मधुबनी : कांग्रेस अध्यक्ष ने जीतन मांझी पर साधा निशाना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 दिसंबर 2021

मधुबनी : कांग्रेस अध्यक्ष ने जीतन मांझी पर साधा निशाना

shitlambar-jha
मधुबनी, कांग्रेस अध्यक्ष प्रो शीतलाम्बर झा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री, हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी के द्वारा लगातार अनाप सनाप देने से समाज मे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जिससे समाज दूषित होता है और एक दूसरे प्रति घृणा फैल जाता है,जीतन राम मांझी जी राज्य के मुख्यमंत्री रहें है उन्हें अपने पद की गरिमा को ख्याल करते रहना चाहिए ताकि पद की गरिमा बनी रहे ,सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए कभी भगवान विष्णु जी के सातवें अवतार मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम जी के बड़े में घृणित बयान देना ओझि मानसिकता को दर्शाता है उन्हें ज्ञान होना चाहिए कि प्रभु श्रीराम सबुरी के झुटे बैर भी ग्रहण किए प्रेम और भक्त बत्सल के लिए,कभी वहीं जीतन राम जी रामलीला के अवसर पर एतिहासिक गांधी मैदान में श्रीराम जी एवं जानकी जी का आरती उतारने जाते है यह क्यों करतें है,वहीं ब्राह्मणों को भी गाली देंते रहे है यह वेहद ही निंदनीय है उन्हें अपने आत्मा से पूछना चाहिए कि राजनीति में उन्हें मुकाम हासिल करने के लिए किन लोगों ने मदद की है वोट के खातिर किसी भी समुदाय के बारे में ओझि बयान देना दिमागी दिवालियापन ही तो है उन्हें ज्ञान हासिल करना चाहिए विद्वतजनों से समाज मे ब्राह्मणों का योगदान किया रहा है वे समाज में अग्रणी भूमिका निभातें रहे है उन्हें जानकारी होना चाहिए कि भगवान विष्णुजी के आठवें अवतार भगवान श्रीकृष्ण जी भी ब्राह्मणों से दोस्ती की है श्रीकृष्ण और भक्त सुदामा जी के दोस्ती याद करना चाहिए,आजकल बीजेपी और जदयू के नेताओं का इस संदर्भ में कोई ठोस कदम नही उठाना यह दर्शाता है कि सरकार को बचाने के लिए ये लोग  किसी भी हद तक जा सकतें है । प्रो झा ने बीजेपी एवं नीतीश कुमार से मांग किया है कि यैसे ब्यक्ति से अपना सम्बन्ध समाप्त करे और एनडीए से बाहर करे साथ ही हाईकोर्ट को भी स्वतः संज्ञान लेना चाहिए और कठोर कानूनी कार्यवाही करना चाहिए ताकि समाज मे अमनचैन बनी रहे। प्रो झा ने कहा है कि प्रतिक्रिया में बीजेपी के नेता जो लगत बयान दिया है वह भी निंदनीय है कांग्रेस पार्टी यह जानती है कि बीजेपी के बरिष्ट नेताओ पहले अपने तीसरे नेताओं से बयान दिलाती है और जब बदनामी होने लगती है तो उस पर करवाई की नाटक करती है,बीजीपी को यह नही भुलाना चाहिए कि आज भी ब्राह्मणों का अत्यधिक वोट उसे ही मिलती है धीरे धीरे लोग अब उसकी चरित्र को जान गई है यदि हिम्मत है तो जीतन राम पर करवाई करबाकर दिखाए ओर उससे सम्बन्ध तोड़ कर साबित करे ,साथ ही सभी समाज से आग्रह किया है कि समाज मे घृणा का वातावरण न बने इससे बचे और फुहार ब्यक्ति के बयान को संज्ञान भी नही ले।

कोई टिप्पणी नहीं: