गया : जिले के सभी स्वाथ्यकर्मी को अलर्ट मोड में रहने का आदेश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 13 जनवरी 2022

गया : जिले के सभी स्वाथ्यकर्मी को अलर्ट मोड में रहने का आदेश

alert-for-health-worker
गया। देश तथा राज्य में फैल रहे कोविड-19 संक्रमण दर को देखते हुए जिला प्रशासन गया द्वारा जिले के सभी अस्पतालों एवं चिकित्सकों तथा पारा मेडिकल स्टाफ को अलर्ट मोड में रहने का निर्देश दिया गया है। हालांकि अधिकतर संक्रमित व्यक्ति होम आइसोलेशन में ही रहकर अपना इलाज करा रहे हैं। अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या भी बहुत ही कम है, परंतु जिस रफ्तार से संक्रमण देश के अन्य राज्यों एवं बिहार में फैल रहा है उसे देखते हुए अस्पतालों में बेडो की संख्या, ऑक्सीजन प्लांट की स्थिति, दवाओं की उपलब्धता, चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल स्टाफ की तैनाती इत्यादि कार्यों पर मंथन करते हुए राज्य स्वास्थ्य समिति तथा अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग, बिहार द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में पूरी तैयारी की जा रही है। गया जिले के माननीय सांसद, माननीय विधायक, एम०एल०सी० सहित अन्य जनप्रतिनिधियों को जिला प्रशासन, गया द्वारा कोरोना संक्रमण की तैयारियों के संबंध में आवश्यक जानकारी देने तथा उनसे आवश्यक सुझाव प्राप्त करने के लिए आज जिला पदाधिकारी, गया डॉ० त्यागराजन एसएम की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वर्चुअल बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य रूप से माननीय पूर्व मुख्यमंत्री श्री जीतन राम मांझी, माननीय पूर्व मंत्री-सह-नगर विधायक डॉक्टर प्रेम कुमार, माननीय सांसद गया श्री विजय कुमार, माननीय विधायक टिकारी श्री अनिल कुमार, माननीय विधायिका बाराचट्टी श्रीमती ज्योति देवी, माननीय विधायक वजीरगंज श्री वीरेंद्र सिंह, माननीय  विधायिका शेरघाटी श्रीमती मंजू अग्रवाल, माननीय विधायक गुरुआ  श्री विनय कुमार, माननीय विधान पार्षद डॉक्टर संजीव श्याम सिंह शामिल हुए।

                   

वर्चुअल बैठक में जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि दिनांक 4 जनवरी से 10 जनवरी के बीच लगभग 45,000 टेस्ट कराए गए हैं, जिनमें से 1,120 व्यक्ति पॉजिटिव हुए हैं, प्रतिदिन लगभग 7000 लोग टेस्ट करा रहे हैं। रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट सहित अन्य महत्वपूर्ण स्थानों एवं अस्पतालों में टेस्ट कराया जा रहा है। 10 जनवरी को 3,122 आर०टी०पी०सी०आर० टेस्ट कराए गए हैं, जिनमें से 112 व्यक्ति पॉजिटिव हुए हैं एवं 3,873 एंटीजन टेस्ट हुए हैं जिसमें से 35% पॉजिटिव केस है।  जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या बहुत ही कम है, लगभग 85% लोगो लक्षण नहीं है। अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 3 बड़े ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं, जो पूरी तरह फंक्शनल है। इसी प्रकार जयप्रकाश नारायण अस्पताल, अनुमंडलीय अस्पताल टिकारी एवं शेरघाटी, प्रभावती अस्पताल, पी०एच०सी० बोधगया में ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं। अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 38  वेंटिलेटर है तथा 121 बेड पूरी तरह तैयार है। 17 प्राइवेट अस्पताल को भी चिन्हित कर रखे गए हैं। जिला पदाधिकारी ने बताया कि जिले में टीकाकरण कार्य नियमित रूप से चलाया जा रहा है। 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए तथा 10 जनवरी से फ्रंटलाइन वर्कर तथा 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए प्रीकॉशनरी डोज़ प्रारंभ किया गया है। उन्होंने बताया कि 15 से 18 वर्ष के बच्चों के टीकाकरण के लक्ष्य का 24% अब तक प्राप्त किए गए हैं। 80% लोगों को फर्स्ट डोज का टीका दिया गया है तथा निर्धारित समय के आधार पर 87% लोगों को सेकंड डोज का टीका दिया गया है। जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि जिला स्तर पर कार्यरत नियंत्रण कक्ष के माध्यम से होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों को नियमित रूप से मेडिकल किट उपलब्ध कराया जा रहा है, उनसे दूरभाष/वीडियो कॉलिंग के माध्यम से उनके स्वास्थ्य की स्थिति, दवाई की उपलब्धता तथा आवश्यक सुझाव दिए जा रहे हैं । अब तक 2,452 लोगों को वीडियो कॉलिंग किया जा चुका है। जिला पदाधिकारी द्वारा माननीय जनप्रतिनिधियों को बताया गया कि मास्क चेकिंग हेतु अभियान नगर निगम क्षेत्र में नियमित रूप से चलाया जा रहा है तथा जागरूकता वाहन एवं माइक के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

                       

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वर्चुअल बैठक में शामिल हो रहे माननीय पूर्व मुख्यमंत्री, श्री जीतन राम मांझी ने जिला पदाधिकारी द्वारा  किये गए  कार्यों का स्वागत किया तथा आशा व्यक्त किया है कि जिला को एक अच्छा प्रशासक मिलेगा। उन्होंने कहा कि जिला पदाधिकारी के कार्य तारीफ के लायक है। ग्रामीण लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। मैगरा में डेडीकेटेड अस्पताल को पुनः सभी संसाधनों  से लैस करने की मांग की गई। जिले के अनुसूचित जाति/महादलित टोला को सेनीटाइज कराया जाए। उन्होंने डॉक्टर के प्रतिनियुक्ति करने के साथ साथ बाराचट्टी एवं इमामगंज में मलेरिया का छिड़काव कराने की मांग की गयी। माननीय विधायक, नगर डॉक्टर प्रेम कुमार  द्वारा बताया गया कि जिला प्रशासन द्वारा अच्छी पहल की गई है। बूस्टर डोज में तेजी लाने की जरूरत है साथ ही सावधानी बरतने की भी जरूरत है। गांवों/शहरों में कोरोना से बचाव से संबंधित हैंड बिल का वितरण कराने की जरूरत है। केंद्र प्रायोजित योजनाओं की लगातार आवश्यकता है। रौशनी योजना के माध्यम से स्लम क्षेत्र के लोगों को सफाई के बारे में बताया जाए। मास्क का अनुपालन और अधिक तेजी से कराया जाए। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों को जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों के संबंध में व्हाट्सएप मैसेज भेजा जाए। माननीय सांसद, गया श्री विजय कुमार ने जिला प्रशासन की तैयारी को अच्छा बताया है साथ ही धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा कि कोविड के कारण मृत्यु होने पर उन्हें मुआवजा अवश्य मिले। ऑक्सीजन प्लांट की व्यवस्था अच्छी है। उन्होंने मोहनपुर, बाराचट्टी एवं वजीरगंज में भी ऑक्सीजन प्लांट की अच्छी व्यवस्था कराने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि हमसबो को  सहयोग जिला प्रशासन से हमेशा मिलेगा। अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एoएनoएमo रहें तथा दवा की दुकान में लोग मास्क पहनकर दवा दें। माननीय विधायक, टिकारी श्री अनिल कुमार ने जिला प्रशासन के कार्यों के लिए बधाई एवं धन्यवाद दिया।उन्होंने कहा कि अस्पताल के प्रभारी काफी अच्छे हैं। अन्य चिकित्सकों को भी मेहनत करना होगा। चिकित्सक कम से कम सप्ताह में 4 दिन रहे  तथा उनका समय निर्धारित हो ताकि लोग अपना इलाज करा सके। देवरा, पंचानपुर, चंदा में अस्पताल होना आवश्यक है। अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में  जिन लोगों का इलाज संभव है उसे तुरंत रेफर न करे,उनका इलाज करें। बाराचट्टी विधायिका, श्रीमती ज्योति देवी द्वारा नववर्ष की शुभकामना देते हुए  कहा गया कि बाराचट्टी में डॉक्टर रेगुलर रह रहे हैं। कोविड बेड  की संख्या बाराचट्टी में बढ़ाया जाए। उन्होंने कहा कि जो लोग कोरोना से मरते हैं, समय सीमा के अंदर मुआवजा अवश्य मिले।  उन्होंने कहा कि स्थानीय ग्रामीण चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिलाया जाए ताकि वें गांव के लोगों का इलाज कर सके साथ ही उन्होंने क्षेत्र में मलेरिया का छिड़काव करने की मांग की गई। विधायिका की मांग पर जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि मोहनपुर प्रखंड के लिए अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र निर्माण हेतु स्वीकृत हो गई है,उसका शीघ्र ही निर्माण के लिए टेंडर किया जाएगा।


माननीय विधायक, वजीरगंज श्री वीरेंद्र सिंह द्वारा बताया गया कि अस्पतालों में डॉक्टर की कमी है। माननीय विधायक द्वारा क्षेत्र/बाजार को सैनिटाइज कराने, ग्रामीण उप स्वास्थ्य केंद्र सुचारू रूप से चले, ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव स्लम क्षेत्र मे करने तथा  सभी स्वास्थ्य उप केंद्रों को चालू कराने की मांग की गई. माननीय विधायिका, शेरघाटी श्रीमती मंजू अग्रवाल ने बताया कि अस्पतालों में मास्क, सैनिटाइजर, पीoपीoईo कीट,एoएनoएमo आइसोलेशन सेंटर की कमी है। उन्होंने कहा कि आइसोलेशन सेंटर को सुसज्जित कराया जाए। नगर परिषद शेरघाटी में कीटनाशक दवाई का छिड़काव कराया जाए. माननीय विधायक, गुरुआ श्री विनय कुमार ने बताया कि गुरारू अस्पताल का शिलान्यास किया जा चुका है, उसका शीघ्र निर्माण  आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जो उप-स्वास्थ्य केंद्र बन गये है, उसे शीघ्र चालू कराया जाय । अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में रात्रि में ड्यूटी चेंज होने के बाद समय पर चिकित्सक आ जाएं। उन्होंने कहा कि कोरोना से हुए मृत्यु का मुआवजा जिनका लंबित है, उसे शीघ्र भुगतान कराया जाए। क्षेत्रों को सेनेटाइज कराने के साथ साथ मास्क लगाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम का प्रचार प्रसार माइक द्वारा कराया जाए। माननीय विधान पार्षद, श्री संजीव श्याम सिंह द्वारा मांग की गई  कि मेडिकल किट को संक्रमित व्यक्ति को समय पर उपलब्ध कराया जाए। सभी उप-स्वास्थ्य केंद्र तथा अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भी ऑक्सीजन कंसंट्रेशन की व्यवस्था कराई जाए। उन्होंने कहा कि  टीकाकरण का दर बढ़ाया जाए साथ ही 60 से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों को बूस्टर डोज में तेजी लाने का सुझाव उन्होंने दिया।  ग्रामीण चिकित्सकों को भी प्रशिक्षण दिलाने तथा मनसरवा नाला का निर्माण शीघ्र कराने की मांग की गई। जिला पदाधिकारी ने वर्चुअल बैठक में उपस्थित सभी माननीय जन-प्रतिनिधियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि आपके महत्वपूर्ण सुझाव एवं मांग पर तेजी से अमल किया जाएगा।वर्चुअल बैठक में जिला स्तर पर सिविल सर्जन, प्राचार्य/अधीक्षक एoएनoएमoसीoएचo ,जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, डीoपीoएमo स्वास्थ्य,जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला नज़ारत उपसमाहर्ता, प्रभारी पदाधिकारी जिला सामान्य शाखा,प्रभारी नगर आयुक्त, सहित अन्य पदाधिकारी एवं चिकित्सक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: