बच्चों का टीकाकरण, फ्रंटलाइन वर्कर्स, बुजुर्गों के लिए प्रिकॉशन डोज़ जनवरी से - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 दिसंबर 2021

बच्चों का टीकाकरण, फ्रंटलाइन वर्कर्स, बुजुर्गों के लिए प्रिकॉशन डोज़ जनवरी से

child-covid-vaccine-from-january
नयी दिल्ली 25 दिसंबर, सरकार ने कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमीक्रॉन के संक्रमण को देखते हुए कोविड टीकाकरण को विस्तार और गति देने का आज फैसला किया और तय किया कि 15 से 18 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों का टीकाकरण, स्वास्थ्य कर्मियों सहित फ्रंटलाइन वर्कर्स और अन्य बीमारियों से ग्रस्त बुज़ुर्गों को प्रिकॉशन डोज़ जनवरी से देना शुरू किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज रात कोविड की स्थिति की समीक्षा के लिए बुलायी गयी एक विशेष बैठक के बाद अचानक राष्ट्र को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। 15 से 18 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों का टीकाकरण तीन जनवरी से तथा फ्रंटलाइन वर्कर्स, बुज़ुर्गों का प्रिकॉशन डोज़ 10 जनवरी से लगाया जाएगा। श्री मोदी ने कहा कि विश्व के कई देशों में कोरोना के नये वैरिएंट ओमीक्रॉन का संक्रमण बढ़ रहा है। भारत में भी कई लोगों के ओमीक्रॉन से संक्रमित होने का पता चला है। मैं आप सभी से आग्रह करूंगा कि घबरायें नहीं। सावधान और सतर्क रहें। मास्क और हाथों को थोड़ी-थोड़ी देर पर धुलना, इन बातों को याद रखें। कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशानिर्देशों का पालन, कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है। और दूसरा हथियार है वैक्सिनेशन। उन्होंने कहा कि भारत ने इस साल 16 जनवरी से अपने नागरिकों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया था। ये देश के सभी नागरिकों का सामूहिक प्रयास और सामूहिक इच्छाशक्ति है कि आज भारत 141 करोड़ वैक्सीन डोज के अभूतपूर्व और बहुत मुश्किल लक्ष्य को पार कर चुका है। आज भारत की वयस्क जनसंख्या में से 61 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है। इसी तरह, वयस्क जनसंख्या में से लगभग 90 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की एक डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने कहा, “15 साल से 18 साल की आयु के बीच के जो बच्चे हैं, अब उनके लिए देश में वैक्सीनेशन प्रारंभ होगा। 2022 में, 3 जनवरी को, सोमवार के दिन से इसकी शुरुआत की जाएगी। इस प्रकार से स्कूलों कॉलेज़ों में जाने वाले इस आयुवर्ग के बच्चों एवं उनके माता पिता की चिंता दूर होगी।” उन्होंने कहा कि हम सबका अनुभव है कि जो कॉरोना वॉरियर्स हैं, हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, इस लड़ाई में देश को सुरक्षित रखने में उनका बहुत बड़ा योगदान है। वो आज भी कोरोना के मरीजों की सेवा में अपना बहुत समय बिताते हैं: इसलिए पूर्व सावधानी की दृष्टि से सरकार ने निर्णय लिया है कि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की प्रिकॉशन डोज़ भी प्रारंभ की जाएगी। इसकी शुरुआत 2022 में, 10 जनवरी, सोमवार के दिन से की जाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि 60 वर्ष से ऊपर की आयु के कोमॉरबिडिटी वाले यानी मधुमेह आदि अन्य रोगों से पीड़ित नागरिकों को, उनके डॉक्टर की सलाह पर वैक्सीन की प्रिकॉशन डोज़ का विकल्प उनके लिए भी उपलब्ध होगा। ये भी 10 जनवरी से उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा, “मेरा आग्रह है कि अफवाह, डर, भ्रम पैदा करने के प्रयासों से बचना चाहिए। हम दुनिया का सबसे बड़ा और टीकाकरण अभियान चला रहे हैं। इसे विस्तार और गति देना है।”

कोई टिप्पणी नहीं: