मधुबनी : किशोरों के लिए कोविड टीकाकरण की शुरुआत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 3 जनवरी 2022

मधुबनी : किशोरों के लिए कोविड टीकाकरण की शुरुआत

teen-vaccination-start-in-madhubani
मधुबनी : जिले में 15 से 18 वर्ष के उम्र के किशोरों के लिए कोविड टीकाकरण की शुरुआत सोमवार को हो गई। इसके लिए सभी प्रखंडों में अलग से टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। टीकाकरण केंद्रों पर छात्रों को कोविड का टीका लगाए जाने के बाद उसे प्रमाणपत्र भी प्रदान किया गया। मालूम हो कि सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर वयस्‍कों को कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड दो ब्रांड की वैक्‍सीन की डोज लगाई जा रही है। हालांकि किशोरों को फिलहाल केवल कोवैक्‍सीन की डोज देने का ही निर्णय लिया गया है। किशोरों पर इसी वैक्‍सीन का ट्रायल किया गया है। वहीं किशोरों के टीकाकरण अभियान को लेकर अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण के लिए जिले के विभिन्न प्रखंडों के पदाधिकारियों को लगाया गया है जो लगातार निगरानी कर रहे। जिले में पहले दिन केवल जिले के 30 केंद्रों पर 15,905 किशोरों को ही टीका लगाने की तैयारी की गई थी। बच्चों में टीकाकरण को लेकर उत्साह दिखा। बच्‍चों को आन स्‍पाट रजिस्‍ट्रेशन करते हुए उन्‍हें टीका लगाया गया। सरकार की योजना है कि जनवरी महीने में इस आयुवर्ग के सभी किशोरों को कम से कम पहली डोज जरूर दे दी जाए। फरवरी से इनको दूसरी डोज लगाने की तैयारी है। 16 वर्षीय किशोर खुर्रम राशिद ने वाटसन स्कूल स्थित टीकाकरण केंद्र में पहला टीका लिया । उन्होंने बताया कि मैंने कोरोना का टीका ले लिया। टीका लगने तथा आधे घंटे पर्यवेक्षण में रहने के बाद उन्होंने कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। जैसे सामान्य इंजेक्शन में चींटी काटने जैसा अहसास होता है, बिल्कुल वैसा ही अनुभव हुआ। इससे अधिक कुछ नहीं। कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ। उन्होंने लोगों से बगैर डरे टीका लगवाने की अपील की। अयाची नगर से आई छात्रा नैंसी झा ने बताया कहा कि यह मेरे जीवन का सबसे अनमोल दिन है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मैंने अपना टीकाकरण कराया। मेरे लिए गर्व का दिन है। उन्होंने बताया कि बहुत खुशी हो रही है। टीका लगने के बाद कोई दिक्कत नहीं हुई है। एकदम सामान्य हूं। किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई है।


तिरहुत कॉलोनी से आए 16 वर्षीय छात्र अश्वनी कुमार ने बताया जिन्हें भी टीका लेने का अवसर मिल रहा है वह इसे हरगिज ना गवाएं। टीका लेने के बाद उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई है। उन्होंने कोविड-19 टीका को पूरी तरह सुरक्षित बताया। किशोरों के टीकाकरण अभियान को लेकर जिले के 21 प्रखंड में 30 टीकाकरण केंद्र बनाया गया था। जिसमें अंधराठाढ़ी प्रखंड में एमआरजी हाई स्कूल, प्रोजेक्ट गर्ल हाई स्कूल, एमजेएचएस देवधर, बीडीए हाई स्कूल नानपुर, बाबूबरही प्रखंड में हाई स्कूल बाबूबरही में, बासोपट्टी प्रखंड में आईएस हाई स्कूल, बेनीपट्टी प्रखंड में लीलाधर हाई स्कूल, बिस्फी प्रखंड में एच एस नाहस खंगरैठा, घोघरडीहा प्रखंड में एनकेपी कॉलेज खोपा, हरलाखी प्रखंड में प्रोजेक्ट गर्ल हाई स्कूल उमगांव, जयनगर में माउंट कार्मेल इंटर स्कूल, झंझारपुर में गोपाल नारायण हाई स्कूल, कलुआही में त्रिलोकनाथ हाई स्कूल, खजौली में बी एम ए टी सिंह गर्ल्स हाई स्कूल, एचबीजेसी खजौली, खुटौना में हाई स्कूल खुटौना, लदनिया में एच एस महात्मा, लखनौर में धारावती हाई स्कूल लखनौर, प्रोजेक्ट गर्ल हाई स्कूल, लौकही में सूर्य प्रसाद हाई स्कूल, मधेपुर में जवाहर हाई स्कूल, मधवापुर में श्री लक्ष्मी जनता हाई स्कूल, पंडौल में हाई स्कूल नरपत नगर, हाई स्कूल सरसोपाही, हाई स्कूल पंडौल, हाई स्कूल बेलाही, फुलपरास हाई स्कूल सिसवाबरही, रहिका आर एस स्कूल जीवछ चौक, राजनगर रामेश्वर हाई स्कूल, सुशीला एजुकेशन इंस्टीट्यूट सहित जिले के 6 टू 9 टीकाकरण केंद्र में भी किशोरों का टीकाकरण किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: