बिहार : नीतीश के जनता दरबार कार्यक्रम में फरियादी निकले COVID पॉजिटिव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 3 जनवरी 2022

बिहार : नीतीश के जनता दरबार कार्यक्रम में फरियादी निकले COVID पॉजिटिव

covid-posetive-in-itish-janta-darbar
पटना : नए साल और बिहार में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज पहली बार जनता दरबार में लोगों की फरियाद सुन रहे हैं। मुख्यमंत्री के जनता दरबार में आने वालों लोगों की कोरोना जांच भी करवाई जा रही है। इसी दौरान 14 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं, फरियादियों के पॉजिटिव पाए जाने की खबर लगते हैं कि सीएम नीतीश घबरा गए और अपनी कुर्सी से उठ खड़े हो गए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा जारी जनता दरबार में 14 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद जनता दरबार कार्यक्रम की जिम्मेदारी संभाल रहे अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। इसके बाद अधिकारियों ने तुरंत इसकी सूचना सीएम नीतीश को दी, जिसके बाद सीएम नीतीश कुर्सी से उठ खड़े हो गए और अपने अधिकारियों से गर्म पानी की मांग पीने के लिए किया। इसके बाद वो खड़े होकर ही बाकी लोगों की फरियाद सुनने लगे। दरअसल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गले में भी खरास की समस्या देखने को मिली जिसके बाद से सीएम ने तुरंत गर्म पानी की मांग की। मुख्यमंत्री बार-बार गले में खराश की शिकायत कर रहे थे। मुख्यमंत्री खुद यह कहते नजर आए की गर्म पानी पिलाईये गले में दिक्कत है। इसके साथ ही उन्होंने तुरंत चाय भी मंगाई। वहीं, दूसरी तरफ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए मा.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से आग्रह है कि जनता दरबार कार्यक्रम को फिलहाल स्थगित रखा जाए,राज्यहित में यह कारगर फैसला होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: