रदाय करने के संबंध में मानक संचालन प्रक्रिया जारी की गई है।   आँगनवाड़ी केन्द्रों में तीन से 6 वर्ष तक की उम्र के बच्चों को लाने के लिये स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप जिला-स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी और जिला कलेक्टर द्वारा निर्णय लिया जायेगा। संचालक महिला बाल विकास डॉ. भोंसले ने बताया कि आंगनवाड़ी केन्द्रों में 65 वर्ष से अधिक आयु और बीमारी वाले व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित रहेगा। गर्भवती महिलाओं और दस वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए गतिविधियों की प्राथमिकता के आधार पर कोविड से बचाव की सावधानियों का पालन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि आँगनवाड़ी के अंदर और बाहर तथा आसपास की स्वच्छता एवं कोविड संक्रमण से बचाव की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जायेगी। संक्रमण से बचाव के लिए मास्क, सेनिटाइजर और दो गज की दूरी आदि सुरक्षा उपायों का पालन भी करना अनिवार्य होगा।


अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के 50 प्रतिशत से कम अंक वाले विद्यार्थी भी पात्र होंगे


पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने बताया कि भारत सरकार के माध्यम से संचालित मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजना के तहत अब विद्यार्थियों को परीक्षा में 50 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता से छूट दी गई है। इस छूट का लाभ लेने के लिये विद्यार्थियों से अपील की गई है कि वे छात्रवृत्ति के लिये अपने आवेदन ऑनलाईन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर करवाएं।


खाद का संतुलित उपयोग करने कि किसानों को सलाह


कृषि विभाग द्वारा जिले के किसान को सलाह दी गई है कि आवश्यकता से अधिक रासायनिक उर्वरकों का उपयोग न करें। फसल के लिये अन्य पोषक तत्वों की भी आवश्यकता होती है। कृषि विभाग ने किसानों से कहा है कि किसान मिट्टी परीक्षण कराए और उसी के हिसाब से रासायनिक उर्वरकों का उपयोग करने की सलाह दी गई है। किसानों से आग्रह किया गया है कि वे कृषि वैज्ञानिकों से सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर उर्वरकों का उपयोग करें ताकि फसल का अच्छा उत्पादन प्राप्त  हो। वर्तमान मे रबी की फसलों के लिये जिले में पर्याप्त खाद की उपलब्धता है। गेंहू के लिये यूरिया 213 कि.ग्रा. एन.पी.के. 186 कि.ग्रा., म्यूरेट ऑफ पोटास 17 कि.ग्रा. प्रति हेक्टर, चना के लिये यूरिया 44 तथा सुपर फास्फेट 375 कि .ग्रा. प्रति हेक्टर, सरसों के लिये यूरिया 130 कि.ग्रा. सुपर फास्फेट 188 कि.ग्रा. तथा म्यूरेट ऑफ पोटास 33 किग्रा. प्रति हेक्टर, मसूर के लिये यूरिया 54 कि.ग्रा. तथा सुपर फास्फेट 313 कि.ग्रा. प्रति हेक्टर देकर अनुशंसित उर्वरक मात्रा की पूर्ति की जा सकती है।  किसान भाईयों से अपील है कि गेंहू, सरसों, चना एवं मसूर फसल में रासायनिक खाद की अनुशंसित मात्रा का ही उपयोग करें। डीएपी के विकल्प के रुप में एन.पी.के. व एस.एस.पी. यूरिया एव म्यूरेट ऑफ पोटास उर्वरकों का उपयोग कर अच्छा उत्पादन प्राप्त कर सकते है। साथ ही सिंगल सुपर फास्फेट का उपयोग करने से सल्फर 11 प्रतिशत एवं कैल्शियम 21 प्रतिशत भी प्राप्त होंगें, जो फसल का उत्पादन बढाने में सहायक होंगें।



फोटो निर्वाचक नामावली विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2022, 30 नवम्बर, 2021 तक दावे और आपत्ति आमंत्रित


भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 01 जनवरी 2022 के मान से फोटो निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2022 का प्रारूप प्रकाशन 01 नवम्बर, 2021 को किया जा चुका है। आयोग के द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 01 नवम्बर, 2021 से 30 नवम्बर, 2021 तक दावे और आपत्ति दर्ज करने की तिथि निर्धारित है। इस अवधि में ऐसे मतदाता जिनकी आयु 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी है। अपना नाम क्षेत्र बी.एल.ओ. से फार्म प्राप्त कर अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकते है। उन्होंने बताया कि 18 वर्ष पूर्ण करने वाले मतदाता अपना नाम जुड़वाने के लिए प्राप्त सुविधा का लाभ उठाये। इसके लिए बी.एल.ओ. के माध्यम से फॉर्म 6 भर सकते है।   जिले के प्रत्येक मतदान केन्द्रों पर 01 नवम्बर, 2021 से 30 नवम्बर, 2021 तक फोटो मतदाता सूची प्रदर्शित की जाएगी। इसे देखकर मतदाता यह सुनिश्चित कर सकते है की मतदाता का नाम मतदाता सूची में है या नही। यदि है तो उसमें कोई गलती तो नही है। यदि कोई गलती है तो फॉर्म 8 भरकर गलती को सुधरवा सकते हैं। इसके अतिरिक्त नए वोटर कार्ड के लिए फार्म 6 भरकर उसके अपने पता आयु संबंधी दस्तावेज संलग्न कर वे बी.एल.ओ. को जमा करें। इसी प्रकार बी.एल.ओ. मतदाता को नवीन परिचय पत्र तैयार कराकर देगे। साथ ही ऐसे मतदाता जो नाम संबंधी का नाम आयु एवं पता में संशोधन कराना चाहता है, वह फार्म-8 भरकर सुधार संबंधी आवश्यक दस्तावेज लगाकर संशोधन कराये जाने हेतु फॉर्म-8 बी.एल.ओ. को जमा कर सकता है।जो मतदाता अन्य जगह चले गये है वह मतदाता सूची से नाम हटवाने हेतु फार्म-7 भरकर दे सकते है। और ऐसे मतदाता जिनकी मृत्यु हो चुकी है उनके परिवार से बी.एल.ओ. नोटिस देकर हटाने की कार्यवाही कर सकता है। जिले के ऐसे मतदाता जिनका नाम मतदाता सूची में नही है और वे पात्र है, से आग्रह किया है कि वे अपना नाम जुडवाने अथवा किसी प्रकार का संशोधन कराने अथवा हटाने संबंधी आवेदन बी.एल.ओ. को जमा कराएं।


पुरस्कारों हेतु आवेदन आमंत्रित


राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में दिए जाने वाले पुरस्कारों के लिए आवेदन ऑनलाईन आमंत्रित किए गए हैं। पंचायत राज संचालनालय के संचालक श्री आलोक सिंह द्वारा पत्र के परिपालन में पुरस्कार हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। विभाग ने बताया कि प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में 24 अप्रैल को भारत सरकार पंचायती राज मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को पुरस्कृत किया जाता है। 24 अप्रैल,2022 के पुरस्कार हेतु ऑनलाईन नामांकन, ऑनलाईन पोर्टल लिंक http://panchayataward.gov.in  के माध्यम से अग्रेषित किए जा सकते है। नामांकन निर्धारित ऑनलाईन प्रपत्र में मूल्यांन वर्ष 2020-21 के आधार पर जिन श्रेणियों हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं उनमें दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार - सामान्य और विषयात्मक श्रेणी के लिए तीनों स्तर की पंचायतों को प्रदाय किया जाता है। नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार - ग्राम पंचायतों को ग्राम सभा के उत्कृष्ट कार्यो के निष्पादन हेतु। ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार ग्राम पंचायतों तथा बाल हितेषी ग्राम पंचायत पुरस्कार ही ग्राम पंचायत को प्रदाय किए जाते हैं। एक जिले से दो जनपद पंचायतों एवं दो ग्राम पंचायतों से अधिक नामांकन अग्रेषित ना किए जाए के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए गए है। जिला पंचायत को प्रमाण पत्र के साथ पचास लाख रूपए, जनपद पंचायत को 25 लाख रूपए तथा ग्राम पंचायत को उनकी संख्या के अनुसार प्रमाण पत्र के साथ पांच से 15 लाख रूपए का पुरस्कार प्रदाय किया जाता है।


मधुमेह जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है, मधुमेह की सही समय पर पहचान एवं उपचार संभव


मधुमेह एक ऐसी बीमार है जिसके लक्षण सामान्य होते हैं पर यह धीरे-धीरे शरीर को कमजोर कर देता है। यह बीमारी सीडेंटरी लाइफ स्टाइल, अनहेल्दी फूड खाने एवं आनुवांशिक भी होती है। धीरे-धीरे मधुमेह के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है इसे जन जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है। मधुमेह की सही समय पर पहचान उसके उपचार एवं जन जागरूकता के लिए स्वास्थ्य संस्थाओं में मधुमेह के संभावित रोगियों एवं उपचाररत रोगियों के लिए परामर्श सत्रों एवं जन जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।  स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि मधुमेह के उपचार के लिए असंचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत मरीजों को नि:शुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाती है। बार-बार पेशाब आना, वजन का घटना या भूख कम लगना, बहुत ज्यादा प्यास लगना, कमजोरी अथवा थकान होना इत्यादि मधुमेह के मुख्य लक्षण है। मधुमेह की रोकथाम के लिए शरीर के वजन को सामान्य बनाए रखना, पौष्टिक आहार का सेवन, नियमित व्यायाम,  चलना अथवा दौड़ना जैसी गतिविधियां करना,  नशीले पदार्थों तंबाकू एवं शराब का सेवन नहीं करना महत्वपूर्ण है। मधुमेह के जांच एवं उपचार की नि:शुल्क सुविधा सभी हेल्थ एंड वैलनेस केंद्रों पर भी उपलब्ध कराई गई है। जिससे की मरीजों को नियमित रूप से दवाओं की प्राप्ति एवं फॉलो किया जा सके एवं उन्हें दूर के चिकित्सालय तक इलाज के लिए  नहीं जाना पड़े। मधुमेह के साथ सामान्य जीवन बताया जा सकता है। मधुमेह की नियमित रूप से जांच कराये जाना बेहद आवश्यक है जिससे कि मधुमेह की पड़ताल उसकी प्रारंभिक अवस्था में ही हो सके।


ड्राइविंग लाइसेंस के लिये मेडिकल सर्टिफिकेट भी अब ऑनलाइन


आमजन को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएँ प्रदान करने की दृष्टि से ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया को और अधिक सरल किया गया है। अब कोई भी आवेदक लर्निंग लाइसेंस, नवीन ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदन, नवीनीकरण अथवा ड्राइविंग लाइसेंस में अन्य श्रेणी के आवेदन के साथ रजिस्टर्ड चिकित्सक द्वारा पोर्टल पर ऑनलाइन फॉर्म 1 (ए) में मेडिकल सर्टिफिकेट जारी कर सकेंगे।  उल्लेखनीय है कि एक अप्रैल 2021 के पूर्व उक्त मेडिकल सर्टिफिकेट मैनुअल तरीके से जारी किए जाने का प्रावधान था। मेडिकल काउंसिल में रजिस्टर्ड चिकित्सक पोर्टल पर ऑनलाइन फॉर्म 1 (ए) में मेडिकल सर्टिफिकेट जारी कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें एनआईसी के सारथी पोर्टल पर पंजीयन कराना आवश्यक है।


स्व-रोजगार की योजनाओं में ऋण प्राप्त करना आसान होना चाहिए: मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी तथा केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण रमन का प्रदेश को कोविड संकट से उबारने के लिए आभार माना। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना काल में 20 लाख करोड़ के आत्म-निर्भर पैकेज से मध्यप्रदेश को भी पर्याप्त संबल मिला।  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि केन्द्र सरकार के कोविड वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ से अधिक के प्रावधान के परिणाम स्वरूप ही प्रदेश में सबको मुफ्त में वैक्सीन लगाना संभव हो पाया है। राज्य में विभिन्न शासकीय सम्पत्तियों के उचित उपयोग और संवर्धन के लिए लोक परिसम्पत्ति प्रबंधन विभाग का गठन किया गया है। राज्य सरकार द्वारा पीपीपी परियोजनाओं के माध्यम से राजस्व प्राप्त करने के लिए कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संकट की घड़ी में चार प्रकार के सुधार करने वाले राज्यों को केन्द्र द्वारा अतिरिक्त वित्तीय सहायता देने के लिए कर्ज लेने की सीमा राज्य सरकार के सकल घरेलू उत्पाद के 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत तक किया गया। यह प्रसन्नता का विषय है कि मध्यप्रदेश ने चार सुधार कार्यों में से तीन को शतप्रतिशत रूप से पूर्ण किया। इनमें वन नेशन-वन राशन कार्ड, इज आफ डूइंग बिजनेस और नगरीय क्षेत्रों में सुधार शामिल हैं। विद्युत क्षेत्र में सुधार को अंशतः: पूरा किया गया है। हमारा प्रदेश उन गिने-चुने राज्यों में से है, जिन्होंने तीन से अधिक सुधार किए हैं । इससे प्रदेश को अतिरिक्त वित्तीय सहायता प्राप्त हुई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के आत्म-निर्भर भारत के सपने को साकार करने की दिशा में राज्य सरकार द्वारा आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए लागू किए गए रोड मैप की जानकारी भी दी। उन्होंने ने बताया कि रोड मैप के मुख्य चार स्तंभ भौतिक अधोसंरचना, सुशासन, शिक्षा एवं स्वास्थ्य तथा  अर्थ-व्यवस्था एवं रोजगार हैं। इन लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए सीएम राइज स्कूलों की स्थापना, देवारण्य योजना, 13 एमएसएमई क्लस्टर्स का विकास, स्व-सहायता समूहों के बैंक लिंकेज, अटल प्रगति पथ और इसके दोनों ओर इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के विकास और एक जिला एक उत्पाद जैसी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में स्व-रोजगार ,लघु उद्योग और व्यवसाय का महत्व है। प्रदेश में कार्यरत 3 लाख से अधिक महिला स्वसहायता समूहों को 2550 करोड़ का ऋण उपलब्ध कराने का लक्ष्य है। राज्य सरकार द्वारा युवा उद्यमियों और व्यवसायों को स्व-रोजगार के लिए ऋण पर ब्याज अनुदान भी उपलब्ध कराने संबंधी मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना प्रांरभ की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्व-रोजगार व लघु उद्योग के लिए उद्यमियों को वित्तीय संस्थाओं से ऋण प्राप्त करना आसान होना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वित्त मंत्री से बैंकों को स्व-रोजगार की योजनाओं में और अधिक सक्रिय होने के संबंध में निर्देश जारी करने का अनुरोध किया।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जानकारी दी कि राज्य सरकार द्वारा संरचनात्मक सुधार के अंतर्गत लोक सेवा गारंटी अधिनियम में सेवाओं को समय-सीमा में उपलब्ध कराने की व्यवस्था लागू की गई है। इसमें निर्धारित समय-सीमा से अधिक समय लगने पर जुर्माने की व्यवस्था है। प्रदेश में स्टार्ट योअर बिजनेस इन थर्टी डेज, सिंगल विंडो डेस्क सिस्टम, ई कोर्ट प्रणाली और भू-अभिलेख सिस्टम का इंटीग्रेशन और रेवेन्यू केस मैनेजमेंट सिस्टम क्रियान्वित किया गया है। खनिज क्षेत्रों की आवंटन प्रक्रिया को और अधिक पारदर्शी बनाया गया है। 


न्यू बोर्न केयर सप्ताह पर स्टाफ को दिया गया फायर सेफ्टी प्रशिक्षण


sehore news
न्यू बोर्न केयर सप्ताह 15 से 21 नवंबर तक मनाया जा रहा है। इस अवसर पर जिला चिकित्सालय के एसएनसीयू में स्टाफ को फायर सेफ्टी का प्रशिक्षण दिया गया। स्टाफ द्वारा मातृ-शिशु स्वास्थ्य पर रंगोली बनाई गई, जो आकर्षण का केन्द्र रही। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि नवजात बच्चों की उचित देखभाल के लिए  न्यू बोर्न केयर सप्ताह संचालित किया जा रहा है। जिला चिकित्सालय में नवजात बच्चों में इंफेक्शन के प्रति जागरूकता, अग्निशमक यंत्र का संचालन एवं सुरक्षा, ऑडिट रिपोर्ट तैयार करना इत्यादि पर विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार मांझी, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एम चंदेल, शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. एके जैन सहित एसएनसीयू स्टॉफ उपस्थित रहें।


टीकाकरण शिविर का सफल आयोजन


sehore news
चन्द्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में कोविड-19 टीकाकरण शिविर आयोजित  किया गया। इस शिविर में कोविशील्ड एवं को-वैक्सीन के प्रथम एवं द्वितीय डोज लगाये गये। शिविर में शहरी एवं आसपास के नागरिकों ने टीका लगवाया । नोडल स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नीरा श्रीवास्तव, महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. उर्मिला सलूजा ने सभी को टीकाकरण का महत्व समझाते हुए कोविड-19 गाइडलाईन के पालन की आवश्यकता को बताया।


टीकाकरण अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए जोनल अधिकारी नियुक्त

 

कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देशानुसार 17 एवं 24 नवंबर तथा एक दिसम्बर 2021 को कोविड-19 टीकाकरण महा अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए जिले में 34 जोनल अधिकारी नियुक्त किए गए है। जिन अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाया गया है, उनमें सीहोर अनुभाग के श्री आरजी शाक्य कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग, श्री संजय पाठक कार्यपालन यंत्री पीआईक्यू, श्रीमती प्रियंका भंडारी कार्यपालन यंत्री सिंचाई, श्री अनिल श्रीवास्तव समन्वयक राजीव गाँधी शिक्षा मिशन, श्री यूएल रामटेके कार्यपालन यंत्री मध्यप्रदेश विद्युत मंडल, श्री एसएल नरेडा अधीक्षक यंत्री मध्यप्रदेश विद्युत मंडल, श्री एमके जैन अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग की ड्यूटी लगाई गई है। इसी प्रकार इछावर अनुभाग में श्री सुमित अग्रवाल कार्यपालन यंत्री मध्यप्रदेश विद्युत मंडल, श्री पंचौली अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग, श्री जीएस यादव प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख, डॉ. एकेएस भदौरिया उप संचालक पशु चिकित्सा, श्री श्रवण पचौरी प्रभारी उप संचालक पंचायत, श्री आरके जाट प्रभारी उपसंचालक कृषि की ड्युटी लगाई गई है। आष्टा अनुभाग में श्री कन्नौजिया उप पंजीयक सहकारी समितियां, श्री दिनेश डीई मध्यप्रदेश विद्युत मंडल, श्रीमती कीर्ति दुबे जिला आबकारी अधिकारी, श्री राजेन्द्र परमार खनिज अधिकारी, श्री उपेन्द्र जिला शिक्षा अधिकारी, श्री रितेश जिला परिवहन अधिकारी, श्री प्रशांत बामनकर जिला विपणन अधिकारी, की ड्युटी लगाई गई है। बुदनी अनुभाग में श्री एसएस खान जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, श्री अली अख्तर शाखा प्रबंधक वेयर हाउस, सुश्री प्रियंका वंशीलाल जिला श्रम पदाधिकारी, श्री गोपाल पटेल कार्यपालन यंत्री मध्यप्रदेश विद्युत मंडल, श्री देवेन्द्र ओंगारे सहायक संचालक जनसंपर्क, श्री अशोक श्रीवास्तव महाप्रबंधक उद्योग केंद्र, श्री सुनील कौरव कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग, की ड्युटी लगाई गई है। नसरूल्लागंज अनुभाग में श्रीमती सुष्मिता बिल्लौरे सहायक संचालक महिला एवं बाल विकास, श्री अभय गोप कार्यपालन यंत्री मध्यप्रदेश विद्युत मंडल, श्री यशवंत सक्सेना महाप्रबंधक मध्यप्रदेश सड़क विकास प्राधिकरण, श्री एचआर झावरे जिला प्रबंधक अग्रणी बैंक, श्री एमसी अहिरवार कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिक विभाग, श्री भारत सिंह मीना सहायक संचालक मतस्य, श्री कुलदीप मलिक डिस्ट्रिक्ट कमाण्डेंट की ड्युटी लगाई गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: