झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 12 दिसंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 दिसंबर 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 12 दिसंबर

कोरोना से पति की मृत्यु होने के बाद अपने अधिकार के लिए लड़ी पत्नि और पुत्र को मिला उसका हक, मोटरसाईकिल दुर्घटना में पति की मृत्यु होने पर पत्नि को मिला 5 लाख रू. का डीडी

  • जमीन को लेकर हुए विवाद में तीन भाईयों ने गले मिलकर झगड़ा किया समाप्त, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में 11 लाख रू. के ऋण प्रकरण में 2 लाख रू. में हुआ समझौता
  • जिला न्यायालय में आयोजित नेशनल लोक अदालत को मिली अपार सफलता, नरगपालिका एवं बैंकों के स्टॉल पर रहंी जर्बदस्त भीड़, बिजली बिलों और दूरसंचार विभाग से संबंधी मामलों का हुआ भी त्वरित निराकरण

jhabua news
झाबुआ। मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देश पर तथा जिला न्यायालय झाबुआ के जिला एवं सत्र न्यायाधीश मोहम्मद अब्दुल अबरार के मार्गदर्शन में 11 दिसंबर, शनिवार को वर्ष-2021 की अंतिम नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। जिसे अपार सफलता मिली। लोक अदालत में समस्त प्रकार के प्रकरणों का निराकरण करवाने हेतु लोगों की अत्यधिक भीड़ रहीं। लोक अदालत में कई बड़े एवं पुराने मामले भी जड़ से समाप्त होने के साथ छोटे-मोटे विवादों के कारण बिछड़े भाई भी एक हुए। कोरोना से पति की मृत्यु होने पर पत्नि एवं उसके पुत्र को उनका अधिकार मिला। मोटरसाईकिल दुर्घटना में पति की मृत्यु होने पर पत्नि को क्लेम की राशि प्राप्त हुई तो बैंकों के वर्षों पुराने ऋण प्रकरणों में भी समझौता हुआ। सबसे अधिक भीड़ बैंकों और नगरपालिका के स्टॉल पर ही लगी रहीं। नगरपालिका का वर्षों से जिन लोगांे ने संपत्ति कर नहीं जमा करवाया था, उन्हांेने उपस्थित होकर पैसा जमा करवाकर लोक अदालत की आवश्यक छूट भी प्राप्त की। इसके अलावा बिजली के बकाया बिलों और दूरसंचार विभाग की भी बकाया राशि की पूर्ण वसूली हुई


राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर मार्ल्यापण कर हुआ शुभारंभ

लोक अदालत का शुभारंभ जिला न्यायाधीश मो. सईदुल अबरार, विशेष न्यायाधीश श्री महेन्द्रसिंह तोमर, अभिभाषक संघ जिला झाबुआ के अध्यक्ष दीपक भंडारी, सचिव शरतचन्द्र शुक्ला, वरिष्ठ अधिवक्ता उमंग सक्सेना, रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष मनोज अरोरा आदि ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया। समस्त अतिथियों का स्वागत प्रथम अपर न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री एलडी सोलंकी ने पुष्पमालाओं से किया।


अधिवक्ताओं की पक्षकारों के प्रकरणों के निराकरण में रहती है विशेष भूमिका

संक्षिप्त उद्बोधन में जिला न्यायाधीश मो. सईदुल अबरार ने बताया कि यह जारी वर्ष की अंतिम लोक अदालत है। उन्होंने एक उदाहरण के माध्यम से नेशनल लोक अदालत के महत्व को प्रतिपादित किया। विशेष न्यायाधीश श्री तोमर ने लोक अदालत में जारी वर्ष में किए गए प्रकरणों के निराकरण पर संक्षिप्त प्रकाश डाला। बार एसोसिएशन अध्यक्ष दीपक भंडारी ने लोक अदालत में समस्त अधिवक्ताओं द्वारा प्रकरणों के निराकरण में लगातार दिए जा रहे विशेष सहयोग की जानकारी दी। रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष मनोज अरोरा ने बताया कि क्लब द्वारा प्रत्येक दो माह में जिला न्यायालय में होने वाली लोक अदालत में जिलेभर से आने वाले समस्त पक्षकारों और समस्त स्टॉफ के लिए भोजन के पैकेट की निःशुल्क व्यवस्था करता है। इस बार भी यह व्यवस्था संस्था की ओर से की गई है। शुभारंभ कार्यक्रम का संचालन अपर जिला न्यायाधीश श्री भरतकुमार व्यास ने किया। अंत में आभार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री सोलंकी ने मानते हुए बताया कि इस बार लोक अदालत हेतु प्रकरणों के निरकारणों के निराकरण के लिए पक्षकारों और संबंधित विभागों तथा बैंको द्वारा भी अपने ग्राहकों औ उपभोक्ताओं को एक माह ही सूचना-पत्र  के माध्यम से सूचित कर दिया था। इस अवसर पर जिला न्यायालय के समस्त न्यायाधीशगण, अधिवक्तागण, गणमान्यजन तथा सामाजिक कार्यकर्ता आदि उपस्थित रहे।


यह आए 4 बड़े मामले

- पहला मामला जिले के थांदला का रहा। जिसमें वादी श्रीमती सुमन कारा ने जारी वर्ष में अपनी पति की कोविड से मृत्यु होने पर अपने हक और अधिकार के लिए जिला न्यायालय में जिला न्यायाधीश की बेंच के सम्मुख करीब 3 करोड़ 83 लाख रू. का दावा लगाया। यह दावा विगत 2 दिसंबर को लगाया गया था और इसमें वादी की ओर प्रकरण की पैरवी वरिष्ठ अभिभाषक उमंग सक्सेना तथा प्रतिवादी अर्थात श्रीमती सुमन कारा के ससुर कैलाश और देवर वैभव कारा की ओर से प्रकरण का संचालन अभिभाषक जितेन्द्र जैन थांदला द्वारा किया गया। महज 9 दिन के भीतर ही इस मामला निराकृत हुआ। जिसमें शनिवार को लोक अदालत में यह डिसाईड हुआ कि पति की मृत्यु के बाद उसके पुत्र सुबोध कारा के नाम से करीब 2 करोड़ की राशि की एफडी करवाई जाएगी। साथ ही पत्नि सुमन को भी अधिकार प्रदान करते हुए उनके बैंक अकाउंट में उचित धनराशि जमा करवाए जाने के साथ ही उनकी पत्नी के नाम से मकान दान-पत्र में देने की कार्रवाई भी होगी। जिस पर दोनो पक्षों की सहमति बनी। जिसके बाद प्रकरण का निराकरण होने पर जिला न्यायाधीश मो. अबरार द्वारा दोनो पक्षों को पौधा भेंट किया गया। - दूसरा मामला जिले के रामा विकासखंड के ग्राम कागलखो का है। जिसमें ग्राम कागलखो निवासी श्रीमती सतुराबाई के पति तोलसिंह गमार की वर्ष 2016-17 में मोटरसाईकिल दुर्घटना में मृत्यु होने पर पत्नि ने क्लेम के लिए जिला न्यायालय में अपील की। इस प्रकरण का भी शनिवार को निराकरण हुआ। जिसमें अतिरिक्त मोटर दुर्घटना अधिकरण के तहत न्यायाधीश श्री महेन्द्रसिंह तोमर की खंडपीठ पर श्रीमती सुतरीबाई प्रस्तुत हुई। महिला की ओर से प्रकरण में पैरवी वरिष्ठ अभिभाषक दीपक भंडारी ने की। अभिभाषक श्री भंडारी के अनुसार वाहन का बीमा नहीं होने के बाद भी इसमें बनाई गई विपक्षी पार्टी में मुंबई के जिला पालघर के ग्राम बोईसर निवासी विष्णुदत्त शर्मा ने शनिवार को विशेष रूप से लोक अदालत में आकर सतुरीबाई को 5 लाख रू. का डीडी प्रदान किया। उक्त कार्य की जिला न्यायाधीश ने सराहना की। - तीसरे मामले में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक झाबुआ से झाबुआ के मेघनगर नाका निवासी विजय नायर ने अपनी दुकान के लिए वर्ष 2008 में करीब 3 लाख 37 हजार रू. का ऋण लिया था, जो आज तक ब्याज सहित करीब 11 लाख के आसपास होने पर जिसका समझौता करीब 2 लाख की राशि मंे हुआ। यह भी सीसीबी झाबुआ से जुड़ा ऋण वसूली का बड़ा प्रकरण रहा। यह राशि एक मुश्त लोक अदालत में श्री नायर द्वारा प्रदान की गई। जिस पर उनका भी पौधा देकर बैंक के अधिकारियों सहित न्यायाधीशगणों ने सम्मान किया। - चौथा मामला जिले के ग्राम नाहरपुरा का है। जिसमें जमीन को लेकर तीन भाईयों सोमला, कालिया और नागला डामोर के बीच विवाद हो गया था। इसमें फरियादी के रूप में नागला डामोर ने जिला न्यायालय में प्रकरण प्रस्तुत किया। जिसमें प्रकरण की पैरवी युवा अभिभाषक मुकेश बैरागी ने करते हुए लोक अदालत में तीनों भाईयों के बीच सुलह-समझौता हुआ और उन्होंने जिला न्यायाधीश मो. अबरार के समक्ष गले मिलकर अपने सारे गिले शिकवे दूर किए। तीनों का पुष्पामाला पहनाकर स्वागत किया गया।


नगरपालिका के रेकार्ड तोड़ 107 प्रकरणों का हुआ निपटारा

नगरपालिका के स्टॉल पर शहर के संपत्तिकरण से संबंधित सर्वाधिक प्रकरणों का निराकरण हुआ। इस दौरान स्टॉल पर स्वयं नगरपालिका सीएमओ एलएस डोडिया ने उपस्थित रहकर प्रकरणों का निराकरण के लिए आने वाले लोगों का हौंसला अफजाई किया। वहीं संपत्तिकरण प्रकरण के निराकरण में वार्ड क्र. 1 के पार्षद पपीश पानेरी, वार्ड क्र. 4 के पार्षद साबिर फिटवेल एवं वार्ड क्र. 7 के पार्षद रशीद कुरैशी ने विशेष प्रयासों से इन वार्डों के संपत्तिकर चूकाने के मामले अधिक रहे। वहीं स्टॉल पर संपत्ति कर जमा करने में नपा के राजस्व शाखा प्रभारी अयूब खान के साथ विशेष योगदान मुकेश चौहान एवं रूपसिंह आदिवासी ने प्रदान किया। दोपहर 11 से शाम 5 बजे तक यहां नगरपालिका के रेकार्ड तोड़ 107 प्रकरणों का निराकरण हुआ। जिसमें करीब 11 लाख 49 हजार 241 रू. का राजस्व नगरपालिका को प्राप्त हुआ।


भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष कलमसिंह भाबर ने किसान मोर्चा की जिला कार्यकारिणी की घोषणा की, ऊर्जावान एवं सक्रिय खुमानसिंह बेहरा को बनाया गया जिला महामंत्री


झाबुआ। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा के निर्देशानुसार एवं भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष दर्शनसिंह चौधरी की सहमति से किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष कलमसिंह भाबर ने किसान मोर्चा की संपूर्ण जिला कार्यकारिणी की घोषणा की है। जिसमें जिला महामंत्री पद की मुख्य जिम्मेदारी पार्टी में हमेशा सक्रिय रहने वाले एवं ऊर्जावान ग्राम कल्याणपुरा निवासी खुमानसिंह बेहरा तथा मुकेश पाटीदार खवासा को सौंपी गई है। इसके अलावा अन्य पदों में किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष ग्राम छापरखंडा निवासी भंवरसिंह बिलवाल, ग्राम रजला निवासी राजेश पारगी, ग्राम नवापाड़ा निवासी शेकू रावत, ग्राम खवासा निवासी अनारसिंह डाबी, पेटलावद निवासी जगदीश सेनचा एवं ग्राम कोटड़ा निवासी शेकू डामोर, जिला मंत्री ग्राम मांदलदा निवासी हरचंद भूरिया, ग्राम कोदली निवासी राजूभाई पाटीदार, ग्राम रजला निवासी गोपाल पाल, ग्राम खेड़ा निवासी कालूसिंह टोकरिया, ग्राम परतली निवासी गौवर्धनसिंह भयड़िया एवं ग्राम अगराल निवासी अशोक धोती को मनोनीत किया गया है।


इन पदों पर भी हुई नियुक्तियां

इसके अलावा जिला कार्यालय मंत्री राजू अजनार झाबुआ, जिला कोषाध्यक्ष नंदलाल पाटीदार के साथ जिला मीडिया प्रभारी दिनेश अखाड़िया और जिला सह-मीडिया प्रभारी मनोहर सोनी को बनाकर अपने-अपने पदो का पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी से निर्वहन हेतु आव्हान किया है। इसके अतिरिक्त 16 कार्यकारिणी सदस्य भी बनाए गए है।


शुभकामनाएं प्रेषित कर हर्ष व्यक्त किया

सभी नव-नियुक्त पदाधिकारी-सदस्यों को भाजपा अजजा मोर्चा के मप्र अध्यक्ष कलसिंह भाबर, भाजपा की प्रदेश मंत्री संगीता सोनी, भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक, क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर, पूर्व जिला कार्यालय मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता पं. महेन्द्रकुमार तिवारी, भाजपा जिला महामंत्री सोमसिंह सोलंकी एवं कृष्णपालसिंह गंगाखेड़ी, जिला कार्यालय मंत्री मनोहर मोदी, भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर, भाजपा मंडल अध्यक्ष अंकुर पाठक, मंडल महामंत्री जुवानसिंह गुंडिया, मंडल मीडिया प्रभारी प्रियंक तिवारी, भाजपा महिला मोर्चा जिला मंत्री सायरा खान, भाजजा अजजा मोर्चा जिलाध्यक्ष अजमेरसिंह भूरिया आदि ने बधाई देते हुए हर्ष व्यक्त किया है।


भाजपा एक विकास शील पार्टी है और समस्त कार्यकर्ता पार्टी की जान है -प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत

  • थांदला में  त्रि दिवसीय जिला स्तरीय भाजपा जिला प्रषिक्षण वर्ग का हुआ समापन

jhabua news
झाबुआ ।  भारतीय जनता पार्टी के जिला प्रशिक्षण वर्ग के अंतिम दिवस जिला अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक, हरिनारायण यादव  कार्यकम प्रभारी श्यामा ताहेड द्वारा सर्व प्रथम दीप प्रज्वलित कर माल्यापर्ण किया । उक्त जानकारी देते हुए जिला भाजपा मिडिया प्रभारी नवकार संयोजक पत्रकार योगेन्द्र नाहर ने बताया कि प्रथम चरण में जयदीप पटेल प्रदेश मंत्री ने भाजपा की अन्तोदय योजना विषय पर अपने संबोधन में कहा कि देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश मे अन्तोदय योजना का श्री गणेश कर निचली पंक्ति तक के गरीब, निराश्रित व्यक्ति को आसानी से सभी लाभ मिल रहे है महिलाओं के लिये उज्जवला योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र की बहिनो को गैस कनेक्शन दिया गया। कार्यकम में द्वितीय वक्ता के रूप में किशोर शाह अलीराजपुर ने कहा कि भारत वैश्विक परिदृश्य पर  अपना अग्रणी स्थान बना चुका है। देश की सबसे बडी राजनैतिक पार्टी भाजपा वसुदेव कुटुम्बकम भावना से  देश की सेवा कर रहे है । आज विश्व मे भारत का नाम गौरव से लिया जाता है । कश्मीर से धारा  370 हटाने के बाद विश्व मे किसी भी तरह की कोई टिका टिप्पणी नही की गई क्यो कि हमने हमारे ही घर मे सुरक्षा की चॉक चौबंद व्यवस्था कर दी । अब बारी है पाक अधिकृत कश्मीर की वो भी मुक्त करवायेगे। कोविड काल मे देश ने अन्य देशों को 36 लाख टिके उपलब्ध करवा कर वसुदेव कुटुम्बकम की भावना के साथ सभी का सहयोग कर रहे है। देश जब कोरोना से ग्रसित था तब देश ने 01 वर्ष के अंदर ही कोराना के टिकों का निर्माण कर शत प्रतिशत टिके देश मे लगाने के बाद अन्य देशों को डोनेट भी कर दिये। ये तभी संभव है देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वजह से देश आज विश्व मे प्रथम पायदान पर अग्रसर है। उन्होने यह भी कहा कि आज हिंदुस्तान का परिदृश्य बदल रहा है आज देश एक नई दिशा में जा रहा है। कार्यकम में तृतीय वक्ता के रूप में टीनू जैन इंदौर ने मीडिया के व्यवहार एवम उपयोग विषय पर अपने उद्बोधन में कहा कि प्रशिक्षण पार्टी की जान होती है । तीन दिवस के भीतर समस्त वक्ता को आपने सुना सृष्टि के प्रथम पत्रकार नारद मुनि है, आज देश मे 70 हजार समाचार पत्र का संचालन हो रहा है । विश्व मे एक मात्र ही हिंदुस्तान देश है जहाँ अभिव्यक्ति की आजादी है। अन्य देशों में अभिव्यक्ति की आजादी नही  के बराबर है। उन्होने कहा कि  2014 के बाद अन्त्योदय व अन्य योजनाओं का प्रादुर्भाव हुवा। मीडिया में प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कार्य कर रहे है? जो कि बेखोफ खबरों का संचालन करते है। प्रेस विज्ञप्ति के बारे में श्री जैन ने विस्तार से बताया किसी भी खबर का शीर्षक अच्छा होना चाहिये। पत्रकार वार्ता एक अच्छा माध्यम है इसमें खबर विश्वसनीय होना चाहिये इसमें उपयुक्त स्थान होना चाहिये विषय निर्धारित करना चाहिये मीडिया कर्मी को सम्मान दिया जाना चाहिये। मीडियाकर्मी द्वारा पूछे गये सवाल पर उतेजित नही होना चाहिये। संगठन की लाइन अनुरूप ही पत्रकार वार्ता में जवाब दे विषयवस्तु की समस्त जानकारी होना चाहिये। मीडिया का पमुख अंग तथ्य और सच्चाई है पार्टी के प्रेस नोट देने के पूर्व अपने समाचार की पुष्टि कर लेवे संभव हो तो आंकड़े के साथ जानकारी अपने प्रेस नोट में जरूर देवे। समाचार पत्र नियमित पड़े विशेष रूप से संपादकीय व आलेख जरूर पड़े। कार्यकम में संगठन के प्रदेश महामंत्री सुहास भगत ने अपने उद्बोधन में कहा कि भाजपा एक विकास शील पार्टी है और समस्त कार्यकर्ता पार्टी की जान है। देश मे हमारी लड़ाई कांग्रेस से नही है हमारी लड़ाई अन्य ताकतों से है। जिले में  कार्य समिति के 105 कार्यकर्ता है, वही अन्य कार्यकर्ता जिले में मौजूद है । जिले में सभी कार्यकर्ताओं को एक जुट हो कर आने वाले समय मे पार्टी के लिये सकारात्मक रूप से कार्य कर भाजपा को मजबूत बनाना है। आज हर कार्यकर्ता को अप ग्रैड होना पड़ेगा अगर नही रहे तो बाहर होना पड़ेगा आज विश्व की नजर भारत पर है एवम देश आज स्वर्णिम युग की और जा रहा है। हमारी विचार धारा आज दुनिया को राह दिखा रही है।श्री भगत ने सख्त लहजे में कार्यकर्ता को चेताया कि कार्यकर्ता ये जान ले पार्टी से हट कर कार्य ना करे पार्टी  ही सर्वोपरि है । उन्होने पार्टी की गाइडलाइन से कार्य किये जाने की नसीहत देते हुए कहा कि 2014 के पूर्व का देश और आज के हिंदुस्तान में जमीन, आसमान का फर्क है आज देश चहूमुखी प्रगति के पथ पर अग्रसर हो रहा है । विश्व मे आज भारत का अगणी पंक्ति में नाम लिया जा रहा है। श्री भगत नेे विरोधी पार्टियों को चेताया कि अगर हिम्मत है तो आंख से आंख मिला कर बात करे अब पीठ पर वार सहन नही किया जावेगा।


जिले के 19 मंडलों में आज होंगे दिव्य काशी भव्य काशी कार्यक्रम’, साधु संत धर्माचार्य एवं प्रबुद्ध जन होंगे शामिल।


झाबुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 13 दिसंबर को धार्मिक आस्था के पुरातन केन्द्र काशी विश्वनाथ धाम में एवं सौंदर्यीकरण एवं समग्र विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे पुरातन संस्कृति को पुनर्स्थापित करने वाले इस आयोजन का संपूर्ण भारत के साथ ही टीवी एवं संचार माध्यमो के जरिये साक्षी बनेगा । देश भर से साधु संत धर्माचार्य प्रबुद्ध जन सहित मुख्यमंत्री उपमुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मंत्री सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता इस भव्य कार्यक्रम में भाग लेंगे । पार्टी नेतृत्व दिव्य काशी भव्य काशी कार्यक्रम के रूप में इसे देश भर में मनाएगी । झाबुआ  जिले में  13 दिसंबर को सभी 19 भाजपा मंडलों में सभी शिव मंदिरो, शिवालयो एवं प्रमुख मंदिरों में यह आयोजन होगा , जिसकी व्यापक तैयारियां पार्टी ने की है । यह जानकारी भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक ने दी है।  भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर नेें बताया कि पार्टी ने दिव्य काशी भव्य काशी कार्यक्रम का प्रभारी जिला महामंत्री सोमसिंह सोलंकी को बनाया है । यह कार्यक्रम 13 दिसंबर से 14 जनवरी तक पूरे एक माह तक चलेगा । जिसके अंतर्गत अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। नाहर के अनुसार 13 दिसंबर को होने वाले कार्यक्रम के पूर्व धार्मिक स्थलों मठ मंदिरों एवं आश्रमों में स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा । जिसमें पार्टी के सांसद, पूर्व विधायक, जनप्रतिनिधि एवं पार्टी पदाधिकारी सम्मिलित होंगे । 13 दिसंबर को नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ धाम के सौंदर्यीकरण एवं समग्र विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे । जिसका सीधा प्रसारण देश के 51000 स्थानों पर बड़ी स्क्रीन पर होगा । दिव्य काशी भव्य काशी कार्यक्रम के अंतर्गत जिलों एवं 19 मंडलों में कार्यक्रम आयोजित होंगे । जिला एवं मंडल स्थित शिवालयो एवं प्रमुख शिव मंदिरों में यह कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।  जिसमें अंचल के सभी, धर्माचार्य सांसद विधायक एवं जनप्रतिनिधि शामिल होंगे । इस कार्यक्रम का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाइव प्रसारण होगा कार्यक्रम के उपरांत स्वच्छता अभियान में सभी जन प्रतिनिधि भाग लेंगे । कार्यक्रम में दिव्य काशी भव्य काशी और साहित्य भी प्रदान किया जाएगा एवं धर्माचार्यों व साधु-संतों को सम्मानित किया जाएगा।


डॉ रामशंकर चंचल की ताजा कृति , तुम्हारे जाने के बाद का विमोचन और उसकी कविताओं की पोस्टर प्रदर्शनी लगाई गई

  • प्रेम रस में पगी अद्भुत खूब सूरत कविताओं का संग्रह तुम्हारे जाने के बाद

jhabua news
झाबुआ । नि प्र। प्रख्यात साहित्यकार डॉ रामशंकर चंचल की ताजा कृति, तुम्हारे जाने के बाद, का विमोचन आज रविवार दोपहर दो बजे गोपाल कालोनी मां सरस्वती सदन में सम्पन्न हुआ इसी अवसर पर दो दिवसीय प्रदर्शनी भी लगाई गई  कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की पूजा अर्चना से हुआ आमंत्रित अतिथि नीलेश त्रिवेदी, क्रिना त्रिवेदी , कपिल जैन, मीनाक्षी जैन, हिमांक शाह रूपाली शाह सोहैल शाह नूरजहां शाह संचिता सकलेचा, अंजना शुक्ला, शिवानी त्रिवेदी,मिहिका त्रिवेदी ने ताजा कृति तुम्हारे जाने के बाद का विमोचन किया इसी अवसर पर लगाई गई कृति की कविताओं की प्रदर्शनी का अवलोकन भी सभी अतिथियों द्वारा किया गया उपस्थित सभी ने भी प्रदर्शनी का अवलोकन किया अपने विचार रखते अथिति श्री निलेश त्रिवेदी ने कहा कि , तुम्हारे जाने के बाद कृति का शीर्षक ही में ही बहुत कुछ छुपा है जो हमें बेहद खूबसूरत सुखद अहसास करता है प्रेम के विरह वेदना का ऐसा अद्भुत चित्रण पावनता पवित्रता लिए कहां मिलेगा देखने गर्व होना है कि आदरणीय डॉ रामशंकर चंचल जी ने आज के समय में प्रेम की पावनता पवित्रता को लेकर एक ऐसी कृति हिन्दी साहित्य को दी जो सदा सम्मान से विभूषित होगी आज भी पति पत्नी के रिश्तों में कितनी सजीवता अपनापन और मिठास है यह कृति उसका जीवंत उदाहरण है जीते जी तो किसी व्यक्ति से प्रेम होना देखा गया किंतु उसके न रहने पर भी प्रेम का यह अद्भुत चित्रण उत्कृष्ट प्रेम सचमुच ईश्वर की उपस्थिति दर्ज कराता है जिसके चलते हुए वह अपनी जिन्दगी को पुरी उर्जा से जीता समाज को देश को अदभुत योगदान देता है आदरणीय डॉ चंचल जी को उनके लेखनी को प्रणाम करता हूं जिसने समाज को सकारात्मक सोच और उर्जा प्रदान की इसी अवसर पर अतिथि कपिल जैन ने कहा कि हमें बेहद गर्व महसूस होता हैं कि वनवासी अंचल झाबुआ में डॉ चंचल जी जैसे महान साहित्य साधक है जिनकी रचनाओं की लोकप्रियता सरहद पार विदेशो में भी अपना प्रभाव शाली महत्व पूर्ण स्थान रखती है यह कृति उनके पाक प्रेम का स्नेह की अमूल्य निधि है जो सदियों तक जीवंत रहेगी । अथिति हिमांक शाह सोहैल शाह और संचिता सकलेचा ने भी अपने विचार रखते हुए डॉ रामशंकर चंचल को उनके लेखनी को समाज देश को सही दिशा निर्देश देती प्रेरणा दायक बताया जिसने अपने बहुमूल्य साहित्य से देश की हिन्दी साहित्य को बहुत ही सुखद महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है हम डॉ चंचल को बधाई देते है प्रणाम करते हैं उनको उनके अस्मरणीय लेखन क्षमता को। उपस्थित सभी ने भी प्रदर्शनी और कृति को दुर्लभ यादगार बताते डॉ चंचल को बधाई दी। क्रायर्कम का सुखद संचालन भावेश त्रिवेदी ने किया आभार व्यक्त किया ऐश्वर्या त्रिवेदी ने माना।


रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ द्वारा नेशनल लोक अदालत में निःषुल्क 700 भोजन के पैकेट वितरित किए गए, जिला न्यायाधीश सहित समस्त न्यायाधीशगणों ने क्लब के कार्यों की सराहना की


jhabua news
झाबुआ। रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ द्वारा वर्ष 2021 की अंतिम नेशनल लोक अदालत में प्रत्येक लोक अदालत की तरह इस बार भी जिला न्यायालय परसिर में स्टॉल लगाकर निःशुल्क भोजन के पैकेट वितरित किए गए। करीब 2 घंटे में कुल 700 पैकेट का वितरण किया गया। जानकारी देते हुए क्लब के मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी ने बताया कि लोक अदालत के शुभारंभ अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मो. सईदुल अबरार सहित अन्य न्यायाधीगणों और अधिवक्ताओं ने संस्था के इस कार्य को काफी सराहा, चूंकि क्लब प्रत्येक लोक अदालत में जिले के दूरस्थ अंचलों से आने वाले पक्षकारों, उपभोक्ताओं, ग्राहकों, विशेषकर ग्रामीण महिला-पुरूषों के साथ समस्त अधिवक्तागणों और लोक अदालत में सेवाएं देने वाले समस्त स्टॉफ के लिए भी फ्री फूड की व्यवस्था करता है।


700 पैकेट वितरित किए गए

11 दिसंबर, शनिवार को जारी वर्ष की अंतिम लोक अदालत में भारी भीड़ रहने पर क्लब द्वारा बनाए गए 700 पैकेट मात्र 2 घंटे में ही वितरित हो गए। क्लब द्वारा यह कार्य स्टॉल लगाकर किया गया। जिसमें क्लब की ओर से रोटरी मंडल 3040 के रिजनल चेयमेरन रो. उमंग सक्सेना, ब्लड डोनेशन कमेटी चेयरमेन यशवंत भंडारी, सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष एवं रोटरेक्ट क्लब सभापति नीरजसिंह राठौर, रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष मनोज अरोरा, वरिष्ठ रोटेरियन जयेन्द्र बैरागी, अर्चना राठौर, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, जिला बाल कल्याण समिति (न्याय पीठ) के युवा सदस्य प्रदीप ओएल जैन, आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के सेवा प्रकल्प अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर से उपस्थित रहकर भोजन के पैकेट वितरण में महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान किया।


जिले में हुआ त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव का आगाज, कलेक्टोरेट के दोनो ओर लगाए गए बेरीकेट्स

  • 13 दिसंबर, सोमवार से आरंभ होगी ऑफलाईन एवं ऑनलाईन नामांकन की प्रक्रिया

jhabua news
झाबुआ। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा मप्र में त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा के बाद से ही संपूर्ण प्रदेश सहित झाबुआ जिले में भी आचार संहिता लगने के साथ चुनावी हलचल शुरू हो चुकी है। चूंकि यह चुनाव पंच-सरंपच, जनपद और जिला पंचायत सदस्यों के होने से चुनाव को लेकर विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों मंे चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीद्वारों ने कमर कसते हुए घर-घर जाकर प्रचार-प्रसार आरंभ कर दिया है। आगामी 13 दिसंबर से ऑनलाईन एवं ऑफ लाईन दोने स्तर पर नामांकन की प्रक्रिया भी आरंभ हो जाएगी। इसी बीच जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन स्तर पर भी चुनाव को लेकर विशेष तैयारियां देखने को मिल रहीं है। त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव एक ओर जहां राजनैतिक पार्टियों के लिए शक्ति प्रदर्शन का हिस्सा बनेगा, वहीं गांवों मंे जगह-जगह फलियों और चौपालों पर मजमा जमने के साथ इस बीच जमकर प्रचार-प्रसार का भी दौर चलेगा।


झाबुआ में तीसरे चरण में चुनाव

इसके साथ ही जिले में धारा 144 भी सक्रियता से लागू है। जिसके चलते प्रचार-प्रसार करने वाले उम्मीद्वारों को सभाएं, रैली या अन्य कोई भी कार्यक्रम करने से अपने-अपने क्षेत्रों के एसडीएम या तहसीलदार से अनुमति लेना आवश्यक होगी। ज्ञातव्य रहे कि त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव तीन चरणों में होना है। जिसमें झाबुआ विकासखंड के चुनाव तीसरे चरण अर्थात आगामी 16 फरवरी 2022 को संपादित होगा। इसके साथ ही आचार संहिता आगामी 23 फरवरी 2022 तक लगी रहेगी। इस बीच प्रत्याशी अपनी जीत के लिए पूरी ताकत झोकेगे।


कलेक्टोरेट परिसर में लगे बेरीकेट्स

इसी बीच जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर सोमेश मिश्रा के आदेश पर लोक निर्माण विभाग झाबुआ द्वारा 11 दिसंबर, शनिवार को जिला मुख्यालय पर कलेक्टोरेट के दोनो ओर बेरीकेट्स लगाकर पुलिस द्वारा बिना अनुमति प्रवेश पर रोक लगाई जाएगी। 13 दिसंबर से नामांकन प्रक्रिया ऑफ लाईन और ऑन लाईन दोनो स्तर पर आरंभ हो जाएगी। इस बार एक ओर जहां कोरोना की तीसरी लहर अर्थात ओमिक्रोन की मप्र सहित झाबुआ जिले में भी बढ़ती संभावनाओं के बीच त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव में उम्मीद्वारों का रैली, सभाओं के माध्यम से प्रचार-प्रसार करना काफी चुनौतीपूर्ण साबित होगा।


धारा 49 के फेर में मप्र-छग के बीच पेंडूलम बने पेंषनर्स- जिला अध्यक्ष रतनसिंह राठौर

  • प्रदेष एवं जिले के पेंषनर्स 17 दिसम्बर पेंषनर्स दिवस पर जतायेगें विरोध

झाबुआ । धारा 49 के नाम पर सरकार नें पेेंशनर्स की हालत पेंडुलम की तरह कर दी है, जो दाये-बाये डोलने को मजबुर है लेकिन उसे सम्मान के साथ उसका हक पेेंशन भी नसीब नही हो पारही है । आर्थिक तंगी से पेंशनर्स जुझ रहा है । पेंशन भी कम मिल रही है, जिससे घर का खर्च चलना भी मुश्किल है और न्यूनतम पेंशन 7775 कर रखी है है, जो 12 प्रतिशत डीए मिलाकर 9 हजार भी नही होती । ऐसे बुजुर्ग इलाज कराना तो दूर, सब्जी भाजी भी नही खरीद पाते । नमक के साथ रोटो खाकर पेट भरने को मजबुर है। पेंशनर्स डे याने 17 दिसबंर को यह बुजुर्ग  पेंशनर्स अपनी मांगोें की खातिर विरोध जतायेगें तथा जिला प्रशासन के माध्यम से फिर से जिला प्रशासन के माध्यम से प्रदेश सरकार के मुखिया तक बात पहूंचायेगें । पंचायत चुनाव को लेकर आचार संहिता के चलते उसका पालन तो करेगें ही लेकिन अपने हकक के लिये इनका आक्रोश अभी भी अन्दर ही अन्दर धधकता रहता है । - यह कहना है जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर का । उनका कहना है कि पेंशनर्स को सबसे ज्यादा पीढा धारा 49 दे रही है । ज्ञातव्य है कि जबसे मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ  का बंटवारा हुआ है, तब से जब भी पेंशनर्स को कोई आर्थिक राहत की घोषणा होती है तो उसकी सहमति के लिये छत्तीसगढ को पत्र लिखा जाता है । इसके फेर में पेंशनर्स को उनका वाजिब हक्क मिलने में भी पांच पांच, छह -छह महीने इन्तजार करना पडता है । जैसे सरकार ने दो महीनें पहले 8 प्रतिशत डीए की घोषणा की, लेकिन पेंशनर्स को राहत नही मिली। सरकारी कर्मचारियों को फिलहाल 20 प्रतिशत डीए मिल रहा है, बुजुर्ग पेंशनर्स 12 प्रतिशत डीए पर ही अटके है और यह भी पता नही है कि सरकार ने सहमति के लिये धारा 49 के तहत छत्तीसगढ को चिट्ठी अभी तक भेजी भी है या नही । सबसे बडी तकलिफ यह है कि बंटवारा होने वाले अन्य राज्यों में इस तरह का कोई प्रावधान नही है,। केवल मध्यप्रदेश  के पेंशनर्स के गले का घाव बन कर यह धारा 49 रिस-रिस कर दर्द दे रही है । पेंशनरों की पीडा है कि प्रदेश सरकार प्रदेश के करीब 5 लाख पेंशनर्स की कोई सुध नही ले रही है, जिनके सम्मान का पूरा ख्याल रखने का आदेश सुिप्रम कोर्ट भी कई फैसलों में दे चुकी है । केन्द्र सरकार से आदेश निकलने के पहले आईएएस अफसर अपना आदेश तो जारी करवा लेते है, लेकिन बुजुर्ग पेंशनर्स हक के लिये दर-दर ठोकरे खाने को मजबुर है, तथा कहीं कोई सुनवाई नही होती । अब जवान कर्मचारियों की तरह पेंशनर्स में विरोध करने की ताकत तो नही है, लेकिन सरकार को प्रदेश की पूरे मन से सेवा करने वाले बुजुर्गो का ख्याल रखने के लिये अपनी जिम्मेदारी तो समझनी चाहिये । पेंशनरों का दर्द है कि  छटवें वेतन आयोग का एक जनवरी 2006 से 31 अगस्त 2008 तक 32 महीने का एरियर्स सरकार ने नही दिया है। हाईकोर्ट ने आदेश दिया तो सरकार ने रिव्यू पीटिशन दायर कर दी । पेंशनरों को 1 जनवरी 2016 से 31 मार्च 2018 तक का एरीयर नही मिला । मेडिकल के मामले में पेंशनर्स को सरकार कोई मदद नही करती। जबकि केन्द्रीय कर्मियों का पूरा ख्याल केन्द्र सरकार करती है और हम राज्य के पेंशनर्स के लिये जीरो याने कुछ भी नही । कोरोना काल में भी सरकार की कोई मदद नही मिली । ज्ञातव्य है कि कमलनाथ सरकार ने 5 प्रतिशत डीए याने महंगाई राहत देने की घोषणा की थी पर इस सरकार ने वह भी नही दिया ।  प्रदेश में सरकार की अलटा-पलटी हुई और  खामियाजा पेंशनर्स को उठाना पड रहा है । सरकार पर 19 प्रतिशत डीए ड्यु हो गया । केन्द्रीय पेंशनर्स को 32 प्रतिशत डीए मिलता है और हम अभी भी 12 प्रतिशत पर अटके है । यह हालत तब है जबकि सुप्रिम कोर्ट का आदेश है कि सरकार के पास पैसे न हो, तब भी पेंशनर्स का पैेसा न रोका जाए । ऐसे हालात में  इस साल 17 दिसम्बर  को पेंशनर्स दिवस को बुजुर्ग पेंशनर्स सरकार की पेंशनर्स विरोधी नीति के खिलाफ ’’ विरोध दिवस’’ के शाति पूर्वक रूप में मनायेगें । ज्ञातव्य है कि पेंशनर्स डे प्रतिवर्ष 17 दिसम्बर को इसीलिये मनाया जाता है क्योकि पेंशनर्स डीएस नाकरा विरुद्ध भारत सरकार मामले में सुप्रीम कोर्ट ने लंबी लडाई के बाद नाकरा के पक्ष में 17 दिसम्बर 1982 को ही जस्टिस व्हायबी चन्द्रचुड ने फैसला दिया था कि पेंशनर्स के जीवनस्तर में कमी नही होनी चाहिये । पंेशनरों का कहना है कि सरकार इसका पालन नही कर रही है, इसलिये लाखों पेंशनर्स का जीवन तंगी में गुजर रहा है । यही वजह है कि मामा शिवराज के प्रिय भानजे भानजियों के दादा-दादी अब विरोध जताने को मजबुर है । इससे पहले पेंशनर्स मामा शिवराज से लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित सभी जिम्मेवारों को पत्र ज्ञापन लिख कर न्याय की गुहार लगा चुके है । पेंशनरो का तो यहा तक कहना है कि उन्हें एरीयर की रकम एक  मुश्त देने की बजाय किश्तों में भी सरकार देती है तो हमें कोई आपत्ती नही है। किन्तु सरकार पेंशनरों की इस मुद्दे पर भी विचार करने को क्यो तेयार नही है ? यह सवाल हर पेंशनर के दिल में कौध रहा है ।


आरटीओ ने चलाया ऑटो चौकिंग अभियान...


jhabua news
झाबुआ । बिना परमिट ऑटो पर कार्यवाही आज भी जारी रही । इसी क्रम में त्ज्व् कृतिका मोहटा द्वारा आज थांदला  , मेघनगर क्षेत्र में सघन चौकिंग की गई । कुल 05 ऑटो ओर 01 मेजिक बिना परमिट  पाए जाने पर जप्त कर नजदीकी थानों में खड़े करवाये गए । त्ज्व्  द्वारा बताया गया कि ये चेकिंग अभियान निरंतर जारी रहेगा  , साथ ही ऑटो चालकों से अपील की गई कि आप बिना  परमिट ऑटो संचालित न करे। नियमानुसार अपने दस्तावेज पूर्ण करवाने के बाद ही ऑटो संचालन करे । इस हेतु ऑटो चालक स्वयं अपने दस्तावेज पूरे करवाने हेतु कार्यालय आये । गौरतलब हो कि आज ऑटो के परमिट निराकरण हेतु अवकाश के दिन भी आर टी ओ कार्यालय खुला रहा ।


’रात भर चली खनिज विभाग की कार्यवाही में 3 डंपर जब्त’


jhabua news
झाबुआ । ’कलेक्टर महोदय झाबुआ’ के आदेश  एवं खनिज अधिकारी ’धर्मेंद्र चौहान’ के निर्देशन में जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन,परिवहन तथा भंडारण के रोकथाम हेतु खनिज विभाग के दल द्वारा जिले की ’राणापुर’ ’मेघनगर’ ’थांदला’ व ’झाबुआ’ तहसील के विभिन्न क्षेत्रों का आकस्मिक निरीक्षण कर खनिज परिवहन एवं उत्खनन करने में संलिप्त वाहनों की जांच की गई।पूरी रात चली कार्यवाही में अधिकांश वाहनों में खनिज परिवहन हेतु अनिवार्य अभिवहन पारपत्र (रॉयल्टी) होना पाया गया।खनिज दल द्वारा जिले के सीमांत इलाकों में जांच के दौरान राणापुर में एक डंपर क्रमांक ’ळश्र18ळज्8588’ जिसमें खनिज रेत परिवहन किया जा रहा था,रुकवाकर परिवहित खनिज की रॉयल्टी चाही गई। वाहन में खनिज की ओवरलोड मात्रा पाते हुए, वाहन को जब्त कर आगामी आदेश पर्यन्त थाना प्रभारी राणापुर की अभिरक्षा में रखवाया गया है।इसी क्रम में खनिज दल द्वारा तहसील थांदला में दबिश दी गई,कार्यवाही दौरान डंपर क्रमांक ’त्श्र03ळ।5250, व डंपर क्रमांक त्श्र03ळ।5230’  बिना वैध अभिवहन पास के क्वार्टजेटीक सैंड का परिवहन करते पाए जाने पर ग्राम परवल्या में जब्त कर आगामी आदेश पर्यन्त थाना प्रभारी थांदला की अभिरक्षा में रखा गया है। अधिकतर वाहनों में जांच के दौरान विधिवत अभिवहन पास  होना पाया गया। जब्तशुदा वाहनों पर मध्यप्रदेश गौण खनिज नियम 1996 व मध्य प्रदेश रेत नियम 2019 के प्रावधानों के तहत कार्यवाही कर अर्थदंड लगाने की कार्यवाही की जावेगी। रातभर चली इस कार्यवाही में मुख्य रूप से  माइनिंग इंस्पेक्टर ’शंकर कनेश’ एवं ’विवेकानंद यादव’ तथा खनिज अमला सम्मिलित रहा।

कोई टिप्पणी नहीं: