मोदी जैसा संकटमोचक नेतृत्व है हमारे पास : नकवी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 दिसंबर 2021

मोदी जैसा संकटमोचक नेतृत्व है हमारे पास : नकवी

we-have-leader-like-modi-naqwi
धुले 26 दिसंबर, केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रविवार को कहा कि सदी की महामारी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा संकटमोचक नेतृत्व हमारे पास है ,जिन्होंने दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश को सदी की सबसे बड़ी आपदा कोरोना से बाहर निकालने में ‘फ्रंट से फाइट’ की है। श्री नकवी ने यहां विभिन्न विकास परियोजनाओं के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि श्री मोदी ने लोगों की सेहत और सलामती के लिए पर्याप्त सुविधा और संसाधन उपलब्ध कराये और नेतृत्व के प्रति विश्वास ने देश के लोगों के संयम और सावधानी के सकारात्मक संकल्प को पुख्ता किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने हर वर्ग, समुदाय, क्षेत्र, धर्म की सेहत और सलामती के लिए काम किया है। श्री नकवी ने कहा आज कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा 141 करोड़ के पार पहुँच गया है। देश के 80 करोड़ से ज्यादा जरूरतमंदों को निशुल्क अनाज मुहैया कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि घबराहट होने की जगह एहतियात, निवारण और पर्याप्त सुविधाओं को प्राथमिकता दी। वर्ष 2020 में जब कोरोना की पहली लहर भारत में आयी थी तब कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए पर्याप्त संसाधन उपलब्ध नहीं थे। आज भारत कोरोना टेस्टिंग किट, डेडिकेटेड कोरोना अस्पताल, डेडिकेटेड कोरोना हेल्थ सेंटर, आइसोलेशन बेड, आईसीयू बेड, एन-95 मास्क का उत्पादन, पीपीई किट का निर्माण, मेडिकल ऑक्सीजन, वेंटीलेटर का उत्पादन हो, या फिर वैक्सीन हो भारत आत्मनिर्भर हो गया है। जनवरी 2020 से पहले मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन मात्र 900 टन प्रतिदिन था, जो बढ़ कर प्रतिदिन 9000 टन से ज्यादा हो गया है।


केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश भर में 80 हजार से ज्यादा वैक्सीनेशन सेंटर चल रहे हैं। भारत में 2600 से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग लैब हैं, प्रतिदिन 12 लाख से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग किट का उत्पादन हो रहा है। देश में 2000 से ज्यादा डेडिकेटेड कोरोना अस्पताल तैयार हुए, चार हजार से ज्यादा डेडिकेटेड कोरोना हेल्थ सेंटर, लगभग 13 हजार कोरोना केयर सेंटर हैं। जहाँ 2020 की शुरुआत में मात्र 10 हजार आइसोलेशन बेड (ऑक्सीजन रहित/ऑक्सीजन सहित) थे, वहीं अब बढ़ कर 15 लाख से अधिक हो गए हैं। पहले मात्र दो हजार आईसीयू बेड थे, वहीं अब बढ़ कर 85 हजार से अधिक हो गए हैं। भारत में ही प्रतिदिन पांच लाख से अधिक स्वदेशी एन-95 मास्क का उत्पादन हो रहा है। देश में ही पांच लाख से अधिक पीपीई किट का प्रतिदिन निर्माण हो रहा है। देश में अब चार लाख से ज्यादा वेंटीलेटर का प्रतिवर्ष उत्पादन हो रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ राजनैतिक दलों ने देश के प्रगति, समृद्धि, एकता को ‘पोस्टपेड पॉलिटिकल पाखण्ड’ के जरिये पटरी से उतारने का प्रयास किया है। हमें इस तरह के ‘पोस्टपेड पॉलिटिकल पाखडं’ और षड़यंत्र से होशियार रहना होगा। ऐसे लोग देश की बढ़ती साख पर अपनी साजिशों की खुराफात से नुकसान पहुंचाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ‘भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता और कुशासन’ के ‘राजनीतिक चरित्र’ को ख़त्म कर सुशासन और विकास के मार्ग पर देश को आगे बढ़ा रहे हैं। मोदी सरकार ने ‘कट, कमीशन, करप्शन, क्राइम, कम्युनलिज़्म की विरासत’ को ‘सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण और सुशासन के संकल्प’ से ध्वस्त किया है। दंगों और दबंगों की सियासत पर मोदी युग ने विराम लगा कर ‘गरिमा के साथ विकास’ का मजबूत सफल सफर शुरू किया है। श्री नकवी ने कहा कि ‘समावेशी सशक्तिकरण’ श्री मोदी के लिए ‘राष्ट्रधर्म’ एवं सर्वस्पर्शी विकास ‘राष्ट्रनीति’ है। मोदी सरकार ने समाज के सभी तबकों को सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण का बराबर का हिस्सेदार-भागीदार बनाया है। मोदी युग ‘इकबाल, इंसाफ और ईमान’ का युग है। जहां समावेशी विकास, सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण, देश की सुरक्षा और समृद्धि प्राथमिकता है। श्री नकवी ने आज धुले के दोंडाईचा में सामाजिक सभागार, सड़कों सहित करोड़ों रुपए की लागत से तैयार विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। उन्होंने दोंडाईचा में ‘एकता चौक’ के भूमिपूजन कार्यक्रम में भी सम्मिलित हुए और जनसभाओं को भी सम्बोधित किया। 

कोई टिप्पणी नहीं: