बिहार : स्कूल में लगा ‘भोजपुरी भाषा वर्जित है’ का बोर्ड, फोटो वायरल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 दिसंबर 2021

बिहार : स्कूल में लगा ‘भोजपुरी भाषा वर्जित है’ का बोर्ड, फोटो वायरल

bhojpuri-language-prohibited-in-school
पटना : पटना के एक स्कूल का फोटो आज सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस फोटो में दिख रहा है कि स्कूल परिसर में लगे एक बोर्ड पर लिखा गया है कि विद्यालय परिसर में भोजपुरी भाषा का प्रयोग वर्जित है। इस तस्वीर को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। लोग कमेंट कर रहे हैं कि स्कूल में इस तरह का बोर्ड लगाना भाषा का अपमान है। IAS अधिकारी अवनीश चरण ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा कि किसी भी भाषा का प्रयोग वर्जित कैसे हो सकता है। वहीं मशहूर भोजपुरी गायक और अभिनेता खेसारी लाल यादव ने इस तस्वीर पर गुस्सा जाहिर करते हुए लिखा कि …काहे हो। एक अन्य यूजर ने लिखा कि अगर करना ही है तो अंग्रेजी भाषा को वर्जित करो। विदित हो कि पटना यूनिवर्सिटी समेत बिहार के कई विश्वव़िद्यालयों में भोजपुरी भाषा की बजाप्ता पढ़ाई होती है। यह बिहार की पहचान के तौर पर जानी जाती है। एक तरह से भोजपुरी बिहार की भाषाई आत्मा मानी जाती है। इस भाषा को संविधान की आठवीं सूची में शामिल कराने के लिए बिहार लंबे समय से केंद्र सरकार से मांग कर रहा है। ऐसे में यह विडंबना ही है कि राजधानी पटना के एक स्कूल में बजाप्ता इस भाषा के प्रयोग को ​वर्जित करने का पोस्टर लगा दिया गया। सुरभी सिंह (@Surbhi_Singh) नाम के ट्विटर हैंडल से लिखा गया कि नीतीश कुमार बिहार में भोजपुरी को कौन बंद करवा रहा है। कृपया ऐसे लोगों पर कार्रवाई करिए। आदित्य दुबे (@adityage_11) नाम के यूजर ने लिखा कि हमारे देश में हमारी ही भाषा बोलने पर स्कूल में फाइन भरना होता है। किसी अन्य देश की भाषा को बोलने पर सभ्य समझा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं: