बेतिया : हर घर नल का जल योजना की करायी गयी स्थलीय जांच - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 23 जनवरी 2022

बेतिया : हर घर नल का जल योजना की करायी गयी स्थलीय जांच

  • प्राक्कलन की विशिष्टियों के अनुरूप योजनाओं की पूर्णता नहीं होने की स्थिति में होगी कड़ी कार्रवाई

nal-jal-inspaction
बेतिया। लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में हर घर नल का जल योजना के तहत योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। जिले में अधिकांशतः ग्रामीण जलापूर्ति योजनाएं पूर्ण हो गयी है तथा उनसे ग्रामीणों को जलापूर्ति की जा रही है।  जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार के निर्देश के आलोक में आज जिले के 06 प्रखंडों के विभिन्न वार्डों में पूर्ण योजनाओं के फंक्शनलीटी की स्थलीय जांच अधिकारियों के दल द्वारा करायी गयी। जांच दल में तकनीकी अधिकारियों को भी शामिल किया गया था ताकि पूर्ण योजनाओं की सूक्ष्मता से जांच की जा सके। जिन स्थलों पर जांच दल द्वारा जांच की गयी है उनमें बेतिया प्रखंड अंतर्गत बरसत सेना, बैरिया प्रखंड अंतर्गत तधवानंदपुर, बैरिया, पटजिरवा, योगापट्टी प्रखंड अंतर्गत फतेहपुर, मच्छरगांवा, नवलपुर, नौतन प्रखंड अंतर्गत पूर्वी नौतन, पश्चिमी नौतन, जगदीशपुर, मझौलिया प्रखंड अंतर्गत मझौलिया, सरिसवा, रतनमाला, चनपटिया प्रखंड अंतर्गत गिधा, दक्षिणी घोघा, बेतियाडीह, औरैया, रानीपुर रमपुरवा एवं लालगढ़ पंचायतों के नाम शामिल हैं। जिलाधिकारी द्वारा जांच दल को अपने-अपने आवंटित प्रखंड अंतर्गत सम्बद्ध पंचायतों में क्रियान्वित/संचालित योजनाओं का गहन स्थलीय निरीक्षण करने, स्थानीय लाभुकों का बयान अनिवार्य रूप से दर्ज करने तथा वार्डवार जांच प्रतिवेदन सुस्पष्ट मंतव्य के साथ समर्पित करने के लिए पूर्व में ही निर्देशित किया गया था।  जिलाधिकारी के निर्देश के आलोक में जांच दल द्वारा प्राक्कलन की विशिष्टियों के अनुरूप योजनाओं को पूर्ण किया गया है अथवा नहीं की गहनता के साथ जांच की गयी है। जांच प्रतिवेदन में अनियमितता पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति के विरूद्ध विधिसम्मत कार्रवाई की जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: