विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 दिसंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 दिसंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 दिसंबर

एसडीएम कोविड से मृत्यु के अनुग्रह राशि के आवेदनों का परीक्षण कर प्रस्तुत करेंगे


vidisha map
मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर अनुग्रह राशि मृतक के वारिसान को 50 हजार रूपये पात्रता अनुरूप प्रदाय किये जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किये गये है। समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अपने-अपने क्षेत्र में कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु होने पर अनुग्रह राशि प्रदाय किये जाने हेतु आवेदक, वारिसान से आवेदन पत्र (परिशिष्ट-03) में प्राप्त करेगें।


गैर-वित्तीय संस्थाओं के प्रति सावधान और सचेत रहने  की सलाह


कलेक्टर ने नागरिकों से असामान्य रूप से रिटर्न या सस्ते लोन देने वाली गैर-वित्तीय संस्थाओं के प्रति सावधान और सचेत रहने का आग्रह किया  है। आम नागरिकों से ऐसी संस्थाओं के पंजीयन के प्रति जागरूक रहने एवं उनकी प्रामाणिकता के संबंध में पहले जाँच पड़ताल करने की अपील की गयी है। ऐसी संस्थाओं के जमाकर्ताओं के लिये जागरूकता अभियान  भी चलाया जायेगा। गैर-वित्तीय संस्थाओं, कंपनियों के जमाकर्ताओं को संभावित आर्थिक धोखाधड़ी से बचाने के लिये जागरूकता अभियान शुरू किया जायेगा। सभी अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि वे समय-समय पर ऐसी संस्थाओं में  जमाकर्ताओं के हितों का संरक्षण अधिनियम और अनियमित जमा प्रतिबंध अधिनियम के प्रावधानों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें। जमाकर्ताओं और आम जनता और सरकार के बीच परस्पर विश्वास बनाने रखने के लिये दोषी संस्थाओं पर सख्ती बरतते हुए कार्रवाई जारी रखने के निर्देश दिये गये हैं।


’खाद क्रय करते समय पक्का बिल अवश्य लें’


संयुक्त संचालक कृषि ने संभाग के सभी जिलों के समस्त कृषकों से अनुरोध किया है कि रबी मौसम की बुआई के दौरान खाद, बीज का क्रय जिन संस्थाओं से करते है, उसका पक्का बिल अवश्य लें । यदि कोई व्यापारी, दुकानदार पक्का बिल देने में आनाकानी करता है अथवा समय पर बिल नही देता है तो अविलम्ब इसकी जानकारी स्थानीय एसडीएम के संज्ञान में अवश्य लाएं । ताकि संबंधित विक्रेता के खिलाफ जांच पड़ताल कर कठोर कार्यवाही की जा सकें ।


ऑनलाइन गेम - साइबर सेल ने जारी की एडवाइजरी’


देश के साथ प्रदेश में भी ऑनलाइन गेम खेलने के चक्कर में कई युवा और बच्चे अपनी जान गंवा चुके है तो कई चोरी करने लगे हैं । इस बात को ध्यान में रखते हुए राज्य साइबर सेल ने एडवाइजरी जारी की है । राज्य साइबर सेल द्वारा जारी एडवाइजरी में अभिभावकों से कहा गया है कि बच्चों को हो सके तो मोबाइल नहीं दें । ऑनलाइन क्लॉसेस के लिए बिना सिम कार्ड का मोबाइल दें, बच्चों को वाईफाई से इंटरनेट इस्तेमाल करने दें ।  बच्चों की ऑनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखें । परिवार के सभी सदस्यों के मोबाइल में प्ले स्टोर पर पैरेंटल कंट्रोल ऑन करें ।  पासवर्ड बच्चों को नहीं बताएं, बच्चों को हर तरह के ट्रांजेक्शन की छूट नहीं दें । खाते से पैसे कटने का मैसेज आते ही बच्चों से पैसे कटने का कारण अवश्य पूछें । 


दिव्यांगों को बस किराए में 50 प्रतिशत की छूट


सभी तरह की बसों में दिव्यांगजनों को यूनिक आईडी दिखाने पर किराए में 50 प्रतिशत की छूट मिलेगी।  परिवहन आयुक्त द्वारा प्रदेश के जिले के सभी क्षेत्रीय अतिरिक्त एवं जिला परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि राज्य शासन द्वारा मध्य प्रदेश के राजपत्र में 24 नवम्बर 2016 को किये गये प्रावधान के तहत समस्त प्रक्रम बस सेवाओं में विभिन्न प्रकार के दिव्यांग व्यक्तियों को प्रभारित किराये में 50 प्रतिशत की छूट दी जायेगी, यदि वे सक्षम प्राधिकारी का प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करते हैं। दिव्यांगजनों द्वारा भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय अथवा राज्य सरकार द्वारा जारी युनिक आईडी (युडीआईडी) के तहत जारी किये गये परिचय-पत्र दिखाये जाने पर किराये में 50 प्रतिशत की छूट का लाभ दिया जाये। 


सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार आदि लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें- सीएमएचओ


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने सलाह दी है कि किसी भी व्यक्ति को सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, भूख न लगना, दस्त लगना आदि के लक्षण होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। आमतौर पर देखा गया है कि मरीज घर पर ही पारंपरिक उपचार लेते रहते है। ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते है, जिससे स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय उनकी बीमारी और बढ़कर जटिल हो जाती है। ऐसे लोंगो को  अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में अगर कोविड-19 की जांच पॉजीटिव आती है तो उपचार और जटिल हो जाता है। ऐसे मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट या आईसीयू में भर्ती कर उपचार करना पड़ता है। ऐसी बीमारियों से प्रभावित व्यक्तियों को सलाह दी है कि उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, हाथ-पैरों में दर्द, शरीर में ऐठन, भूख न लगना, खाने व सूघंने में स्वाद का पता न लगना आदि लक्षणों के आते ही वे तुरंत चिकित्सक से परामर्श लें। अथवा कोविड-19 की जांच करवाकर समय रहते उपचार लेकर स्वस्थ हों। कोरोना के दृष्टिगत ऐसे व्यक्ति भीड़-भाड़ में न जायें, आपस में दो गज की दूरी बनाकर रखें। हाथों को सैनेटाइज करते रहना अथवा हाथों को साबुन से धोते रहने जैसी आवश्यक सावधानी बरतें।


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा बिजली के अनाधिकृत उपयोग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश’

’उपभोक्ताओं से अपील- वैध कनेक्शन लेकर ही बिजली का उपयोग करें’

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा सीधे बिजली लाइन से तार डालकर बिजली के अनधिकृत उपयोग के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि संबंधित लाइन कर्मचारी एवं मीटर वाचक का यह दायित्व है कि वे अपने क्षेत्रांतर्गत बिजली लाइन से सीधे तार डालकर बिजली का उपयोग करने वाले उपयोकर्ताओं की जानकारी वितरण केन्द्रध्जोन प्रभारी को उपलब्ध करायें ताकि सख्ती से ऐसे मामलों की जांच की जा सके और विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 135 के तहत प्रकरण दर्ज कर उनके विरूद्ध विद्युत प्रदाय संहिता में निहित प्रावधानों के अनुसार बिलिंग की जा सके। कंपनी ने कहा है कि विद्युतीकृत कॉलोनियों एवं क्षेत्रों में नये कनेक्शन देने में विलंब नहीं किया जाए। ऐसी कॉलोनियॉं जो अविद्युतीकृत हैं उनमें निवासरत लोगों को स्थाई कनेक्शन देने के लिए बाह्य विद्युतीकरण के लिए प्रेरित किया जाए ताकि विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने पर नियमानुसार राशि जमा करते हुए स्थाई विद्युत कनेक्शन प्रदान किया जा सके। ऐसे परिसर जो कि अवैध कॉलोनी के क्षेत्रान्तर्गत आते हैं, उन्हें मध्यप्रदेश नगर पालिक विधि (संशोधन) अध्यादेश 2021 में दिये गये प्रावधानों के अनुसार कार्य निष्पादित करने हेतु बाध्य किया जाएगा एवं उनके विद्युतीकरण हेतु प्राक्कलन बनाकर सार्वजनिक रूप से घोषित करते हुए नियत प्रति किलोवॉट दर तथा अन्य सप्लाई अफोर्डिंग चार्जेस इत्यादि जमा कराते हुए विद्युत कनेक्शन प्रदान किये जाएंगे। कंपनी ने कहा है कि मीटर बायपास कर अथवा लाइन में कटध्जोड़ लगाकर अनधिकृत रूप से विद्युत का उपयोग कर रहे लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जाए। मीटर में छेड़छाड़ करने वाले उपभोक्ताओं के खिलाफ कार्यवाही की जाए और उनके खिलाफ विद्युत अधिनियम 2003 के अनुसार प्रकरण पंजीबद्ध कर विद्युत प्रदाय संहिता में दिए गए प्रावधानों के अनुसार बिलिंग की जाए।  गौरतलब है कि बिजली चोरी के मामलों में विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 126, 135 एवं 138 के तहत बनने वाले मुकद्मों के तहत कठोर कार्यवाही के प्रावधान हैं यहॉं तक कि दोषी उपभोक्ताओं को जेल भी हो सकती है। उल्लेखनीय है कि बिजली चोरी के प्रकरणों में आरोप सिद्ध पाये जाने पर जुर्माना या कारावास या दोनों सजाओं का प्रावधान है।


बकाया राशि एवं नियमित देयकों का भुगतान तत्काल करें, कनेक्शन कटने की अप्रिय कार्यवाही से बचें


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा बकाया राशि वसूली के लिए सघन प्रयास किये जा रहे हैं। इन प्रयासों के अंतर्गत बकाया राशि वसूली के लिए घर-घर जाकर बिजली कर्मचारी और अधिकारी राजस्व वसूली में लगे हैं। कंपनी के सभी वृत्त कार्यालयों में समीक्षा बैठकें आयोजित कर मैदानी स्तर पर राजस्व वसूली की वृद्धि के प्रयास तेज कर दिये गये हैं। सभी मैदानी अधिकारियों को बकाया राशि वसूली करने,भू-राजस्व संहिता के अंतर्गत सी-फार्म एवं कुर्की करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने यह भी निर्देश दिये हैं कि विजीलेंस द्वारा बनाये गये प्रकरणों में बकाया राशि की वसूली भी तेज की जाए। इसके अलावा ऑडिट द्वारा निकाली गई बकाया राशि और अन्य कारणों से बकाया राशि को उपभोक्ता के बिल में जोड़कर राजस्व वसूली की जाए। यह भी निर्देश दिये गये हैं कि काटे गये कनेक्शनों की रात्रि में चेकिंग की जाए ताकि बकायादार उपभोक्ता अवैध रूप से बिजली का उपयोग न करें और यदि कोई उपभोक्ता ऐसा करता पाया जाता है तो उसके विरूद्ध बिजली अधिनियम-2003 की धारा 138 के अंतर्गत प्रकरण बनाया जाए। कंपनी ने अधिकारियों और कर्मचारियों से कहा है कि टीम भावना से कार्य कर लक्ष्य की प्राप्ति करें।


 बिजली उपभोक्ताओं से आग्रह - बकाया राशि कंपनी में जमा कराएं

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने कंपनी कार्यक्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे बकाया राशि का भुगतान तत्काल करें। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने बकायादार बिजली उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि बिजली कनेक्शन विच्छेदन की अप्रिय कार्यवाही से बचने के लिए विद्युत बिलों का भुगतान तत्काल सुनिश्चित करें। कंपनी के द्वारा बकायादारों के विरूद्ध बड़े स्तर पर बिजली कनेक्शन विच्छेदन की कार्यवाही में “आपरेशन एवं मेंटेनेंस” अमले के साथ-साथ“ विजीलेंस”को भी जोड़ा है। कंपनी के सहायक अभियंता/जूनियर इंजीनियर जो कि तहसीलदार का दायित्व निर्वहन कर रहे हैं,भी राजस्व वसूली के लिए सक्रिय हो गये हैं। बिजली उपभोक्ताओं से अनुरोध है कि बिजली वितरण कंपनी के कार्मिकों द्वारा बिजली बिल के भुगतान की रसीद मांगे जाने पर उन्हें रसीद अवश्य दिखाएं,ताकि बिजली उपभोक्ताओं को अनावश्यक असुविधा न हो।


एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी


खाद्य सुरक्षा योजना से लाभान्वित परिवारों का सत्यापन किया जा रहा है । तैनात कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर एम-राशन मित्र एप के माध्यम से सत्यापन किया जा रहा है । प्रत्येक उपभोक्ता गूगल प्ले स्टोर से इस एप को स्टाल कर सकते हैं। इसके माध्यम से उपभोक्ता अपनी पात्रता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं । एप में परिवार की समग्र आईडी से लागिन करने पर खाद्यान्न की पात्रता, पात्रता पर्ची के अनुसार परिवार के सदस्यों की जानकारी तथा परिवार प्रोफाइल की जानकारी प्राप्त की जा सकती है । इसके माध्यम से आसपास की उचित मूल्य दुकान पीओएस मशीन की स्थिति, दुकान को खाद्यान्न आवंटन एवं वितरण की भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। शासन द्वारा खाद्यान्न वितरण के संबंध में दी जाने वाली सूचनाओं और सुविधाओं के लिए भी एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी है ।


खाद्य पदार्थों में मिलावट या अनियमितता की गोपनीय शिकायत अब पोर्टल पर भी


खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम संबंधी विविध कार्यों को समग्र पोर्टल पर लाने के मकसद से खाद्य सुरक्षा एमआईएस पोर्टल- पोशन (पीओएसएचएएन) शुरू किया गया है। इस पोर्टल पर खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006, विनियम 2011 के नियमों का खाद्य कारोबारी द्वारा पालन नहीं करने व खाद्य पदार्थों में मिलावट या अनियमितता संबंधी शिकायत लोगों द्वारा गोपनीय तरीके से दर्ज करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसके लिए आम नागरिक उचकिंउपेण्पद पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इस सिलसिले में बताया गया है कि उक्त अधिनियम की धारा 31 के तहत सभी खाद्य कारोबारियों को पंजीयन कराना व खाद्य लायसेंस लेना अनिवार्य है। खाद्य लायसेंस एवं पंजीयन के लिए मार्गदर्शन लेने के उद्देश्य से आयुक्त खाद्य सुरक्षा प्रशासन कार्यालय ईदगाह हिल्स भोपाल में खाद्य सुरक्षा हेल्प डेस्क स्थापित की गई है। इसका टेलीफोन नम्बर 0755- 2665036 और ई- मेल foodsafetyhelpdeskmp@gmail.com है। इस पर जानकारी ली जा सकती है।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कवि, गीतकार श्री अनिल गोयल के निधन पर दुःख व्यक्त किया


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा के वरिष्ठ पत्रकार श्री कमल गोयल के भाई साहित्यकार, फिल्मकार श्री अनिल गोयल के निधन पर दुःख व्यक्त किया है। श्री अनिल गोयल भोपाल में निवास करते थे। गीतकार, कवि श्री अनिल गोयल की मां पर केन्द्रित काव्य रचनाएं उनकी पहचान थीं। वे श्रेष्ठ प्रदर्शनी संयोजक भी थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है।


शुक्रवार को 308 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किए गए


त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 के लिए जिले में प्रथम एवं द्वितीय चरण तहत अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के चौथे दिन अर्थात शुक्रवार 17 दिसम्बर को कुल 308 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन पत्र रिटर्निंग, सहायक रिटर्निंग आफीसर के समक्ष दाखिल किए है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अमृता गर्ग ने बताया कि आज शुक्रवार को कुल 308 अभ्यर्थियों के द्वारा नाम निर्दैशन पत्र दाखिल किए गए है जिनमें जिला पंचायत सदस्य हेतु  दो, जनपद पंचायत सदस्य हेतु 40, सरपंच पद हेतु 209 तथा पंच पद हेतु 57 अभ्यर्थी के द्वारा नाम निर्देशन पत्र दाखिल किये गए है।


जनसुनवाई यथावत् जारी रहेंगी


प्रति मंगलवार को आयोजित होने वाली जनसुनवाई कार्यक्रम पूर्व की भांति यथावत् जारी रखने के संबंध में प्रदेश के सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय के द्वारा पत्र जारी कर दिशा निर्देश दिए गए है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने समस्त जिला कार्यालय प्रमुखों के अलावा जनपदों के सीईओ व अनुविभागीय अधिकारियों के साथ-साथ समस्त तहसीलदारों को पत्र प्रेषित कर जनसुनवाई कार्यक्रम यथावत् जारी रखने के निर्देश दिए है। 


त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन हेतु प्रेक्षक नियुक्त, रविवार को विदिशा आएंगे


मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 हेतु विदिशा जिले के तीनों चरणों के निर्वाचन हेतु सेवानिवृत्त आईएएस श्री रमेश भण्डारी को प्रेक्षक नियुक्त किया गया है कि जानकारी देते हुए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा प्रेक्षक हेतु नोडल एवं लायजिंग आफीसर नियुक्त किए गए है। प्रेक्षक श्री रमेश भण्डारी रविवार 19 दिसम्बर की प्रातः 11 बजे विदिशा पहुंचेगे कि जानकारी देते हुए नोडल एवं जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि प्रेक्षक श्री भण्डारी विदिशा सर्किट हाउस कक्ष क्रमांक -03 आरक्षित किया गया है। प्रेक्षक श्री रमेश भण्डारी का सम्पर्क मोबाइल नम्बर 7898763441 है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा प्रेक्षक से समन्वय हेतु जिन अधिकारी, कर्मचारियों को तैनात किया गया है उनमें जिला वाणिज्यिकर अधिकारी श्री आरएस मरकाम को तथा रिजर्व में मायनिंग इंस्पेक्टर श्री पंकज वानखेडे को लायजिंग आफीसर की जबावदेंही सौंपी गई है। प्रेक्षक के साथ स्टेनो कार्य हेतु एसएटीआई डिग्री कॉलेज के स्टेनो श्री गोपाल कृष्ण को तथा जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के कम्प्यूटर आपरेटर श्री मनीष श्रीवास्तव को सर्किट हाउस में उपस्थित होकर सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन करने हेतु निर्देशित किया गया है। 


प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन


शासकीय आईटीआई विदिशा में मंगलवार 21 दिसम्बर को प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन किया गया है कि जानकारी देते हुए संस्था के प्राचार्य श्री एपी श्रीवास्तव ने बताया कि प्लेंसमेंट में दो कंपनियां क्रमशः अलंकरम पीथमपुर एवं मदरसन गुजराज सम्मिलित हो रही है। अतः ऐेसे युवाजन जो 12वीं पास है एवं आईटीआई से संचालित ट्रेडो में उत्तीर्ण है। ऐसे छात्र-छात्राएं जिनकी आयु 18 से 28 वर्ष है। प्लेसमेंट ड्राइव शासकीय आईटीआई विदिशा में प्रातः नौ बजे उपस्थित होकर शामिल हो सकते है। प्रत्येक अभ्यर्थी को अपने आवश्यक दस्तावेंज जिसमें अंकसूची, आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, दो फोटोग्राफ, बैंक पासबुक सहित शासकीय आईटीआई विदिशा में समीप नवीन कॉलेज गेंहूखेडी रोड कालापाठा में उपस्थित हो सकते है। ततसंबंध में अन्य विस्तृत जानकारी के लिए मोबाइल नम्बर 9039727403 अथवा 7000867951 पर सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है।


कलेक्ट्रेट कार्यालय के अधीक्षक का प्रभार 


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने कलेक्ट्रेट कार्यालय के सहायक अधीक्षक श्री भंवर लाल पैठारी का स्थानांतरण हो जाने के फलस्वरूप उन्हें आज नवीन पदस्थापना स्थल पर उपस्थित होने हेतु भारमुक्त आदेश जारी कर दिया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने प्रशासकीय कार्यो की सुविधा दृष्टि को ध्यानगत रखते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय विदिशा में पदस्थ सहायक ग्रेड-दो श्री शिवराज सिंह ठाकुर को अन्य आगामी आदेश पर्यन्त तक अस्थायी रूप से वर्तमान कार्य के साथ-साथ कलेक्ट्रेट कार्यालय के अधीक्षक का प्रभार सौंपा है। 


छात्रवृत्ति आवेदन एमपी टॉस पोर्टल पर दर्ज कराएं


शैक्षणिक वर्ष 2021-22 में छात्रावासों में प्रवेश एवं विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन एमपी टॉस पोर्टल के माध्यम से किया जाना है कि जानकारी देते हुए जनजाति कार्य विभाग के जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी ने बताया कि जिले की छात्रावासो में प्रवेश, छात्रवृत्ति, आवास सहायता, राहत तथा अन्य योजनाएं शामिल की जा रही है। अतः अनुसूचित जाति के नवीनीकरण विद्यार्थियों के आवेदन छात्रवृत्ति पोर्टल 2.0 पर एप्लाई करना प्रारंभ हो गए है। अनुसूचित जाति वर्ग के नवीन छात्रवृत्ति आवेदन भी एमपी टॉस पोर्टल पर दर्ज किए जाएंगे इसके लिए प्रोफाइल पंजीयन किया जाना आवश्यक है। अतः सभी अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग की छात्रवृत्ति एवं विभागीय छात्रावासों में प्रवेश लेने वाले विर्द्यार्थयों एवं हितग्राहियों को सूचित किया गया है कि उनके द्वारा एमपी टॉस पोर्टल पर प्रोफाईल पंजीयन कराया जाना आवश्यक है जिससे समयावधि में आवेदन कर योजना का लाभ प्राप्त कर सकें। 


दो प्रकरणों में आर्थिक मदद जारी


विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा ने आरबीसी के दो प्रकरणों में मृतकों के परिजनों को क्रमशः चार-चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृति का आदेश जारी कर दिया है। बेतवा नदी में श्री बाढ वाले गणेश मंदिर के घाट पर विनायक शर्मा की मृत्यु हो जाने पर मृतक के पिता श्री संतोष शर्मा धर्माधिकारी अन्दर किला विदिशा को चार लाख रूपए की तथा सर्पदंश से कुमारी पूनम की मृत्यु हो जाने पर मृतिका के पिता श्री रिंकू कुशवाह निवासी वायपास विदिशा के लिए भी चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। 


जिला एवं खण्ड स्तरीय नोडल तथा मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न कराने हेतु अधिकारी, कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने की व्यवस्था क्रियान्वयन हेतु जिला एवं खण्ड स्तरीय नोडल अधिकारी तथा मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि प्रशिक्षण संबंधी कार्यो के संपादन हेतु जिला स्तरीय नोडल अधिकारी का दायित्व डीईओ श्री एके मुदगल को सौंपा गया है जबकि चार जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए है उनमें उमावि हांसुआ के प्राचार्य री आरपी गुप्ता, डाइट के कनिष्ठ व्याख्याता श्री अजय श्रीवास्तव, व्याख्याता श्री आरके जैन तथा जिला शिक्षा केन्द्र के डीपीसी श्री एचपी जाटव को नगरीय पंचायत क्षेत्र के लिए जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किया गया हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा विदिशा जनपद पंचायत ग्रामीण क्षेत्र के लिए नोडल अधिकारी तहसीलदार श्रीमती सरोज अग्निवंशी को दायित्व सौंपा गया हैं। इसके अलावा 12 मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए हैं इसी प्रकार बासौदा जनपद पंचायत अंतर्गत नोडल अधिकारी उत्कृष्ट उमावि बासौदा के प्राचार्य श्री ज्ञान प्रकाश भार्गव को तथा दस मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए हैं। कुरवाई जनपद पंचायत के लिए कुरवाई जनपद सीईओ श्री पंकज जैन को नोडल अधिकारी तथा नौ मास्टर ट्रेनर्स तथा ग्यारसपुर के लिए नायब तहसीलदार सुश्री सृष्टि श्रीवास्तव को नोडल अधिकारी तथा यहां पांच मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए है। सिरोंज के लिए नायब तहसीलदार श्री चंद्रकुमार ताम्रकार नोडल अधिकारी एवं नौ मास्टर ट्रेनर्स जबकि लटेरी के लिए जनपद सीईओ श्री अजय सिंह वर्मा को नोडल अधिकारी एवं चार मास्टर ट्रेनर्स तथा नटेरन जनपद पंचायत के लिए नटेरन डीईओ श्री एमएल मालवीय को नोडल अधिकारी तथा पांच मास्टर ट्रेनर्स नियुक्त किए गए है। संबंधित नोडल अधिकारी व मास्टर ट्रेनर्स त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 के रिटर्निंग आफीसर से संपर्क स्थापित कर आयोग के दिशा निर्देशानुसार प्रशिक्षण का कैलेण्डर समय सारणी तैयार कर समय-समय पर संबंधितों को प्रशिक्षण देने का कार्य संपादित करने हेतु नियुक्त मास्टर ट्रेनर्स को अपने स्तर से अवगत कराए और नोडल अधिकारी मास्टर ट्रेनर्स प्रशिक्षणों से संबंधित कार्यो एवं दायित्वों के पूर्णतः उत्तरदायी होंगे। 


त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन, आज शनिवार को नाम निर्देशन पत्र दाखिल होंगे


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने राज्य निर्वाचन  के सचिव द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए बताया है कि आज शनिवार को भी नाम निर्देशन पत्र प्राप्त किए जाएंगे। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री भार्गव ने त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2021-22 हेतु जारी निर्वाचन कार्यक्रम अनुसार अब  नाम निर्देशन-पत्र प्राप्त करने की अवधि के दौरान आने वाले शनिवार को भी प्रातः 10ः30 बजे पूर्वान्ह 3 बजे अपरान्ह तक नाम निर्देषन पत्र प्राप्त करने की कार्यवाही सुनिश्चित कि जायेगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले के  समस्त रिटर्निंग आफीसर, सहायक रिटर्निंग आफीसर  को भी इस संबंध में  आवश्यक कार्यवाही कर अवगत कराये जाने हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के निर्देश संबंधितों को दिए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: