समाजवाद का दूसरा नाम है अखिलेश : अपर्णा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 दिसंबर 2021

समाजवाद का दूसरा नाम है अखिलेश : अपर्णा

aparna-call-akhilesh-as-socialist
अमेठी (उत्तर प्रदेश), पांच दिसंबर, समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा ने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को समाजवाद का दूसरा नाम करार देते हुए केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने का श्रेय उन्हें दिया। कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करके सुर्खियों में आई यादव परिवार की छोटी बहू अपर्णा ने अमेठी में आयोजित एक कार्यक्रम में 'धरतीपुत्र मुलायम सिंह और अखिलेश भैय्या जिन्दाबाद' का नारा लगाते हुए कहा कि समाजवाद का दूसरा नाम अखिलेश है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार द्वारा तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने का श्रेय सपा अध्यक्ष अखिलेश को जाता है। गौरतलब है कि अपर्णा अक्सर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करती नजर आती हैं। ऐसे में उनका यह ताजा बयान राजनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा सकता है। अपर्णा ने अमेठी से भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘अमेठी को लेकर बड़ी-बड़ी बातें की जाती हैं, मगर अमेठी में विकास तो कहीं नजर नहीं आ रहा है। मैं जिस तरफ से आयी वहां सड़कों पर गड्ढे ही नजर आये। सपा की सरकार बनने पर अमेठी की सड़कें चमकेंगी।’’ अर्पणा ने कहा कि नेता जी (मुलायम) ने महिलाओं के लिए शौचालय बनवाये, महिलाओं को सबसे पहले रसोई गैस देने का काम किया लेकिन लाभार्थियों के साथ कभी फोटो नहीं खिंचवाई। आज की सरकार फोटो खिंचवाती है। समाजवादी पार्टी ने काम किया है इसलिए जनता एक बार फिर सपा की सरकार बनाए। नेहरू-गांधी परिवार का गढ़ माने जाने वाले अमेठी में पहली बार आई अर्पणा ने कहा कि डीजल और पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं। अगर दाम कम नहीं हुए तो इस बार जनता साइकिल यात्रा निकालेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: