झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 दिसंबर 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 दिसंबर

600 करोड़ रू. के घोटाले में लिप्त सांसद गुमानसिंह डामोर का युथ कांग्रेस और एनएसयूआई ने मिलकर फूंका पुतला, गुमानसिंह डामोर हाय-हाय के लगाए नारे

  • माननीय न्यायालय से उचित कार्रवाई की मांग के साथ पार्टी से निष्कासित करने की भी रखी मंाग

jhabua news
झाबुआ। क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर द्वारा तत्कालीन समय में कार्यपालन यंत्री रहते हुए फलोरिस नियंत्रण परियोजना में फलोरोसिस नियंत्रण एवं पाईप सप्लाय मटेरियरल खरीदी तथा अन्य कई योजनाओं के तहत झाबुआ एवं आलीराजपुर जिले में किए जाने वाले कार्यों में जिले के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मिलकर किए गए करीब 600 करोड़ का घोटाला उजागर होने के बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस इस मुद्दे को जोर-शोर से उठा रहीं है। हाल ही में इस मामले में आलीराजपुर न्यायालय में फरियादी की ओर से दर्ज किए गए परिवाद में 600 करोड़ के घोटाले में आरोपी सांसद गुमानसिंह डामोर के साथ तत्कालीन आलीराजपुर कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा एवं पीएचई के कार्यपालन यंत्री डीएल सूर्यवंशी के विरूद्ध परिवाद पेश किया गया है। जिसमें आरोपियांे की पेशी हेतु आगामी 17 जनवरी 2022 तारिख तय की गई है। इस मामले के उजागर होने के बाद 27 दिसंबर, सोमवार को दोपहर डेढ़ बजे विरोध प्रकट करते हुए युथ कांग्रेस और एनएसूयआई ने मिलकर शहर के मध्य बस स्टेंड स्थित फव्वारा चौक पर गुमानसिंह डामोर के विरोध में नारेबाजी कर उनका पुतला जलाया।


पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प

दोपहर 1 बजे युथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष विजय भाबार एवं एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विनय भाबोर के नेतृत्व में बड़ी संख्या में दोनो संगठनों से जुड़े पदाधिकारी एवं युवा कार्यकर्ता बस स्टेंड स्थित चौराहे पर एकत्रित हुए। बाद यहां गुमानसिंह डामोर हाय-हाय के जमकर नारे लगाए। इसी बीच ताबड़तोेब पुतले को बस स्टेंड से लाते हुए फव्चारा चौक पर जलाया गया। इस दौरान पुतले जलाने से रोकने के लिए पुलिस और युवा कार्यकर्ताओं में हल्की सी झड़प हुई। पुलिस द्वारा पुतले पर पानी डालकर बुझाकर अपने कब्जे में लिया गया, लेकिन जब तक पूरा पुतला जल चुका था। मौके पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर एसडीओपी झाबुआ इडल मोर्य एवं थाना प्रभारी झाबुआ सुरेन्द्रंिसह गाडरिया भी तैनात रहे।


यह रखी गई मांग

युथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष विजय भाबोर ने आरोप लगाते हुए कहा कि 600 करोड़ के गबन के मुख्य आरोपी गुमानसिंह डामोर आज सांसद बनकर बैठे है। माननीय न्यायालय को सांसद डामोर सहित इस मामले में लिप्त अन्य सभी आरोपियों पर भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाना चाहिए। वहीं भाजपा जो अनुशासित पार्टी कहलाती है, उन्हें भी सांसद डामोर को पार्टी से तत्कालनिष्कासित कर उचित कार्रवाई करना चाहिए। पुतला दहन अवसर पर युथ कांग्रेस और एनएसयूआई से जुड़े रोशन बारिया, रोहित हटिला, अनिल भूरिया, नंदकिशोर बामनिया, थवारिया डामोर आदि सहित अन्य पदाधिकारी एवं युवा कार्यकर्ता उपस्थित थे।


रोटरी क्लब संजीवनी द्वारा आयोजित सर्व रोग निदान शिविर सम्पन्न - 1300 मरिजों को मिला लाभ

  • समाजसेवी कमलेश जैन दायजी सहित क्लब सदस्यों का सक्रिय योगदान, रोटरी क्लब सेवा गतिविधियों में अग्रणी संस्था - बंटी डामोर

jhabua news
थांदला। रोटरी क्लब संजीवनी थांदला द्वारा आयोजित सर्व रोग निदान शिविर स्थानीय महाराजा होटल पर सम्पन्न हुआ। शिविर में 12 सौ 41 मरीजों का पंजीयन हुआ वही 13 सौ से अधिक मरीज बड़ौदा इंदौर व झाबुआ से आये विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श लेकर लाभान्वित हुए। शिविर का शुभारम्भ नगर परिषद अध्यक्ष बंटी डामोर, समाजसेवी नगीनलाल शाहजी, अलीहुसैन नाकेदार,दिनेश सौलंकी, जमुनालाल राठौड़, कलमी भाई बोहरा, क्लब सदस्य विश्वास सोनी, श्रेणिक गादिया, राजेन्द्र व्होरा, जगमोहनसिंह राठौर, रोटरी क्लब अपना के वरिष्ठ सदस्य विनोद बाफना, अध्यक्ष निलेश भानपुरिया द्वारा श्री गणेशजी की प्रतिमा पर दीप प्रज्ववलित कर पुष्पांजलि देकर की गई। कोल टू ऑर्डर के द्वारा समाजसेवी कमलेश दायजी ने शिविर शुभारम्भ की घोषणा करते हुए समाजसेवा के संकल्प को दोहराया। चतुर्विध मंत्रोच्चार करते हुए रोटे. निलेश भानपुरिया ने थांदला रोटरी क्लब के एतिहासिक शिविर की बधाई दी। अतिथि वक्ताओं ने आयोजन को अंचल की जनता के लिए लाभकारी बताते हुए पूरी आयोजक टीम को बधाई दी। 


सर्व सुविधा युक्त शिविर में सभी चिकित्सकों व सेवादारों का सम्मान

शिविर के बारें में जानकारी देते हुए शिविर संयोजक पवन नाहर ने बताया कि शिविर में पंजीयन का जिम्मा जीवन ज्योति से पधारे ढिल्लू भैया, जिग्नेश भाई के साथ रोटे. उमेश गवली,  निलेश पावेचा, अंकित भंसाली, प्रफुल जैन, माया भटेवरा, रेखा सोनी, व पुष्पा गिरी ने की। वही रोटे बुरहान कल्यानपुरावाला, हुसैनी बोहरा, मुस्तुफा मुफद्दल बोहरा, सचिन सौलंकी, मुर्तुजा नूरुद्दीन,  हर्षित भानपुरिया, प्रफुल्ल श्रीमाल, प्रतीक तलेरा व गौरव राठौर, शाहिद खान ने शिविर में आये हुए रोगियों को चिकित्सको तक लाने ले जाने व उन्हें दिखाने में सेवाएं प्रदान की।  शिविर में संस्था द्वारा फ्री दवाइयों के साथ ही सभी प्रकार की जाँच लेबोरेटरी, ईसीजी, सोनोग्राफी, एक्सरे, ऑडियोलॉजिस्ट की निःशुल्क व्यवस्था का जिम्मा कमलेश जैन दायजी, पवन नाहर व नीरज सौलंकी ने निभाया।समाजसेवी कमलेश दायजी के महाराजा होटल के एमडी बन जाने के बाद इस एतिहासिक शिविर में बाहर से आने वाले सभी मरीजों व उनके अटेंडर के लिए निःशुल्क भोजन की व्यवस्था भी की गई है। शिविर में पधारें जाने माने नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. जी एस अवास्या, बड़ौदा स्वास्थ्य हॉस्पिटल के डॉ. चेताली कोठीवाला (एम.डी.), डॉ. हार्दिक भोकेन (जर्नल सर्जन), डॉ. निलय कुमार (हड्डी रोग विशेषज्ञ), डॉ. प्रियांक निसार्ता (शिशु रोग विशेषज्ञ), डॉ. सुरभि नियल कुमार (चर्म रोग विशेषज्ञ), न्युरों सर्जन डॉक्टर नरेश डामेशा,  डॉ. के. एल. पाटीदार (नाक , कान, गला रोग विशेषज्ञ) के साथ रिदम हॉस्पीटल बड़ौदा के डॉ. अरविंद शर्मा के सहयोगी डिक्टर्स (हृदय रोग विशेषज्ञ) के साथ सहयोगी नेत्र सहायक राजू नायक, राजेश जोशी आदि का सम्मान रोटरी क्लब सदस्यों द्वारा किया गया। शिविर में एक्सरे की सुविधा के लिए सागर अलावे, संजीवनी लेबोरेटरी के संचालक संजय मोड़, सोनोग्राफी के लिए जीवन ज्योति हॉस्पिटल के एमडी तथा महत्वपूर्ण ओषधि वितरण के लिए नव ज्योति के प्रबंधक व तनुज कांकरिया व अलकेश भूरिया का आभार माना गया। शिविर में वरिष्ठ पत्रकार सुधीर शर्मा, समकित तलेरा, मनीष वाघेला, शहादत खान, रहीम शेरानी, कादर शेख, राजू धानक, जमील खान, जावेद खान, धर्मेंद्र पंचाल, विवेक व्यास के साथ हरीश डामोर, दुर्गेश आदि का भी सराहनीय सहयोग रहा। अंत मे समाजसेवी कमलेश जैन दायजी ने सभी के सहयोग के प्रति अपना आभार माना।


श्रीमती ज्योति सोनी अखिल भारतीय मारवाडी महिला सम्मेलन की अध्यक्ष नियुक्त, कविता गुप्ता को सोपा गया सचिव का दायित्व


jhabua news
झाबुआ । दोहद गुजरात में रविवार को अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती शारदा लखेटिया, राष्ट्रीय सचिव रेखा लखोटिया एवं मध्याचंल उपाध्यक्ष सुमन मुंदडा एवं शकुन्तला सोनी  उपस्थित हुई, इस सम्मेलन में मारवाडी महिला संगठन की  गुजरात एवं मध्यप्रदेश की करीब 100 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया । सम्मेलन में विभिन्न भारतीय मारवाड़ी महिला मंच के पांच प्रकल्पों पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्षा शारदा लखोटिया ने पर्यावरण संरक्षण, बाल विकास, नारी सशक्तिकरण, जन जागरण, नेत्रदान देहदान, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तथा कोरोना से जंग को लेकर चलाये जारहे अभियान पर विस्तार से चर्चा की। राष्ट्रीय  अध्यक्ष श्रीमती लखोटिया ने कहा कि वर्तमान समय में बेटों के साथ बेटियों की शिक्षा भी अत्यंत आवश्यक है। एक बेटी के शिक्षित होने पर एक पूरा परिवार शिक्षित होता है। उपस्थित महिलाओं ने संकल्प लिया कि उनके द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर एक बच्चे की पढ़ाई का खर्च अवश्य वहन किया जाएगा। इस मौके पर समाज के द्वारा नेत्रदान-देहदान जैसे अत्यंत महत्वपूर्ण कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने एवं लोगों में जागरूकता लाने व इसको लेकर प्रेरित करने को लेकर चर्चा हुई। देवास से आई श्रीमती शकुंतला सोनी ने समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने, समाज में शिक्षा, आपसी प्रेम-सहयोग के वातावरण का निर्माण करने पर विस्तार पूर्वक चर्चा किया। राष्ट्रीय सचिव श्रीमती रेखा लखोटिया ने बैठक के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए सभी महिलाओं को इसमें सहभागी बनने का आह््वान किया। झाबुआ से प्रतिनिधित्व श्रीमती ज्योति सोनी ने किया उन्होने इस आदिवासी अंचल में सेवा कार्यो के तहत हो रहे कार्यो का जिक्र करते हुए समग्र झाबुआ जिले में अखिल भारतीय मारवाडी महिला संगठन के माध्यम से किये जाने वाले कार्यो के बारे मे रूपरेखा प्रस्तुत की । इस दौरान राष्ट्रीय पदाधिकारियों द्वारा विभिन्न प्रशाखा के पदाधिकारियों को बेजेस लगाकर सम्मानित किया गया। तथा झाबुआ जिले में अखिल भारतीय मारवाडी महिला संगठन का गठन किया गया जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती शारदा लखोटिया ने  करतल ध्वनि के बीच श्रीमती ज्योति सोनी को संगठन की अध्यक्षा नियुक्त किया, झाबुआ की श्रीमती कविता गुप्ता सचिव एवं  उपाध्यक्ष का दायित्व श्रीमती शिव कुमारी सोनी को सौपा गया । श्रीमती ज्योति सोनी ने इस अवसर पर झाबुआ संगठन के पदाधिकारियों की शीघ्र घोषणा करने तथा कार्यकारिणी गठन करने का भरोसा दिलाया । इसके पूर्व सम्मेलन में भाग लेने आईं महिलाओं ने मां सरस्वतीजी की विधिवत पूजा अर्चना व वैदिक आरती कर सम्मेलन की शुरूवात की । कार्यक्रम का संचालन श्रीमती अग्रवाल ने किया तथा आभार प्रदर्शन श्रीमती आकांक्षा सोनी दोहद ने व्यक्त किया ।


अपने आप को मायूस नही जहां आनन्द की अनुभूमि मिले वहां के प्रकल्प खोजे- रतनसिंह राठौर

  • पेंषनर्स सम्मान समारोह में 75 वर्ष से अधिक आयु के 5 पेंषनरों का किया सम्मान, संगठन में एकता बनाये जाने पर सभी से किया गया आव्हान

jhabua news
झाबुआ । पेंशनर्स को रिटायर्ड होने के बाद स्वयं को टायर्ड नही बल्कि दुगुने उत्साह के साथ अपनी दिनचर्या को बनाये रखना चाहिये । बरसों तक सरकारी सेवा के बाद उसे जो स्वतंत्रता मिली है, उसका पूरा आनन्द लेना चाहिये तथा अपने आप को समाज सेवा के कार्यो में सलग्न रखना चाहिये। आप अपने आप को मायूस नही समझे वरन जहां जहां आनन्द की अनुभूमि मिले वहां के प्रकल्प खोजना चाहिये । जिंदगी भर काम के पीछे नही भागने की बजाय अपने आप को लोगों के दुख दर्द में सहभागी बनाने का प्रयास करना चाहिये। उक्त बात जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष रतनसिंह राठौर ने रविवार को पेंशनर्स एसोसिएशनकी तहसील शाखा मेघनगर द्वारा 75 वर्ष की आयु पूरी कर चुके 5 पेंशनरों के सम्मान समारोह के अवसर पर राम मंदिर रंभापुर में आयोजित सम्मान समारोह में जिले भर से आये पेंशनर्स पदाधिकारियों एवं तहसील के पेंशनरों के सम्मेलन में संबोधित करते हुए कहीं । मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण के बाद आगन्तुक अतिथियो का स्वागत करने के बाद कार्यक्रम की शुरूवात हुई । इस अवसर पर जिला अध्यक्ष रतनसिंह राठौर के अलावा पेटलावद के एनएल रावल, थांदला से जगमोहनसिंह राठौर, मेघनगर के कुंवरलाल सांकला,वरिष्ठ सदस्य नवलसिंह नायक,पंकज टांक, रोटरी अध्यक्ष निलेश भानपुरिया, निसार पठान रंभापुरी, कमलेश दांतला, सेवा निवृत कमिश्नर डा. रणजीतसिंह नायक,महेन्द्रसिंह ,श्रीमती प्रेमलता भट्ट, निर्भयसिंह, कांतिलाल नीमा, कुंवरलाल सांकला, संचालक शैलेन्द्रसिंह पालावत, जयेंन्द्र बैरागी सुरेश शर्मा,आदि उपस्थित थें । कार्यक्रम का सफल संचालन शेलेन्द्रसिंह पालावत ने किया । मुख्य अतिथि रतनसिंह राठौर ने अपने संबोधन में कहा कि जिस घर में बड़े बुजर्गों का साया होता है, वहां हमेशा सभी काम अच्छे होते हैं। इसलिए छोटों को हमेशा घर के बड़ों का आदर करना चाहिए। बुजुर्गों का आदर करना ही उनका असल सम्मान है। हमारी भारतीय संस्कृति में भी बुजुर्गो के सम्मान का उल्लेख है। उन्हाने आगे कहा कि बुजुर्ग ही हमारे माार्गदर्शक होते है उनके अनुभवों से कइ्र समस्याओं का त्वरित निवारण हो जाता है । उन्होने पेंशनरों की विभिन्न समस्याओं का जिक्र करते हुएकहा कि अब शासन के निर्देशानुसार जो पेंशनर जिस माह में सेवा निवृत हुआ हे उसी माह में अब उन्हे जीवित होने का प्रमाणपत्र संबंधित बंेक में जमा कराना है वही पारिवारिक पेंशन के मामले में जिस माह से फेमिली पेंशन शुरू हुई उसी माह में जीवन प्रमाणपत्र बेंक का देना है। इस प्रक्रिया से माह नवम्बर में बेंकों में होने वाली भीड को टाला जासकेगा तथा पेंशनर्स को भी सुविधा होगी । उन्होने यह भी बताया कि किसी परिवार मे यदि निशक्त व्यक्ति है तो उसे भी अब परिवार पेंशन का लाभ मिलने ललगा है । श्री राठौर ने मध्यप्रदेश में धारा 49 को विलोपित करने के लिये विधानसभा में पारित संकल्प के बारे में भी जानकारी दी । साथ ही उन्होने पेंशनरों को 8 की बजाय 5 प्रतिशत की दर से महगाई राहत देने पर सरकार के कदम पर नाराजगी भी व्यक्त की । उन्होने  पारिवारिक पेंशन लेने वाली महिलाओं से आग्रह किया कि वे वे अपना खाता जाईट करवा लेवे ताकि भविष्य में परिवार को परेशानी पैदा नही हो । उन्होने 10 जनवरी से 60 से अधिक आयु के लोगों को कोराना का बुस्टर प्रिकाशन डोज लगावाने की भी अपील की । इस  अवसर पर मेघनगर के अध्यक्ष कुंवरलाल सांकला ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए प्रगति प्रतिवेदन भी प्रस्तुत किया तथा संगठन में एकजूटता होने पर हम अपने बाजिब हक्क सहज ही प्राप्त कर सकते है।उन्होने मीडिया से आव्हान किया कि वे पेंशनरों की समस्याओं के बारे में सरकार तक बात पहूंचाने में अपनी भूमिका निभाकर हमे सहयोग करें । उन्होने कहा कि शासन की योजनाओं के बारे में हमे जनजन तक जागृति फैलाने में अपनी भूमिका का निर्वाह करें । उन्होने भी पेंशनरों के हित मे धारा 49 विलोपित कररने की मांग सरकार से की । इस अवसर पर गुजरात के सेवा निवृत कमिश्नर डा. रणजीतसिंह नायक ने भी संबोधित करते हुए पेंशनरो की समस्ंया का जिक्र करते हुए पेंशन नियमों में 50 सालों में बदलाव नही होने तथा वर्तमान में केन्द्र सरकार द्वारा सिविल सर्विसेंज पेंशन रूल में हुए परिवर्तन की विस्तार से जानकारी दी । पेटलावद के संगठन अध्यक्ष एन एल रावल ने अपने उदबोधन में पेंशनरों की विभन्न समस्याओं का जिक्र करते हुए स्वास्थ्य विभाग मे चार केडरो को समयमान वेतनमान का लाभ नही दिये जानने को लेकर आक्रोश जताया तथापेंशनर्स संगठन को मजबुत करने का आव्हान किया । थांदला संगठन के अध्यक्ष जगमोहनसिंह राठौर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कलयुग में संगठन का काफी महत्व है ।इसके लिये हर पेंशनर को सदस्यता लेना चाहिये तथा वार्षिक शुल्क समय पर जमा कराना चाहिये ।उन्होने एटीएम का पासवर्ड किसी को भी नही बताने की बात कहते हुए पेंशनर्स को भी बेंक से मिलने वाले ऋण सुविधा के बारे मे विस्तार से बताया । रोटरी क्लब अपना के अध्यक्ष निलेश भानपुरिया ने अपने संक्षिप्त उदबोधन में कहा कि पेंशनर्स कभी रिटायर्ड नही होता बल्कि जनहित में काम करके समाज में अपना स्थान बना सकता है। निश्चल भाव से जीवन बिना किसी तनाव के जीना चाहिये ताकि समाज को उनके अनुभवों का लाभ मिल सकें । इस अवसर पर निसार रंभापुरी ने तालियों की गडगडाहट के बीच पेंशनर्स के जीवन पर कविता का पाठ किया जिसकी उपस्थित सभी लोगों ने मुक्त कंठ से प्रसंशा की । जयेन्द्र बैरागी ने भी अपने विचार व्यक्त किये । इस अवसर पर झाबुआ से राजेन्द्रकुमार सोनी, बालमुकुन्दसिंह  चौहान, निरंजनसिंह चौहान, श्रीनाथ चौहान, रूपसिंह खपेड, जितेन्द्र शाह सहित बडी संख्या मेंकेन्द्र एवं राज्य सरकार के पेंशनरों ने भाग लिया । आभार प्रदर्शन नवलसिंह नायक ने व्यक्त करते हुए पेंशनरों को भावी एवं सुखमय जीवनमे ंदीर्घायु होने की कामना करते हुए संगठन में एक जूटता बनाये रखने पर बल दिया । सम्मान समारोह में 75 वर्ष की आयु पूरी करचुके नन्हेखान,दीकसिंह नायक,लुणसिंह नायक,करमसिंह हाडा,सायबा नायक का शाल श्रीफल एवं पुष्पमालाओं से अतिथियों द्वारा स्वागत किया गया । वही सेना से सेवा निवृत सिपाही एवं रेल्वे से सेवा निवृत्तों का भी पुष्पमालाओं से स्वगात किया गया । अन्त मे कोरोनाकाल में जिन पेंशनरों का असामयिक निधन हुआ उन्हे दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई ।


सीआरओ की बाल हिंसा पर हुई कार्यशाला में जिला बाल अधिकार मंच से जुड़ी बालिकाओं ने भी रखे अपने-अपने विचार, सीआरओ के प्रदेश पदाधिकारियों ने किशोरों, युवकों और षिक्षकों से इस मुद्दे पर किया सीधा संवाद

  • झाबुआ जिले से रामप्रसाद वर्मा ने भी सहभागिता

झाबुआ। चाईल्ड राईट्स आब्जवेर्टी संस्था (सीआरओ) भोपाल द्वारा बच्चों के साथ होने वाले तरह-तरह की घटनाओं और अपराधों को लेकर एक दिवसीय ऑनलाईन कार्यशाला का आयोजन किया गया। यह कार्यशाला सीआरओ की अध्यक्ष श्रीमती निर्मला बुच के मार्गदर्शन में आयोजित हुई। जिसमें सीआरओ के प्रदेश पदाधिकारियांे ने प्रदेश के विभिन्न जिलों के शिक्षकों, युवाओं को किशोरो से सीधा संवाद किया। जिसकी रिपोर्ट तैयार कर सीआरओ भोपाल द्वारा मप्र शासन को प्रेषित कर ऐसे संवेदनशील मामलों को तत्काल संज्ञान में लेकर उचित कार्रवाई हेतु मांग की जाएगी। झाबुआ जिले से इस ऑनलाईन कार्यशाला में जिला बाल अधिकार मंच के झाबुआ-आलीराजपुर संयोजक रामप्रसाद वर्मा के नेतृत्व में कल्याणपुरा क्षेत्र से शिक्षक बाबुलाल डामोर, उमरकोट से नीलू सिंगाड़, और कछला चौधरी सहित विभिन्न विद्यालयों में जिला बाल अधिकार मंच द्वारा गठित स्कूल फोरम की किशोर छात्र-छात्राओं ने भाग लेकर जिले में बालकों, किशोर और युवाओं के साथ प्रायः किस तरह के अपराध घटित होते है। इसके बारे में जानकारी दी। जिसमंे उन्होंने बताया कि झाबुआ जिला आदिवासी बाहुल्य होकर यहां ग्रामीण क्षेत्रों मंे पलायन होने से  अधिकांशतः बच्चें शिक्षा से वंचित रहने के साथ बाल श्रम एवं मजूदरी में जुट जाते है, जो भविष्य में उनके विकास में बाधा बनता है। इसके साथ ही किशोरियों और युवतियों के साथ मानसिक एवं शारीरिक शोषण की भी घटनाएं होती है।


जिले में बाल विवाह एवं दहेज प्रथा जोरो पर

जिले में बाल विवाह एव ंदहेज की प्रथा के चलते लड़के-लड़की दोनो का भविष्य अंधकारमय हो जाता है। इसके साथ ही ग्रामीण किशोरियों और युवतियों का अपहरण कर उनके साथ बलात्कार करने बाद विवाह करने के लिएभी दबाव बनाया जाता है। इस दौरान शिक्षकों ने अपने-अपने स्कूलों मंें अव्यस्क एवं किशोर बालक-बालिकों को समय-समय पर इस संबंध मंे दी जाने वाली जानकारी एवं जागरूकता से भी अवगत करवाया। कार्यशाला में निर्धारित विषय पर झाबुआ-आलीराजपुर के संबंध में विस्तृत जानकारी बाल अधिकार मंच के संयोजक रामप्रसाद वर्मा ने प्रस्तुत की। यह कार्यशाल करीब 2 घंटे तक चली।


शैफाली भरत माहेश्वरी ने ऑनलाईन पेटिंग इवेंट प्रतिस्पर्धा में जीता गोल्ड मेडल, शैफाली की पेंटिंग को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया, गौरवमयी उपलब्धि पर दी गई शुभकामनाएं


jhabua news
झाबुआ। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड हेतु विगत माह पेंटिंग इवेंट प्रतिस्पर्धा का आयोजन संपूर्ण विश्व में हुआ था। जिसमें झाबुआ जिले से भी हर आयु वर्ग के बड़ी संख्या मंे प्रतिभागियों ने भाग लेकर एक से बढ़कर एक सुंदर पेटिंग बनाकर ऑनलाईन भेजा गया था। यह प्रतियोगिता कोविडकाल के चलते ऑनलाई ही आयोजित हुई थी। जिसमें संपूर्ण विश्व से कुल 1149 फ़ोटो अपलोड किए गए थे। जिनको गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया। इसी क्रम में झाबुआ शहर में ब्यूटी पालर के व्यवसाय में रत श्रीमती शैफाली भरत माहेश्वरी ने भी इस ऑनलाइन पेंटिंग इवेंट में हिस्सा लेकर झाबुआ का नाम रोशन किया और उनकी पेंटिंग को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया। उन्होंने जिले की आदिवासी संस्कृति को उकेरा था। शैफाली को गोल्ड मैडल एवं प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिला स्तर पर यह प्रतियोगिता श्रीमती अर्चना राठौर के निर्देशन में आयोजित हुई। श्रीमती शेफाली माहेश्वरी को इस सफलता उन्हें परिवारजनों के साथ झाबुआ के गणमान्य नागरिकों ने भी शुभकामनाएं देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।


समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित


jhabua news
झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में समयावधि पत्र (टीएल) की बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, डॉ. श्री अभयसिंह खराडी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्री जे.पी.एस.ठाकुर, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. श्री राहुल गणावा, श्री प्रशांत आर्या एवं समस्त जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में वीडिया कान्फ्रेसिंग के माध्यम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला श्री अनिल भाना एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर श्रीमती अंकिता प्रजापति उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर श्री मिश्रा ने निर्देश दिये की मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन निर्देशानुसार जिले में प्रथम डोज एवं द्वितीय डोज शत प्रतिशत लग जाए ऐसी कार्यवाही की जाए। इसके अतिरिक्त सभी जिला अधिकारी अपने क्षेत्र मंे जाकर ग्रामीणों को वैक्सीनेशन के लिये जागरूक करे। श्री मिश्रा ने राजस्व द्वारा सीएम हेल्पलाईन के अंतर्गत प्राप्त शिकायतों का संतुष्टि पूर्वक बन्द कराए जाने के निर्देश दिए। सीएम हेल्पलाईन के यदि 500 दिवस से उपर एवं 300 दिवस एवं 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण सुनिश्चित करे। लंबित प्रकरणों की जानकारी भी अनिवार्य रूप से लावे एवं प्रतिवेदन को पोर्टल पर दर्ज करे। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों में पूर्ण गम्भीरता का पालन करते हुए एल-1 पर ही सात दिवस के अंदर निराकरण किये जाने के निर्देश दिए गए। जिले में बडे स्तर पर रोजगार मेले का आयोजन किया जाना है। जिसमें संबंधित विभाग अपनी भागिदारी के लिए अभी से कार्यवाही करेंगे। बहादूर सागर तालाब को स्वच्छ बनाने के लिए कार्ययोजना के अनुसार समस्त विभाग अवकाश के दिन प्रातः 9 से 10 श्रमदान करेंगे। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन ने निर्देश दिए की पथ विक्रेताओं के जो प्रकरण बैंकों में लंबित है उन्हे तत्काल स्वीकृत कर नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित करें। 10 जनवरी 2022 तक सभी प्रकरणों में वितरण हो जाए। पूर्व सप्ताह में कलेक्टर महोदय के द्वारा जल जीवन मिशन के कार्यो का अवलोकन किया था। कार्यो में लापरवाही होने के कारण अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कारण बताओं सूचना पत्र जारी करें।


कलेक्टर द्वारा वृद्धाश्रम भवन का अवलोकन किया


झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा आज अपरान्ह सामाजिक न्याय एवं निःशक्त कल्याण विभाग द्वारा निर्मित 50 सीटर वृद्धाश्रम भवन जिसकी लागत 319.00 लाख है। जिसका लोकापर्ण माननीय मुख्य मंत्री जी के द्वारा किया गया था। आज यहां की व्यवस्थाओं का अवलोकन किया एवं शीघ्र प्रारम्भ करने के निर्देश दिए गए। इस दौरान अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं उप संचालक सामाजिक न्याय श्री दिनेश वर्मा, एस.डी.ओ. पीआईयू श्री बी.पी. साल्वे एवं प्रभारी श्री शेलेन्द्र सिंह राठौर उपस्थित थे।


वर्ष 2022 के लिए स्थानीय अवकाश घोषित


झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा 3 स्थानीय अवकाश घोषित करने के आदेश जारी किए है। जो सम्पूर्ण जिले में लागू होंगे। यह अवकाश जिसमें शीतला सप्तमी 24 मार्च 2022, (गुरूवार), गणेश चतुर्थी 13 सितम्बर (मंगलवार), दिपावली का दूसरा दिन (गोवर्धन पूजा) 25 अक्टुबर (मंगलवार), को नियत की गई है। स्थानीय अवकाश कोषालय/उप कोषालय तथा बैंकों के लिए प्रभावशील नहीं रहेगा। जिन शैक्षणिक संस्थाओं की इन दिनांकों में परीक्षा नियत है। इन पर भी यह अवकाश प्रभावशील नहीं रहेगा। परीक्षाए निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार यथावत रहेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: