प्रशासन ने नहीं दी पीडीपी यूथ सम्मेलन की अनुमति - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 दिसंबर 2021

प्रशासन ने नहीं दी पीडीपी यूथ सम्मेलन की अनुमति

pdp-not-get-permission-for-youth-meting
श्रीनगर 12 दिसंबर. जम्मू कश्मीर प्रशासन ने रविवार को सुरक्षा तथा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने का हवाला देकर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) को यूथ सम्मेलन की अनुमति नहीं दी तथा पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के गुप्कर निवास पर सुरक्षा बढ़ा दी। पुलिस प्रवक्ता ने सुश्री महबूबा को नजरबंद किये जाने की सूचना को खारिज कर दिया। स्थानीय अधिकारियों ने हालांकि पीडीपी को कोविड-19 और सुरक्षा के मद्देनजर खुले क्षेत्र में सम्मेलन आयोजित करने की परामर्श दिया। उन्होंने बताया कि सुश्री मुफ्ती अपने फेयर व्यू गुप्कर घर पर पार्टी की युवा इकाई का सम्मेलन करना चाहती थी, लेकिन अधिकारियों ने इसकी इजाजत नहीं दी गयी ,क्योंकि यहां कम से कम 1000 लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति देने के लिए बड़े सुरक्षा की जरूरत होती और कोविड फैलने की आशंका थी। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि उच्च सुरक्षा वाले में कारों और अन्य वाहनों के साथ जाने वाले इतनी संख्या में लोगों के प्रवेश की उचित नहीं था और इस बात की आशंका थी कि इससे क्षेत्र में सुरक्षा खतरे में पड़ जाएगी। उन्होंने कहा कि नागरिकों और उच्च सुरक्षा प्रतिष्ठानों को लक्षित करने के लिए वाहनों शक्तिशाली विस्फोटक उपकरण (आईईडी) होने की विश्वसनीय सूचना थी हैं और गुप्कर रोड पर विभिन्न संगठनों और सुरक्षा दृष्टि से संवेदनशील प्रतिष्ठानों और खुफिया एजेंसियों के भवन हैं। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी इस क्षेत्र में इस तरह से लोगों के इकट्ठा होने और वाहनों का जामवड़ा लगाने की अनुमित नहीं दी गयी है। पूर्व में अति सुरक्षित गुप्कर रोड पर किसी सरकारी आवास पर किसी बड़ी राजनीतिक पार्टी को रैली आयोजित होने की जानकारी नहीं है। उन्होंने बताया कि दक्षिण श्रीनगर के कार्यकारी मजिस्ट्रेट ने सम्मेलन पर आवश्यक प्रतिबंधों के लिए कानूनी आदेश कोविड प्रोटोकॉल और गुप्कर क्षेत्र की सुरक्षा की संवेदनशीलता मद्देनजर जारी किये थे। दूसरी तरफ पीडीपी नेताओं ने कहा कि सुश्री महबूबा को नजरबंद करने का भी आरोप लगाया। सुश्री महबूबा के घर के बाहर कड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है तथा किसी को भी प्रवेश की अनुमति नहीं दी जा रही है। इसके बाद सम्मेलन में भाग लेने आ रहे पीडीपी के कार्यकर्ता श्रीनगर के झुंड में एकत्र हुए तथा ‘गुंडा गर्दी नहीं चलेगी’ तथा ‘गोडसे का हिंदुस्तान नहीं चलेगा’ आदि नारे लगाने लगे। इस बीच, सुश्री महबूबा ने ट्वीट किया,“उन्होंने आपको मेरे दरवाजे से दूर करने का कारण यह है कि वे आपकी आवाज से डरे हुए हैं और यह क्या हासिल कर सकता है। आपको आज मुझ तक पहुंचने से रोका गया लेकिन यह हमें सम्मान के साथ लोगों के अपने मिशन पर दृढ़ रहने के लिए और अधिक दृढ़ बना देता है।”

कोई टिप्पणी नहीं: