बिहार : फैक्ट्री संचालक के सामने बौना साबित हो रहा है प्रशासन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 दिसंबर 2021

बिहार : फैक्ट्री संचालक के सामने बौना साबित हो रहा है प्रशासन

  • फैक्ट्री में लापरवाही,सुरक्षा के अभाव मे भारी संख्या में मजदूरों की गई जानें -माले
  • फैक्ट्री संचालक के सामने बौना साबित हो रहा है प्रशासन ठोस कार्रवाई करे सरकार
  • मृतकों को 50-50 लाख,घायलों को 25-25- लाख रुपए मुआवजा व मृतक के परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दे सरकार- माले
  • फैक्ट्री प्रबंधक को अविलंब गिरफ्तार करने के साथ पूरे घटनाक्रम की उच्चस्तरीय जांच कराए सरकार -माले
  • भाकपा-माले जांच दल ने विधायक गोपाल रविदास के नेतृत्व में घटनास्थल का किया दौरा.

cpi-ml-team-visit-muzaffarpur-blast
मुजफ्फरपुर।मुजफ्फरपुर के स्थित बेला औद्योगिक क्षेत्र फेज टू के मोदी कुरकुरे-नूडल्स फैक्ट्री में लापरवाही, सुरक्षा के अभाव में बॉयलर फटने से रविवार को सुबह 9:30 बजे सुबह बड़ी संख्या मज़दूरों की मौत हो गई,कई घायल हुए। घटना की सूचना मिलते ही फुलवारीशरीफ से माले विधायक गोपाल रविदास के नेतृत्व में माले जांच दल ने घटनास्थल का दौरा किया।  विधायक गोपाल रविदास ने कहा कि बेला फेज–2 नूडल्स फैक्ट्री में बॉयलर फटने से मौत अत्यंत ही दुःखद घटना है। सभी मृतकों व घायलों के प्रति मेरी मार्मिक संवेदनाएं। उन्होंने दुःख की इस घड़ी में शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने जांच रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि बेला औद्योगिक क्षेत्र में रविवार को मोदी कुरकुरे और नूडल्स फैक्ट्री में बॉयलर फट गया। इस बड़ी संख्या में मजदूरों  की मौत हो गई। स्थानीय प्रशासन और फैक्ट्री प्रबंधक मृतकों की संख्या छुपाने में लगी है। उन्होने कहा कि बड़ी संख्या में लोग घायल हैं।पास की चिउड़ा फैक्ट्री के भी दो मजदूरों के मरने व घायल होने की सूचना है। माले जांच दल को स्थानीय लोगों ने बताया कि बॉयलर फटने का धमाका इतना तेज था कि 5 किलोमीटर तक इसकी आवाज सुनी गई। धमाके के कारण बगल की चूड़ा और आटा फैक्ट्री भी क्षतिग्रस्त हो गई। फिलहाल हादसे में जान गंवाने वाले लोगों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। फैक्ट्री संचालक के सामने बौना साबित हो रहा है प्रशासन,फैक्ट्री में लापरवाही, सुरक्षा के अभाव में मज़दूरों की भारी संख्या में जाने गई है, लेकिन स्थानीय प्रशासन मृतकों की संख्या छूपा रही है। सरकार से हमारी मांग है कि  मृतकों को 50-50 लाख, घायलों को 25-25-लाख रूपए मुआवजा व मृतक के परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी के साथ साथ पुरे घटनाक्रम की उच्चस्तरीय जांच कराने के साथ फैक्ट्री प्रबंधक को अविलंब गिरफ्तार कर हत्या का मुकदमा चलाया जाए।माले विधायक गोपाल रविदास ने कहा कि फैक्ट्री प्रबंधक विकास मोदी को सरकार और भाजपा का संरक्षण प्राप्त है। घटना की उच्च स्तरीय जांच कराये सरकार। जांच दल में माले जिला सचिव कृष्णमोहन,माले जिला कमिटि सदस्य शत्रुघ्न साहनी, इंक़लाबी नौजवान सभा(आरवाईए) बिहार के नवनिर्वाचित राज्य अध्यक्ष सह माले जिला कमिटी सदस्य आफताब आलम, फहद जमां,असलम रहमानी,ऐक्टू मुजफ्फरपुर के जिला संयोजक मनोज यादव , आइसा नेता शहनवाज,मोहम्मद एजाज,अकबर आजम सिद्दीकी,नौशाद आलम,अमोद पासवान आदि शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: