सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 11 जनवरी 2022

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 जनवरी

हनुमान झंडा शोभायात्रा जुलूस में उमड़ा आस्था का सैलाब, तेरा दर तो हकीकत में, दुखियों का सहारा है


सीहोर। हर साल की तरह इस साल भी क्षेत्र में सुख-शांति और समृद्धि की कामना के साथ भव्य हनुमान झंडा शोभा यात्रा शहर में निकाली गई। यात्रा में हनुमान की विशाल प्रतिमा का सजाया गया था। इस मौके पर भजन गायक शर्मा ब्रदर्स ने भगवान श्रीराम और हनुमान के भजनों की प्रस्तुति दी। नागरिकों ने यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं का पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। यात्रा में शामिल श्रद्धालु हाथों में झंडा थामे हुए नंगे पैर जय-जय सियाराम के नारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे थे। शर्मा ब्रदर्स ने तेरा दर तो हकीकत में, दुखियों का सहारा है, सच कहता हूँ श्रीराम, तेरे दर से गुजारा है, बिगड़ी हुई तकदीरें, बन जाती है। मंगलवार को शहर के गाड़ी अड्डा स्थित श्रीराम मंदिर से शाम को भव्य झंडा शोभा यात्रा निकाली गई। इस मौके पर आयोजन में शामिल श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीराम की आस्था और उत्साह के साथ पूजा अर्चना की और उसके पश्चात विशाल शोभा यात्रा शहर के विभिन्न मार्गाे से होते हुए शहर के मनकामेश्वर महादेव मंदिर में आरती के पश्चात समापन हुई। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल थे।


बारिश से मिट्टी में तब्दील हो गई लाखों ईंटे

  • प्रजापति समाज ने दी चेतावनी सात दिनों के अंदर किया जाए आंकलन और सहायता
  • प्रजापति समाज का कहना नुकसान के बाद कर्ज लौटाना भी कठिन होगा

sehore news
सीहोर। पिछले दिनों बारिश कारण ईंट भट्टों में काफी नुकसान हुआ है। पानी के कारण अधिकांश ईंट मिट्टी के ढेर में तब्दील हो चुकी है। इसको लेकर मंगलवार को प्रजापति समाज के द्वारा कलेक्ट्रेट में पहुंचकर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया है। जिला प्रशासन को सौंपे अपने ज्ञापन में प्रजापति समाज के अध्यक्ष विष्णु सम्राट प्रजापति ने बताया कि बेमौसम बारिश को देख ईंट व्यवसायियों की धड़कन तेज होने के साथ ही चेहरे पर मायूसी छा गई। पिछले दिनों बारिश के चलते ईंट व्यवसायियों के लाखों रुपए क्षति होने का अनुमान लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ईंट भ_ा संचालित हो रहे है। इन सभी भ_ों पर कच्ची ईंट तैयार कर रखी गई थी, तो कुछ ईंटों की पथाई का भी कार्य चल रहा था। जो कच्ची ईंट धूप में सूख गई थीं। उसे भ_े में पकाने के लिए तैयारी की जा रही थी। इसी बीच बारिश होने से जिलेभर में ईंट व्यवसायियों को भारी नुकसान हुआ है।  हमारी प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और जिला प्रशासन से मांग है कि नुकसान का आंकलन कर आरबीसी 6/4 के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। जिससे हमारें कुम्हार भाईयों को संबल मिल सकें, अगर सात दिनों के अंदर आंकलन नहीं किया गया और सहायता राशि नहीं प्रदान की तो आंदोलन करने को विवश होना पड़ेगा। श्री प्रजापति का कहना है कि बारिश के कारण अभी भी ईंट भट्टा के आसपास के स्थानों पर पानी जमा है। नगर में प्रजापति समाज के दर्जनों ईंट भट्टे संचालित है। सभी ईंट भट्टों पर कच्ची ईंट बनी हुई रखी थी। इसको सुखाने के बाद पकाने की तैयारी थी। बारिश के कारण उनमें से अधिकांश ईंट खराब हो चुकी है। उनका कहना है कि ईंट निर्माण में मिट्टी भूसा मजदूरी आदि लगती है। जिस पर हजारों रुपए का खर्च होता है, लेकिन सबका सब बर्बाद हो गया। इसलिए सहायता राशि प्रदान की जाए। ज्ञापन देने वालों में अनिल प्रजापति, अमर प्रजापति, विजय प्रजापति, प्रकाश प्रजापति, आकाश, राजकुमार, छोटू, दीपक, सुनील, दीपक प्रजापति, मनोज और प्रदीप प्रजापति आदि शामिल थे।


रोजगार मेले में शासकीय आईटीआई के प्रशिक्षण अधिकारियो की ड्यूटी लगाई गई


प्रदेश के साथ ही जिले में भी उद्यम क्रांति स्वरोजगार, रोजगार दिवस के तहत 12 जनवरी को रोजगार मेले का आयोजन नगर के टाउन हॉल परिसर में किया जा रहा है। अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर के निर्देशानुसार रोजगार मेले में आईटीआई के प्रशिक्षण अधिकारियों ड्यूटी लगाई गई है। रोजगार मेले में शासकीय आईटीआई के प्रशिक्षण अधिकारी श्री नीरज राठौर, श्री आरके सराठे, श्री अभिषेक सिंह भदौरिया, श्री महेन्द्र मोहन श्रीवास्तव, श्रीमती स्वाति अहिरवार, कु. रानी कपूर, श्रीमती कुसुम चौहान एवं  श्री सुरेश पटेल की ड्यूटी लगाई गई है। इन प्रशिक्षण अधिकारियो को कंपनी प्रतिनिधियों के साथ बैठकर प्रारंभिक चयनित आवेदक की लिस्ट एवं ऑफर लेटर तैयार करने एवं मेला समाप्ति उपरांत पंजीयन काउंटर में जमा करने के दायित्व सौंपे गए है।


शासकीय कार्यों के लिए शासकीय ई-मेल आईडी प्रयोग करने के निर्देश


सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा समस्त शासकीय कार्यों के लिए शासकीय ई-मेल आईडी का उपयोग करने के निर्देश दिए गए है। इसके साथ ही पत्राचार करते समय नाम, पदनाम, शासकीय दूरभाष एवं स्पष्ट ई-मेल आईडी उल्लेखित करने के निर्देश दिए गए हैं।


कोरोना के प्रति किया जागरूक मास्क न लगाने वालो पर किया जुर्माना


कोरोना के तेजी से बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए श्यामपुर तहसील के ग्राम अहमदपुर में पुलिस अमले द्वारा जनजागरूकता अभियान चलाया गया। पुलिस अमले ने आम नागरिकों को कोरोना महामारी के प्रति जागरूक करने के साथ ही मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की समझाइश दी। इसके अलावा मास्क न लगाने वाले 42 लोगो के विरूद्ध पुलिस अमले द्वारा चालानी कार्यवाही कर 4200 रूपये का जुर्माना वसूला गया।


sehore news
बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगो पर चालानी कार्यवाही


कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर जिले में निरंतर मास्क नही लगाने वाले लोगो के विरूद्ध चालानी कार्यवाही की जा रही है। नगर पालिका अमले द्वारा मंगलवार को नदी चौराहे से नमक चौराहे तक रोको-टोको अभियान चलाया गया। इस अभियान के तहत नगर पालिका अमले ने बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगो पर चालानी कार्यवाही करते हुए 3000 रूपये का जुर्माना वसूल किया।


पैरालीगल वालेन्टियर्स को एक दिवसीय ऑनलाईन प्रशिक्षण दिया गया


प्रधान जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद के निर्देश पर अपर जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी द्वारा गूगल मीट एप के माध्यम से जिले में पैरालीगल वालेंटियर्स को एक दिवसीय ऑनलाईन प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस प्रशिक्षण में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर, तहसील विधिक सेवा समिति आष्टा, नसरूल्लागंज, बुदनी, इछावर से सम्बद्ध पैरालीगल वालेन्टियर्स एवं जिला जेल से नामांकित पैरालीगल वालेन्टियर्स को प्रशिक्षण दिया गया। अपर जिला न्यायाधीश श्री मुकेश कुमार दांगी ने मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर लोक अदालत योजना 1997, विधिक साक्षरता शिविर योजना 1999, पैरालीगल वालेंटियर्स योजना, नालसा (निःशुल्क और सक्षम विधिक सेवा) विनियम 2010, विधिक सेवा (विधिक सहायता तथा सलाह) योजना, पारिवारिक विवाद समाधान केन्द्र योजना, पैरालीगल क्लीनिक योजना, मध्यप्रदेश अपराध पीड़ित प्रतिकर योजना सहित  पैरालीगल वालेन्टियर्स के कर्तव्य के साथ ही पाक्सो एक्ट,  बाल विवाह निषेध अधिनियम, सम्पत्ति अंतरण अधिनियम के बारे में विस्तार से जानकारी दी। जिला सशक्तिकरण अधिकारी  श्री प्रफुल्ल खत्री ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा महिला एवं बाल विकास की योजनाओं तथा लाडली लक्ष्मी योजना, सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसी प्रकार बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री प्रदीप चैहान  ने बाल कल्याण समिति की कार्यप्रणाली, नियमों एवं योजनाओं की जानकारी देते हुए बाल सम्प्रेषण गृह के बारे में विस्तार से बताया।


होम क्वारंटाइन व्यक्तियों के लिए कोविड-19 कमांड कॉल सेंटर


जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद के लिए जिला स्तरीय कोविड–19 कमाण्ड कॉल सेंटर बनाया गया है। जिसका संपर्क नंबर -07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर के मोबाइल नंबर 942540273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है।  राज्य स्तर पर 104 या 181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीनेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 24x7 हेल्पलाइन नंबर 104 पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है। होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस तथा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। मोबाईल मेडिकल यूनिट द्वारा होम आइसोलेट व्यक्तियों की सतत् निगरानी की जा रही है।


जिले में 10 जनवरी को 07 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले


जिले में 10 जनवरी को 1269 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें 07 व्यक्तियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 36 हो गई है।


रोजगार मेला 12 जनवरी को टाउन हॉल परिसर में


नगर में 12 जनवरी को रोजगार मेला टाउन हॉल परिसर में प्रात 11 बजे से 5 बजे तक आयोजित किया जाएगा। रोजगार मेले के संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर द्वारा संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिले में संचालित विभिन्न स्व-रोजगार योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, डे-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्व-रोजगार कार्यक्रम, एवं अन्य योजनाओं तथा विभिन्न रोजगार प्रदाय करने वाली कंपन्नियों को आमंत्रित करें। मेले जो कंपनियां आ रही है, उनमें प्रमुख रूप से ट्राइडेण्ट ग्रुप बुदनी, वर्धमान फेब्रिक्स बुदनी, सेल मैन्युफेक्चरिंग कंपनी जावर, बेल्सपन इण्डिया प्रा.लि.भोपाल, भारतीय जीवन बीमा निगम सीहोर, हर्बल लाईफ सीहोर, वाल्वो आयशर प्लॉट भोपाल, आईसेक्स रोजगार मंत्र नेक्सटजी प्रालि सीहोर, सेनापति सेक्योरिटी सर्विस सीहोर, एसबीआई लाईफ सीहोर, वेस्टिज प्रा.लि सीहोर, मारुति नंदन आईटी एकेडमी सीहोर, नवकिसान बॉयो प्लांटेक भोपाल, द्वारा सिलाई कढाई कपडा चैकिंग, रिंग फ्रेम एलआईसी एजेंट, मशीन आपरेटर, एसोसियट, एकाउण्टेट, डेटा एन्ट्री ऑपरेटर, मार्केटिंग रिसोट, सेल्स एक्जीक्यूटिव, काउंसलर रिसोर्स, एसोसियेट, सेक्योरिटी गार्ड, आदि पदों पर वेतन 6000-12500 पर भर्ती की जायेगी उम्र 18-30 न्यूनतम योग्यता 8वीं 10वीं उत्तीर्ण इच्छुक युवक, युवतियां निर्धारित समय पर अपने समस्त प्रमाण पत्र सहित मास्क लगाकर उपस्थित हो। मेले में कोविड-19 के नियमों का पालन करना अनिवार्य है।


राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को आयोजित किया जाएगा


राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को आयोजित किया जाएगा। इस संबंध में अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती गुंचा सनोवर द्वारा शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सीहोर के प्राचार्य को निर्देश दिए है कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को मनाया जाएं। राष्ट्रीय मतदाता दिवस कार्यक्रम के उपलक्ष्य में प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। प्रतियोगिता में महाविद्यालयीन स्तर के विद्यार्थियों की एक निबंध प्रतियोगिता आयोजित की जाए।


बिजली उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए समाधान योजना 31 जनवरी तक बढ़ाई गई


कोरोना काल में एक किलोवॉट तक के संयोजित भार वाले घरेलू बिजली उपभोक्ताओं के देयकों की 31 अगस्त 2020 तक की मूल बकाया राशि एवं अधिभार की आस्थगित राशि के भुगतान में उपभोक्ताओं को राहत देने के उद्देश्य से राज्य शासन द्वारा समाधान योजना को 15 दिसंबर 2021 तक लागू किया गया था। मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के महाप्रबंधक ने बताया कि उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए योजना को 31 जनवरी 2022 तक बढाया गया है, जिससे शेष संबंधित उपभोक्ता समाधान योजना का लाभ उठा सकें। महाप्रबंधक ने समाधान योजना का अधिक से अधिक लाभ लेने का आग्रह बिजली उपभोक्ताओं से किया है। अब बिजली उपभोक्ता 31 जनवरी 2022 तक आवेदन कर योजना का लाभ ले सकेंगे।


प्रधानमंत्री रोजगार स्रृजन कार्यक्रम अन्तर्गत जिला स्तरीय जागरूकता शिविर सम्पन्न


sehore news
प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत गत दिवस एक दिवसीय जिला स्तरीय जागरूकता शिविर का आयोजन शासकीय पॉलीटेक्निक महाविद्यालय , नसरूल्लागंज, मे किया गया। शिविर का आयोजन खादी, ग्रामोद्योग आयोग सीहोर द्वारा किया गया, जिसमें  प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजनान्तर्गत बैंकों से ऋण प्राप्त कर अपना स्वयं का रोजगार कैसे स्थापित किया जाए इस  सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी गई। शिविर में शासकीय पॉलीटेक्निक कालेज, आई टी आई नसरूल्लागंज एवं आई टी आई चकल्दी के छात्र, छात्राओं ने शिविर में भाग लिए। खादी, ग्रामोद्योग आयोग के जिला समन्वयक श्री एस एन जोशी ने योजना के लाभार्थियों श्री अजय पटेल, श्री जितेंद्र पवार एवं श्री देवीसिंह पवार द्वारा छात्र, छात्राओ से अपना स्वयं का अनुभव विस्तृत रूप  से साझा किया गया। इस अवसर पर प्राचार्य द्वय श्री मधुरेन्द्र बेन्सन, म.प्र.खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के प्रभारी प्रबंधक श्री राजवैद्य, अनिल टिलवानी, श्री मंडल, शिक्षक गण एवं अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। 


12 जनवरी को रोजगार और स्वरोजगार दिवस का आयोजन


राज्य शासन द्वारा 12 जनवरी 2022 को प्रदेशव्यापी स्वरोजगार-रोजगार दिवस मनाने का निर्णय लिया है। इस कार्यक्रम के संबंध में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये कि नगरीय विकास एवं आवास विभाग द्वारा विभिन्न स्व-रोजगार योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, डे-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्व-रोजगार कार्यक्रम, स्व-रोजगार समूहों का बैंक लिंकेज आदि का क्रियान्वयन नगरीय निकायों के माध्यम से किया जा रहा है।  कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये निकायों के माध्यम से संचालित स्व-रोजगार योजनाओं में लक्ष्य के अनुरूप शत-प्रतिशत स्वीकृति 12 जनवरी 2022 के पूर्व प्राप्त करने का प्रयास करें और 12 जनवरी को आयोजित कार्यक्रम में नगर पालिकायें, नगर परिषद के समक्ष मुख्य नगर पालिका अधिकारी हितग्राहियों को लाभ वितरण कराना सुनिश्चित करेंगे।


घर बैठे पाए आयुष चिकित्सा का लाभ 'आयुष क्योर' एप पर


मध्यप्रदेश शासन आयुष विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए जन सामान्य को आयुष स्वास्थ्य सेवा घर पर ही सुलभ कराने के उद्देश्य से यह टेलीमेडिसिन एप लॉन्च किया है। इस  "आयुष क्योर" एप  का उपयोग रोगी तथा चिकित्सक दोनों कर सकेंगे।  इसके द्वारा रोगी सीधे वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सक से परामर्श प्राप्त कर सकेंगे। "आयुष क्योर" एक एंड्रॉयड  आधारित  ऐप है। यह गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपनी पसंद की आयुष चिकित्सा पद्धति (आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी) के विशेषज्ञ चिकित्सक  से अपनी सुविधा अनुसार अपॉइंटमेंट बुक कर सकेंगे। चुने गए चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय अनुसार ही ऐप के माध्यम से वीडियो कॉल कर चिकित्सा परामर्श दिया जाएगा। आयुष  चिकित्सा पद्धति को  घर-घर तक पहुंचाने के लिए एवं जो रोगी  चिकित्सालय में  पहुंच पाने में असमर्थ है, उनके लिए यह सुविधा अच्छी साबित होगी।


नए वैरिएंट से बचाव के लिए अनुकूल उपाय


कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट से बचाव के लिए लोगों को आम जीवन में  अनुकूल व्यवहारों को अपनाना जरूरी है। कोरोना से बचाव के लिए विशेषज्ञों ने अनुकूल व्यवहार का पालन करने की आम लोगों को सलाह दी है। इन व्यवहारों को अपनाने की सलाह देते हुए लोगों से कहा है कि अभिवादन के लिए आपस में उचित दूरी रखते हुए एक दूसरे का अभिवादन करें, एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, घर पर बना पुनः उपयोग होने वाला फेस कवर-मास्क हर समय पहनें, अपनी आँख, नाक या मुँह को छूने से बचें, अपनी श्वास स्वच्छता बनाएं रखें, अपने हाथों को नियमित रूप से और अच्छे से धोएं, अक्सर छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से साफ और कीटाणुरहित करें।  इसके अतिरिक्त तंबाकू उत्पादों का ना सेवन करें, ना सार्वजनिक स्थानों पर थूकें, अनावश्यक यात्रा ना करें, किसी के साथ भेदभाव ना करें, भीड़-भाड़ से बचें, सुरक्षित रहें, असत्यापित और नकारात्मक जानकारी को सोशल मीडिया पर प्रसारित ना करें, कोविड के बारे में विश्वसनीय स्त्रोतों से जानकारी लें, कोविड से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी के लिए केन्द्रीय टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर 1075 या राज्यों के हेल्पलाइन नम्बरों पर कॉल करें तथा किसी भी तरह के मानसिक तनाव या परेशानी होने पर मनोसामाजिक सहायता सेवाओं का सहयोग लें।


 पीएम किसान योजना के हितग्राहियों के ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूर्ण करें


पीएम किसान योजना के हितग्राहियों के ई-केवाईसी की प्रक्रिया पीएम किसान पोर्टल पर फार्मर कॉर्नर एवं पीएम किसान एप पर नि:शुल्क उपलब्ध कराई गई है। इस सुविधा से आधार लिंक मोबाईल पर ओटीपी के माध्यम से ई-केवाईसी की कार्यवाही पूर्ण करने के निर्देश आयुक्त भू-अभिलेख द्वारा दिए गये है। इस संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के सभी तहसीलदारों को निर्देशित किया है कि पीएम किसान पोर्टल पर किसान हितग्राहियों का ई-केवाईसी अपटेट प्रथमिता के आधार पर काये इस संबंध में आगे बताया है कि सीएससी केन्द्रों पर भी ई-केवाईसी की कार्यवाही हितग्राही द्वारा ओटोपी,बायोमेर्टिक से पूर्ण की जा सकती है इस कार्य के लिए 15 रूपये की दर निर्धारित की गई है। इस कार्यवही को 31 मार्च,2022 तक पूर्ण किया जाना आवश्यक है।


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में गरीब, बेसहारा एवं विकलांगों को भी मिलेगा लाभ


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में गरीब बेसहारा एवं विकलांगों को भी लाभान्वित करने के शासन द्वारा निर्देश दिये हैं। शासन ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के सभी संबंधित अधिकारियों को सर्वे कर निर्धारित प्रारूप में 31 जनवरी 2022 तक अंतिम रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है।पात्रता पर्ची बनाने के लिये हितग्राही का आधार नंबर तथा 28 श्रेणियों के अंतर्गत पात्रता श्रेणी का प्रमाणीकरण आवश्यक है परंतु विशेष प्रकरणों में कोई दस्तावेज उपलब्ध नहीं होने पर संबंधित निकाय या राजस्व के एसडीओ से प्रमाणीकरण करवाकर उनको अन्य वंचित श्रेणी में आधार नंबर की अनिवार्यता खत्म करते हुए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ दिया जाए। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत 27 प्राथमिकता श्रेणी एवं एक श्रेणी अन्त्योदय परिवार की मिलाकर कुल 28 श्रेणियों में पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित करने का प्रावधान है। इसके अलावा अब गरीब बेसहारा एवं विकलांग व्यक्ति जो धार्मिक स्थलों के बाहर भीख मांगते हैं ऐसे लोगों का अभियान चलाकर सर्वे कर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत खाद्यान्न पात्रता पर्ची जारी कर निकटतम उचित मूल्य दुकान से खाद्यान्न मिलना सुनिश्चित किया जाएगा।


गाय, भैसों में अब बछिया-पडिया ही पैदा होगी


पशुपालन विभाग ने बताया है कि गाय भैंसों में कृत्रिम गर्भाधान सेक्स सोर्टेड सीमन द्वारा गर्भित किया जाएगा। जिसके फलस्वरूप 90 प्रतिशत बछिया-पडिया ही पैदा होगी। सेक्स सोर्टेड सीमन का शुल्क सामान्य वर्ग के लिये 450 रूपये तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 400 रूपये रहेगा।  विभाग बताया कि गाय में जर्सी, गिर, साहीवाल एवं भैंस में मुर्रा नस्ल का सीमन सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में पशु चिकित्सालयों में उपलब्ध है। पशु पालक जो पशु चिकित्सालय एवं पशु औषधालय से 03 कि.मी. की दूरी पर निवास करते है। वे कॉल करके घर पहुंच सेवा (150 रूपये शुल्क) का लाभ ले सकते है। पशुपालकों से आग्रह किया है कि वे सीमन द्वारा अपने गौवंशीय एवं भैंस वंशीय पशुओं के कृत्रिम गर्भाधान करवाकर योजना का लाभ लें।


मानधन योजना का लाभ लेने की नागरिकों से अपील


प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी पेंशन योजना है जिसमें हितग्राहियों को 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के पश्चात प्रतिमाह 3 हजार की पेंशन प्राप्त होगी। इस योजनांतर्गत 18 वर्ष की आयु तक के ऐसे व्यक्त्ति सम्मिलित हो सकते हैं जिनकी मासिक आय 15 हजार रूपये या इससे कम है, जो आयकर दाता नही है तथा जो ईएसआईसी अथवा ईपीएफ इत्यादि में सम्मिलित ना हो। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के अंतर्गत हितग्राही द्वारा दिया जाने वाला मासिक अंशदान ऑटो डेबिट सुविधा से 55 रूपये से 200 रूपए योजना में सम्मिलित होने की आयु अनुसार है। हितग्राही के मासिक अंशदान के समान राशि का अंशदान केन्द्र सरकार द्वारा दिया जायेगा। उक्त्त योजना में सम्मिलित होने के लिए हितग्राही किसी भी नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर आधार कार्ड एवं बचत खाता व जनधन खाता ले जाकर अपना पंजीयन करा सकता है।


शिक्षा के साथ रोजगार भी जरूरी - मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश सरकार पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक वर्ग की बेहतरी के लिये सतत रूप से काम कर रही है। इसके लिये कई कल्याणकारी योजनाएँ लागू की गई हैं, जिनके सुपरिणाम भी देखने में आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा को रोजगार-मूलक बनाने की दिशा में कदम उठाये जा रहे हैं। साथ ही रोजगार-मूलक प्रशिक्षण की पहल की गई है। उन्होंने कहा कि रोजगार-मूलक प्रशिक्षण के लिये केन्द्र सरकार से बड़ी राशि लाने की पहल की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों को सुनिश्चित करना होगा कि अल्पसंख्यक वर्ग के लिये आवंटित राशि का सदुपयोग सुनिश्चित हो। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ जनजाति कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान उक्त निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि प्री एवं पोस्ट-मेट्रिक लंबित छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाये। उन्होंने विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ जनजाति कल्याण विभाग की योजनाओं की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि इस वर्ग के कल्याण के लिये दी गई राशि का सदुपयोग सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि आवश्यकतानुसार केन्द्र से उक्त वर्ग के लिये पर्याप्त राशि प्राप्त की जा सकती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लोहापीटा तथा इस तरह के अन्य वर्गों के कौशल को उन्नत करने के लिये बढ़ावा दिया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि जनजातीय ‍दिवस पर की गई घोषणाओं को शीघ्र अमल में लाया जाये। उन्होंने अधिकारियों को पाबंद किया कि विमुक्त जाति के लोगों की संस्कृति जैसे कला और नृत्य आदि को संरक्षण देने के लिये जिम्मेदारी से कार्य हो। उन्होंने कहा कि रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण के लिये युवाओं को प्रोत्साहित करें। उन्होंने प्री एवं पोस्ट-मेट्रिक लंबित छात्रवृत्ति के भुगतान के लिये अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ वर्ग के लोगों के लिये उपलब्ध राशि का सदुपयोग सुनिश्चित करने के लिये तत्काल कदम उठाये जायें। इस संबंध में उन्होंने ब्यौरा भी तलब किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ वर्ग के बच्चों की शिक्षा-दीक्षा के लिये और उनकी जिंदगी सुधारने के लिये वरिष्ठ अधिकारी पहल करें।


कोविड के खिलाफ युद्ध जनता के सहयोग से ही जीतेंगे


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में सभी वर्गों के सहयोग से वैक्सीनेशन का अच्छा कार्य हुआ है, जिससे कोरोना की तीसरी लहर से मुकाबला करने में हम सफल होंगे। कोविड के खिलाफ युद्ध जनता के सहयोग से ही जीतेंगे। कोरोना से सुरक्षा के लिए वैक्सीनेशन सबसे कारगर उपाय है। उन्होंने कहा कि अब 15 से 18 आयु वर्ग के किशोरों के साथ फ्रंटलाइन वर्कर और 60 वर्ष से अधिक भाई-बहनों को भी कोरोना से सुरक्षा दी जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी के सहयोग से सरकार ने वैक्सीनेशन महा अभियान चलाकर अच्छी उपलब्धि हासिल की है। प्रदेश में अभी तक 96.16 प्रतिशत नागरिकों को वैक्सीन की प्रथम डोज और 94 प्रतिशत नागरिकों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी है। बच्चों का वैक्सीनेशन भी 40.38 प्रतिशत किया जा चुका है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वैक्सीनेशन करवाने के लिए प्रदेश की जनता को बधाई दी। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन से ही कोरोना की तीसरी लहर का मुकाबला आसान हुआ है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनजीवन पर प्रभाव डाले बिना और आर्थिक गतिविधियों को सुचारू रखकर हमे कोरोना से लड़ाई लड़ना होगी। इसके लिए जरूरी है कि नागरिक सावधानी बतौर मास्क लगाए, भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। उन्होंने कहा कि बच्चों में भी टीकाकरण के प्रति उत्साह है और एक सप्ताह में ही 46 प्रतिशत से अधिक बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है। इस लक्ष्य को आगामी 15 जनवरी तक प्राप्त करने की कोशिश जारी है। उन्होंने कहा कि वे प्रतिदिन कोरोना की समीक्षा से ही दिन की शुरुआत करते है। अभी कोरोना के जो प्रकरण आ रहे हैं, उनकी भयावहता बहुत ज्यादा नहीं है। संक्रमित व्यक्ति घर पर ही ठीक हो रहे हैं, जिससे अस्पतालों में बिस्तर भी खाली है और ऑक्सीजन की भी जरूरत नहीं पड़ रही है। उन्होंने कहा कि प्रशासन, डॉक्टर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, सामाजिक संगठनों, जन- प्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और नागरिकों के सहयोग से हम प्रदेश में हालातों को काबू रखने में सफल हो रहे हैं। मीडिया ने भी सक्रिय भागीदारी निभाकर आम जनता को जागरूक किया है।


कोरोना से जनता की जिंदगी की सुरक्षा सर्वोपरि है : मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में कोरोना नियंत्रण की समीक्षा करते हुए कहा कि जनता की जिंदगी की सुरक्षा सर्वोपरि है। इसके लिए हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्ट ठीक से हों। व्यवस्थाओं के आकलन के आधार पर कोविड से निपटने की रणनीति बने। अभी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ स्कूल खोले जा रहे हैं। नाइट कर्फ्यू लगा है। कक्षा 1 से 8 वीं में प्रतिबंध लगाने के बारे में बाद में निर्णय लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर सक्रियता से कार्य करें। सीनियर सिटीजन को दिक्कत आ रही है। उन्होंने प्रदेश में ऑक्सीजन सपोर्ट बेड, होम आइसोलेशन सहित अन्य व्यवस्थाओं पर चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि होम आइसोलेशन में मरीजों से बातचीत जारी रखें, दिन में 2 बार बात हो। व्यवस्था नियंत्रण में हो। मरीजों को गाइड करें। क्या लेना है और क्या नहीं लेना है की समझाइश दें। उन्होंने मास्क लगवाने की सख्ती करने की बात कही। उन्होंने कहा कि बड़े मेलों, उत्सव, कार्यक्रम नहीं होंगे।


अतिवृष्टि और ओलावृष्टि की समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ओलावृष्टि से फसल क्षति की समीक्षा करते हुए कहा कि अतिवृष्टि और ओलावृष्टि से प्रदेश के विभिन्न जिलों में क्षति हुई है। सर्वे सभी जगह प्रारंभ करा दिया जाये। उन्होंने कहा कि प्रभारी मंत्री अपने प्रभार के जिलों को देखेंगे। कलेक्टर्स ओलावृष्टि, अतिवृष्टि से प्रभावित गाँवों में फसलों का सर्वे 7 दिन में पूरा करें और 10 दिन के भीतर मुआवजा वितरण की कार्यवाही शुरु कर दें। जिनका नुकसान हुआ है वह सर्वे से नहीं छूटें। साथ ही अपात्र किसानों को शामिल नहीं करें। अंतर्विभागीय संयुक्त दलों का गठन किया जाये। सर्वेक्षण पूरा होने के बाद प्रभावित किसानों की जानकारी चस्पा कर पढ़कर सुनाई जाये। जन-प्रतिनिधियों को विश्वास में लेकर सर्वे में उनका सहयोग प्राप्त करें। आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग करें। किसानों के बैंक खातों में ही भुगतान किया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि संकट की घड़ी में सरकार पूरी तरह किसानों के साथ है। कलेक्टर्स संवेदनशीलता से किसानों से मिलें। कटिबद्धता और जिम्मेदारी से कार्य करें उन्होंने रोजगार दिवस की समीक्षा में कहा कि 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद के जन्म-दिवस को रोजगार दिवस के रुप में मना रहे हैं। हर महीने रोजगार दिवस होगा। नौजवानों को स्व-रोजगार के स्वीकृति-पत्र देंगे। बैंक सहयोग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोजगार दिवस मैं भोपाल में रहूँगा। मंत्री अपने प्रभार का जिला तय कर लें। कोविड की स्थिति देखते हुए 100 हितग्राहियों को एक स्थान पर आमंत्रित करें। ऋण स्वीकृति-पत्र वितरित होंगे। कलेक्टर सुनिश्चित करें कि स्वीकृति-पत्र घर पहुँच जायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड के नियमों का पालन करते हुए गरिमामय कार्यक्रम करें। कार्यक्रम का जिले से भी बेहतर प्रचार प्रिंट,इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में हो। कार्यक्रम का आयोजन पूरे प्रचार-प्रसार के साथ होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे हितग्राहियों से संवाद भी करेंगे।


"एक जिला-एक उत्पाद" योजना को गंभीरता से लें


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उद्यानिकी विभाग "एक जिला-एक उत्पाद" योजना को गंभीरता से ले। उन्होंने कहा कि उद्यानिकी से जुड़े किसानों को चिन्हित उत्पाद की खेती के लिये पर्याप्त प्रशिक्षण भी दिया जाये। उन्होंने उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नर्सरियों को डिमांड ड्रिविन बनाना चाहिये। उन्होंने कहा कि जिन पौधों की माँग होती है, नर्सरियों में ऐसे पौधों के विकास पर जोर दिया जाना चाहिये। विभाग द्वारा बताया गया कि उद्यानिकी नर्सरियों को पीपीपी मोड पर विकसित किया जा रहा है। इस योजना में स्व-सहायता समूह के माध्यम से 137 उद्यानिकी नर्सरी स्थापित की गई हैं। उन्होंने कहा कि लहसुन, अदरक, मिर्च, धनिया और अन्य मसाला फसलों के उत्पादन में प्रदेश का देश में अग्रणी स्थान है। मसाला फसलों के उत्पादन से जुड़े किसानों को बढ़ावा देना चाहिये। मसाला फसलों की प्र-संस्करण इकाइयाँ भी लगाना चाहिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उद्यानिकी फसलों को संरक्षित रखने के लिये कोल्ड-स्टोरेज लगाने पर भी जोर दिया। साथ ही उद्यानिकी किसानों को प्राकृतिक और जैविक खेती से जोड़ने की बात भी कही। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उद्यानिकी विभाग द्वारा बुंदेलखण्ड के किसानों को पान की खेती से जोड़ने के कार्यक्रम की सराहना भी की। विभाग द्वारा एक हजार किसानों को पान की खेती से जोड़ा जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: