50 लाख एलईडी बल्ब वितरण की महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 दिसंबर 2021

50 लाख एलईडी बल्ब वितरण की महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल

  • 31 मार्च, 2022 तक 20 लाख परिवारों में परियोजना करोड़ के तहत 10 मिलियन एलईटी वितरण का लक्ष्य है

50-lakhs-led-bulb-distribution
नई दिल्ली, एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी कन्वर्जेंस एनर्जी सर्विसेज लिमिटेड (सीईएसएल) ने अपने ग्राम उजाला कार्यक्रम की परियोजना करोड़ के तहत 50 लाख एलईडी बल्ब वितरित करने की महत्वपूर्ण उपलब्धित हासिल की है। ग्राम उजाला योजना बिहार, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना के ग्रामीण परिवारों में लागू की जा रही है। केन्द्रीय विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर. के. सिंह के कुशल नेतृत्व में सीईएसएल ने इस वर्ष मार्च में रोशनी प्रदान करने वाली गांव की इस यात्रा की शुरुआत की। इस महीने राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस, 2021 के अवसर पर सीईएसएल ने एक दिन में ही 10 लाख एलईडी बल्ब वितरित करने का लक्ष्य हासिल किया है।


सीईएसएल ठीक जल रहें चमकीले बल्बों के बदले में 10 रुपये प्रति बल्ब की कीमत पर 3 साल की गारंटी वाले उच्च गुणवत्ता के 7-वाट और 12-वाट के एलईडी बल्ब उपलब्ध करा रहा है। प्रत्येक परिवार अधिकतम 5 बल्बों की अदला-बदली कर सकता है। इस बल्ब वितरण से इन राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रति वर्ष 250 करोड़ रुपये की लागत बचत से 71,99,68,373.28 यूनिट ऊर्जा बचत हुई है। यह कार्यक्रम 31 मार्च, 2022 तक चलेगा। इस उपलब्धि के बारे में सीईएसएल की प्रबंध निदेशक और सीईओ सुश्री महुआ आचार्य ने कहा कि यह कार्यक्रम ग्रामीण इकोसिस्टम के समग्र विकास को सुनिश्चित करने के लिए चलाया जा रहा है। श्री आर. के. सिंह जी के कुशल नेतृत्व में सीईएसएल पांच राज्यों के ग्रामीण इलाकों में बेहतर रोशनी प्रदान करने की दिशा में लगातार काम कर रहा है। कार्बन क्रेडिट के वित्तीय मॉडल पर काम करते हुए हम ‘परियोजना करोड़’ के पूरा होने पर अन्य राज्यों के ग्रामीण भागों में भी इस कार्यक्रम का विस्तार करेंगे। शाइन कार्यक्रम के तहत इस पूरी वितरण यात्रा में सी-क्वेस्ट कैपिटल, सीईएसएल की सहायता कर रहा है। इस भागीदारी की सराहना करते हुए, सी-क्वेस्ट कैपिटल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री केन न्यूकॉम्ब ने कहा कि ग्रामीण भारत में ऊर्जा दक्षता हासिल करने के साधन के रूप में कार्बन फाइनेंस का उपयोग करना कार्बन बाजारों का एक शक्तिशाली उपयोग है। इस पैमाने पर ऐसा करना बहुत महत्वपूर्ण है। भारत सरकार के इस सराहनीय कार्यक्रम में आज अर्जित 50 लाख की उपलब्धि बहुत महत्वपूर्ण है और हमें इस कार्यक्रम में सह-वित्त और सुविधा प्रदान करने में गर्व अनुभव हो रहा है।


सीईएसएल के बारे में कुछ जानकारियां:

कन्वर्जेंस एनर्जी सर्विसेज लिमिटेड (सीईएसएल) राज्य स्वामित्व वाली एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड की एक सहायक कंपनी है, जो भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय के अंतर्गत सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों का एक संयुक्त उद्यम है। सीईएसएल स्वच्छ, सस्ती और विश्वसनीय ऊर्जा प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करती है। सीईएसएल उन ऊर्जा समाधानों पर ध्यान केंद्रित करता है जो नवीकरणीय ऊर्जा, विद्युत गतिशीलता और जलवायु परिवर्तन के समागम में स्थित हैं। सीईएसएल भारत में विद्युत वाहनों के उपयोग में बढ़ाने के लिए बैटरी से चलने वाली विद्युत गतिशीलता, इसके बुनियादी ढांचे और डिजाइन व्यापार मॉडलों को सक्षम बनाने की दिशा में भी काम कर रहा है। विशिष्ट व्यापार मॉडलों को नियोजित करके कन्वर्जेंस इन समाधानों को बड़े पैमाने पर रियायती बनाने और इनके व्यवसायीकरण को सक्षम बनाने के लिए रियायती और वाणिज्यिक पूंजी, कार्बन वित्त और अनुदानों के मिश्रण का उपयोग कर रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: