सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 3 जनवरी 2022

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जनवरी

सीहोर वाइस दस मैच जीतकर जिला स्तरीय बेबी लीग प्रतियोगिता के टाप पर आगामी सात जनवरी को खेला जाएगा प्रतियोगिता का फाइनल


sehore news
सीहोर। जिला फुटबॉल संघ द्वारा आयोजित स्वर्गीय प्रकाश व्यास काका की स्मृति में जिला स्तरीय बेबी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता के दूसरे चरण में हुए मैचों में सबसे अधिक मैच सीहोर वाइस ने दर्ज किए है। अब तक दस मैच खेले और सभी में बड़ें अंतराल से विरोधी टीम के खिलाफ जीत दर्ज की है। इसके अलावा दूसरे स्थान पर सीहोर चिल्ड्रन है जिसने दस में से सात मैच जीते है। सोमवार को तीन मैच खेले गए। पहला मैच सीहोर क्लब और सीहोर ग्रीन के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर ग्रीन 1-0 से विजय रही थी और ग्रीन की तरफ से आर्यन ठाकुर ने एक गोल किया प्रतियोगिता में दूसरा मैच मंडी बॉयज और सीहोर मिनी के मध्य खेला गया जिसमें मंडीबॉयज 3-0 से विजय रही मंडी बॉयज की तरफ से कृष्णा यादव ने एक गोल किया रोनक ने एक गोल किया रणबीर ने एक गोल किया प्रतियोगिता में तीसरा मैच सीहोर वॉइस विरोधी और चिल्ड्रन के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर वॉइस 7-3 से विजय रही सीहोर वॉइस की तरफ से जैद ने चार गोल किए युवराज ने एक गोल किया मिस्टी ने दो गोल किए सीहोर चिल्ड्रंस की तरफ से आवेश ने दो गोल किए वेदांत ने एक गोल किया। सोमवार को जिला फुटबॉल संघ के वरिष्ठ खिलाड़ी एवं पदाधिकारी कमलेश अग्रवाल ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कहा कि जिलाधीश चंद्रमोहन ठाकुर के हम बहुत आभारी हैं जिनका आशीर्वाद एवं खेल जगत को जो सहयोग मिल रहा है उसके फल स्वरुप सीहोर जिले की प्रतिभा श्रेष्ठ प्रदर्शन कर जिला एवं प्रदेश को गौरवान्वित कर रही है पिछले माह हमने जिलाधीश के सहयोग से मध्यप्रदेश प्रीमियर लीग फुटबॉल प्रतियोगिता का आयोजन किया था जिसके फलस्वरूप इतिहास में पहली बार सीहोर जिले के 4 खिलाड़ियों का चयन मध्य प्रदेश संतोष ट्रॉफी टीम में हुआ था। सभी खेल संघों की ओर से बहुत-बहुत बधाई एवं बधाई देने वालों में विधायक सुदेश राय मध्य प्रदेश फुटबॉल संघ के संरक्षक रमेश सक्सेना जिला फुटबॉल संघ के चेयरमैन अखिलेश राय, उपाध्यक्ष सुधीर व्यास जिला फुटबॉल संघ के हिमांशु राय अजय मिश्रा बिन्नू जयराम मधुर विजयवर्गीय, मनोज कन्नोजिया, वीरु वर्मा, मदन कुशवाहा, प्रभात मेवाड़ा, अताउल्ला, संजय शर्मा, सत्यनारायण वारिया आदि ने बधाई दी है। 


जल के लिए छाती चीर दो धरती सहन कर लेती है, बेटियों की हत्या से माता क्रोधित हो हिल जाती है- पंडित मनोज आचार्य  


sehore news
सीहोर। जल के लिए धरती की छाती चीर दी जाती है धरती माता इस दुख को सहन कर लेती है लेकिन माता सीता को जन्म देनी वाली धरती माता बेटियों की हत्या से कोधित होकर हिल जाती है। ग्रंथों में बेटी को लक्ष्मी,दुर्गा, सरस्वती कहा जाता है कन्या पूजनीय है लेकिन राक्षस प्रजाती के लोग माता के पेट में हीं हत्या कर रहे है कानून से भी नहीं डर रहे है उक्त विचार सोमवार को राजा परिक्षित  जन्म और शुक्रदेव जी की कथा सुनाते हुए पंडित मनोज कृष्ण आचार्य ने कहीं। यजमानों ने ब्राहम्णों के सानिध्य में भागवत ग्रंथ की पूजा अर्चना की। भोपाल नाका स्थित कॉलोनी में महिला मंडल के द्वारा आयोजित श्रीमदभागवत कथा के दूसरे दिन कथा व्यास पंडित मनोज कृष्ण आचार्य ने श्रद्धालुओं के मध्य अनेक कथा प्रसंगों के माध्यम से भक्ति का मार्ग दिखाया। कथा दोपहर एक बजे से शाम चार बजे तक की जा रहीं है। भोपाल नाका महिला मंडल के द्वारा नागरिकों से कथा श्रवण करने पहुंचे की अपील की गई है। 


मंदिर परिसर में कचरा फेंकने वालों पर की जाए कार्रवाई


sehore news
सीहोर। शहर के छावनी स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर परिसर में क्षेत्रवासियों सहित नगर पालिका के द्वारा कचरा डाला जाता है। इसके लेकर परमार समाज और श्रद्धालुओं ने जिला प्रशासन से अपील की है कि मंदिर परिसर में गंदगी करने वालों पर कार्रवाई की जाए। इस संबंध में सोमवार को परमार समाज के बने सिंह परमार सहित अन्य लोगों ने जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा है। जानकारी देते हुए चल समारोह अध्यक्ष विष्णु परमार ने बताया कि सोमवार को शहर के प्राचीन जगदीश मंदिर परिसर में साफ-सफाई की गई। यहां पर जेसीबी के द्वारा मंदिर परिसर का समतलीकरण सहित अन्य कार्य किया गया। उन्होंने बताया कि लंबे समय से मंदिर परिसर में क्षेत्रवासियों और नगर पालिका के द्वारा कचरा डाला जाता है। जिससे मंदिर परिसर में आने-जाने वाले श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।  शहर के छावनी स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर हजारों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है। परमार समाज के राज गुरु 232 मंदिरों के जीर्णोद्धार व अखिल भारतीय धर्म संघ के अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्री 1008 पंडित काशीप्रसाद कटारे की प्रेरणा से इस मंदिर का जीर्णोद्धार सन 1961 में परमार समाज ने किया था। मंदिर में सौंदर्यीकरण के लिए गत दिनों पौधारोपण सहित अन्य कार्य भी किए जा रहे है। आने वालों दिनों में मंदिर की सुरक्षा के लिए बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाएगा। इसके पश्चात अन्य धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा। जिला प्रशासन से अपील करने वालों में चंदर सिंह मंडलोई, तुलसीराम पटेल, विष्णु परमार, बने सिंह, नंद किशोर परमार, विजय परमार, शेर सिंह, शिव परमार, विक्रम परमार, महेन्द्र सिंह परमार, वीर सिंह, गब्बर परमार, दशरथ परमार, भगवान सिंह, गगन खत्री, हीरु बेलानी, राकेश शर्मा, रामेश्वर सोनी, गोपाल राठौर, विष्णु सम्राट प्रजापति, पंडित कुणाल व्यास, पप्पू सेन, नरेन्द्र डाबी, नंद किशोर संधानी, विवेक श्रीवास्तव आदि शामिल है। 


मठ मानस प्रचार समिति ने कलेक्टर का सम्मान कर बताई अपनी समस्या


sehore news
सीहोर। शहर के प्रसिद्ध इंदौर नाका के समीपस्थ दशहरा वाला बाग मठ मानस प्रचार समिति के तत्वाधान में सोमवार को बड़ी संख्या में पदाधिकारियों और श्रद्धालुओं ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर को साफा बांधकर सम्मान किया और अपनी समस्या से अवगत किया। इस संबंध में जानकारी देते हुए समिति के अध्यक्ष सीतराम यादव ने बताया कि शहर के प्रसिद्ध मठ मंदिर में जाने का मार्ग वर्षों पुराना है जोकि विद्युत वितरण कंपनी ने बंद कर रखा है। जिसके कारण श्रद्धालुओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा श्रद्धालुओं को कृषकों के खेतों से होकर मंदिर में दर्शन करना पड़ रहा है। सोमवार को मठ मानस प्रचार समिति के श्रद्धालुओं ने बताया कि यह है कि मंदिर तक जाने के रास्ते में मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कंपनी द्वारा गेट लगाकर रास्ता अवरुद्ध किया गया है। जिससे मंदिर में जाने वाले सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं आते-जाते है। मठ जाने के लिए वर्षों पुराना रास्ता स्थित है जोकि राजस्व विभाग के नक्शे में दर्ज है परन्तु उक्त रास्ते को मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कंपनी द्वारा गेट लगाकर अवरूद्ध किया गया है। इसलिए प्रशासन से अपील है कि उक्त समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। प्रतिनिधि मंडल में महंत श्री हरिराम दास महाराज, सुधीर ठाकुर, अमर सिंह गौड़ पप्पू, अशोक बाबा यादव, राजा पहलवान, कमल प्रजापति, किशन राय, सीताराम घंटी, सचिन यादव, मयंक निगम और पंडित रमेशचंद्र उपाध्याय आदि शामिल थे।


पंचायत फोटोयुक्त मतदाता सूची वार्षिक पुनरीक्षण कार्यक्रम स्थगित


मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची वार्षिक पुनरीक्षण वर्ष-2022 के लिए कार्यक्रम आयोजित किया जाना था। इस वार्षिक पुनरीक्षण कार्यक्रम को निर्वाचन आयोग द्वारा आगामी आदेश तक स्थगित कर दिया गया है।


किशोर बालक-बालिकाओं के टीकाकरण अभियान में बच्चों ने दिखाया भारी उत्साह, अभियान के पहले दिन 25 हजार 66 बालक-बालिकाओं ने लगवाया कोविड का टीका


sehore news
जिले में 15 से 18 आयुवर्ग के किशोर बालक-बालिकाओं के कोविड टीकाकरण अभियान में पहले दिन बच्चों ने भारी उत्साह दिखाया। शाम 5.30 बजे तक प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में 25 हजार 66 किशोर बालक-बालिकाओं का कोविड टीकाकरण किया गया। जिले में 255 टीकाकरण केन्द्र बनाए गए थे। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने बताया कि जिले को टीकाकरण के लिए मिले 25000 के लक्ष्य के विरूद्ध 25066 किशोर बालक-बालिकाओं का टीकाकरण किया गया। कलेक्टर श्री ठाकुर ने  जिला प्रशासन, जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों, कोरोना वालेंटियर्स, मीडिया, रचनाकारों, प्रबुद्ध नागरिकों, खिलाड़ियों के सक्रिय सहयोग से अभियान के पहले दिन टीकाकरण के लिए सभी आभार व्यक्त किया। सुबह 09 बजे से ही बड़ी संख्या में बच्चे स्कूलों में बनाए गए कोविड टीकाकरण केन्द्रो में टीका लगवाने के लिए बालक-बालिकाओं का आना शुरू हो गया था। टीकाकरण के लिए आने वाले बच्चों को कोई परेशानी न हो इसके लिए टीकाकरण केन्द्र पर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई थी। टीका लगाने को लेकर बच्चे और अभिभावक जगरूक दिखे।


जिले में जनपदवार टीकाकरण की स्थिति

जिले में कुल 25066 किशोर बालक-बालिकाओं का टीकाकरण किया गया। जिले के सभी विकास खंडों में कुल 255 टीकाकरण केन्द्र आयोजित किए गए। आष्टा में 5767,  बुधनी में 3385, इछावर में 3310, नसरुल्लागंज में 3894, श्यामपुर में 5056 तथा सीहोर शहरी क्षेत्र में 3654 नागरिकों का टीकाकरण किया किया गया।


जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों ने किया शुभारंभ

जिले में अलग-अलग स्थानों पर बनाए गए टीकाकरण केन्द्रों में टीकाकरण का शुभारंभ जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों तथा प्रशानिक अधिकारियों द्वारा किया गया। उन्होंने टीका लगवाने वाले बच्चों का माला पहनाकर स्वागत किया। इस मौके पर उन्होंने बच्चों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग कोविड का टीका अवश्य लगवाएं एवं अपने आसपास के लोगों को भी टीकाकरण केन्द्रों पर लेकर आएं और उन्हें भी कोविड का टीका लगवाएं। सांसद श्री रमाकांत भार्गव, इछावर विधायक श्री करण सिंह वर्मा, आष्टा विधायक श्री रघुनाथ सिंह मालवीय तथा सीहोर विधायक श्री सुदेश राय ने टीकाकरण केन्द्रों पर जाकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया। साथ ही उन्होंने टीकाकरण केन्द्रों की व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया।


प्रथम डोज लगवानें के बाद दीक्षा वर्मा ने व्यक्त की प्रसन्नता

कोरोना महामारी से बचाव के लिए 15 से 18 आयुवर्ग के किशोर बालक-बालकाओं का टीकाकरण अभियान 03 जनवरी से प्रारंभ किया गया है। उत्कृष्ट विद्यालय सीहोर में कक्षा 11 वीं में अध्ययनरत छात्रा कुमारी दीक्षा वर्मा ने उत्कृष्ट विद्यालय में बनाए गए टीकाकरण केन्द्र में कोविड का टीका लगवा लिया है। टीका लगवाने के बाद प्रसन्नता व्यक्त करते हुए दीक्षा ने कहा कि मैं सुरक्षित महसूस कर रही हूँ। दीक्षा ने बाताया कि टीका लगने के बाद मैं पूर्णतः स्वस्थ्य हूं। टीके को लेकर पहले मन मे थोड़ा भ्रम था, लेकिन टीका लगने के बाद सभी भ्रम दूर हो गये है। दीक्षा ने कहा कि हमारी सुरक्षा के लिए मध्यप्रदेश सरकार द्वारा टीकाकरण अभियान चला रही है। दीक्षा ने सभी 15 से 18 वर्ष की आयुवर्ग के साथियों से भी अपील की है कि वे भी आगें आकर कोविड-19 से बचने के लिए टीकाकरण कराए।


टीकाकरण केन्द्रों को सजाया गया

टीकाकरण महाअभियान के शुभारंभ अवसर पर जिले में बनाए गए टीकाकरण केन्द्रों को सजाया गया ताकि बच्चों को अपनी बारी आने तक प्रतीक्षा करने में अरूची न हो। टीकाकरण केन्द्रों को बैलून, फूलों और रंगोली से सजाया गया। जो दिनभर आकर्षण का केन्द्र बने रहे। टीका लगवाने के लिए आने वाले बच्चों ने केंद्र पर की गई व्यवस्थाओं की सराहना की। लोगों में जागरूकता एवं टीका लगवाने की प्रेरणा भी देखी गई। टीका लगवा चुके बच्चों ने भी आस-पड़ोस के अन्य लोगों को कोविड का टीका लगवाने के लिए प्रेरित किया।


कलेक्टर ने किया नगर के अनेक वैक्सीनेशन सेंटर्स का निरीक्षण

जिले में 15 से 18 आयुवर्ग के किशोर बालक-बालिकाओं का कोरोना महामारी से बचाव के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन स्कूलों में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर्स पर किया जा रहा है। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिला मुख्यालय के उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1, शासकीय सुभाष स्कूल गंज तथा शासकीय हाई स्कूल पचामा सहित कई स्कूलों में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर्सं का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री ठाकुर ने वैक्सीनेशन कराने आए बच्चों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि सभी बच्चे उत्साह एवं उमंग के साथ कोविड-19 का टीका  लगवाए। इसके साथ अपने-अपने घर, परिवार, रिश्तेदार, चिर परिचितों के बच्चों को भी टीकाकरण कराने प्रेरित करें। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए  कोविड-19 के दोनों टीके तथा कोविड अनुकूल व्यवहार, मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेसिंग तथा साबुन एवं सेनेटाइजर से बार-बार हाथ धोना जीवन का सुरक्षा कवच है। इसे सभी को आत्मसात करना होगा और अपने दिनचर्या में शामिल करना होगा। इस दौरान कलेक्टर श्री ठाकुर ने वैक्सीनेशन प्रक्रिया का अवलोकन किया तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि सभी वैक्सीनेशन सेंटर में मास्क एवं सैनिटाइजर एआईएफई किट की व्यवस्था भी सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से जिलेवासियों को बचाने के लिये कोविड का टीका लगाया जा रहा है। इससे न केवल आप, बल्कि पूरा समाज, पूरा जिला कोरोना संक्रमण से बच सकेगा। उन्होने कहा कि जिले में कोरोना टीकाकरण के लिए बच्चों में उत्साह एवं उमंग दिख रहा है। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने वैक्सीनेशन कक्ष, ऑब्जरवेशन कक्ष सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं का भी जायजा लिया।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले  24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10021  हैं। आज 405 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 176, श्यामपुर से 75, नसरूल्लागंज से 38, आष्टा से 84 तथा बुधनी से  32 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 326767 हैं। जिनमें से 315536 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 498 सेंपलो की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1017 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


कलेक्टर ने किया नगर के अनेक वैक्सीनेशन सेंटर्स का निरीक्षण, बच्चों ने उत्साह एवं उमंग के साथ लगवाया टीका


सीहोर जिले में 15 से 18 आयुवर्ग के किशोर बालक-बालिकाओं का कोरोना महामारी से बचाव के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन स्कूलों में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर्स पर किया जा रहा है। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिला मुख्यालय के उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1, शासकीय सुभाष स्कूल गंज तथा शासकीय हाई स्कूल पचामा सहित कई स्कूलों में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर्सं का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री ठाकुर ने वैक्सीनेशन कराने आए बच्चों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि सभी बच्चे उत्साह एवं उमंग के साथ कोविड-19 का टीका  लगवाए। इसके साथ अपने-अपने घर, परिवार, रिश्तेदार, चिर परिचितों के बच्चों को भी टीकाकरण कराने प्रेरित करें। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए  कोविड-19 के दोनों टीके तथा कोविड अनुकूल व्यवहार, मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेसिंग तथा साबुन एवं सेनेटाइजर से बार-बार हाथ धोना जीवन का सुरक्षा कवच है। इसे सभी को आत्मसात करना होगा और अपने दिनचर्या में शामिल करना होगा। इस दौरान कलेक्टर श्री ठाकुर ने वैक्सीनेशन प्रक्रिया का अवलोकन किया तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि सभी वैक्सीनेशन सेंटर में मास्क एवं सैनिटाइजर एआईएफई किट की व्यवस्था भी सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से जिलेवासियों को बचाने के लिये कोविड का टीका लगाया जा रहा है। इससे न केवल आप, बल्कि पूरा समाज, पूरा जिला कोरोना संक्रमण से बच सकेगा। उन्होने कहा कि जिले में कोरोना टीकाकरण के लिए बच्चों में उत्साह एवं उमंग दिख रहा है। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने वैक्सीनेशन कक्ष, ऑब्जरवेशन कक्ष सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं का भी जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान एसडीएम श्री बृजेश सक्सेना मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया भी उपस्थित थे।


विधायक श्री राय ने बच्चों का उत्साहवर्धन किया


सीहोर विधायक श्री सुदेश राय ने शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 तथा शासकीय सुभाष स्कूल गंज पहुंचकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया और टीकाकरण के लिए प्रेरित किया। इसके साथ ही विधायक श्री राय ने टीकाकरण केन्द्र की व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए कहा कि टीकाकरण के लिए आने वाले बच्चों को कोई परेशानी न हो इसका ध्यान रखा जाए। विधायक श्री राय ने बच्चों के अभिभावकों से कहा कि वे भी यह सुनिश्चित करें कि अपने परिजन या आसपास में कोई बालक-बालिका टीकाकरण से वंचित रह जाए। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे अपने मित्रों से पूछें कि उन्होंने वैक्शीनेशन करवा लिया है या नहीं। यदि नहीं कराया है तो उन्हें कोविड का टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें।


हर खुशी के मौके पर एक पेड़ जरूर लगाएं, कलेक्टर श्री ठाकुर ने अपने जन्म दिवस पर आंवला और जायफल का पौधा लगाया


sehore news
कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने अपने जन्म दिवस पर आंवला और जायफल का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हर खुशी के अवसर पर हम पेड़ लगाए, ताकि पर्यावरण को बचाने में हम योगदान दे सकें। श्री ठाकुर ने सभी से अपील करते हुए कहा कि अपने जन्मदिन, बच्चों के जन्मदिन, विवाह की वर्षगांठ, अपने माता-पिता के जन्म दिवस के अवसर पर पौधा लगाएं। उन्होंने कहा कि हमारी आने वाली पीढ़ी को स्वस्थ वातावरण देने के लिए और प्रकृति के संरक्षण के लिये अधिक से अधिक पेड़ लगाने का संकल्प लेना चाहिए। कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिले के नागरिकों से अपील की है कि अंकुर वृक्षारोपण अभियान के तहत प्रदेश के हरित क्षेत्र में वृद्धि एवं प्राण वायु को समृद्ध करने और जन भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए वायुदूत मोबाईल एप के माध्यम से अपना पंजीयन कराकर पौधरोपण अवश्य करें। रोपे गये पौधे का फोटो एप के माध्यम से अपलोड करें। पर्यावरण संरक्षण के लिए राज्य शासन द्वारा प्राण वायु पुरस्कार की अवधारणा तैयार की गई है। योजना के प्रावधान के अनुसार प्रतिभागियों को योजना की अवधि में कम से कम एक पौधे का रोपण स्वयं के संसाधन से करना है तथा रोपित पौधे का फोटोग्राफ एप पर अपलोड करना है। पौधरोपण के 30 दिवस उपरांत प्रतिभागी को दोबारा उसी पौधे का नवीन फोटोग्राफ एप पर अपलोड करना है।


फोटोग्राफ वायुदूत एप पर ऐसे करें अपलोड

गूगल प्ले स्टोर से वायु दूत एप को डाउनलोड करें, एप डाउनलोड करने के पश्चात भाषा हिंदी अथवा अंग्रेजी का चयन करें। सिटिजन लॉगिन पर क्लिक करें तथा मोबाइल नंबर दर्ज कर लॉगिन करें। पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त कर वेरीफाई करें तथा पंजीयन प्रक्रिया पूर्ण करें। वेरीफिकेशन उपरांत नया वृक्षारोपण पर क्लिक करें। उपलब्ध सूची में से पौधों की प्रजाति का चयन करें रोपित प्रजाति उपलब्ध ना होने पर ’अन्य’ पर क्लिक करें तथा रोपित किये जाने वाले पौधे की प्रजाति का नाम अंकित करें। रोपित पौधों की संख्या लिखें रोपित पौधों का फोटोग्राफ एप के माध्यम से अपलोड करें। वृक्षारोपण स्थल की जानकारी देने के लिए प्लांटेशन साइट इंफॉर्मेशन में लिखें। रोपित वृक्ष की फोटो ग्राफ पुनः देखने एवं 30 दिनों पश्चात दूसरा फोटोग्राफ अपलोड करने के लिए वृक्षारोपण प्रगति पर क्लिक करें तथा एप के माध्यम से द्वितीय फोटोग्राफ अपलोड करने के उपरांत एप्प सहभागिता प्रमाण पत्र डाउनलोड करें। प्रतिभागियों को एप के माध्यम से ही पौधारोपण के फोटोग्राफ खींचकर अपलोड करना होंगे। कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिले के सभी नागरिकों से अनुरोध किया है कि वायुदूत एप प्ले स्टोर से  डाउनलोड करके पौधारोपण जरूर करें।


राजस्व विभाग की वीडियो कान्फ्रेंस 05 जनवरी को


राजस्व विभाग की वीडियो कान्फ्रेंस प्रमुख राजस्व की अध्यक्षता में 05 जनवरी को प्रात: 9.30 बजे आयोजित की गई है। उप राजस्व आयुक्त ने बताया की सभी जिला कलेक्टर अपने अपर कलेक्टर एवं नोडल अधिकारियों को अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने को निर्देशित करें। बैठक में विगत 24 नवम्बर 2021 को प्रमुख सचिव राजस्व द्वारा दिए गये निर्देशों एवं कार्यवाही पर चर्चा, राजस्व वसूली लक्ष्य 2021-22 की समीक्षा, शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध की गई वसूली की समीक्षा, लक्ष्य प्राप्ति के लिए आगामी 03 माह की कार्य योजना का विवरण, आरसीएमएस में बँटवारा, नामांतरण, सीमांकन की समीक्षा, चालू माह में दर्ज प्रकरणों के विरुद्ध निराकृत किये गये प्रकरणों की समीक्षा, 06 माह से अधिक समय से लंबित प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा, रीडर एवं पीठासीन अधिकारी के लॉगिन पर लंबित प्रकरणों की समीक्षा, लंबित रहने का कारण, धारणाधिकार एवं प्राप्त आवेदनों की समीक्षा, निराकृत प्रकरणों की समीक्षा। शत-प्रतिशत निराकरण के लिए कार्य योजना, मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना, प्राप्त आवेदनों की समीक्षा, निराकृत प्रकरणों की समीक्षा, कुल सकारात्मक निराकृत प्रकरणों की समीक्षा, शत-प्रतिशत निराकरण के लिए कार्य योजना, संयुक्त प्रतिवेदन सारा अपलोडिंग की स्थिति, अब तक प्राप्त आवेदन, आवेदनों का पात्रतानुसार परीक्षण, कोविड अनुग्रह राशि वितरण, योजनान्तर्गत लक्ष्य के विरुद्ध प्राप्त आवेदन, आवेदनों के विरुद्ध वितरित की गई राशि की समीक्षा, लंबित सीएम मॉनिट प्रकरणों की समीक्षा, विधानसभा प्रश्न, आश्वासन, ध्यानाकपर्ण एवं अभ्यावेदनों की समीक्षा, लोक सेवा गारण्टी की समीक्षा, सीएम हेल्पलाईन अंतर्गत समस्त एट्रीब्यूट एवं 300 दिवस से अधिक समय से लंबित शिकायतें, निजी भूमि पर कब्जा एवं भू-अर्जन की लंबित शिकायतों की समीक्षा। भू-अर्जन के प्रकरणों में भारत सरकार के दिशा निर्देशानुसार एमआईएस में की जा रही प्रविष्टि की समीक्षा, जिला विशिष्ट की समीक्षा, भू-अर्जन अंतर्गत एनएचएआई के लंबित प्रकरणों में समीक्षा, तहसीलदार/नायब तहसीलदारों के सेवा अधिकारियों के अघतन कर, दुरुस्तीकरण करने संबंधी कार्य, जिले में सेवानिवृत्त तहसीलदार/नायब तहसीलदार के पेंशन, समयमान वेतनमान तथा शासकीय स्वत्वों के भुगतान एवं लंबित प्रकरणों के निराकरण की स्थिति, अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों में शत-प्रतिशत आदेश जारी न होने की समीक्षा, ई- मुद्रा पंजीयन, कोविड के लिए रु.2.00 करोड़ (यूनाइटेड फंड) व्यय एवं उपयोगिता प्रमाण-पत्र के संबंध में जानकारी पर चर्चा की जाएगी।


आत्मा पुरस्कार के लिए कृषकों से 5 जनवरी तक प्रविष्टि आमंत्रित


किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने बताया कि सबमिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आत्मा वर्ष 2021-22 के अंतर्गत 26 जनवरी 2022 को विकासखण्ड स्तरीय सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार, जिला स्तरीय सर्वोत्तम समूह पुरस्कार, जिला स्तरीय सर्वोत्तम कृषक पुरूस्कार, राज्य स्तरीय सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार प्रदान करता है। उन्होंने बताया कि जिसके कृषि विभाग, उद्यानिकी विभाग, मत्स्य पालन विभाग, पशु पालन विभाग, कृषि अभियांत्रिकी से संबंधित उत्कृष्ट कार्य करने वाले कृषक भाई निर्धारित प्रारूप में आवेदन पत्र विकासखण्ड के आत्मा कार्यालय अथवा वरिष्ठ कृषि अधिकारी कार्यालय में 05 जनवरी 2022 तक जमा कर सकते हैं।


मानधन योजना का फायदा लेने की अपील


प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी पेंशन योजना है जिसमें हितग्राहियों को 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के पश्चात प्रतिमाह 3 हजार की पेंशन प्राप्त होगी। इस योजना अंतर्गत 18 वर्ष से 10 वर्ष की आयु तक के ऐसे व्यक्ति सम्मिलित हो सकते हैं जिनकी मासिक आय 15 हजार रूपये या इससे कम है, जो आयकर दाता नही है तथा जो ईएसआईसी अथवा ईपीएफ इत्यादि में सम्मिलित ना हो। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के अंतर्गत हितग्राही द्वारा दिया जाने वाला मासिक अंशदान ऑटो डेबिट सुविधा से 55 रूपये से 200 रूपए योजना में सम्मिलित होने की आयु अनुसार है। हितग्राही के मासिक अंशदान के समान राशि का अंशदान केन्द्र सरकार द्वारा दिया जायेगा। योजना में सम्मिलित होने के लिए हितग्राही किसी भी नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर आधार कार्ड एवं बचत खाता व जनधन खाता ले जाकर अपना पंजीयन करा सकता है। जिले के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना में सम्मिलित होने के लिए प्रोत्साहित कर अधिक से अधिक पंजीयन करवाने हेतु प्रचार प्रसार किया जाना है।


गांव की बेटी और प्रतिभा किरण योजना के आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ


शैक्षणिक सत्र 2021-22 में नवीन प्रवेशित छात्राओं के लिए "गाँव की बेटी" योजना एवं प्रतिभा किरण योजना में आवेदन करने के लिए छात्रवृत्ति पोर्टल 2.0 पर आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 जनवरी 2022 निर्धारित की गई है। छात्रवृत्ति के लिए ऑफलाइन आवेदन मान्य नहीं होंगे। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शुरू की गई "गाँव की बेटी" योजना में ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से 500 रूपए प्रतिमाह की दर से 10 माह तक प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। योजना के तहत मध्यप्रदेश राज्य के शहरी क्षेत्र की निवासी मेधावी छात्राएँ, जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन कर रही हैं और अच्छे अंकों से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण हुई हैं, ऐसी छात्राओं को प्रतिवर्ष 5 हजार रूपये छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।


मौसम में बदलाव, सचेत रहें कृषक


वर्तमान में पश्चिमोत्तर उत्तरप्रदेश के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ समुद्र तल से 3.1 किमी की ऊँचाई पर एक चक्रवातीय परिसंचरण के रूप में ट्रफ के साथ अभी भी सक्रिय है। अन्य चक्रवातीय परिसंचरण (Cyclonic circulation ) पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार के ऊपर सक्रिय है, जिससे होकर पूर्वी मध्यप्रदेश और तेलंगाना तक ट्रफ लाइन (Trough) भी गुजर रही है। 3 जनवरी को दुर्बल पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने के बाद 5 से 7 जनवरी के मध्य अगले प्रभावशाली पश्चिमी विक्षोभ की संभावना बनी हुई, जिससे मध्य प्रदेश में फिर से वर्षा तड़ित झंझावात का मौसम सम्भावित है। कृषक भाई मौसम परिवर्तन अनुसार सचेत रहें, वर्षा के दौरान खेत पर कार्य करते समय आकाशीय बिजली से सावधान रहें । यदि अधिक बरसात होती है, तो जल निकासी की व्यावस्था रखें एवं वर्षा के दौरान फसलों पर कीटनाशक एवं अन्य  दवाओं का छिड़काव न करें, मौसम खुलने के उपरान्त ही दवाओं का छिड़काव करें।


माध्यमिक शिक्षा मण्डल 1957 से 1970 तक संचालित, विभिन्न परीक्षाओं के अभिलेख विनष्ट करेगा


माध्यमिक शिक्षा मण्डल से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार माध्यमिक शिक्षा मण्डल म.प्र. भोपाल द्वारा वर्ष 1957 से 1970 तक संचालित विभिन्न परीक्षाओं का अभिलेख (टीआर फाईल, काउंटर फाईल) के कागज पुराने एवं क्षतिग्रस्त होने से उनका विनिष्टीकरण किया जा रहा है।   शिक्षा मण्डल के सचिव ने बताया कि यदि किसी को इस अवधि में विभिन्न परीक्षाओं से सम्बन्धित प्रतिलिपि प्रमाण-पत्र, प्रतिलिपि अंकसूची, प्रोविजनल प्रमाण-पत्र, डाक्यूमेंट्स का अंग्रेजी अनुवाद, की आवश्यकता हो तो विज्ञप्‍ति प्रकाशित होने के तीन माह के अन्दर मण्डल कार्यालय में आवेदन कर प्राप्त कर सकते हैं। तीन माह के पश्चात अभिलेखों को विनिष्ट कर दिया जायेगा एवं अभिलेख विनष्टीकरण हो जाने के बाद प्राप्त आवेदन पत्रों पर विचार नही किया जाएगा।


पंचायत फोटोयुक्त मतदाता सूची वार्षिक पुनरीक्षण प्रक्रिया


एक जनवरी 2022 की संदर्भ तिथि के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची वार्षिक पुनरीक्षण वर्ष 2022 के लिए प्रक्रिया एवं कार्यक्रम किया जाना है। मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी पत्र के अनुसार मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा-5 के उपबंधों के अधीन रहते हुए प्रत्येक ग्राम पंचायत के लिए वार्डवार मतदाताओं की फोटोयुक्त सूची तैयार किए जाने के प्रावधान हैं। मध्यप्रदेश पंचायत निर्वाचन नियम, 1995 के नियम-14 अनुसार ग्राम पंचायतों की मतदाता सूचियों को प्रत्येक वर्ष के एक जनवरी की स्थिति में परीक्षण किया जाने का प्रावधान हैं।  फोटोयुक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण करने की प्रक्रिया दो चरणों में सम्पन्न की जाएगी। जिसके अंतर्गत प्रथम चरण में कंट्रोल टेबल का वेरिफिकेशन और अपडेशन। कंट्रोल टेबल का परीक्षण और मतदान केन्द्रों का युक्तिकरण। कंट्रोल टेबल का वेरिफिकेशन एवं प्रारूप मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा।    फोटोयुक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण प्रक्रिया के द्वितीय चरण अंतर्गत दावे आपत्ति प्राप्त करना एवं उनका निराकरण किया जाकर अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन किया जायेगा। पूर्व प्रारंभित तैयारी में रजिस्ट्रीकरण एवं सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी की नियुक्ति की जाना सुनिश्चित की जाएगी।  दावे आपत्ति प्राप्त करने हेतु दावे आपत्ति केन्द्रों का निर्धारण किया जाकर प्रति ग्राम पंचायत न्यूनतम एक प्राधिकृत कर्मचारी की नियुक्ति की जानी है। मतदाताओं की संख्या अधिक होने की स्थिति में एक ग्राम पंचायत में एक से अधिक प्राधिकृत कर्मचारी भी नियुक्त किये जा सके हैं। चैकलिस्ट में विकासखण्ड का नाम, ग्राम पंचायत का नाम, ग्राम पंचायत के अंतर्गत आने वाले वार्ड, ग्राम और मतदान केन्द्रों का विवरण अंकित होगा। रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के कंट्रोल टेबल का वेरिफिकेशन दर्ज करना होगा। यदि वेरिफिकेशन नहीं किया जायेगा तो ईआरएमएस में आगामी कार्यवाहियां नहीं हो सकेंगी। पूर्व वर्षों में पुनरीक्षण की कार्यवाही के दौरान प्रायः यह देखने में आया है कि कतिपय पंचायतें अथवा उनके कुछ भाग नगरपालिका में शामिल हो गये है, इसके बावजूद कंट्रोल टेबल से उनके नाम नहीं हटाये गये हैं और अभी भी उक्त क्षेत्र पंचायतों के रूप में प्रदर्शित हो रहे हैं। इस संबंध में उपयुक्त कार्यवाही किये जाने के लिए वेण्डर से जनपद पंचायतवार ग्राम पंचायतों की सूची मतदाताओं की संख्या के घटते क्रम में प्राप्त की जायें। सूची में ग्राम पंचायत का नाम और उसके अंतर्गत मतदाताओं की संख्या दर्ज होगी। सूची का सावधानीपूर्वक परीक्षण किया जाये। यदि कोई ग्राम पंचायत पूर्ण रूप से नगरपालिका में शामिल हो गई है तो उसे कंट्रोल टेबल से मतदाताओं सहित हटाया जाये। मतदाताओं को डिलीट  करते समय वह अनिवार्य तौर पर सुनिश्चित कर लिया जाये कि उक्त नाम डुप्लिकेट के तौर पर दर्ज है। यदि उक्त मतदाताओं के नाम नगरपालिका क्षेत्र में पूर्व में शिफ्ट करने की कार्यवाही संबंधित नगरपालिका के रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के माध्यम से कराई जाये। यदि किसी पंचायत का आंशिक भाग नगरपालिका में शामिल हुआ है तो वेण्डर से उक्त पंचायत की वार्डवार सूची प्राप्त की जाये। जो वार्ड नगरपालिका में  शामिल हो गये हैं। उन्हें कंट्रोल टेबल से मतदाताओं सहित हटाया जाये। मतदाताओं को डिलीट करते समय यह अनिवार्य तौर पर सुनिश्चित कर लिया जाये कि उक्त ग्राम पंचायत वार्ड के मतदाता पूर्व वर्ष में नगरपालिका क्षेत्र में शिफ्ट किये जा चुके हैं और उनके नाम डुप्लिकेट के तौर पर दर्ज है। यदि उक्त मतदाताओं के नाम नगरपालिका क्षेत्र में पूर्व में शिफ्ट नहीं किये गए हैं तो उन्हें डिलीट करने के स्थान पर शिफ्ट करने की कार्यवाही सम्बंधित नगरपालिका के रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के माध्यम से कराई जाये। यदि कंट्रोल टेबल में कोई संशोधन नहीं किया जाना हे तो कंट्रोल टेबल चैकलिस्ट पर रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के सत्यापन अनुसार वेण्डर द्वारा वेरिफिकेशन की कार्यवाही की जा सकेगी, लेकिन यदि कंट्रोल टेबल में कोई संशोधन किया जाना है तो आवश्यकतानुसार संशोधन ईआरएमएस में रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के डिजिटल हस्ताक्षर से ही दर्ज किया जा सकेगा। यदि वर्तमान में पंचायतों और नगरपालिकाओं के संबंध में परिसीमन और वार्ड विभाजन के कारण कंट्रोल टेबल में संशोधन किया गया है तो संशोधन अनुसार आधार पत्रक तैयार कर मार्किंग को रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा वेरिफाई किया जाये और तदानुसार मतदाताओं को सम्बंधित संशोधित क्षेत्रों में शिफ्ट करने की कार्यवाही की जाये।  प्रथम चरण के अन्तर्गत कार्यवाहियां जिनमें फोटोरहित जनरेटेड प्रारूप मतदाता सूची को डिजिटल हस्ताक्षर कर वेबसाईट पर अपलोड करना, फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता सूची को प्रिन्ट कर विहित स्थानों पर प्रकाशित करना, प्रारूप मतदाता सूची पर दावे आपत्ति प्राप्त करने के लिए कार्यक्रम की जानकारी और प्रचार प्रसार जन जागरूकता हेतु जिला एवं जनपद पंचायत स्तर पर स्टेंडिंग कमेटी की बैठक का आयोजन, प्रारूप मतदाता सूची को प्रकाशित सूची को प्रकाशन किये जाने का प्रमाणपत्र ईआरएमएस पर अपलोड करना शामिल है।द्वितीय चरण के अन्तर्गत प्रारूप मतदाता सूची पर दावे आपत्ति प्राप्त करना, उनका निराकरण करना और अंतिम मतदाता सूची तैयार करना है। दावा आपत्ति केन्द्रों पर प्रारूप मतदाता सूची के सम्बंध में प्राधिकृत कर्मचारी द्वारा दावे एवं आपत्ति प्राप्त किये जायेंगे। आयोग द्वारा दावा आपत्ति सम्बंधी विहित आवेदन पत्रों के प्ररूप में परिवर्तन कर नये प्ररूप ईआर-1 (परिवर्धन), (विलोपन), ईआर-3 (संशोधन) जारी किये हैं। उक्त सभी आवेदन पत्रों की एक समेकित बुकलेट मय मार्गदर्शिका तैयार की गई है। उक्त बुलकेट प्राधिकृत कर्मचारी को उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाये।  मतदाता सूची के सम्बंध में प्राप्त दावे आपत्ति के आावेदन पत्रों पर राज्य स्तरीय एजेन्सी द्वारा प्रदाय बारकोड स्टीकर चस्पा किया जाये। रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा दावे आपत्ति का निराकरण डिजीटल हस्ताक्षर कर किया जायेगा। दावे आपत्तियों वाले मतदाताओं के प्रकरणों के निराकरण के पश्चात ग्राम पंचायतों की अनुपूरक सूची तैयार कर दिनांबर 01-01-2022 की स्थिति में अंतिम मतदाता सूची तैयार की जायेगी। प्रारूप मतदाता सूची की भांति अंतिम मतदाता सूची भी ईआरएमएस से जनरेट की जायेगी। रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के डिजिटल हस्ताक्षर कर वेबसाईट पर उसकी फोटोरहित प्रति अपलोड की जायेगी और फोटोयुक्त मतदाता सूची का प्रिन्ट निकालकर नियत स्थानों पर  प्रकाशित किया जायेगा। अंतिम मतदाता सूची के प्रकाशन के सम्बंध में निर्धारित प्ररूप में मय प्रमाणपत्र रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा स्कैन कर वेबसाईट पर अपलोड किया जायेगा। रजिस्ट्रीकरण अधिकरियों को यह प्रमाणपत्र जारी करने के पूर्व सभी प्राधिकृत कर्मचारियों से उक्त प्रमाणपत्र अनिवार्य तौर पर प्राप्त कर लेना चाहिए।  प्रारूप एवं अंतिम मतदाता सूची की प्रिन्ट की गई प्रतियां उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। जिनमें सबसे पहले फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता सूची की प्रिन्ट की गई 4 डबल साईड की प्रतियां रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालय, सम्बंधित ग्राम पंचायत कार्यालय, सम्बंधित जनपद पंचायत कार्यालय पर निरीक्षण हेतु उपलब्ध कराने के लिए एवं एक अतिरिक्त कार्यालय प्रति तैयार कराना है। इसके अलावा फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची की प्रिन्ट की गई 4 डबल साईड की प्रतियां रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालय, सम्बंधित ग्राम पंचायत कार्यालय, संबंधित जनपद पंचायत कार्यालय, संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के लिए उपलब्ध कराना है। प्रारूप मतदाता एवं अंतिम मतदाता सूची की निर्धारित संख्या से अधिक प्रतियां किसी भी स्थिति में मुद्रित न की जायें। उक्त प्रतियां डबल साईड प्रिन्ट की जायें। आयोग की लिखित अनुमति के बगैर निर्धारित संख्या से अधिक संख्या में मतदाता सूची की प्रतियां मुद्रित करने पर होने वाले व्यय के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी व्यक्तिशः जिम्मेदार होंगे। मतदाता सूची की सॉफ्ट कॉपी सीडी में तैयार की जायेंगी। जिले के सभी विकासखण्ड के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायतों की एक सीडी रहेगी। सीडी में मतदाता सूची डिजिटल हस्ताक्षर कर अभिप्रमाणित की जायेगी। ग्राम पंचायतों, जनपद पंचायतों और जिला पंचायतों उनसे सम्बंधित क्षेत्रों की मतदाता सूची की एक सीडी निःशुल्क प्रदाय की जाये। अन्य रूपये 100 प्रति सीडी का भुगतान कर प्राप्त कर सकेंगे। 2 रूपये प्रति पृष्ठ के हिसाब से अंतिम मतदाता सूची की प्रमाणित प्रतिलिपि प्रदाय की जायेगी। मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के सुचारू संचालन में उप जिला निर्वाचन अधिकारी की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी क मार्गदर्शन में कार्यवाहियां समय सीमा में सुनिश्चित करनाना होंगी। जिनमें रजिस्ट्रीकरण अधिकारी सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, प्राधिकृत कर्मचारी आदि की नियुक्ति और समय सीमा में प्रशिक्षण। सभी सम्बंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को आयोग द्वारा जारी निर्देश, परिपत्र एवं अन्य सामग्री उपलब्ध करना। मतदाता सूची पुनरीक्षण प्रक्रिया की डेबोर्ड से ऑनलाईन नियमित मॉनिटरिंग करना और समयसीमा में सभी कार्यवाहियां सुनिश्चित करवाना। कंट्रोल टेबल के संशोधन और अपडेशन के सम्बंध में समन्वय कराना। स्टेंडिंग कमेटी की बैठक का आयोजना कराना। वेण्डर से समन्वय कर रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों की कठिनाइयों को समय समी में निराकरण करना। प्रारूप एवं अंतिम मतदाता सूची की निर्धारित संख्या में समय सीमा में प्रिन्टिंग सुनिश्चित करना है। मतदाता सूची तैयार किये जाने की प्रक्रिया के पर्यवेक्षण के सम्बंध में मतदाता सूची वार्षिक पुनरीक्षण (रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों के लिए मार्गदर्शिका) पुस्तिका एवं आयोग द्वारा समय समय पर जारी निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाये। गणमान्य नागरिक, वरिष्ठजन, सामाजिक कार्यकर्ता एवं निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के नाम मतदाता सूची में दर्ज होने से छूट न जाये, इसका विशेष ध्यान रखा जाये। आयोग द्वारा जारी पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची तैयार करने हेतु कार्यक््रम अनुसार पंचायतों की मतदाता सूची का दिनांक 01 जनवरी 2022 संदर्भ तिथि में वार्षिक पुनरीक्षण कराया जाना सुनिश्चित करें। भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 के संक्रमण पर नियंत्रण हेतु जारी गाईड लाईन का पालन किया जाना सुनिश्चित करें। मतदाता सूची वार्षिक पुनरीक्षण के संबंध में समस्त कार्यवाहियां समय सीमा में की जाना सुनिश्चित करें। पत्र प्राप्ति की अभिस्वीकृति तत्काल ई-मेल द्वारा भेजना सुनिश्चित करें।


12 जनवरी को रोजगार और स्व-रोजगार दिवस का आयोजन


राज्य शासन द्वारा 12 जनवरी 2022 को प्रदेशव्यापी स्वरोजगार-रोजगार दिवस मनाने का निर्णय लिया है। इस कार्यक्रम के संबंध में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये कि नगरीय विकास एवं आवास विभाग द्वारा विभिन्न स्व-रोजगार योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, डे-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्व-रोजगार कार्यक्रम, स्व-रोजगार समूहों का बैंक लिंकेज आदि का क्रियान्वयन नगरीय निकायों के माध्यम से किया जा रहा है।  कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये निकायों के माध्यम से संचालित स्व-रोजगार योजनाओं में लक्ष्य के अनुरूप शत-प्रतिशत स्वीकृति 12 जनवरी 2022 के पूर्व प्राप्त करने का प्रयास करें और 12 जनवरी को आयोजित कार्यक्रम में नगर पालिकायें, नगर परिषद के समक्ष मुख्य नगर पालिका अधिकारी हितग्राहियों को लाभ वितरण कराना सुनिश्चित करेंगे। कार्यक्रम में नगरीय विकास एवं आवास विभाग की सभी रोजगार मूलक योजनाओं का लाभ नगरीय निकायों के लोगों को उपलब्ध कराने के लिये जिला नोडल अधिकारी के मार्गदर्शन में निकायों की सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करेंगे।


गाय, भैसों में अब बछिया-पडिया ही पैदा होगी


पशुपालन विभाग ने बताया है कि गाय भैंसों में कृत्रिम गर्भाधान सेक्स सोर्टेड सीमन द्वारा गर्भित किया जाएगा। जिसके फलस्वरूप 90 प्रतिशत बछिया-पडिया ही पैदा होगी। सेक्स सोर्टेड सीमन का शुल्क सामान्य वर्ग के लिये 450 रूपये तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 400 रूपये रहेगा। विभाग बताया कि गाय में जर्सी, गिर, साहीवाल एवं भैंस में मुर्रा नस्ल का सीमन सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में पशु चिकित्सालयों में उपलब्ध है। पशु पालक जो पशु चिकित्सालय एवं पशु औषधालय से 03 कि.मी. की दूरी पर निवास करते है। वे कॉल करके घर पहुंच सेवा (150 रूपये शुल्क) का लाभ ले सकते है। पशुपालकों से आग्रह किया है कि वे सीमन द्वारा अपने गौवंशीय एवं भैंस वंशीय पशुओं के कृत्रिम गर्भाधान करवाकर योजना का लाभ लें।


घर बैठे पाए आयुष चिकित्सा का लाभ 'आयुष क्योर' एप पर


मध्यप्रदेश शासन आयुष विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए जन सामान्य को आयुष स्वास्थ्य सेवा घर पर ही सुलभ कराने के उद्देश्य से यह टेलीमेडिसिन एप लॉन्च किया है। इस  "आयुष क्योर" एप  का उपयोग रोगी तथा चिकित्सक दोनों कर सकेंगे।  इसके द्वारा रोगी सीधे वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सक से परामर्श प्राप्त कर सकेंगे। "आयुष क्योर" एक एंड्रॉयड  आधारित  ऐप है। यह गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपनी पसंद की आयुष चिकित्सा पद्धति (आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी) के विशेषज्ञ चिकित्सक  से अपनी सुविधा अनुसार अपॉइंटमेंट बुक कर सकेंगे। चुने गए चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय अनुसार ही ऐप के माध्यम से वीडियो कॉल कर चिकित्सा परामर्श दिया जाएगा। आयुष  चिकित्सा पद्धति को  घर-घर तक पहुंचाने के लिए एवं जो रोगी  चिकित्सालय में  पहुंच पाने में असमर्थ है, उनके लिए यह सुविधा अच्छी साबित होगी।


युद्ध स्तर पर हो 15 से 18 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण : मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • कोरोना की तीसरी लहर से बचने की पूरी तैयारी रखें

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसलिए तीसरी लहर से बचने की पूरी तैयारी रखने की जरूरत है।  एक्टिव केस 608 हो गए हैं। गत 21 नवम्बर को केवल 85 केस थे। ओमिक्रॉन के 11 केस आए हैं जो पूरे स्वस्थ हो गए हैं। कोरोना को पराजित करने के लिए हम सब मिलकर प्रयास करें। उन्होंने जिला, विकास खंड, वार्ड और पंचायत स्तरीय क्रॉइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अमेरिका, ब्रिटेन, इटली, फ्रांस, साउथ अफ्रीका में बहुत अधिक केस आए हैं। इनकी स्थिति को ध्यान में रखकर प्रदेश में तीसरी लहर से बचने की तैयारी पूरी कर ली जाए।


बच्चों को लगाई जाएगी कोवैक्सीन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज में 90 प्रतिशत से कम टीकाकरण वाले जिले मेहनत कर प्रतिशत को बढ़ायें। 15-18 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण 3 जनवरी से प्रारंभ हो रहा है। टीकाकरण युद्ध स्तर पर हो। बच्चों को  कोवैक्सीन ही लगाई जाना है। इसका ध्यान रखना होगा। वैक्सीनेशन केवल स्कूलों में ही होगा। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन हमारी प्राथमिकता होगी। जिनको घर में रखें उन्हें किट भी दें। पीएसए प्लांट क्रियाशील रहें। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में निजी अस्पतालों का अनुबंध 31 मार्च तक बढ़ाया गया है।


प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में करेंगे तीसरी लहर से मुकाबला

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में भारत में 140 करोड़ टीके लग चुके हैं। उनके कुशल नेतृत्व में हम सब मिलकर तीसरी लहर से मुकाबला करेंगे। सांसद, विधायक, समाजसेवी, धर्मगुरु, पतंजलि योगपीठ, गायत्री परिवार, जनअभियान परिषद, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, लायंस क्लब, रोटरी क्लब आदि सभी को इसके लिए जोड़ना है। ग्राम, पंचायत और वार्ड स्तरीय समितियाँ खाँसी, जुकाम, हल्का बुखार को गंभीरता से लें। ऐसे लक्षण हैं तो तुरंत सेम्पल लिया जाकर टेस्ट होना चाहिए। इलाज की व्यवस्था करायें। होम आइसोलेशन वाले मरीजों पर निरंतर नजर रखकर स्वास्थ्य की जानकारी लें। कोविड के अनुकूल व्यवहार का पालन सुनिश्चित करें। अनावश्यक भीड़ इकट्ठा न होने दें।


बच्चों का टीकाकरण करवाकर ही हम चैन की साँस लेंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 15 से 18 वर्ष तक के बच्चों का टीकाकरण करवाकर ही हम चैन की साँस लेंगे। यह सबसे बड़ी सुरक्षा है। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियाँ वैक्सीनेशन सुनिश्चित करायें। समन्वय करके टेस्ट की संख्या बढ़ायें। ब्लॉक स्तर पर कोविड केयर सेन्टर बनाने की तैयारी कर लें। अस्पतालों में भीड़ न बढ़े इसके लिए कोविड केयर सेन्टर्स पर मरीजों को रखें। अस्पताल भी चाक-चौबंद रहें। जिले में तत्काल एक कोविड केयर सेंटर प्रारंभ कर दिया जाए। टेस्ट करना सावधानी और सुरक्षा है। जनता को टेस्ट के लिए जागरूक करें। सेम्पल देने में कोताही न बरतें। फीवर क्लीनिक जहाँ चालू नहीं हैं उन्हें चालू करें। अंतर्राज्यीय रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड पर टेस्ट की व्यवस्थाएँ हों। कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग सुनिश्चित करवायें। एक व्यक्ति को कोरोना होने पर उसके आसपास के लोगों की टेस्टिंग भी हो। निर्धारित लेब में सेम्पल भेजकर 24 घंटे के भीतर परिणाम दिये जाये। शासकीय अस्पतालों में विभिन्न प्रकार के बिस्तरों की संख्या, दवाइयाँ कम से कम एक माह की होनी चाहिए। वेंटीलेटर भी दुरुस्त रहें। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की व्यवस्था ठीक रहे। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में प्रभारी मंत्री के निर्देशन में कलेक्टर प्राइवेट अस्पतालों से अनुबंध कर लें। कोविड केयर सेन्टर एवं होम आइसोलेशन के रोगियों की सतत निगरानी हो। जरूरत हो तो अस्पताल में रिफर करें। कोविड कन्ट्रोल एवं कमांड सेंटर यह व्यवस्था देख लें।


सरकार द्वारा निर्धारित दरों पर हो इलाज

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मोबाइल मेडिकल यूनिट को सक्रिय किया जाये। रैपिड रिस्पांस टीम सूचना प्राप्त होते ही तत्काल पहुँचे। सार्थक पोर्टल पर रोज वांछित जानकारी अपलोड की जाए। सरकार द्वारा निर्धारित दर पर इलाज हो। साफ-सफाई और सुरक्षा की व्यवस्था हो। किसी भी स्थिति में ऑक्सीजन की कमी न हो। यह सबसे जरूरी आवश्यकता है। मध्यप्रदेश को थमने नहीं देना है उन्होंने कहा कि प्रशिक्षित मानव संसाधन का आकलन कर मांग भेज दें ताकि व्यवस्था की जा सके। पैथोलॉजी जाँच, सीटी स्केन आदि की उपलब्धता के पहलुओं पर भी ध्यान दिया जाए। जन-प्रतिनिधि वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर बच्चों को टीका लगवाने में सहयोग करें। आर्थिक गतिविधियों को ध्यान में रखकर लोगों की जिंदगी बचाना जरूरी है। सभी लोग मास्क लगायें, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें, अनावश्यक भीड़ न लगाये। मास्क न पहनना सामाजिक अपराध है। सेनेटाइजर का उपयोग करें। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए व्यायाम –योग आदि जरूरी है। आवश्यक चीजों का उपयोग लगातार करते रहे। मध्यप्रदेश को थमने नहीं देना है। काम भी करें और कोरोना से जीतने के लिए लड़ें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिलों के सुझावों पर उचित निर्णय लेने की बात कही।

कोई टिप्पणी नहीं: