झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 17 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 दिसंबर 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 17 दिसंबर

सांसद  गुमानसिंह डामोर के प्रयासों से इन्दौर-दाहोद रेलवे लाईन के होल्ड किये कार्य को फिर से मिलेगी गति, प्रधानमंत्री एवं रेलमंत्री ने काम प्रारंभ करने की दी स्वीकृति


झाबुआ । वर्षों से इंदौर-दाहोद रेलवे लाइन के मुद्दे को अब फिर गति मिलने के संकेत दिखाई देने लगे हैं। कोरोना संक्रमण कम होते ही मामले में फिर से हलचल शुरू हो गई है। इसे लेकर रतलाम झाबुआ के सांसद गुमानसिंह डामोर के प्रयासों से लम्बे समय से होल्ड किये इस काम को गति मिलने  का क्रम प्रारंभ हो चुका है । संासद गुमानसिंह डामोर द्वारा लगातार प्रयास शुरू किए थे। प्रारंभिक काल में इसका केवल 350 करोड़ रु. का बजट था, जो बढ़ता चला गया। इस बीच कई संकट आते गए। कभी भूमि अधिग्रहण नहीं हुआ, तो कभी कुछ हो गया। संसद के विभिन्न सत्रो के दौरान शून्यकाल में इंदौर-दाहोद रेल होल्ड किए गए कार्य को शुरू कराने का सदन के माध्यम से और साथ ही कई बार पत्राचार के माध्यम से देश के यशस्वी प्रधानमंत्री और रेल मंत्री को इस कार्य के लिये संज्ञान में लाने का भी पूरा प्रयास किया गया । प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं रेलमंत्री को इंदौर-दाहोद रेललाइन के होल्ड किए गए काम शुरू करवाने का आग्रह किया था। सांसद गुमानसिंह डामोर के प्रयासों ने रेल्वे लाईन का कार्य अब गति पकडने ही वाला है। सांसद गुमानसिंह डामोर का कहना है कि  आज मुझे बड़ी प्रसन्नता हो रही है कि होल्ड किए गए काम को पुनः शुरू करने की केन्द्र सरकार एवं रेलमंत्री से मंजूरी मिल गई है। ज्ञातव्य है कि  इन्दौर दाहोद रेल लाइन बिछाने से पहले अर्थ वर्क और नई पुल-पुलिया के निर्माण के काम प्रस्तावित था जिसे अब पूरी गति के साथ पूरा किया जावेगा । इसके लिये केन्द्र सरकार एवं रेल मंत्रालय ने पैसे की कमी नही आने की बात भी कहीं है ।  सांसद गुमानसिंह डामोर ने इस जनजातीय क्षेत्र की समग्र जनता एवं संसदीय क्षेत्र की ओर से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और रेल मंत्री श्री अश्विन वैष्णव का व्यक्त करते हुए आशा व्यक्त की है कि अतिशीघ्र ही इस रलवे लाईन पर रेले दौडना शुरू हो जावेगी ।


संगीत साधक चन्द्रराज शर्मा बहुमुखी प्रतिभा के धनि है । संगीतसाधना के माध्यम से अखिल भारतीय स्तर पर स्थान बनाना चाहते है झाबुआ के लाल ।


झाबुआ । बडे भाई चेतन शर्मा और पिता महेश जी शर्मा दोनों सिंगर इसलिए मुझे संगीत विरासत में मिला। तभी मैंने तय कर लिया था कि सिंगर एवं संगीतकार बनना है । यह कहना है झाबुआ नगर की उभरती संगीत प्रतिभा चन्द्रराज शर्मा का । स्थानीय चन्द्र शेखर आजाद शासकीय उपाधी महाविद्यालय झाबुआ में बीए फायनल में अध्ययन करने वाले 24 वर्षीय चन्द्रराज शर्मा का लगाव बचपन से ही संगीत से रहा हे । दादाजी स्वर्गीय नानालाल शर्मा नीमच में प्रसिद्ध संगीतकार रहे है, वे शास्त्रीय संगीत के एक सशक्त हस्ताक्षर माने जाते रहे हे । मेरे पिताजी महेश शर्मा भी मेरे दादाजी से बचपन से ही शास्त्रीय संगीत, सुगम संगीत में गायन, वादन की शिक्षा प्राप्त की तथा संगीत में उन्होने एम म्यूज  की डिग्री प्राप्त करके इन्होने भी करीब 500 से अधिक युवाओं एवं छात्रों को संगीत एवं गायन वाद का प्रशिक्षण देकर उन्हे बीम्यूज एवं एमम्यूज की डिग्रिया हांसील करवाई है । पिताजी वर्तमान में हार्टिकल्चर विभाग में काम कर रहे है । चन्द्रराज ने अपनी संगीत साधना के बारे में बताया कि बचपन से ही संगीत के प्रति रूचि एवं लगाव होने के चलते उन्हे आकाशवाणी एवं दूर दर्शन पर भी अपनी संगीत प्रस्तुतिया देने का मौका मिला है। उन्होने बताया कि वे इस साल एमम्यूज की डिग्री प्राप्त करने के लिये सतत संगीत साधना, रियाज करते है। प्रदेश के नीमच, रतलाम, इन्दौर, आलीराजपुर, धार, मंदसौर, राजस्थान के झालावाड, पाटन ,झाबुआ, पिपलखुटा, मेघनगर, भाबरा, रानापुर में भी अपने कार्यक्रम दिये है तथा संगीता प्रमियों का इन्हे भरपुर आशीर्वाद भी मिला हे ।उन्होने बताया कि गायन में वे शास्त्रीय एवं सुगम दोनों संगीत को कुशलता के साथ प्रस्तुत करते है । वही सभी प्रकार के वाद्ययंत्र जेैसे हार्मोनियम, तबला, ढोलक,गिटार, बेंजो, बांसूरी,कोंगो,, माउथ आर्गन, हामोनिका, सेक्सोफान, वायलिन, अकार्डियन, ढपली, आक्टोपेड, आदि सभी वाद्य यंत्रों को सक्षमता के साथ बजा लेते है । उनका कहना है कि पढाई के साथ ही वे धार्मिक आयोजनों में भी निशुल्क अपनी सहभागिता भी करते है । उन्होने बताया कि उनके पिताजी शारदा स्वर मंदिर संगीत क्लास के माध्यम से युवाओं एवं संगीत प्रेमियों को प्रतिदिन प्रशिक्षित भी करते हे । झाबुआ नगर के इस होनहार एवं बहुप्रतिभाशाली युवक की आकंक्षा है कि वे एक दिन वे अखिल भारतीय स्तर पर अपना कार्यक्रम देकर झाबुआ शहर का नाम रोशन करेगें ।


एकता परिषद् जन संगठन जिले में पात्र ग्रामीणों के वन अधिकार अधिनियम के तहत पट्टे प्रदान करने हेतु चलाएगा अभियान,

  • ‘‘जल, जंगल, जमीन’’ विषय पर अंबेडकर पार्क में एकता परिषद् का एक दिवसीय प्रषिक्षण कार्यक्रम हुआ संपन्न, रामा विकासखंड के 40 ग्राम पंचायतों के मुखिया (तड़वियों) ने की सहभागिता

jhabua news
झाबुआ। एकता परिषद् जन संगठन द्वारा जिले के रामा विकासखंड की 40 ग्राम पचंायतों के मुखियाओं (वर्तमान एवं पूर्व तड़वियों) की एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन शहर के डीआरपी लाईन स्थित डॉ. अंबेडकर पार्क में किया गया। जिसमें एकता परिषद् की संभागीय संयोजक दुर्गाबेन पंवार ने उपस्थित ग्राम प्रमुखांे को ‘‘जल, जंगल, जमीन’’ विषय पर संबोधित करते हुए विशेष रूप से जिन पात्र ग्रामीणों को वन अधिकार अधिनियम के तहत शासन-प्रशासन स्तर से अब तक पट्टे प्राप्त नहीं हुए है, उनकी आवेदन की प्रक्रिया हेतु रूपरेखा तैयार की गई। वहीं तय किया गया कि एकता परिषद् संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं द्वारा आगामी 3-4 माह तक जिले के प्रत्येक ग्रामों में जाकर इस संबंध में ग्रामीणों को जागरूक करते हुए उन्हें इस योजना से लाभांवित करने हेतु संपूर्ण प्रक्रिया पूर्ण करवाई जाएगी।


ग्राम पंचायतांे के तड़वियों ने रखे अपने-अपने विचार

कार्यशाला में विभिन्न ग्राम पंचायतों के तड़वियों ने भी इस विषय पर अपनी बात रखने के साथ अपने-अपने ग्रामों में जिन पात्र ग्रामीण महिला-पुरूषों के वन अधिकार अधिनियम के तहत पट्टे नहंी मिले है, उनकी सूची बनाकर इससे एकता परिषद् को अवगत करवाया। इस दौरान सामने आया कि रामा विकासखंड से ही सैकड़ों पात्र ग्रामीणों को वन अधिकार अधिनियम एवं वन मित्र पोर्टल की जानकारी नहीं होने से वह इस योजना से अनभिज्ञ है। ऐसे हितग्राहियों को सूचीबद्ध करने के बाद उनके घर-घर जाकर उनसे फार्म भरवाकर बाद योजना से लाभांन्वित करने हेतु संपूर्ण प्रक्रिया पूर्ण करवाई जाएगी। इस दौरान सभी ने सर्व-सम्मति से निर्णय लिया कि वे अपने-अपने गांवांें में शराब बंदी, दहेज एवं बाल विवाह पर रोक लगाने हेतु ग्रामांे में जागरूकता लाने का भी कार्य करेंगे।


एकता परिषद् समस्याओं से जिला प्रशासन को करवाएगा अवगत

इसके अलावा उपस्थित तड़वियों ने इस दौरान अपने ग्रामों में किसी भी व्यक्ति की मृत्यु होने पर शव का अंतिम संस्कार हेतु कब्रिस्तान नहीं होने, पानी की समस्या के साथ विशेष रूप से समय-समय पर पंचातयों में ग्राम सभाएं नहीं होने की बात बताई। जिस पर एकता परिषद् की संभागीय संयोजक दुर्गाबेन पंवार ने उक्त समस्याआंे से जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करवाने हेतु आश्वस्त किया।


करीब 5 घंटे चली कार्यशाला

यह कार्यशाला दोपहर 11 से शाम करीब 4 बजे तक चली। कार्यक्रम का संचालन एकता परिषद् के जिला संयोजक बंटी पंवार ने किया एवं आभार सक्रिय कार्यकर्ता ललिता मेड़ा ने माना। वहीं कार्यशाला को सफल बनाने में एकता परिषद् से जुड़े रामलाल पाल, मांगू मेड़ा, दीपक भाई, पूर्व तड़वी जोगाभाई एवं रणसिंह भाई ग्राम बावडी, रामचंदभाई भैसा कराई, हरूभाई, चेनसिंह वसुनिया ग्राम मोगला तड़वी आदि का सराहनीय सहयोग रहा।


वर्तमान दौर में ग्रामीणजनों को भी आधुनिक तकनीकी का ज्ञान होना अति आवष्यक है -ः यषवंत भंडारी, सैकड़ों श्रमिकों का ई-श्रमिक पंजीयन कार्ड हेतु निःशुल्क रजिस्ट्रेशन किया


jhabua news
झाबुआ। आज प्रत्येक क्षेत्र में आधुनिक तकनीक के आधार पर ही सभी कार्य संपन्न किए जा रहे है। ऐसी स्थिति में आदिवासी बाहुल जिले के लोगों को भी नई तकनीक का ज्ञान होना अति आवश्यक है। जिससे उन्हें सभी योजनाओं सहित समस्त प्रकार की अन्य सुविधाआंे का भी शत-प्रतिशत लाभ प्राप्त हो सकेगा। उक्त उद्गार जिले के मेघनगर विकासखंड के ग्राम छोटा गुड़ा में जिला आजाद विकलांग कल्याण समिति द्वारा आयोजित प्रथम ई-श्रमिक पंजीयन कार्ड योजना के शुभारंभ अवसर पर मुख्य अतिथि जिला योजना मंडल के पूर्व अध्यक्ष एवं आईटीआई जोबट के चेयरमेन यशवंत भंडारी ने उपस्थित हितग्राहियों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। श्री भंडारी ने आगे कहा कि आज देश में 41 करोड़ से अधिक असंगठित श्रमिक विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रहे है। जिन्हें संपूर्ण जानकारी एकत्रित नहीं होने के कारण उन्हें सरकार की योजनाओं और सुविधाओं का लाभ प्राप्त नहीं हो पाता है। इस हेतु देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अत्यंत ही महत्वाकांक्षी योजना के तहत ई-श्रमिक पंजीयन की सुविधा आरंभ की है। जिसमें आधार कार्ड के समान ही सभी श्रमिकों को ई-पंजीयन कार्ड के माध्यम से उनका पंजीयन ऑनलाईन हो सकेगा। जिसके बाद उन्हें अधार कार्ड के समान ही पूरे देश में इस योजना से जुड़ी समस्त सुविधाआंे का लाभ मिल सकेगा, इसलिए असंगठित क्षेत्र में कार्यरत सभी श्रमिक ई-पंजीयन के माध्यम से अपना रजिस्ट्रेशन आवश्यक रूप से करवाएं।


योजना का सीधे लाभ प्राप्त होगा

कार्यक्रम के विशेष अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार एवं सेवानिवृत्त सहायक आयुक्त एमएल फुलपगारे ने कहा कि आजाद विकलांग कल्याण समिति के माध्यम से इस योजना के तहत निःशुल्क रूप से रजिस्ट्रेशन करवाए जा रहे है। जिसके लिए समिति धन्यवाद की पात्र है। उन्होंने आगे कहा कि भारत के प्रत्येक नागरिक को उनके लिए चलाई जा रहंी योजनाओं का समुचित लाभ प्राप्त करने का अधिकार प्राप्त है। अध्यक्षता करते हुए राष्ट्रीय कवि संगम के जिलाध्यक्ष प्रवीण सोनी ने कहा कि इस योजना के माध्यम से पंजीयन बाद जिले में कार्य करने वाले असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को शासन द्वारा दी गई सुविधाआंे का सीधे तौर पर लाभ मिलने लगेगा। श्री सोनी ने आगे कहा कि आजाद विकलांग कल्याण समिति ने स्वयं के प्रयासों से इस तरह के पंजीयन का प्रथम कैंप लगाकर सेवा का अनुपम उदाहरण पेश किया है। शिविर के उद्देश्य के बारे में संक्षिप्त जानकारी जिला आजाद विकलांग कल्याण समिति के अध्यक्ष एवं शिविर के सूत्रधार कमलेश राठौर ने प्रस्तुत की।


123 श्रमिकांे ने करवाया पंजीयन

आजाद विकलांग कल्याण समिति के सचिव मनोजर वसुनिया ने बताया कि शिविर में ई-श्रमिक कार्ड हेतु कुल 123 ग्रामीणों का निःशुल्क पंजीयन किया गया। जिन्हें कार्ड प्रिंट करके आगामी 10 दिनों के भीतर वितरण किया जाएगा। शिविर में कम्प्यूटर ऑपरेटर पंकज डांगी (तलावली), रमेश बुहा (पिटोल) एवं रामचन्द्र (गुंदीपाडा) आदि ने सराहनीय सेवाएं प्रदान की। कार्यक्रम का संचालन समिति सचिव मनोज वसुनिया ने किया एवं आभार गणेश थंदार (छोटा-गुड़ा) ने माना।


विवाहित महिला ने 25 दिन पहले अज्ञात कारणों के चलते पी किटनाशक, 15 दिसंबर, बुधवार शाम को हुई मृत्यु, अंतरवेलिया चौकी में किया गया मर्ग कायम


झाबुआ। शहर के समीपस्थग ग्राम अंतरवेलिया में एक विवाहित महिला ने अज्ञात कारणों के चलते किटनाशक दवा पी ली थी। जिसके 25 दिन बाद 15 दिसंबर, बुधवार शाम करीब 4 बजे उसकी मृत्यु हो गई। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम अंतरवेलिया निवासी श्रीमती ललिता पति निर्मल भूरिया उम्र 23 वर्ष ने पिछले दिनों अपने मायके में ही अज्ञात कारणों के चलते दवा पी ली थी। जिसके बाद उसकी तबीयत बिगड़ने पर उपचार हेतु जिला चिकित्सालय लाया गया था। जहां वह स्वस्थ भी हो गई थी। बुधवार शाम अचानक पुनः उसकी तबीयत बिगड़ी और मृत्यु हो गई।


जिला चिकित्सालय में हुआ पीएम

मृतिका के शव को पोस्टमार्टम हेतु बुधवार रात्रि में जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां अगले दिन 16 दिसंबर गुरूवार दोपहर तक शव का पोस्मार्टम बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। घटना में अंतरवेलिया चौकी पर मर्ग कायम कर जांच आरंभ कर दी गई है।


नेहरू युवा केंद्र झाबुआ द्वारा ‘‘देशभक्ति और राष्ट्र निर्माण’’ पर जिला स्तरीय भाषण प्रतियोगिता का किया गया आयोजन, आयुष सिंगाड़ रहे प्रथम, विजेताओं को प्रदान किए जाएंगे नगद पुरस्कार

  • राज्य स्तरीय विजेता को राष्ट्रपति भवन में गणतंत्र दिवस पर भाषण प्रतियोगिता में भाग लेने का मिलेगा अवसर

jhabua news
झाबुआ। युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा ‘‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास’’ थीम पर आधारित ‘‘देश भक्ति और राष्ट्र निर्माण’’ विषय पर जिला स्तरीय भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम स्वामी विवेकानंदजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। बाद जिले के सभी ब्लॉक से चयनित प्रतिभागियों ने अपना भाषण दिया। इस दौरान युवाओं में देशभक्ति एवं राष्ट्र निर्माण के प्रति काफी उत्साह देखने को मिला। भाषण प्रतियोगिता में मेघनगर विकासखंड के आयुष सिंगाड़ प्रथम, रामा विकासखंड से राधू देवड़ा द्वितीय एवं मेघनगर विकासखंड से विकास डामोर ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शहीद चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ के प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा उपस्थित रहे। वहीं विशेष अतिथि के रूप में प्रशासनिक अधिकारी डॉ. रविन्द्र सिंह एवं डॉ. संजू गांधी मौजूद रहे।  प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका डॉ. रीता गणावा, डॉ. राजू बघेल एवं डॉ. संगीता मसानी ने निभाई।


युवा ही देश को विकसित कर सकता है

जिला स्तरीय भाषण प्रतियोगिता के सभी विजेताओं को प्रमाण प्रत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया तथा विजेताओं को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में प्रतिभागिता के लिए शुभकामनाएं दी गई। कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों द्वारा युवाओं को ऐसे कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर भाग लेने का आव्हान किया गया। उन्होंने युवाओं को मार्गदर्शन देते हुए कहा कि युवा ही देश को विकसित कर सकता है, हम निश्चित रूप से अगर मिल जुल कर देश के विकास में सहयोगी रहेगें तो यह चरितार्थ साबित होगा। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक दीपिका गवली ने किया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में नेहरू युवा केंद्र झाबुआ के राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक, शहीद चंद्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर शासकीय महाविद्यालय झाबुआ के शिक्षक, विद्यार्थी, एवं युवा मंडल सदस्य आदि का सराहनीय सहयोग रहा।


राज्य स्तरीय विजेता को मिलेगा यह अवसर

नेहरू युवा केंद्र की जिला युवा अधिकारी प्रीति पंघाल ने सभी प्रतिभागियों को शुभकामना देते हुए बताया कि प्रतियोगिता के प्रथम विजेता को 5000, द्वितीय को 2000 एवं तृतीय को 1000 रुपए का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी आयुष सिंगाड को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भोपाल भेजा जाएगा। राज्य स्तरीय विजेता को राष्ट्रपति भवन में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में आयोजित भाषण प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा।


जल जीवन मिशन अंतर्गत स्वयं सहायता समूह का प्रषिक्षण वर्ग कार्यक्रम हुआ संपन्न, महिलाओं को जल बचाने के तरीके बताए गए, इनकी रहीं उपस्थिति


झाबुआ। मुख्य कार्यपालन अधिकारी के निर्देशन मंे लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग झाबुआ द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में नल-जल योजनाओं का क्रियान्वयन एवं प्रबंधन हेतु स्वयं सहायता समूहों को प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें पीएचई विभाग के कार्यपालन मंत्री एनएस भिड़े द्वारा जल जीवन मिशन अंतर्गत नल-जल योजनाओं को ग्रामीण महिलाओं के संचालन-संधारण हेतु स्वयं सहायता समूह की योजनाओं के रखरखाव हेतु विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। जिसमें आने वाले आज और कल में हर घर में नल से जल को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह देखा गया। शुभारंभ अवसर पर समूह की सभी महिलाओं एवं विभागीय कर्मचारियांे ने अपना-अपना परिचय दिया। कार्यक्रम में पीएचई विभाग के सहायक यंत्री राहुल सूर्यवंशी, सब-इंजनियर दिनेश जैन, जिला समन्व्यक कौशल्या रावत, बीसी अंकिता पाठक सहित आईएसए सदस्यों की भी उपस्थिति रहीं। कार्यक्रम का संचालन डीसी धुलिया बामनिया ने किया।


“वर्ष 2008 में डकैती की वारदातों को अंजाम देने वाला आरोपी बाबु झाबुआ पुलिस  गिरफ्त में”


झाबुआ । वर्ष 2008 में आरोपी बाबु पिता कापसिंह गामड़ उम्र 40 वर्ष निवासी माछलिया अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर थाना थांदला क्षेत्र में 2 डकैती की वारदातों को अंजाम दिया था। उक्त दोनों घटनाओं में आरोपी बाबु के अन्य साथियों को पूर्व में ही गिरफ्तार किया जा चुका है। घटना दिनांक से ही आरोपी बाबु फरार चल रहा था।  आरोपी बाबु को पकड़ने हेतु पुलिस टीम द्वारा उसके होने वाले स्थानों पर कई बार दबीशें भी दी गई। पुलिस टीम उसको पकड़ने हेतु लगातार प्रयास कर रहीं थी। आरोपी बाबु शातिर होकर 13 वर्षो से फरार चल रहा था। आरोपी बाबु डकैती की वारदात में शामिल था, जिसे पकड़ना बहुत जरूरी था ताकि यह अन्य कोई वारदात को अंजाम ना दे सके।   आरोपी बाबु की गिरफ्तारी हेतु पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता द्वारा थाना प्रभारी थांदला को एक सटीक रणनिति बनाकर आरोपी को पुलिस गिरफ्त में लेने हेतु निर्देशित किया गया। इस हेतु पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी हेतु 20,000ध्-रू. के ईनाम की उद्घोषणा भी की गई।   घटना दिनांक 17.12.2021 को विश्वसनीय मूखबीर द्वारा सूचना मिली कि आरोपी बाबु गामड़ को कस्बा कालीदेवी क्षेत्र में घुमते हुए देखा गया है। उक्त सूचना पर थाना थांदला की पुलिस टीम द्वारा बड़ी ही सूझ-बूझ से घेराबंदी कर आरोपी बाबु को पकड़ने में सफलता प्राप्त की। आरोपी वर्ष 2008 घटना दिनांक से ही फरार चल रहा था। आरोपी बाबु को आज माननीय न्यायालय पेश किया जावेगा।  आरोपी बाबु पिता कापसिंह गामड़ उम्र 40 वर्ष निवासी माछलिया का अपराधिक रिकार्ड झाबुआ थांदला 152ध्2008 धारा 395,397 भादवि झाबुआ थांदला 153ध्2008 धारा 395,397 भादवि। संपुर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में थाना प्रभारी थांदला निरी. कौशल्या चौहान, उनि जगन्नाथ कनाश, कार्यवाहक सउनि रामदास, आर. छगन, आर. महेन्द्र नायक, आर.चा. कुवंरसिंह का सराहनीय योगदान रहा। उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की।


पंचायत निर्वाचन, सिविल अस्पताल एवं जल जीवन मिशन के कार्यों का अवलोकन करने कलेक्टर थांदला पहुंचे


jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा थांदला अनुभाग में पहुंचे। यहां पर त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन के संबंध में की जा रही कार्यवाही जिसमें स्ट्रांग रूम की व्यवस्था जो शासकीय विद्यालय थादंला में की जा रही है, उनकी व्यवस्था का अवलोकन किया एवं इसे सुदृढ़ बनाए जाने के निर्देश दिए। इसके पश्चात जल जीवन मिशन के कार्यों का अवलोकन करने ग्राम बेडावा पहुंचे। यहां पर व्यवस्थित कार्य नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त की एवं यहां के जल स्त्रोत कूप का भी अवलोकन किया। जिसे व्यवस्थित रूप से ढाकने एवं यहां पर डीपी और जो वायर खुले पडे है उन्हे टेपिंग करने के निर्देश दिए। जल जीवन मिशन में घर-घर नल से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना है। ग्रामीण आबादी को साफ स्वच्छ पेयजल नल के माध्यम से प्रदाय करने की भारत शासन की महत्वकांक्षी योजना है। यह योजना 15 अगस्त, 2019 को प्रारंभ की गई थी। इसका मुख्य उद्देश्य ग्रामीणों को दूर से पानी नहीं लाना पड़े एवं घर पर ही नल से शुद्ध पेयजल प्राप्त हो। जिले की इस योजना को लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के माध्यम से पूर्ण किया जा रहा है। ग्रामीणों को शीघ्र ही घरों में  शुद्ध पेयजल नल के माध्यम से प्रदान करने की कार्यवाही प्रचलित है। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा इसके पूर्व सप्ताह में मेघनगर के ग्राम बड़ा  घोसलिया एवं पेटलावद के ग्राम बरडिया में जल जीवन मिशन के कार्यों का अवलोकन किया था। निरीक्षण के दौरान यहां अव्यवस्था के संबंध में निर्देश दिए गए थे। जिसमें ग्राम बडा घोसलिया का जल स्त्रोत कूप को ढक दिया गया है एव ंनल लगाए जाने की कार्यवाही प्रचलित है। इसके पश्चात कलेक्टर महोदय द्वारा सिविल अस्पताल थांदला का भी निरीक्षण किया । यहां पर ऑक्सीजन प्लांट का अवलोकन किया । यहां पर शासन की योजना के तहत लगाए गए ऑक्सीजन प्लांट एवं जनभागीदारी से लगाए गए ऑक्सीजन प्लांट का भी सूक्ष्मता से अवलोकन किया और आवश्यक निर्देश भी दिए। कलेक्टर महोदय द्वारा ग्राम बेडावा एवं ग्राम खजुरी में चल रहे टीकाकरण का भी जायजा लिया एवं यहां पर शत प्रतिशत टीकाकरण करवाए जाने के निर्देश दिए गए। ग्राम खजूरी में पंचायत निर्वाचन के संबंध में की जा रही कार्यवाही का भी अवलोकन किया एवं जो भी अभ्यर्थी अपना नाम निर्देशन पत्र ले जा रहे हैं उन्हें अनिवार्य रूप से टीकाकरण हो ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री अनिल भाना , तहसीलदार श्री शक्तिसिंह चौहान, बीएमओ डॉ. श्री अनिल राठौर, सीईओ जनपद पंचायत श्री आर.सी हालू , एसडीओ पीएचई श्री जी.एस. रावत, ग्राम पंचायत सचिव, प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि  आदि उपस्थित थे।


‘‘अ‘‘ से अक्षर अभियान की समीक्षा बैठक सम्पन्न

  • निजी स्कूलों के संचालकों एवं शिक्षकों ने अपनी सहमति व्यक्त की, जिले से निरक्षरता का कलंक मिटाने के लिए हम सभी दृढ संकल्पित-कलेक्टर

झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में यहां कलेक्टेªट सभा कक्ष में ‘‘अ‘‘ से अक्षर अभियान की समीक्षा बैठक बुधवार को सम्पन्न हुई। इस बैठक में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने बताया कि अ‘‘ से अक्षर अभियान जो पेटलावद क्षेत्र एवं थांदला क्षेत्र में संचालित किया जा रहा था। वह अब जिले की सभी जनपद पंचायत क्षेत्रों में चलाया जाएगा। इसका मुख्य उद्देश्य असाक्षर लोग केवल अपने हस्ताक्षर ही नहीं वरन् साक्षर इस तरह से किया जाएगा कि वे हस्ताक्षर करने के पूर्व जो भी दस्तावेज हो उन्हें अच्छे से पढ़ सके एवं वर्तमान में सायबर क्राइम जो मोबाईल के जरिये हो रहा है। उससे सावधानी रख सके। मंशा यह है कि आज हर लोग मोबाईल का उपयोग कर रहे हैं एवं जरा सी गलती से अपने को आर्थिक नुकसानी पहुचा सकते हैं। इस कारण साक्षर बनाने के लिए ‘‘अ‘‘ से अक्षर अभियान जिसमें निजी स्कूलों के संचालकों एवं शिक्षकों की इस बैठक में सभी ने एकजुट होकर  ‘‘अ‘‘ से अक्षर अभियान में निरक्षर लोगों को पढ़ाने के लिए अपनी सहमति व्यक्त की है। श्री मिश्रा ने बताया कि इस संबंध में आवश्यक सभी व्यवस्थाएं एक मंच पर आपकों प्रदान की जाएगी। आपसे अपेक्षा हैं कि आप अपना कुछ समय निरक्षर लोगों को साक्षर बनाने के लिए संकल्प लेकर ग्रामीण लोगों को जिसकी उम्र 40वर्ष से 45 वर्ष के उपर है उन्हें शिक्षित करें। इस कार्य हेतु शासकीय एवं अशासकीय संस्थाए भी अपना कार्य करेंगी। ग्रामीण महिलाओं को भी इस अभियान में साक्षर होने के लिए प्रेरित किया जाए। जिससे उनका पूरा परिवार साक्षर हो सके एवं अपने बच्चों को साक्षर करने के लिए अपनी अहम भूमिका निभाएं। ग्रामीण क्षेत्र के स्कूल में एक साक्षरता का कोना यहां पर गुरूकुल जैसी पढ़ाने की व्यवस्था स्थापित की गई है। जहां पर ज्ञान का पिटारा में पुस्तकें एवं ज्ञान वर्द्धक कीट उपलब्ध करवाई गई है। श्री मिश्रा ने बताया कि अभी हाल में ही ग्राम नरसिंहरूण्डा में लोगों ने कोरोना वैक्सीन के प्रथम डोज एवं द्वितीय डोज लगवा कर प्रदेश में आदिवासी क्षेत्र में सर्वप्रथम शत प्रतिशत टीकाकरण करवा कर एक मिशाल पेश की है। जिसका मुख्य कारण इस गांव में शत प्रतिशत साक्षरता का होना है। बैठक में अशासकीय शैक्षणिक संस्थाओं के संयोजक श्री ओमजी शर्मा द्वारा बताया कि समाज में अशिक्षा के कलंक को दूर करने के लिए हम सभी एकजुट हैं और हमारे लिए यह गर्व की बात होगी की हम शत प्रतिशत लोगों को साक्षर बना सके। इस तरह का वातावरण भी हम तैयार करेंगे। जिसमें रैली, गाने बजाने से शुरूवात करेंगे। हम समाज के लिए काम करेंगे। हम विश्वास दिलाते है कि हम इसमें सफल होंगे। यह अभियान 1 जनवरी या 3 जनवरी 2022 से प्रारम्भ हो जाएगा। इसके पूर्व सर्वे आदि सभी आवश्यक व्यवस्था पूर्ण कर ली जाएगी। इस बैठक में श्री मिश्रा द्वारा पेटलावद एवं थांदला विकास खण्ड से जुडे एनजीओ एवं बीआरसी से ‘‘अ‘‘ से अक्षर अभियान में किये जा रहे प्रयासों के संबंध में चर्चा की एवं इस क्षेत्र में कार्य कर रहे एनजीओ एवं बीआरसी को निर्देशित किया की इस अभियान में और अधिक प्रगति लाए एवं प्रत्येक विकासखण्ड में साक्षरता शतप्रतिशत हो। कलेक्टर श्री मिश्रा के द्वारा साक्षरता के क्षेत्र में पेटलावद एवं थांदला के कार्यो की प्रगति जिसमें एनजीओ एवं बीआरसी को जिम्मेदारी दी गई थी। पूर्व से चल रहे विकास खण्ड पेटलावद एवं थांदला क्षेत्र के जो 50-50 ग्राम लिये गये है वहां पर साक्षरता के संबंध में सामग्री प्रदान की जा चुकी है। महिलाओं को पढ़ाने के लिये विशेष प्रयास करने के निर्देश दिये। इस बैठक में अशासकीय शैक्षणिक संस्था के अध्यक्ष श्री ओमजी शर्मा, जनजातीय कार्य विभाग के सहायक आयुक्त श्री प्रशांत आर्या, टीआरआईएफ श्री सोहल, जिला शिक्षा अधिकारी श्री ओ.पी.वनडे, श्री ज्ञानेश्वर ओझा, समस्त बीईओ, श्री जगदीश सिसोदिया एवं समस्त बीआरसी, समस्त एनजीओ संस्था के प्रमुख निजी स्कूलों के संचालक, शिक्षक एवं प्रतिनिधि उपस्थित थे।


”पंच-ज“ अभियान अंतर्गत


झाबुआ,।माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश मोहम्मद सैयदुल अबरार महोदय जी के मार्गदर्शन एवं अपर जिला न्यायाधीश/सचिव श्री लीलाधर सोलंकी जी की उपस्थिति में स्थानीय गौशाला भूरा डाबरा कालीदेवी के पास गौशाला पशु पालक विधिक साक्षरता शिविर में ”पंच-ज“ अभियान अंतर्गत आज दिनांक 16.12.2021 को स्थानीय गौशाला में गायों को चारा, फल, रोटी खिलाये तथा गौशाला के पशु पालक गौ सेवकों को पशुओं की उचित देखभाल, उपचार पशुओं को समय-समय पर चारा, दाना, पानी की व्यवस्था करने के लिए सलाह एवं समझाईस दी गई। पशुपालन विभाग द्वारा मंुह पका, खुर पका रोग निदान हेतु टीकाकरण करने एवं पशुओं की पहचान हेतु उनके कान पर 12 अंकों का टेग लगवाये आदि के प्रबंध करने बाबत् जागरूकता संदेश दिया। शिविर से लगभग 42 लोग लाभांवित हुये। शिविर में कू्ररता निवारण अधिनियम-1960 गौवंश प्रतिषेध अधिनियम-2004 पशु वाहन यातायात नियम 1978 आदि विधिक प्रावधानों की पशु पालकों को जानकारी दी गई। उक्त शिविर में अपर जिला न्यायाधीश/सचिव श्री लीलाधर सोलंकी  एवं गौशाला सेवक उपस्थित रहें।


सुबह से चली खनिज विभाग की कार्यवाही में 1 ट्रक जब्त


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के आदेश एवं खनिज अधिकारी धर्मेंद्र चौहान के निर्देशन में जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन,परिवहन तथा भंडारण के रोकथाम हेतु खनिज विभाग के दल द्वारा जिले की झाबुआ तहसील के विभिन्न नगरीय क्षेत्रों का आकस्मिक निरीक्षण कर खनिज परिवहन में संलिप्त वाहनों की जांच की गई।जांच मे अधिकांश वाहनों में खनिज परिवहन हेतु अनिवार्य अभिवहन पारपत्र (रॉयल्टी) होना पाया गया।खनिज दल को जांच दौरान खनिज रेत से भरे ट्रक डच्09भ्भ् 1046 की जांच कर खनिज रेत की रॉयल्टी चाही गई। वैध अभिवाहन पारपत्र के न पाए जाने पर वाहन को जब्त कर आगामी आदेश पर्यन्त थाना प्रभारी सिटी कोतवाली झाबुआ की अभिरक्षा में रखवाया गया है।जब्तशुदा वाहन पर मध्यप्रदेश गौण खनिज नियम 1996 व मध्य प्रदेश रेत नियम 2019 के प्रावधानों के तहत कार्यवाही कर अर्थदंड लगाने की कार्यवाही की जावेगी। इस कार्यवाही में मुख्य रूप से  माइनिंग इंस्पेक्टर शंकर कनेश एवं विवेकानंद यादव तथा खनिज अमला सम्मिलित रहा।


आयुष्मान कार्ड बनाकर आयुष्मान भारत योजना में लाभान्वित करने में डॉ. इन्दरसिंह चौहान मध्यप्रदेश में प्रथम


झाबुआ। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत सितम्बर 2018 से जून 2021 तक नवजात शिशु गहन चिकित्सा ईकाई जिला चिकित्सालय झाबुआ के द्वारा 1351 हितग्राहियों को आयुष्मान कार्ड बनाकर आयुष्मान भारत योजना से लाभान्वित किया गया। इस योजना के डॉ. श्री इन्दरसिंह चौहान के द्वारा 590 आयुष्मान कार्ड बनाकर योजना में लाभान्वित कर मध्यप्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इस संबंध में आयोजित वीडियों कान्फ्रेशिंग आयोजित थी। जिसमें डॉ. इन्दरसिंह चौहान को बधाई प्रेषित की गई थी। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा पुष्पगुच्छ से डॉ. श्री इन्दरसिंह चौहान को सम्मानित किया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्री जे.पी.एस.ठाकुर, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. श्री राहुल गणावा, सिविल सर्जन डॉ. श्री. बी.एस.बघेल, श्री जय वाघेला आयुष्मान भारत कार्ड के प्रभारी भी उपस्थित थे।


जिले में वैक्‍सीनेशन मेगा महा-अभियान आयोजित किया गया

     

झाबुआ ।राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में 16 दिसम्‍बर को वैक्सीनेशन के लिए मेगा महा-अभियान आयोजित किया गया। सांया 6 बजे कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा इस संबंध में बैठक की समीक्षा की। जिसमें अपर कलेक्टर श्री  जे एस बघेल, मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ श्री जेपीएस ठाकुर ,जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ श्री राहुल गणावा एवं जिलाधिकारी उपस्थित थे। श्री मिश्रा में बैठक में निर्देश दिए कि टीकाकरण के लिए मेगा महा-अभियान चलाया गया उसमें जो टीकाकरण किया गया था। इसे निरंतर रात्रि में भी जारी रखा जाए। जिससे वैक्‍सीनेशन से छुटे हुए सभी नागरिकों को वैक्सीन लगाई जाए। आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं सहित अन्य मैदानी अमला वैक्‍सीनेशन छूटे हुए नागरिकों को वैक्सीनेशन सेंटर पर लाने के लिए घर-घर जाकर दस्तक देगा टोकन देगा तथा उन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित ही नहीं अनिवार्य रूप से रात्रि में ही टीका लगाने की कार्यवाही की जाए। कलेक्‍टर  श्री  मिश्रा ने जिलेवासियों से अपील की है कि जिले के नागरिक वैक्‍सीन के दोनों डोज अनिवार्य रूप से लगवाये। जिन नागरिकों का वैक्‍सीन का दूसरा डोज ड्यू है वह वैक्‍सीनेशन सेंटर पर जाकर वैक्‍सीन का दूसरा डोज लगवाये। आप वैक्सीन लगवाकर न केवल स्वयं को कोरोना से सुरक्षित करें, अपितु दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें। आप सभी जिलेवासियों के सक्रिय सहयोग से जिले में कोरोना की दूसरी लहर को नियंत्रित किया है। कोविड-19 के संक्रमण के प्रकोप को ध्यान में रखते हुए सभी व्यक्ति वैक्सीन लगवाए तथा अपने पास पड़ोस, मोहल्ले के लोगों एवं अन्य चिर-परिचित लोगों को भी वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करें। जिले में मेगा महा-अभियान अंतर्विभागीय समन्वय, विभिन्न स्तरों की क्राइसिस प्रबंधन समिति की सक्रिय सहभागिता, जनभागीदारी, व्यापारी संघ, सामाजिक समितियों के सहयोग से चलाया जायेगा। जिले के नागरिक कोविड-19 टीकाकरण की जानकारी के लिये स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से सम्पर्क कर सकते है। वैक्सीनेशन संबंधी जानकारी के लिए कोविड  कन्ट्रोल  रूम स्थापित किया गया है जिसका नम्बर  9425102891 /9425102892/9425102893/07392-1075 /07392245900 पर सम्पर्क कर सकते है। इस मेगा महा-अभियान को निरंतर करते हुए अधिक से अधिक नागरिकों को वैक्‍सीन लगाई जायेगी। सभी जिलाधिकारियों को शत प्रतिशत टीकाकरण करवाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इस बैठक में निर्देश दिए कि ग्राम स्तर पर वैक्सीनेशन के लिए 2 टीम तैयार की जावे प्रथम दल यह बुलावा टोली घर घर जाकर टोकन  का कार्य करेगा, जिसमें स्थानीयवॉलेन्टियर/क्राइसिस प्रबंधन समिति के सदस्य/आशा/आंगनवाड़ीकार्यकर्ता/अन्य विभागों के स्थानीय कार्यकर्ता/ एन.जी.ओ. इत्यादि रहेंगे। दूसरा वैक्सीनेशन दल रहेगा जिसमें वैक्सीनेटर, वैरिफायर एवं सहयोगी रहेंगे। इस मेगा महा-अभियान के लिए सभी वैक्सीनेशन नोडल अधिकारी एवं खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिये गये है। टीकाकरण  मेगा अभियान का मुख्य उद्देश्य जिले को शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जाना है। झाबुआ जिले को सुरक्षित किया जाना है। इसमें यदि कोई लापरवाही करता है तो उसके विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही भी की जाएगी।


6 माह से 18 वर्ष तक के बच्चों की होगी खून की जांच, कार्ड जारी किया जाएगा


झाबुआ। माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के अवसर पर 15 नवम्बर 2021 को ‘मध्यप्रदेश राज्य हीमोग्लोबिनोपैथी मिशन‘ का शुभारम्भ किया गया है । उक्त मिशन के अंतर्गत प्रथम चरण में प्रदेश के झाबुआ एवं अलीराजपुर जिले में 06 माह से 18 वर्ष तक के बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं में सिकल सेल रोग के सम्बन्ध में जन जागरूकता, सामुदायिक सर्वे, स्क्रीनिंग, रेफरल, प्रबंधन एवं जेनेटिक काउंसलिंग गतिविधयों का क्रियान्वयन किया जावेगा। जिसके अंतर्गत जिले में हीमोग्लोीबिनपैथी मिशन के अंतर्गत कम्युवनिटी हैल्थग ऑफिसर (सी.एच.ओ.), चिकित्सा अधिकारियों, आरबीएस के मेडिकल ऑफिसर तथा लेब टेक्नीयशियन का एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन शासकिय नर्सिंग प्रशिक्षण केन्द्र  बाडकुआं रोड़ झाबुआ पर किया गया । प्रशिक्षण आईसीएमआर, जबलपुर के डॉ. एस. सुब्रह्मण्यम तथा टीम के द्वारा दिया गया । प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरांत जिले के समस्त  6 माह से 18 वर्ष तक के बच्चों् एवं गर्भवती महिलाओं के खून की जांच की जावेगी तथा रिपोर्ट राज्य स्तर पर भेजी जावेगी ।  मिशन का संचालन निम्न उद्देश्यों  के आधार पर किया जावेगा ।   

1.हीमोग्लोबिनोपैथी की सामुदायिक स्क्रीनिंग एवं रोकथाम हेतु प्रचार प्रसार ।

2.प्रारंभिक पहचान और उचित उपचार के माध्यम से हीमोग्लोबिनोपैथी के दुष्प्रभाव एवं मृत्यु के प्रकरणों में कमी ।

3.हीमोग्लोबिनोपैथी से प्रभावितों को किफायती, जवाबदेह और प्रभावी उपचार प्रदान करना

4.कमजोर जनजातीय समूहों (च्टज्ळ) पर विशेष ध्यान देने के साथ स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा देना ।

जिला कार्यक्रम प्रबंधक श्री आर.आर. खन्ना, ने कहा की जिले में सिकल सेल एनीमिया का प्रभाव काफी बढ रहा है, जिसके कारण कई दुषपरिणाम परिलक्षीत होते है तथा मृत्युे होने की जिसके रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार विशेष अभियान का क्रियान्वयन कर रही है। प्रशिक्षण के दौरान स्वोस्जि विभाग के मुखिया डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर, नोडल अधिकारी सिकल सेल डॉ. संदीप चौपडा, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राहुल गणावा एवं जिले के चिकित्सा. अधिकारी एवं समस्त  कम्यु्निटी हैल्थ‍ ऑफिसर उपस्थित थे।


मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2021-22 हेतु नाम निर्देशन पत्र जिला पंचायत सदस्य हेतु अभ्यर्थियांे द्वारा प्राप्त किए गए

  • आज जिला पंचायत सदस्य हेतु जिले में 6 नाम निर्देशन पत्र प्राप्त हुए

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा नाम निर्देशन पत्र जिसमें त्रि-स्तरीय पंचायतों के अंतर्गत जिला पंचायत सदस्य हेतु नाम निर्देशन पत्र जिला मुख्यालय पर प्राप्त किए गए। आज दिनंाक 17 दिसंबर 2021 (शुक्रवार) को प्रथम एवं द्वितीय चरण हेतु नाम निर्देशन पत्र प्राप्त किए। जिसमें निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक पेटलावद के जिला पंचायतों के सदस्यों के नाम निर्देशन पत्र प्रथम चरण में निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-12 अजजा (मुक्त), निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-13 (अनारक्षित मुक्त), निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-14 अजजा (महिला) इसी तरह द्वितीय चरण के निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक थांदला एवं मेघनगर में निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-07 अजजा (महिला), निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-8 अजजा (मुक्त), निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-9 अजजा (मुक्त), निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-10 अजजा (महिला), निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-11 अजजा (मुक्त) थे। आज जिला पंचायत सदस्य वार्ड क्रमांक-07 श्रीमती शांति डामोर पति श्री राजेश डामोर ग्राम पोस्ट काकनवानी थांदला जिला झाबुआ, वार्ड क्रमांक-08 श्री राजेश गेन्दालाल ग्राम व पोस्ट काकनवानी जिला झाबुआ, वार्ड क्रमांक-11 श्री रमसु पारगी पिता श्री कसना पारगी ग्राम तांदला तहसील मेघनगर, वार्ड क्रमांक-12 श्रीमती शारदा डामोर पति श्री अमरसिंह डामोर ग्राम रायपुरिया तहसील पेटलावद, वार्ड क्रमांक-14 हेतु अभ्यर्थी श्रीमती अल्का मेडा पति श्री विक्रम मेडा ग्राम झकेला तहसील रामा जिला झाबुआ, वार्ड क्रमांक-14 श्रीमती कलावती पति श्री नारायण ग्राम बावडी पोस्ट बावडी तहसील पेटलावद जिला झाबुआ, इस तरह कुल 06 नाम निर्देशन पत्र प्राप्त हुए हैं। यह अपर कलेक्टर एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी श्री जे.एस.बघेल के समक्ष प्रस्तुत किए गए हैं। नाम निर्देशन प्राप्त करने की अंतिम तारिख प्रथम एवं द्वितीय चरण के निर्वाचन हेतु 20 दिसंबर 2021 सोमवार को प्रातः 10.30 से अपरान्ह 3.30 बजे तक निर्धारित की गई है। नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा (जांच) प्रथम एवं द्वितीय चरण में 21 दिसंबर मंगलवार प्रातः 10.30 बजे से प्रारम्भ होगी। अभ्यर्थियों द्वारा प्रथम एवं द्वितीय चरण में नाम वापस लेने की तारिख 23 दिसंबर 2021 गुरूवार अपरान्ह 3 बजे तक निर्धारित की गई है। निर्वाचन लडने वाले अभ्यर्थियों की सूची तैयार करना तथा निर्वाचन प्रतिकों का आवंटन प्रथम एवं द्वितीय चरण में 23 दिसंबर 2021 गुरूवार को अभ्यर्थी से नाम वापसी के ठीक बाद होगा। इस दौरान अपर कलेक्टर एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी श्री जे.एस.बघेल, निर्वाचन का स्टॉफ श्री रणजीत मिश्रा, श्री जान भूरिया, सुश्री कुसुम कनेश उपस्थित थे।


त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन 2021-22 ‘‘हेल्प डेस्क‘‘ के प्रभारी श्री राजेन्द्र माथुर परियोजना अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ को नियुक्त किया गया है


झाबुअ। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्था.निर्वा.) जिला झाबुआ द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन 2021-22 के नाम निर्देशन की प्रक्रिया दिनांक 13 दिसंबर 2021 से प्रारंभ हो चुकी है। जिला पंचायत सदस्यों के नाम निर्देशन पत्र जिला कलेक्टर कार्यालय झाबुआ में लिए जा रहे हैं। अभ्यार्थियों को निर्वाचन प्रक्रिया संबंधित कार्यवाही से अवगत कराने एवं सहयोग देने के लिए जिला स्तर पर ‘‘हेल्प डेस्क‘‘ स्थापित की गई है। ‘‘हेल्प डेस्क‘‘ के प्रभारी श्री राजेन्द्र माथुर, परियोजना अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ को नियुक्त किया गया है। वे कलेक्टोरेट झाबुआ में उपस्थित होकर अपने कर्तव्य पर कार्य करना प्रारम्भ कर दिया है।


त्रि-स्तरीय पंचायतराज निर्वाचन हेतु अन्तर्राज्यीय बार्डर मीटिंग आयोजित


झाबुआ,। आज त्रि-स्तरीय पंचायत राज्य निर्वाचन 2021-22 हेतु अन्तर्राज्यीय बार्डर मीटिंग दाहोद में आयोजित की गई। बार्डर मीटिंग में मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले की सीमा से लगने वाले राज्य जिसमें गुजरात, राजस्थान की सीमा पर मतदान केन्द्रों की जानकारी के साथ आज यह बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में झाबुआ के गुजरात सीमा से लगने वाले गांव थांदला, राजस्थान सीमा से लगने वाले गांव मेघनगर, गुजरात सीमा से लगने वाले गांव राणापुर जहां पंचायत निर्वाचन होना है इस हेतु कानून व्यवस्था के संबंध में यह बैठक आयोजित थी। इस बैठक में झाबुआ जिले से कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता एवं जिला दाहोद के कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी, पुलिस अधीक्षक दाहोद , राजस्थान बार्डर के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक उपस्थित हुए थे।

कोई टिप्पणी नहीं: