मोदी मंगलवार को कानपुर मेट्रो रेल परियोजना का उद्घाटन करेंगे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 दिसंबर 2021

मोदी मंगलवार को कानपुर मेट्रो रेल परियोजना का उद्घाटन करेंगे

modi-will-inaugrate-kanpur-metro
नयी दिल्ली 26 दिसम्बर, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी मंगलवार को उत्तर प्रदेश में कानपुर का दौरा करेंगे और कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के पूर्ण खंड का उद्घाटन करेंगे। आधिकारिक जानकारी के मुताबिक श्री मोदी अपराह्न करीब 13:30 बजे कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के पूर्ण खंड का उद्घाटन करेंगे। वह बीना-पनकी मल्टीप्रोडक्ट पाइपलाइन परियोजना का भी उद्घाटन करेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री पूर्वाह्न 11.00 बजे आईआईटी कानपुर के 54वें दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। शहरी गतिशीलता में सुधार करना प्रधानमंत्री के प्रमुख फोकस क्षेत्रों में से एक रहा है। कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के पूर्ण खंड का उद्घाटन इस दिशा में एक और बड़ा कदम है। यह आईआईटी कानपुर से मोती झील तक नौ किलोमीटर लंबा खंड है। प्रधानमंत्री कानपुर मेट्रो रेल परियोजना का निरीक्षण करेंगे और आईआईटी मेट्रो स्टेशन से गीता नगर तक मेट्रो की सवारी करेंगे। कानपुर में मेट्रो रेल परियोजना की पूरी लंबाई 32 किलोमीटर है, और इसे 11,000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री बीना-पनकी मल्टीप्रोडक्ट पाइपलाइन परियोजना का उद्घाटन करेंगे। 356 किलोमीटर लंबी इस परियोजना की क्षमता लगभग 30.45 लाख टन प्रति वर्ष है। मध्य प्रदेश की बीना रिफाइनरी से लेकर कानपुर के पनकी तक फैली इस परियोजना को 1500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया गया है। यह क्षेत्र में बीना रिफाइनरी से पेट्रोलियम उत्पादों को पहुंचाने में मदद करेगी। इससे पहले श्री मोदी आईआईटी कानपुर के 54वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगे। समारोह में छात्रों को राष्ट्रीय ब्लॉकचैन परियोजना के तहत संस्थान में विकसित एक आंतरिक ब्लॉकचैन संचालित तकनीक के माध्यम से डिजिटल डिग्री प्रदान की जाएगी। प्रधानमंत्री ब्लॉकचेन आधारित डिजिटल डिग्रियों का शुभारंभ करेंगे। ये डिजिटल डिग्री विश्व स्तर पर सत्यापित की जा सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं: