विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 दिसंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 दिसंबर

ओबीसी आरक्षण पर भाजपा झूठ की राजनीति कर रही, पिछड़ा वर्ग कांग्रेस ने सौंपा ज्ञापन


vidisha news
विदिशा:- त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण निरस्त होने की वजह से पिछड़ा वर्ग में सरकार के खिलाफ नाराजगी का माहौल है।आज जिला कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग द्वारा जिलाध्यक्ष डॉ शिवराज पिपरोदिया के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता ढपलो के साथ एसडीएम कार्यालय पहुंचे और राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर इस मामले में हस्तक्षेप कर मध्यप्रदेश की 52 प्रतिशत आबादी को उनका हक दिलवाने के लिए मध्यप्रदेश सरकार को निर्देश जारी करने का अनुरोध किया। पिछड़ा वर्ग विभाग जिलाध्यक्ष डॉ शिवराज पिपरोदिया ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के निर्णय से यह लगता है कि मौजूदा भाजपा सरकार ओबीसी आरक्षण समाप्त करने की साजिश कर रही है। मध्यप्रदेश में पिछड़ो की आबादी 52 फीसदी है और उन्हे स्थायी संस्थाओं में 25 फीसदी आरक्षण पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के समय से मिला हुआ था। भाजपा का आरक्षण विरोधी चेहरा सामने आ गया है, वह एक तरफ अपनी जिम्मेदारी से बचना भी चाहती है और दूसरी तरफ श्रेय लेने के लिये आगे हो जाती है। ब्लॉक कांग्रेस विदिशा ग्रामीण अध्यक्ष दीवान किरार ने कहा कि भाजपा झूठ की राजनीति करते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता श्री विवेक तनखा पर अनर्गल आरोप लगा रही है जबकि उन्होने स्पष्ट कर दिया है कि वे रोटेशन प्रणाली को लेकर न्यायालय गये थे, आरक्षण के मुद्दे पर नही। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में वर्ष 2019 में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की आरक्षण की प्रक्रिया की गई थी उसे दरकिनार कर भाजपा 2014 के आरक्षण पर चुनाव करना चाहती है जो कि पंचायती राज अधिनियम की भावना के विरूद्ध  है और इसी मुद्दे पर जनहित याचिका दायर की गई थी।  प्रदेश कांग्रेस सचिव रवि साहू ने कहा कि संविधान व कानून से बड़ा कोई नही है। गरीब पिछड़ो को उनका हक अधिकार दिलाने के लिये कांग्रेस पार्टी संकल्पबद्ध है।सरकार की जवाबदेही है कि वह सही तथ्य न्यायालय में प्रस्तुत कर अन्य पिछड़ा वर्ग को मिल रहा आरक्षण लागू करवाए।  इस अवसर पर लालू लोधी, कपिल गोस्वामी, जितेंद्र पाल, मुलायम कुशवाह, दिनेश मालवीय, अंकित मीणा, एमएल ‌लहरिया, गुलाब सिंह सिलावट, हरिनारायण मीणा के साथ असंगठित कामगार कांग्रेस अध्यक्ष अजय कटारे,जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष वैभव भारद्वाज, सुशील शर्मा, अरुण अवस्थी, विधानसभा अध्यक्ष संयोग जैन, नवीन कोठारी, सुमित मोतियानी, विप्पे रघुवंशी, राजकुमार डिडोत, शोभित अग्रवाल, राहुल रघुवंशी, टीटू जाटव, गोलू शर्मा सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 


अधिकारियों, कर्मचारियों ने सुशासन की शपथ ली


भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस 25 दिसम्बर के एक दिन पूर्व आज 24 दिसम्बर को सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज प्रातः 11 बजे नवीन कलेक्ट्रेट परिसर में सुशासन की शपथ का वाचन किया जिसे डिप्टी कलेक्टर द्वय श्रीमती आरती यादव, श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू सहित अन्य विभागो के जिलाधिकारी व कलेक्ट्रेट कार्यालय के कर्मचारियों ने दोहराया है।


जिले में भी रात्रिकालीन कर्फ्यू प्रभावशील


सीमावर्ती राज्यों में कोविड-19 के ओमीक्रोन वैरीएंट के पॉजिटिव केसेज तथा एक्टिव केसेज की संख्या में बढ़ोतरी और तृतीय लहर की आशंका के दृष्टिगत मध्यप्रदेश शासन गृह विभाग मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशो का विदिशा जिले में भी अक्षरशः क्रियान्वयनकिया जाएगा। उपरोक्त परिपेक्ष्य में कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री उमाशंकर भार्गव द्वारा दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 एवं नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए संपूर्ण विदिशा जिले की राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश पर्यन्त तक के लिए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि जिले में रात्रि 11 बजे से प्रातः 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू प्रभावशील रहेगा। समस्त उद्योगों एवं औद्योगिक मजदूरों, उद्योग हेतु कच्चाध्तैयार माल उद्योग के अधिकारियों, कर्मचारियों को प्रतिबंध से छूट रहेगी। समस्त केमिस्ट, अस्पताल नर्सिंग होम, मेडिकल इंश्योरेंस कंपनीज, अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएं एवं अत्यावश्यक सेवाओं के लिए आवागमन में प्रतिबंध से छूट रहेगी। समस्त सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, थिएटर, जिम, कोचिंग क्लासेस, स्विमिंग पूल, क्लब स्टेडियम में 18 वर्ष से कम आयु के दर्शकों को एंट्री के लिए दो डोज टीकाकरण का बंधन नहीं है। परंतु 18 वर्ष से अधिक आयु के केवल उन लोगों को ही प्रवेश की अनुमति रहेगी, जिन्होंने कोविड-19 के दोनों टीके लगवाए हैं। समस्त सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, थिएटर, जिम कोचिंग क्लासेस, स्विमिंग पूल स्टाफ को दोनों टीके लगवाना आवश्यक होगा। समस्त शासकीय सेवकों से अपेक्षा है कि वह कोविड-19 कि दोनों डोज लें। समस्त विभागाध्यक्षध् कार्यालय प्रमुख ऐसे शासकीय सेवकों के नाम सूचीबद्ध करेंगे। जिसके द्वारा दोनों टीके नहीं लगाए हैं। तथा उन्हें दोनों टीके लगवाना सुनिश्चित करेंगे। समस्त स्कूलों, कॉलेजों, हॉस्टलों में कार्यरत प्राचार्य, शिक्षक, संचालक, स्टाफ तथा अध्ययनरत 18 वर्ष से अधिक आयु के छात्र छात्राओं से अपेक्षा है कि वे कोविड-19 के टीके की दोनों डोज लें। ऐसे स्टाफ कर्मियों छात्र-छात्राओं जिनके द्वारा दोनों टीके नहीं लगवाए गए हैं। उन्हें दोनों टीके लगवाना प्राचार्य, संचालक सुनिश्चित करें। समस्त मार्केटप्लेक्स एवं मॉल के दुकानदारों तथा मेलों में दुकान लगाने वाले दुकानदारों से अपेक्षा है कि वे कोविड-19 टीके की दोनों डोज लें। जिन दुकानदारों द्वारा दोनों टीके नहीं लगाए गए हैं। उन्हें दोनों टीके लगवाना मार्केट एसोसिएशन, माल प्रबंधन, मेला आयोजक सुनिश्चित करें। समस्त कार्यपालक दंडाधिकारी मार्केट में भ्रमण कर सुनिश्चित करेंगे कि समस्त दुकानदार दुकानों पर कार्य करने वाले कर्मचारियों द्वारा टीके के दोनों डोज लिए गए हों। जिन दुकानदारों, दुकानों पर कार्य करने वाले कर्मचारियों एवं दुकानों पर आने वाले ग्राहकों द्वारा दोनों डोज नहीं लगवाए गए हैं। उनको दोनों टीके लगवाने हेतु आवश्यक समझाईश दी जाकर टीकाकरण सुनिश्चित कराया जावे। कोविड उपयुक्त व्यवहार जैसे मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग आदि का पालन भी सुनिश्चित करना अनिवार्य होगा। कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वाले एवं मास्क नहीं लगाने वाले व्यक्तियों पर नियमानुसार जुर्माना वसूली की कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश आगामी आदेश पर अंत तक पूर्ण रूप से प्रभावी होकर प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 एवं अन्य विधिक प्रावधानों के अंतर्गत कार्यवाही की जावेगी। 


उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ


vidisha news
राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस 24 दिसम्बर को जिला मुख्यालय पर एक दिवसीय उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। नवीन कलेक्ट्रेट के भूतल पर स्थित सभागार कक्ष में अतिथियों के द्वारा उपभोक्ता जागरूकता के उपायों तथा कानूनी प्रावधानो की विस्तृत जानकारी दी गई। आयोजन स्थल पर उपभोक्ताओं को जागरूक करने संबंधी प्रदर्शनी भी आयोजित की गई थी। उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने कहा कि उपभोक्ताओं की जागरूकता के लिए हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे है इन सबके पीछे यही मंशा है कि उपभोक्तागणों का ठगी से बचाव हो सकें। उपभोक्ता स्वंय जागरूक हो ऐसी ही प्रेरणा अन्य को दें। उन्होंने कहा कि हर सामग्री जो क्रय की जाती है उसका पक्का बिल अवश्य प्राप्त करें जिससे शासन को मिलने वाले विभिन्न प्रकार के करो की प्राप्ति हो सकें वहीं क्रय सामग्री पूर्ण गुणवत्ता पर खरी ना उतरे तो हमें उसे उपभोक्ता में दायर करने के लिए बिल अति आवश्यक है। कार्यक्रम में को अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत तथा उपभोक्ता हितैषी मंच के प्रतिनिधियों द्वारा सम्बोधित किया गया। जिसमें उपभोक्ताओं को विभिन्न प्रकार की धोखाधडी से बचाव हेतु क्या करें क्या ना करें की जानकारी दी गई। वही ऑन लाइन क्रय सामग्री के दौरान बरती जाने वाली सावधानी तथा नकली खाद पदार्थो की धरपकड़ कराने में उपभोक्ताओं की भूमिका को रेखांकित किया गया है। कार्यक्रम को श्री अतुल शाह, श्री प्रदीप जैन, श्री अजय टण्डन, श्री ओपी चतुर्वेदी, श्रीमती कीर्ति प्रकाश शर्मा और श्री विनोद शाह ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम स्थल पर लीड़ बैंक, ऊर्जा विभाग, नापतौल, स्वास्थ्य विभाग, खाद्य सुरक्षा विभाग, एलपीजी डीलरों के द्वारा जनजागरूक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। इसके अलावा आयोजन स्थल पर उपभोक्ता जागरूकता संबंधी प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था वही डिजीटल बाजारों के उदभव के कारण उपभोक्ता संरक्षण में चुनौतियों से अवगत एवं समाधान की जानकारी विषय विशेषज्ञों द्वारा दी गई थी। कार्यक्रम का संचालन समाजसेवी श्री अतुल शाह ने व्यक्त किया। जबकि आंगतुको के प्रति आभार जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू के द्वारा व्यक्त किया गया।


विदिशा जिले में ग्रामीण परिवहन सेवा मॉडल के रूप में क्रियान्वित होगी


vidisha news
विदिशा जिले में ग्रामीण परिवहन सेवा का संचालन मॉडल के रूप में किया जाएगा इसके पश्चात् अन्य जिलो में उपरोक्त मॉडल को लागू किया जाएगा के परिपेक्ष्य में की जाने वाली तैयारियों का जायजा आज परिवहन आयुक्त श्री मुकेश जैन के द्वारा जिला पंचायत में बैठक आयोजित कर लिया गया है। जिला पंचायत सीईओ के चेम्बर में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा के अलावा सभी जनपदों के सीईओ मौजूद रहे। परिवहन आयुक्त श्री जैन ने बताया कि ग्रामीण परिवहन सेवा के लिए मास्टर प्लान के रूप में विदिशा जिले का चयन किया गया है। इसके पीछे राजधानी के समीप होना साथ ही आबादी वाले क्षेत्रों में सुगमता से वाहनो की उपलब्धता सुनिश्चित करानी है। प्रत्येक रूट के लिए कम से कम दो से तीन गांव को जोड़ा जाएगा। खासकर ऐसे क्षेत्र जहां स्कूल, कॉलेज, कृषि उपज मंडी अथवा अन्य सार्वजनिक हितैषी कार्यो के संपादन हेतु आवागमन अधिक होता है। ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों, जहां वाहन सुविधा नहीं है। उन्हें प्राथमिकता के आधार पर क्लस्टर के रूप में चिन्हांकन कर परिवहन की सुविधा ग्रामीणजनों को मुहैया कराई जाएगी। परिवहन आयुक्त श्री मुकेश जैन ने बताया कि उपरोक्त मार्गो पर 15 से 20 सीटर वाहनों की अनुमतियां प्रदाय की जाएगी। ग्रामीण परिवहन सेवा में सहभागिता निभाने वाले ऐसे ट्रांसपोर्टर जिनके वाहन मुख्य सडकों के अलावा अन्य जिलो को सेवाएं मुहैया करा रहे है इस प्रकार के ट्रांसपोर्टरों के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रो में वाहनो की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है तो उनके मुख्य मार्गो पर संचालित होने वाली बसो के करो में छूट दी जाएगी। परिवहन आयुक्त श्री जैन ने रूट चिन्हांकन के दौरान किन बिन्दुओं पर विशेष ध्यान दें के संबंध में बताया कि ऐसे रास्तो का चयन करें जहां परिवहन सेवाएं नही है साथ ही कौन-कौन से गांव मार्ग में आते है और कितनी आबादी लाभांवित होंगी इत्यादि की जानकारी प्लान में स्पष्ट रूप से रेखांकित की जाए। उन्होंने कहा कि उपरोक्त मॉडल का मुख्य उद्धेश्य ग्रामीण क्षेत्रों को अधिक से अधिक यातायात वाहन सुविधा मुहैया कराना है ताकि आमजन मुख्य मार्ग के उपरांत अपने .घरों तक सुगमता से पहुंच सकें। उन्होंने बताया कि एक मार्ग में एक से अधिक वाहनो को भी अनुमति प्रदाय की जा सकती है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने समस्त जनपदों के सीईओ को निर्देश दिए है कि मुख्य मार्ग से दूरस्थ क्षेत्रों के ऐसे गांव जहां आबादी अधिक है और आवागमन साधन सीमित है उन गांवों को भी ग्रामीण परिवहन सेवा के खण्ड स्तरीय प्लान में अनिवार्य रूप से शामिल किया जाए।


ईव्हीएम का द्वितीय रेण्डमाइजेशन सम्पन्न


vidisha news
त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021 के तहत जनपद और जिला पंचायत सदस्यों हेतु मतदान ईव्हीएम पर मतदाता मतदान कर सकेंगे। विदिशा जिले में प्रथम चरण के तहत छह जनवरी को होने वाले मतदान हेतु उपयोग में लाई जाने वाली ईव्हीएम मशीनों का द्वितीय रेण्डमाइजेशन कार्य आज सम्पन्न हुआ। गौरतलब हो कि विदिशा जिले में प्रथम चरण के तहत विकासखण्ड विदिशा और बासौदा में मतदान छह जनवरी को होगा। उपरोक्त विकासखण्डो के मतदान केन्द्रो पर उपयोग में लाई जाने वाली ईव्हीएम मशीनो का रेण्डमाइजेशन कार्य अभ्यर्थियों व जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ है। विदिशा विकासखण्ड के लिए रेण्डमाइजेशन कार्य नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में विदिशा एसडीएम व नोडल अधिकारी श्री गोपाल सिंह वर्मा की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ है इसी प्रकार बासौदा में द्वितीय रेण्डमाइजेशन कार्य उत्कृष्ट विद्यालय में सम्पन्न हुआ है। रेण्डमाइजेशन कार्य को सम्पन्न कराने वाले एनआईसी के डीआईओ श्री एमएल अहिरवार ने बताया कि ओबीसी वार्डो को छोड़कर शेष अन्य मतदान केन्द्रो के लिए ईव्हीएम मशीनो का रेण्डमाइजेशन कार्य कर मतदान केन्द्रवार सीयू और बीयू आवंटित किए गए है। श्री अहिरवार ने बताया कि विदिशा विकासखण्ड के 240 मतदान केन्द्रो पर जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के अभ्यर्थी हेतु ईव्हीएम के माध्यम से मतदान प्रक्रिया सम्पन्न होगी इसके लिए 472 सीयू तथा 969 बीयू का उपयोग किया जाएगा। जबकि बासौदा जनपद पंचायत के 287 मतदान केन्द्रो में से 26 ओबीसी के मतदान केन्द्रो को छोड़कर शेष अन्य मतदान केन्द्र 261 हेतु ईव्हीएम का रेण्डमाजेशन कार्य सम्पन्न हुआ है। बासौदा जनपद पंचायत में 261 मतदान केन्द्रो के लिए 493 कंट्रोल यूनिट (सीयू)  तथा 763 बैलेट यूनिट (बीयू) का उपयोग किया जाएगा।


मतदान अधिकारी प्रशिक्षित हुए


vidisha news
त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन प्रक्रिया के मतदान संबंधी कार्यो को सुव्यवस्थित रूप से राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार क्रियान्वित हो इस हेतु जिले में नियुक्त पीठासीन अधिकारी व पी-वन के लिए पूर्व में प्रशिक्षण आयोजित किया गया था। ऐसे मतदान दल अधिकारी जो पूर्व के प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपरिहार्य कारणों से सम्मिलित नही हो पाए थे उन सबके लिए पुनः प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। एनआईसी के डीआईओ तथा नोडल अधिकारी श्री एमएल अहिरवार ने बताया कि जिले की सभी तहसीलो में एक साथ ततसंबंधी प्रशिक्षण का आयोजन शुक्रवार 24 दिसम्बर को आयोजित किया गया था जिला मुख्यालय पर उक्त प्रशिक्षण पुरानी कलेक्ट्रेट के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुआ है। प्रत्येक तहसील स्तरीय मास्टर ट्रेनर्सो के द्वारा पीठासीन अधिकारी व पी-वन के दायित्वों का निर्वहन करने वाले अधिकारियों को प्रशिक्षित किया गया है। जिसमें मुख्य रूप से ईव्हीएम का संचालन तथा पंच, सरपंच हेतु मतदान मतपत्र के द्वारा दिया जाएगा इसके लिए किए मतदान केन्द्रो पर किए जाने वाले प्रबंधो हेतु राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइड लाइन से अवगत कराते हुए उनका अक्षरशः क्रियान्वयन कराया जाना सुनिश्चित करने की सीख दी गई है। प्रशिक्षण में शामिल प्रशिक्षणार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान मास्टर ट्रेनर्सो द्वारा मौके पर तत्काल किया गया है। 


विशेष जांच पड़ताल में 112 आटो रिक्शा के विरूद्व चालानी कार्यवाही


न्यायालय द्वारा जारी आदेश के अनुपालन में परिवहन आयुक्त श्री मुकेश जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो का क्रियान्वयन प्रदेश के अन्य जिलो के साथ-साथ विदिशा जिले में किया जा रहा है। जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा ने बताया कि विदिशा जिले में भी आटो रिक्शा की गहन जांच पड़ताल कर परिवहन नियमों का उल्लंघन करते पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। जिला परिवहन अधिकारी श्री वर्मा ने बताया कि विदिशा जिले में अभियान के तहत अब तक 112 आटो रिक्शा चालकों के विरूद्व चालानी कार्यवाही की गई है जिसमें 81 आटो रिक्शा के प्रकरणों से शमन शुल्क पांच लाख 52 हजार 315 रूपए वसूल किए गए है तथा प्रकरणों का निराकरण हेतु चालान न्यायालय में प्रस्तुत किए गए हैं। आटो रिक्शा के प्रपत्रों को पूर्ण करने हेतु शनिवार 25 दिसम्बर को कार्यालयीन समय में जिला परिवहन कार्यालय में एक विशेष शिविर का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में चल रहे 361 आटो रिक्शा के फिटनेस एवं 367 आटो रिक्शा के परमिट जारी किए गए है।

कोई टिप्पणी नहीं: