बिहार : पटना में प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 दिसंबर 2021

बिहार : पटना में प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प

fight-in-police-and-protesters-patna
पटना, 27 दिसंबर, बिहार भाजपा मुख्यालय के बाहर अपनी मांगों के समर्थन में एकत्र हुए सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने सोमवार को लाठीचार्ज किया, पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया और हवा में पिस्तौलें लहराईं। आंदोलनकारियों में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल थीं, जिनमें से कई तो बच्चों को गोद में लिए हुए थीं। ये महिलाएं पंचायत वार्ड सचिवों के रूप में अपनी नौकरी को नियमित करने की मांग कर रही थीं। आंदोलनकारियों ने करीब एक पखवाड़े पहले गर्दनी बाग में धरना शुरू किया था। इस बीच, विपक्षी नेताओं ने धरनास्थल का दौरा किया और उनकी मांग के समर्थन में अपनी एकजुटता व्यक्त की। समर्थन से उत्साहित वे सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीरचंद पटेल मार्ग स्थित कार्यालय के सामने जमा हो गए और पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी से आश्वासन की मांग करने लगे। चौधरी भाजपा कोटे से ही मंत्री हैं। यह पता नहीं चल पाया है कि जब प्रदर्शनकारी प्रदर्शन कर रहे थे तब मंत्री अंदर थे या नहीं। पुलिसकर्मी इन प्रदर्शनकारियों को यह कहते हुए वहां से हटने को लेकर दबाव बनाने लगे कि इस मार्ग पर प्रदर्शन की अनुमति नहीं है। प्रदर्शनकारियों और पुलिसकर्मियों के बीच हाथापाई हुई, और बाद में लाठीचार्ज और पानी की बौछारों की नौबत आ गयी। पुलिस दल के कुछ सदस्यों को भीड़ के पीछे दौड़ते देखा गया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि हालांकि, कोई गोली नहीं चलाई गई और दोपहर तक स्थिति सामान्य हो गई। उन्होंने कहा कि "अवैध प्रदर्शन" में शामिल लोगों के खिलाफ अब तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: