राहुल के नाबाद शतक से भारत मजबूत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 दिसंबर 2021

राहुल के नाबाद शतक से भारत मजबूत

rahul-century-india-strong
सेंचुरियन, 26 दिसंबर, सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (नाबाद 122) के शानदार शतक से भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन रविवार को 90 ओवर में तीन विकेट पर 272 रन का मजबूत स्कोर बना लिया। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारत ने ठोस शुरुआत करते हुए लंच तक बिना कोई विकेट खोये 83 रन और चायकाल तक दो विकेट खोकर 157 रन बना लिए। भारत ने आखिरी सत्र में एक विकेट गंवाया और स्कोर को 272 रन तक पहुंचा दिया। राहुल ने पूरी प्रतबद्धता और समर्पण के साथ बल्लेबाजी की और 248 गेंदों पर नाबाद 122 रन में 17 चौके और एक छक्का लगाया। दूसरे ओपनर मयंक अग्रवाल ने 123 गेंदों में नौ चौकों की मदद से 60 रन, कप्तान विराट कोहली ने 94 गेंदों में चार चौकों के सहारे 35 रन और अजिंक्या रहाणे ने 81 गेंदों में आठ चौकों के सहारे नाबाद 40 रन बनाये। भारत के तीनों विकेट दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लुंगी एनगिदी के हिस्से में गए। एनगिदी ने 17 ओवर में 45 रन देकर तीनों विकेट लिए। अन्य कोई गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ पाया। लोकेश राहुल ने लंच तक नाबाद 29 रन बनाये थे जबकि मयंक अग्रवाल ने नाबाद 46 रन बनाये थे । सुबह के सत्र में दोनों भारतीय बल्लेबाजों ने दक्षिण अफ़्रीकी गेंदबाजों का पूरी कुशलता से सामना किया। पहले सत्र में कोई विकेट नहीं गंवाने वाले भारत ने दूसरे सत्र में दो विकेट गंवाए लेकिन कप्तान विराट ने राहुल का अच्छा साथ दिया और दोनों स्कोर को चायकाल तक 157 रन तक ले गए। लंच के बाद मयंक अपने खाते में 14 रन जोड़कर लुंगी एनगिदी की गेंद पर पगबाधा आउट हो गए। अम्पायर ने नॉट आउट दिया लेकिन दक्षिण अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर ने डीआरएस का सहारा लिया। अम्पायर को अपना फैसला बदलने के लिए मजबूर होना पड़ा। एनगिदी ने अगली गेंद पर चेतेश्वर पुजारा को लेग साइड में पीटरसन के हाथों कैच करा दिया। पुजारा पहली गेंद पर आउट हो गए। मयंक ने 123 गेंदों पर नौ चौकों की मदद से 60 रन बनाये। चायकाल के समय राहुल 166 गेंदों पर 11 चौकों की मदद से 68 और विराट 54 गेंदों में दो चौकों की मदद से 19 रन बनाकर क्रीज पर थे। चायकाल के बाद जमकर खेल रहे विराट अचानक अपनी एकाग्रता खो बैठे और एनगिदी की बाहर जाती गेंद पर बल्ला लगाकर मुल्डर को कैच थमा बैठे। विराट चाहते तो इस गेंद को छोड़ भी सकते थे लेकिन उन्होंने अपना बल्ला लगाया और स्लिप में कैच थमा बैठे। विराट का विकेट 199 के स्कोर पर गिरा। विराट का विकेट गिराने के बाद मैदान पर उतरे रहाणे ने काफी कुशलता के साथ बल्लेबाजी की और कुछ अच्छे चौके लगाए। खराब दौर से गुजर रहे रहाणे ने विश्चसनीय खेल दिखाया और राहुल का अच्छा साथ दिया। दोनों ने चौथे विकेट की अविजित साझेदारी में 73 रन जोड़ डाले हैं। इस बीच 99 रन पर कुछ समय गुजारने वाले राहुल ने चौका लगाकर अपना सातवां शतक पूरा किया। राहुल के शतक पूरा करते ही कोच राहुल द्रविड़ सहित पूरे भारतीय खेमे ने अपनी जगह खड़े होकर तालियां बजाते हुए उनका अभिवादन किया। एशिया से बाहर किसी टेस्ट मैच के पहले दिन शतक बनाने वाले राहुल दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं। इससे पहले यह उपलब्धि मुरली विजय को हासिल थी। दक्षिण अफ्रीका ने 80 ओवर पूरे होने के बाद दूसरी नयी गेंद ली लेकिन कोई भी गेंदबाज दोनों भारतीय बल्लेबाजों पर असर नहीं छोड़ पाया। 

कोई टिप्पणी नहीं: