सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 31 दिसंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 दिसंबर

बेबी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता के दूसरे चरण में एक तरफा मुकाबले में सीहोर चिल्ड्रन ने सीहोर क्लब को 8-0 से हराया


सीहोर। शहर के चर्च मैदान पर प्रकाश व्यास काका स्मृति में आयोजित जिला स्तरीय बेबी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता में शुक्रवार को पहला मैच सीहोर चिल्ड्रंस विरुद्ध सीहोर क्लब के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर चिल्ड्रन 8-0 से विजय रही सीहोर चिल्ड्रंस की तरफ से ईशांत परमार ने 4 गोल किए अंकित मालवीय ने 2 गोल किए वेदांत विश्वकर्मा ने 1 गोल किया अंशु चौधरी ने 1 गोल किया प्रतियोगिता में दूसरा मैच सीहोर ग्रीन विरुद्ध सीहोर मिनी के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर गिरी 9-0 से विजय रही सीहोर ग्रीन की तरफ से आर्यन ठाकुर ने 5 गोल किए फरान ने 1 गोल किया आदित्य पाल ने 1 गोल किया। मोहम्मद यूसुफ ने 1 गोल किया लक्की प्रजापति ने 1 गोल किया तीसरा मैच सीहोर बॉयज विरोध मंडी वॉइस के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर वॉइस 3-0 से विजय रही सीहोर की तरफ से युवराज कनौजिया ने दो गोल किए जैद ने एक गोल किया। जिला फुटबॉल संघ के वरिष्ठ खिलाड़ी मनोज जोशी ने खिलाड़ीयो से परिचय प्राप्त किया फुटबॉल खेल के टिप्स दिए उन्होंने बताया कि आप जिन प्रसिद्ध खिलाड़ियों की जर्सी पहनकर खेल रहे हैं आप उन खिलाड़ियों के मैच टीवी पर देखकर आप उनकी तरह अभ्यास करो और श्रेष्ठ खिलाड़ी बनो मध्यप्रदेश में मात्र जिला फुटबॉल संघ सीहोर जहां पर खिलाड़ियों को निशुल्क फुटबॉल का प्रशिक्षण दिया जाता है यह सराहनीय है।


बीएसआई पर जारी चैम्पियन लीग टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता

  • आज खेला जाएगा प्रतियोगिता का सेमीफाइनल चरण, पहला सेमीफाइन मैच सीहोर जूनियर और रायल स्टार के मध्य

sehore news
सीहोर। शहर के बीएसआई पर जारी चैम्पियन लीग टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता में शनिवार को प्रतियोगिता का सेमीफाइनल चरण शुरू किया जाएगा। इस मौके पर पहला सेमीफाइनल मैच सीहोर जूनियर और रायल स्टार टीम के मध्य खेला जाएगा। प्रतियोगिता की तैयारियां पूर्ण हो गई है। प्रतियोगिता की तैयारियों को जायजा लेने के लिए शुक्रवार को शहर के बीएसआई मैदान पर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी, वीरु वर्मा, अक्षय दुबाने, आशीष शर्मा, मदन कुशवाहा, चेतन मेवाड़ा, संजय पटेल, महेन्द्र शर्मा बंटी विलय अलावा सचिन कीर, गौरव खरे, रुपेश पारोचे, राकेश धनगर, सुरेश नाविक, सुनील जलोदिया और कमलेश पारोचे आदि निरीक्षण किया। डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि नए साल के पहले दिन सुबह नौ बजे प्रतियोगिता का पहला सेमीफाइनल मैच सीहोर जूनियर और रायल स्टार टीम के मध्य खेला जाएगा और दूसरा मैच दोपहर साढ़े बारह बजे से सीहोर कोल्ड और पीपीसीए अकादमी के मध्य खेला जाएगा। शुक्रवार को प्रतियोगिता में खेलने वाली टीमों ने जमकर अभ्यास किया। इस प्रतियोगिता में कुल आठ टीमों को शामिल किया गया था। जिसमें पुल ए से टाप स्थान पाने वालों में पहले स्थान पर सीहोर जूनियर, दूसरे स्थान पर पीपीसीए, तीसरे स्थान पर जफर लाला क्लब रही थी और चौथे स्थान पर डीसीए वाइस रही थी। वहीं पुल बी में सीहोर कोल्ड ने पहला स्थान प्राप्त किया था, इसके अलावा दूसरे स्थान पर रायल स्टार, तीसरे स्थान पर यंग स्टार और चौथे स्थान प्राप्त करने वालों में इलेवन टाइगर थी। प्रतियोगिता में अब तक सर्व श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों में मयंक जैन, वीरु वर्मा, आशीष शर्मा, अक्षय दुबाने, मदन कुशवाहा, अतुल त्रिवेदी, रमन, विमल, विशांक शिंदे, राज राय, मानस सोनी, आदर्श राय और प्रिंस भाटिया आदि रहे है। जिन्होंने अपनी टीमों की जीत के लिए शानदार प्रदर्शन किया है।

टास जीतने वाली टीम को मिलेगा फायदा

शहर में इन दिनों शीत लहर चल रही है और सुबह होने वाले प्रथम सेमीफाइनल में मैच में मौसम और पिच की अहम भूमिका होने वाली है। बल्लेबाजों ने यहां जबरदस्त प्रदर्शन किया और टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। इसलिए पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को इस पिच से लाभ मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। इस संबंध में कोच श्री कुशवाहा और दुबाने ने बताया कि टॉस जीतने वाले टीम पहले बल्लेबाजी करेगी।


संस्कृतभारती का सप्त दिवसीय प्रबोधन वर्ग सम्पन्न, संस्कृत भाषा राष्ट्र को जोड़ने वाली भाषा है : श्री अशोक पाण्डेय


sehore news
सीहोर-: भारत कभी भी शक्ति व हथियारों के प्रहार से पराजित नही हुआ , कई आक्रमण हुए उनसे एकजुटता के साथ डटकर सामना व संघर्ष किया , भारत की संस्कृत भाषा, संस्कृति व संस्कार की मजबूत स्थिति होने के कारण आक्रमण कारी सफल नही हुए . किन्तु जब संस्कृत, संस्कृति व संस्कार पर प्रहार प्रारंभ हुए तो हमारी देवभाषा कमजोर हो गई , जिसका परिणाम हम देख रहे हैं समाज में अराजकता व अभद्रता  बढ़ती जा रही है  उक्त उद् गार  सीहोर जिले के बुधनी में स्थित करूणाधाम आश्रम ग्वाड़िया में संस्कृतभारती मध्यभारत प्रांत द्वारा आयोजित सात दिवसीय प्रबोधन वर्ग के समापन कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत संघचालक श्री अशोक पाण्डेय ने व्यक्त करते हुए कहा कि मैकाले ने पूरे भारत का भ्रमण कर ब्रिटिश सरकार को बताया कि भारत की अखण्ता को तोड़ना है तो यहां कि भाषा संस्कृत , संस्कृति,  संस्कार को समाप्त करना होगा तभी हम यहां शासन कर पायेगें , उनके अनुसार बनी शिक्षा पद्धति का परिणाम हम देख रहे हैं. संस्कृतभारती प्रांत अध्यक्ष डॉ अशोक सिंह भदोरिया ने कहा कि प्रांत स्तरीय इस सात दिवसीय प्रबोधन प्रशिक्षण वर्ग में तेरह जिलों से शिक्षार्थियों ने सहभागिता की तथा करूणाधाम आश्रम में गुरुकुल पद्धति से रहकर प्रशिक्षण प्राप्त किया जो कि संस्कृत बिल्कुल नही जानते थे , वह संस्कृत भाषा में संवाद करने में निपुण होकर जा रहे हैं . समापन कार्यक्रम का शुभारंभ मां नर्मदा के तट पर मां सरस्वती की प्रतिभा पर माल्यार्पण कर अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया . कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रांत संघचालक श्री अशोक पाण्डेय थे व अध्यक्षता संस्कृतभारती प्रांत अध्यक्ष  डॉ अशोक सिंह भदोरिया ने की , विशेष अतिथि संभागीय संयुक्त संचालक शिक्षा विभाग श्री अरविंद सिंह , संस्कृतभारती जिलाध्यक्ष पं. पृथ्वीवल्लभ दुबे, केप्टेन श्रीमती रूचि शर्मा थीं . अतिथियों का स्वागत पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह राजपूत ,विजय सिंह राजपूत , अर्जुन मालवीय, सुरेन्द्र सिंह जामलिया , शैलेन्द्रसिंह राजपूत ने किया . सात दिवसीय प्रबोधन वर्ग का प्रतिवेदन वाचन करते हुए वर्गाधिकारी श्री रामबाबू शर्मा ने कहा कि करूणाधाम आश्रम के सुरम्य वातावरण के बीच  मां नर्मदा के दर्शन करते हुए मौसम की विपरीत परिस्थितियों और भौतिक सुख सुविधाओं की चिन्ता न करते हुए सभी प्रशिक्षणार्थीयों ने पूरे मनोयोग से प्रशिक्षण प्राप्त किया . वर्ग में प्रशिक्षणार्थियों ने सुबह साढ़े पांच बजे से रात्रि दस बजे तक विभिन्न सत्रों में शारिरिक, शैक्षणिक, व्यक्तित्व विकास , प्रबन्धन , अनुशासन, इतिहास, अध्यात्म, सामाजिक मूल्यों पर आधारित प्रशिक्षण प्राप्त किया .


प्रकटिकरण : समापन समारोह कार्यक्रम में प्रशिक्षणार्थियों ने गीत , लघुनाटिका एवं अनुभव कथन प्रस्तुत किए .

समापन अवसर पर संस्कृतभारती प्रांत संगठन मंत्री श्री नीरज दीक्षित , जिला शिक्षा अधिकारी श्री उदय उपेन्द्र भिड़े , डॉ अनुपम शर्मा, जुगल पटेल, जसवंत सिंह गुर्जर , संतोष व्यास, धीरेन्द्र तिवारी, रघुनंदन रघुवंशी सहित बुधनी के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे . कार्यक्रम का संचालन विनय सिंह राजपूत ने व  आभार संस्कृतभारती जिला मंत्री राकेश सिंह ठाकुर ने व्यक्त किया .


देश के अहम संस्थानों को बेचकर खत्म करने का सिलसिला , जारी रखा तो हम बदहाल देशों की गिनती में गिने जाएंगे~राय

  • कांग्रेस सेवादल का स्थापना दिवस मनाया गया, जिला सेवादल कांग्रेस अध्यक्ष खंगराले ने किया वृद्धजनों का शॉल श्री फल से सम्मान

sehore news
सीहोर। कांग्रेस सेवादल स्थापना दिवस के 98 वर्ष पूर्ण होने पर कांग्रेस सेवादल के द्वारा दिसंबर माह का अंतिम सप्ताह 25 दिसबंर से 31 दिसंबर तक दल दिवस सप्ताह के रूप में मनाया गया। सेवादल जिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के द्वारा नगर पालिका परिषद के द्वारा नव निर्मित डॉ अम्बेडकर पार्क के मंच पर सेवादल कांग्रेस का कार्यक्रम आयोजित किया गया। पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय के द्वारा ध्वज वंदन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के द्वारा सेवादल के वरिष्ठ कांग्रेस में आस्था रखने वाले प्रबुद्व नागरिकों का शॅाल श्रीफल से सम्मान किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष नईम नबाव के द्वारा की गई। विशेष अतिथि डॉ अनीस खान,वरिष्ठ पत्रकार  केजी बैरागी, विनय भटेले,  अजीज मंसूरी विष्णू शर्मा, डॉ जितेंद्र चंद्रवंशी,  पंकज शर्मा, राजेंद्र नागर, मुन्नालाल मालवीय, मीरा रेकवार आशा गुप्ता, इंजी जितेंद्र सिंह के रूप में उपस्थित थे। मुख्य अतिथि राकेश राय ने कहा की केंद्र की मोदी व राज्य की शिवराज सरकार व आरएसएस के लोगों के द्वारा अगर देश की अहम संस्थानों ने बेचकर खत्म करने का सिलसिला जारी रखा तो वह दिन दूर नहीं जब हम पाकिस्तान अफगानिस्तान और


जिम्बाम्बे जैसे बदहाल देशों की गिनती में गिने जाएंगे।

देश पर शहदत कुरवानी देने वाले आज यदी महामात्मा गंाधी जवाहर लाल नेहरू संविधान निर्माता डॉ भीमराव अम्बेडकर, इंदिरा गंाधी राजीव गांधी सरदार बल्लभ भाई पटेल, सुभाषचंद्र बोस, मोलाना अब्दुल कलाम आजाद जैसे भारत के निर्माता जीवित होते तो देश की दूरगति को देकर दुखी होते। विशेष अतिथि नईम नबाव और डॉ अनीस खान ने बताया की पूरे देश महंगाई भ्रष्टाचार बेरोजगारी की दलदल में फस चुका है केंद्र व प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ता एक जुट है। जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले ने कहा की कांगेस सेवादल अनुशासित संगठन है राष्ट्रध्वज वंदन कार्यक्रम में कोई भी राष्ट्रभक्त शामिल हो सकता है चाहे वह किसी भी राजनीतिक दल का सदस्य हो, सरकारी गैर सरकारी संस्था का कर्मचारी हो। कार्यक्रम का संचालन शहर सेवादल कांग्रेस अध्यक्ष मांगीलाल टिमरई के द्वारा किया गया अंत में आभार व्यक्त सेवादल कांगेंस के जिला प्रवक्ता वरिष्ठ पत्रकार संतोष सिंह के द्वारा किया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सेवादल कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल रहे। 


आज किया जाएगा उपभोक्ता परिषद का समापन


सीहोर। हर साल की तरह इस साल भी शहर सहित आस-पास के क्षेत्र में जिला उपभोक्ता संरक्षण परिषद के तत्वाधान में जारी राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस महोत्सव का समापन सादगी के साथ शहर के बस स्टैंड स्थित सिंधी धर्मशाला में दोपहर बारह बजे किया जाएगा। इस संबंध में जानकारी देते हुए परिषद के शहराध्यक्ष हीरु बेलानी ने बताया कि जिला उपभोक्ता परिषद के द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान जिलाध्यक्ष विष्णु सम्राट प्रजापति के अलावा सभी पदाधिकारियों और क्षेत्रवासियों की उपस्थित में आयोजन का समापन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस का उद्देश्य, देश के सभी उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा करना और उन्हें अलग-अलग तरह के शोषण से बचाना है। अपने उपयोग के लिए कोई भी वस्तु या सेवाएं खरीदने वाला व्यक्ति उपभोक्ता (ग्राहक) कहलाता है। आज हम यहां आपको भारत में उपभोक्ताओं को दिए गए उन अधिकारों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें जानना हम सभी के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि हम सभी किसी न किसी रूप में एक उपभोक्ता ही हैं। 


शहर के प्राचीन जगदीश मंदिर पर रात्रि के चारों प्रहर होगी भगवान शिव की आराधना
  • आज शिव चतुर्दशी पर किया जाएगा भगवान भोले का फूलों से विशेष श्रृंगार और दूध-दही से अभिषेक
सीहोर। शनिवार को मासिक शिव चतुर्दशी के पावन अवसर पर नये साल की शुरूआत की जाएगी, इस मौके पर सुबह ग्यारह बजे भगवान भोले का फूलों से विशेष श्रृंगार किया जाएगा और वहीं देर रात्रि के चारों प्रहर में दूध और दही से अभिषेक किया जाएगा।  शिव चतुर्दशी भगवान शिव को मासिक शिवरात्रि अत्यंत प्रिय है। कहते हैं कि मासिक शिवरात्रि का व्रत रखने से भोलेनाथ बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। नए साल की शुरुआत शिव जी के आशीर्वाद से होगी। शहर के छावनी सब्जी मंडी के समीपस्थ प्राचीन जगदीश मंदिर में नए साल के पहले दिन शनिवार को सुबह मंदिर में फूलों से विशेष श्रृंगार किया जाएगा। वहीं बरखेड़ा हसन मानस प्रचार समिति के द्वारा पूरी रात भजनों की प्रस्तुति के साथ चारों प्रहरों में भगवान शिव का अभिषेक किया जाएगा। इस संबंध में हिन्दू महापंचायत के जिलाध्यक्ष प्रदीप सक्सेना ने बताया कि नए साल के पहले दिन शनिवार को भव्य रूप से शिव चतुर्दशी का पर्व मनाया जाएगा आयोजन में परमार समाज के अलावा सभी  क्षेत्रवासियों के द्वारा नए साल का यह भव्य कार्यक्रम के दौरान सुबह से ही देर रात्रि तक आयोजन किया जाएगा। मंदिर में भगवान जगदीश, देवी माता, हनुमान जी और राम दरबार की मूर्तियों का अभिषेक का आयोजन किया जाएगा। जिला संस्कार मंच के मनोज दीक्षित मामा ने बताया कि आगामी एक जनवरी को जब नया साल शुरू होगा, उस दिन संयोगवश कई शुभ योग रहेंगे। यह दिन पूजा-पाठ, दान-पुण्य से लेकर खरीद फरोख्त तक के लिए मंगलकारी रहेगा। इस दिन पौष मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी और ज्येष्ठ नक्षत्र रहेगा। पौराणिक मान्यता है कि इस चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि की संज्ञा दी गई है। इसी दिन केदार योग, सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा, इस दौरान नए कार्य शुरू करने से लेकर आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी से परिवार में समृद्धि आएगी। शिव चतुर्दशी और शनिवार होने से इस दिन शिव और शनिदेव की पूजा विशेष फलदायी होगी। उन्होंने बताया कि मान्यता है कि मासिक शिवरात्रि की पूजा आधी रात में की जाती है। इसे निशिता काल कहा जाता है। इसकी शुरुआत भगवान शिव की मूर्ति या शिव लिंग के अभिषेक से की जाती है। भोलेनाथ को गंगाजल, दूध, दही, घी, शहद, सिंदूर, हल्दी पाउडर, गुलाब जल और बेल के पत्ते चढ़ाए जाते हैं। इसके बाद भगवान शिव की आरती या भजन गाए जाते हैं और शंख बजाया जाता है। इसके बाद प्रसाद ग्रहण किया जाता है। हिन्दू महापंचायत के तत्वाधान में होने वाले इस दिव्य कार्यक्रम के दौरान पहले प्रहर रात्रि आठ से किया जाएगा। पूरी रात्रि में चार प्रहरों में भजनों की प्रस्तुति आदि के साथ भगवान शिव का विशेष अभिषेक किया जाएगा। मंदिर से जुडे चंदर सिंह मंडलोई, तुलसीराम पटेल, विष्णु परमार, गगन खत्री, बने सिंह, नंद किशोर परमार, विजय परमार, शेर सिंह, शिव परमार, विक्रम परमार, हीरु बेलानी, राकेश शर्मा, रामेश्वर सोनी, गोपाल राठौर, विष्णु सम्राट प्रजापति, पंडित कुणाल व्यास, पप्पू सेन, नरेन्द्र डाबी, नंद किशोर संधानी, विवेक श्रीवास्तव आदि ने श्रद्धालुओं से आने की अपील की है।


प्रधानों को चार्ज दिया तो उम्मीदवारों के समर्थकों के साथ होगा पक्षपात, प्रशासनिक अधिकारियों को बनाया जाए ग्राम पंचायतों का प्रमुख शासक


sehore news
सीहोर। शुक्रवार को सरपंच उम्मीदवारों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम का ज्ञापन कलेक्टर डॉ चंद्रमोहन ठाकुर और क्राईसिस मेनेजमेंट मीटिंग में पहुंचे विधायक सुदेश राय को दिया है। सरपंच उम्मीदवारों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रधानों को वापस चार्ज देने के मामले में विरोध दर्ज कराया है। जनपद पंचायत सीहोर अंतर्गत आने वाली सौ से अधिक ग्राम पंचायतों के सरपंच पद के उम्मीदवारों ने प्रशासनिक अधिकारियों को ग्राम पंचायतों का प्रमुख शासक बनाए जाने की मांग की है। सरपंच उम्मीदवारों ने कहा की प्रदेश सरकार के त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों को सम्पन्न कराने को लेकर रवैये के कारण गांवों में विकट स्थितियों पैदा हो गई है। वर्तमान सरपंचों के समर्थक और सरपंच पदों के लिए पर्चा भरने वाले उम्मीदवारों के समर्थकों में मनमुटाव अब विवाद के रूप में सामने आने लगा है। एैसे हालातों में प्रधान बने पूर्व सरपंचों के द्वारा प्रधानों को वापस जार्च देने की मांग की जा रही है। अगर प्रधानों को वापस सरपंच के अधिकार प्रदान किए जाते है तो ग्रामीण क्षेत्र की आम जनता को परेशानीयो का सामना करना पडेगा। सरपंच उम्मीदवारों के प्रतिनिधि मंडल ने बताया की एक ग्राम पंचायत से लगभाग 5 सदस्य निवार्चन के उम्मीदवार थे इन के समर्थन में अनेक ग्रामीण खुलकर आ गए थे अब वर्तमान में अगर प्रधानों को चार्ज दे दिया जाता है तो उम्मीदवारों के साथ खड़े हुए ग्रामीणों के साथ पक्षपात किया जाएगा। प्रधानों के द्वारा जानबूझकर ऐसे ग्रामीणों को सरकारी योजनों का लाभ नहीं दिया जाएगा। शासन की योजनाओं के लाभ से हजारों लोग विंचित रहेगे। गांवों में किसी भी प्रकार का विवाद नहीं हो और पात्र ग्रामीणों को शासन की योजनाओं का लाभ निरंतर मिलता रहे इस के लिए ग्राम पंचायतों में प्रशासनिक अधिकारियों कर्मचारियों को प्रधान का कार्यभार प्रदान किया जाए। ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से विनय सिंह दांगी,महेश , निकेश मेवाड़ा, राय सिंह मेवाडा, इकबाल खा,मोहनलाल, राजेंद्र कैलाश, कैलाश दांगी ,भगवत सिंह ,राकेश मेवाड़ा, संतोष सहित बिजोरी ,राजू खेड़ी ,सेमला दांगी ,जमुनिया ,बराड़ी कला, अतरालिया, दोराहा, पाटन, झारखेड़ा सोनकच्छ, महं्रुआ खेड़ा ,खाई खेड़ा, बैरागढ़ खुमान, चरनाल, छतरपुरा ,धनखेड़ी, निपानिया, अहमदपुर , चरनाल, चांदबड़, जागीर, दूरगांव, बलिया आदि के सरपंच उम्मीदवार शामिल रहे।


भोपाल नाका महिला मंडल आयोजित करेगा सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा रसामृताम


सीहोर। भोपाल नाका महिला मंडल के द्वारा 2 जनवरी रविवार से 8 जनवरी तक सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा रसामृताम का आयोजन भोपाल मुरली रोड स्थित परिसर में किया जाएगा। कथा व्यास पं.मनोज कृष्ण आचार्य के द्वारा संगीमय कथा का अमृतमय वाचन किया जाएगा। मुरली ग्राम स्थित मंदिर से सुबह 11 बजे कलश यात्रा प्रारंभ होकर कथा स्थल पहुॅचेगी। आयोजित कथा कार्यक्रम को लेकर कथा व्यास पं.मनोज कृष्ण आचार्य ने बताया की प्रथम दिवस रविवार को श्री मद्भागवत पूजन, महात्म एवं कथा का शुभारंभ किया जाएगा। सोमवार को परीक्षित जन्म शुक्रदेवजी आगमन कथा होगी मंगलवार को कपिल अवतार, संती प्रसंग, ध्रुव चरित्र बुधवार को प्रहलाद चरित्र, वामन अवतार, रामावतार,श्रीकृष्ण महोत्सव और गुरुवार को श्रीकृष्ण लीला, श्री गोवर्धन पूजा व छप्पन भोग लगाए जाएंगे। शुक्रवार को गोपीगीत, कंस उद्वार रूकमणी मंगल होली महोत्सव प्रसंग प्रस्तुत किया जाएगा। इसी प्रकार शनिवार को सुदामा चरित्र, परिक्षित मोक्ष व्यास पूजन पूणाहुती, प्रसादी वितरण किया जाएगा। आयोजन समिति भोपाल नाका महिला मंडल के द्वारा सभी श्रद्धालुओं भक्तजनों से कार्यक्रम में पहुंचने की अपील की गई है। 


नशाबंदी पर जन जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन


sehore news
चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय सीहोर की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के स्वयंसेवकों द्वारा मद्य निषेध एवं नशा मुक्ति अभियान के अंतर्गत जन जागरूकता रैली, नुक्कड़- नाटक तथा व्याख्यान आदि कार्यक्रम आयोजित किए गए। कार्यक्रम महाविद्यालय प्राचार्य डॉ उर्मिला सलूजा निर्देशन में तथा कार्यक्रम अधिकारी श्री जय सिंह के नेतृत्व में स्वयंसेवकों ने महाविद्यालय परिसर से बस स्टैंड तक नशा मुक्ति अभियान पर रैली का आयोजन किया गया साथ ही बस स्टैंड पर नुक्कड़- नाटक का मंचन किया गया, जिससे लोगों ने नाटक को बहुत सराहा नुक्कड़ नाटक में मुख्य रूप से युवाओं में बढ़ती प्रवृत्ति के कारण तथा उसके दुष्परिणाम बताए। इस अवसर पर अनेक स्वयंसेवक उपस्थित थे।


गांव की बेटी और प्रतिभा किरण योजना के आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ


शैक्षणिक सत्र 2021-22 में नवीन प्रवेशित छात्राओं के लिए "गाँव की बेटी" योजना एवं प्रतिभा किरण योजना में आवेदन करने के लिए छात्रवृत्ति पोर्टल 2.0 पर आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। छात्रवृत्ति के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 20 जनवरी 2022 निर्धारित की गई है। छात्रवृत्ति के लिए ऑफलाइन आवेदन मान्य नहीं होंगे। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शुरू की गई "गाँव की बेटी" योजना में ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से 500 रूपए प्रतिमाह की दर से 10 माह तक प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। योजना के तहत मध्यप्रदेश राज्य के शहरी क्षेत्र की निवासी मेधावी छात्राएँ, जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन कर रही हैं और अच्छे अंकों से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण हुई हैं, ऐसी छात्राओं को प्रतिवर्ष 5 हजार रूपये छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।


किशोरों के वैक्सीनेशन की प्रक्रिया एक जनवरी से


स्वास्थ्य विभाग द्वारा 15 से 18 वर्ष आयु के किशोरों के वैक्सीनेशन के लिये नई गाइडलाइन जारी की गई है। जारी गाइडलाइन के अनुसार 15 से 18 वर्ष के आयुवर्ग के किशोरों का कोविन एप या कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। जिसकी प्रक्रिया 1 जनवरी 2022 से कोविन एप व कोविन पोर्टल पर प्रारंभ होगी। जिसके बाद 3 जनवरी से कोविड-19 टीकाकरण का कार्य शुरु होगा। वैक्सीन केवल किशोरों को ही लगाई जायेगी। रजिस्ट्रेशन के लिये कोविन एप एवं कोविन पोर्टल पर आधार के साथ 9 दस्तावेजों की सूची के आधार पर पंजीयन कराया जा सकेगा। इसमें स्कूल द्वारा जारी परिचय पत्र भी मान्य होगा। एैसे लाभार्थियों को सत्यापनकर्ता अथवा वेक्सीनेटर द्वारा ऑनसाईट भी पंजीयन किया जा सकता है। वेक्सीन लगवाने के लिये अपॉईंटमेन्ट ऑनलाईन या ऑनसाईट भी बुक करने की सुविधा उपलब्ध रहेगी। कोविन एप एवं कोविन पोर्टल से ऑनलाईन स्लॉट बुक करवाने वालों को वेक्सीनेशन सेन्टस पर रिफरेन्स नंबर और सीक्रेट कोड की जानकारी देना अनिवार्य होगा। यह रिफरेन्स नंबर एवं सीक्रेट कोड रजिस्ट्रेशन के दौरान प्राप्त होगा।


संकुल स्तर पर बनेगी टीकाकरण की कार्ययोजना


जिले के समस्त शासकीय एवं अशासकीय शालाओं में अध्ययनरत 15  से 18 वर्ष के छात्र-छात्राओं का कोविड-19 टीकाकरण 03 जनवरी 2022  से प्रारंभ किया जाएगा।  शिक्षा विभाग ने बताया कि समस्त संकुल प्राचार्य  चिकित्सा अधिकारियों से समन्वय कर अपने अधीनस्थ समस्त शासकीय एवं अशासकीय शालाओं में होने वाले टीकाकरण की कार्ययोजना बनायें। कार्य योजना अनुसार निर्धारित तिथिओं में स्कूल में अध्ययनरत छात्र छात्राओं की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करें। कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करायें एवं वैक्सीनेशन के दिन स्वलपाहार, भोजन करके ही विद्यार्थियों की उपस्थित सुनिश्चित करे।  शत - प्रतिशत उपस्थिति के लिए शाला के प्राचारय एवं कक्षा शिक्षक जवाबदेह होगें। टीकाकरण कार्य में कम्प्यूटर आपरेटर की व्यवस्था संकुल प्राचार्य के निर्देशन में जन शिक्षा केन्द्र माध्यम से की जाएगी। शिक्षा विभाग ने समस्त शालाओं पालक शिक्षक संघ की बैठक आयोजित कर अभिभावकों का उचित जानकारी प्राप्त करें। प्रतिदिन की कार्ययोजना अनुसार दैनिक रिपोर्ट जिला शिक्षा अधिकारी एवं deobpl-mp@nic.in पर प्रस्तुत करेंगे। संभावित एईएफआई प्रकरणों के प्रबंधन हेतु निकटतम चिकित्सालय से संपर्क स्थापित कर सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये।


भैंसवंश के गर्भपात को रोकने हेतु टीकाकरण अभियान


पशुओं में गौ-वंश, भैंस वंश के गर्भधारण करने पर सात से आठ माह में बीमारी के कारण गर्भपात हो जाते है इसे रोकने हेतु जिले में एनएडीपी योजना अंतर्गत एक माह तक पशुओं में ब्रुसल्ला का टीकाकरण लगाए जाने का अभियान संचालित किया जाएगा। पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग ने बताया कि जिले में एक जनवरी से 31 जनवरी तक जिले में विशेष टीकाकरण अभियान संचालित किया जाएगा। उक्त टीका ऐसे पशुवंश जो गर्भधारण कर रहे है उन्हें लगाया जाएगा ताकि बीमारी से गर्भपात ना हो। गौ-वंश, भैंसवंश के चार से आठ माह के पशुओं में ब्रुसल्ला का टीकाकरण किया जाएगा। पंचायत में शिविर आयोजित कर टीकाकरण कार्यो को सम्पन्न कराया जाएगा। टीकाकरण से होने वाले लाभ के संबंध में बताया गया कि गौ-वंश, भैंसवंश गर्भधारण करने पर सात से आठ माह में गर्भपात की बीमारी होती है वह नहीं होगी एवं ब्रीडिंग में लाभ मिलेगा अतः जिले के समस्त किसान भाईयों से विभाग के द्वारा आग्रह किया गया है कि वे अपने-अपने पशुओं का टीकाकरण आवश्यक रूप से कराएं।



प्रिंट   पंचायतों का फिर से होगा परिसीमन


मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज (द्वितीय संशोधन) अध्यादेश, 2021 प्रख्यापित किया गया है। इस अध्यादेश के द्वारा मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम, 1993 में एक नयी धारा 10 क जोड़ी गई है। इसके द्वारा यह प्रावधान किया गया है कि यदि पंचायतों के कार्यकाल के समाप्ति के पूर्व किए गए पंचायतों अथवा उनके वार्डों अथवा निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन अथवा विभाजन के प्रकाशन की तारीख से अठारह माह के भीतर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा किसी भी कारण से निर्वाचन की अधिसूचना जारी नहीं की जाती है तो ऐसा परिसीमन अथवा विभाजन अठारह माह की अवधि की समाप्ति पर निरस्त समझा जाएगा।     ऐसी स्थिति में इन पंचायतों और इनके वार्डों और निर्वाचन क्षेत्रों का परिसीमन अथवा विभाजन नये सिरे से किया जाएगा। प्रदेश में वर्ष 2020 के पंचायतों के सामान्य निर्वाचन के लिए सितम्बर 2019 में परिसीमन की कार्यवाही की गई थी, जो इस अध्यादेश के परिणामस्वरूप निरस्त हो गई है। अब पंचायतों और उनके वार्डों तथा निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन और विभाजन की कार्यवाही पुनः की जाएगी, जिसके आधार पर निर्वाचन की लंबित प्रक्रिया संपन्न होगी।


त्रि-स्तरीय पंचायतों की मतदाता-सूची का पुनरीक्षण निर्धारित समयावधि में करें


आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग श्री बसंत प्रतापसिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी कलेक्टर्स एवं जिला निर्वाचन अधिकारी के साथ त्रि-स्तरीय पंचायतों की निर्वाचन प्रक्रिया निरस्त होने तथा एक जनवरी 2022 की संदर्भ तिथि के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण पर चर्चा की। श्री सिंह ने कहा कि पुनरीक्षण कार्य निर्धारित समय-सीमा में अनिवार्य रूप से करें। श्री सिंह ने कहा कि पंचायतों के आगामी आम निर्वाचन अध्यादेश क्रमांक-14 सन 2021 की वापसी के बाद निर्मित स्थितियों एवं सर्वोच्च न्यायालय के 17 दिसम्बर, 2021 के आदेश के अनुपालन में कराये जायेंगे। मध्यप्रदेश शासन द्वारा अध्यादेश वापस लेने से त्रि-स्तरीय पंचायतों के परिसीमन एवं आरक्षण का स्टेटस प्रभावित हुआ है। त्रि-स्तरीय पंचायतों की स्थिति 21 नवम्बर, 2021 के पूर्व अनुसार प्रभावशील होगी। ग्राम पंचायतों की वर्तमान सीमा के अनुरूप नवीन मतदाता-सूची तैयार की जाना है। परिसीमन प्रभावित होने से वर्तमान मतदाता-सूची निष्प्रभावी हो गई है। ग्राम पंचायत एवं उनके वार्ड, जनपद पंचायत तथा जिला पंचायत एवं उनके निर्वाचन क्षेत्र की सीमाएँ भी 21 नवम्बर, 2021 के पूर्व विद्यमान स्थिति अनुसार अस्तित्व में आ गई हैं। स्थानों/सीटों के आरक्षण की स्थिति भी तद्नुसार प्रभावशील हुई है, किन्तु इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन किया जाना आवश्यक होगा। इन परिस्थितियों में पूर्व प्रचलित निर्वाचन प्रक्रिया को निरंतर रखा जाना विधि-संगत नहीं था। इसीलिये 4 दिसम्बर, 2021 को जारी पंचायत आम निर्वाचन का कार्यक्रम एवं उसके अनुसरण में की गई निर्वाचन संबंधी सभी कार्यवाहियों को निरस्त किया गया है। आयुक्त निर्वाचन ने निर्देशित किया कि पूर्व घोषित निर्वाचन कार्यक्रम अनुसार प्रथम एवं द्वितीय चरण के लिये की गई नाम निर्देशन-पत्र प्राप्त करने से लेकर प्रतीक आवंटन तक की कार्यवाही से संबंधित सभी अभिलेखों का संधारण किया जाये। अभ्यर्थियों द्वारा जमा प्रतिभूति राशि की वापसी अभ्यर्थी से आवेदन प्राप्त कर की जाये। ईव्हीएम को पुन: उनके बॉक्स में जमा कर जिला निर्वाचन अधिकारी के स्टोर रूम में सुरक्षित रखा जाये। उन्होंने बताया कि उपरोक्त परिस्थिति में आदर्श आचरण संहिता स्वत: समाप्त हो गई है।

               
मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का कार्यक्रम घोषित
सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री बी.एस. जामोद ने बताया कि एक जनवरी, 2022 की संदर्भ तिथि के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता-सूची का ग्राम पंचायत एवं अन्य विहित स्थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन 4 जनवरी, 2022 को किया जायेगा। स्टेण्डिंग कमेटी की बैठकों का आयोजन 4 एवं 5 जनवरी को किया जायेगा। प्रारूप मतदाता-सूची के संबंध में दावा-आपत्ति केन्द्रों पर 4 से 9 जनवरी, 2022 तक दावे-आपत्ति प्राप्त किये जायेंगे। इस दौरान 18 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाता दावा प्रस्तुत कर मतदाता सूची में नाम जुड़वा सकते हैं। दावा-आपत्तियों का निराकरण 12 जनवरी तक किया जायेगा। फोटोयुक्त अंतिम मतदाता-सूची का सार्वजनिक प्रकाशन 16 जनवरी, 2022 को ग्राम पंचायत तथा अन्य विहित स्थानों पर किया जायेगा।


कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए पुख्ता रहे नियंत्रण की व्यवस्थाएँ


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में कहा कि पड़ोसी राज्यों में कोरोना के प्रकरण बढ़ रहे हैं। लगभग सभी जगह केस बढ़ रहे हैं। हमको इसके नियंत्रण के लिए पूरी तरह तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 307 नये केस आए हैं। चारों महानगरों में केस आ रहे हैं। अब धीरे-धीरे सभी जगह फैलने की संभावना है। हमारी रणनीति है कि यदि घर में जगह नहीं है तो रोगी को हॉस्पिटल में एडमिट करें। कोविड केयर सेंटर तैयार करें। जिलों में एक-एक कोविड केयर सेंटर की तैयारी करें। होम आइसोलेशन के मरीज को सावधानी रखने के लिए क्या करना चाहिए, इसकी समझाइश दी जाए। व्यापक पैमाने पर संदेश प्रसारित करें। प्रदेश में ओमिक्रॉन के 9 केस आए हैं, जो सभी स्वस्थ हो गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोविड केयर सेंटर, फीवर क्लीनिक एक्टिव करने, टेस्ट करने आदि के संबंध में निर्देश दिए गए। सबसे ज्यादा सतर्कता और चुनौती इंदौर की ही है। केस तेजी से बढ़ेंगे अतएव व्यवस्थाएँ चाक-चौबंद रहे। उन्होंने कहा कि कलेक्टर भी पूरी तैयारी कर व्यवस्थाएँ दुरूस्त रखें। अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रहने दी जाए। कोविड क्राइसिस मेनेजमेन्ट कमेटियों की बैठक करायें। प्रदेश में पात्र व्यक्तियों को अब तक 94.8 प्रतिशत प्रथम डोज़ तथा 91 प्रतिशत को सेकेण्ड डोज़ लगी है। लगातार वैक्सीनेशन जारी रहे।


महाअभियान के रूप में 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 15 से 18 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन की तैयारी कर लें। एक साथ सभी शहरों में वैक्सीनेशन करें। युद्ध स्तर पर तेजी से 03 जनवरी से वैक्सीनेशन करना है। महाअभियान के रूप में 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन करें। प्राथमिकता के साथ इस कार्य में जुट जाये। लांचिंग के दौरान वैक्सीनेशन की अपील हो। 60 वर्षीय व्यक्तियों को बूस्टर डोज़ लगाने के लिए च्वाइस पर निर्भर है।


रोको-टोको अभियान जारी रहे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि फीवर क्लीनिक चालू कराये जाये। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठकें जहाँ नहीं हुई हैं, वहाँ जल्द कराई जाये। आमजन को फेस मॉस्क के लिए प्रेरित किया जाए। रोको-टोको अभियान जारी रहे। अनावश्यक भीड़ वाले आयोजनों से बचा जाए। गरीब की रोजी-रोटी चलती रहे, आर्थिक स्थिति प्रभावित न हो। कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाएँ अच्छी रहे। ऑक्सीजन, पीएसए प्लांट क्रियाशील रहें, एलएमओ टैंक की व्यवस्था भी देख लें। दवाइयों की एक महीने की व्यवस्था रहे। मुख्यमंत्री इन्पेनल्ड अस्पतालों की अवधि 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दी गई है। बिस्तरों की मेपिंग कर लें। प्रायवेट एवं शासकीय अस्पतालों में बिस्तरों की व्यवस्था करें। सभी आवश्यक चीजें देखें। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करनी है।


स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा 08 जनवरी से 14 जनवरी के मध्य
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा 08 से 14 जनवरी के मध्य होगी। जन्म से 06 वर्ष तक के बच्चों का वजन, ऊँचाई, ली जायेगी। विभिन्न माप एजेंसियों द्वारा बच्चों की ऊँचाई एवं वजन लिया जायेगा। अस्वस्थ बच्चों को उपचार के लिए चिन्हित किया जायेगा।


बच्चों को स्वस्थ रखना सर्वसमाज की जिम्मेदारी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टरों को इस कार्यक्रम की तैयारी के निर्देश दिए। विभिन्न संस्थाओं एवं जन-प्रतिनिधियों को जोड़ें। बच्चों को स्वस्थ रखना सर्वसमाज की जिम्मेदारी है। सबको आँगनवाड़ी से जोड़े और आँगनवाड़ी की समिति बना लें। अफसरों को स्वयंसेवी संस्थाओं को आँगनवाड़ी से जोड़े। आगामी 08 जनवरी को मंत्रीगण, विधायक आँगनवाड़ियों में जायें। मैं भी एक आँगनवाड़ी में जाऊँगा। शारीरिक माप से कोई बच्चा वंचित न रहे। अभियान का प्रिंट-इलेक्ट्रानिक, सोशल मीडिया में बेहतर प्रचार-प्रसार हो। मीडिया हाऊस भी आँगनवाड़ी गोद लें। बहुप्रचारित करके आँगनवाड़ियों को जोड़ना है। कलेक्टर प्रभारी मंत्री भी एक-एक आँगनवाड़ी से जुड़े। बच्चों को स्वस्थ रखने का संकल्प लें। अभियान बनाकर आँगनवाड़ियों से लोगों को जोड़ा जाए।


प्रदेश में कहीं भी यूरिया की किल्लत नहीं हो
मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में प्रदेश में यूरिया की स्थिति की जानकारी ले रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी यूरिया की किल्लत नहीं होनी चाहिए। केन्द्र से बात कर यूरिया की आपूर्ति की जायेगी। खाद की कोई कमी नहीं है। जहाँ जरूरत हो वहाँ के कलेक्टर द्वारा यूरिया की मांग की जाये। पर्याप्त यूरिया दिलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में खाद की कालाबाजारी किसी भी कीमत पर नहीं हो। ऐसा करने वालों को जेल भेजा जायेगा। जनता को कोई भी तकलीफ नहीं हो। प्रभावी प्रशासन व्यवस्था हो। अभी तक 03 लाख कृषकों से 20 लाख टन धान की खरीदी हो गई है। पिछले वर्ष से ज्यादा धान खरीदी गई है। मोटा अनाज उपार्जन की अंतिम तिथि 31 दिसंबर नियत है। धान की सुरक्षित खरीदी है। किसानों को कोई दिक्कत न हो। गैर किसान से धान नहीं खरीदी जाये। समय पर धान की देख-रेख हो। केंप में धान खराब न हो।


माफियाओं के अतिक्रमण पर कार्यवाही हो
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी कलेक्टरों से कहा कि पैसे लेने वालों को नौकरी से बर्खास्त किया जायेगा। भ्रष्टाचार करने पर बख्शा नहीं जायेगा। माफियाओं के अतिक्रमण पर कार्यवाही हो। स्वच्छता में नंबर-1 आना है। शहरों को सुंदर रखें। गरीबों की रोजी-रोटी प्रभावित नहीं हो। समाचार-पत्रों में छपी खबरों पर कार्यवाही हो। नकारात्मक समाचार का खंडन करवाया जाए। खबर की सच्चाई सामने आये। तत्काल रिस्पांस हो। संवदेनशीलता से लोगों का दुख दूर करें, तटस्थ न रहे, अच्छा करें।


एक साल में चमत्कार कर दिखायें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि "आयुष्मान भारत" योजना के वीडियो अपलोड करें। सरकार के अच्छे कार्यों का प्रचार आपका कार्य है। यह हमारी ड्यूटी है। कलेक्टर चाहे तो पूरा जिला बदल सकता है। सब मिलकर अच्छा कार्य करें। नये वर्ष की शुभकामनाएँ। अच्छे कार्य के माध्यम से यशस्वी हो। अच्छा परफार्मेंस करें। एक साल में चमत्कार करके दिखायें।

कोई टिप्पणी नहीं: