झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 17 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 17 जनवरी 2022

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 17 जनवरी

भारतीय नारी की पहचान उसकी सुंदरता नहीं, अपितु इसे गुणों और सादगी से होती है, लड़के-लड़कियों में बचपन से ही संस्कार विद्यमान करना बहुत जरूरी -ः मुख्य वक्ता श्रीमती इंदुमति काटदरे

  • दूसरे दिन ‘‘भारतीय नारी के समक्ष वर्तमान चुनौतियों और उसका समाधान’’ विषय पर पुर्नउत्थान विद्यापीठ अहमदाबाद की कुलपति ने दिया संबोधन
  • समिति के वरिष्ठ सदस्य लक्ष्मणसिंह गामड़ के स्वर्गावास पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई, वंदे मातरम् गायन के साथ हुआ दो दिवसीय व्याख्यान माला का समापन

jhabua news
झाबुआ। भारतीय नारियां पूरे विश्व में सवेश्रष्ठ नारी है। भारतीय नारी की पहचान केवल सुंदरता नहीं, अपितु उनके गुण, सादगी और विनयशीलता है। भारत देश ही ऐसा है, जहां नारियों में अलग-अगल राज्यों में अलग-अलग पंरपरा और संस्कृतियां विद्यमान है। हमे अपनी संस्कृति और परंपरा को तो बनाए रखना है, लेकिन इसके नाम पर जो कुरूतियों और अंधविश्वास है, उन्हें समाप्न करना भी बहुत जरूरी है। वर्तमान आधुनिक युग में हमे लड़के-लड़की में अंतर नहीं समझते हुए, बचपन से ही बच्चों में संस्कार स्थापित करना बहुत जरूरी है। उक्त प्रेरणादायी संबोधन स्थानीय लक्ष्मीनगर स्थित अंबा पैलेस गार्डन पर स्व. दत्ताजी उन्नगांवकर आजाद स्मृति न्यास समिति की ओर से आयोजित दो दिवसीय व्याख्यान माला के दूसरे दिन मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित पुर्नउत्थान विद्यापीठ अहमदाबाद (गुजरात) की वरिष्ठ कुलपति श्रीमती इंदुमति काटदरे ने सदन में व्यक्त किए। दूसरे दिन कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य वक्ता इंदुमति काटदरे के साथ विशेष अतिथि के तौर पर उपस्थित शासकीय शहीद चन्द्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ के प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे समिति अध्यक्ष और शासकीय कन्या महाविद्यालय झाबुआ के प्राचार्य सीएस चौहान ने भारत माता और शहीद चन्द्रशेखर आजाद की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया। बाद संगीत की सुरम्य लहरियों के बीच सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत स्कूली छात्राओं ने प्रस्तुत किया।


अतिथियों का किया गया अभिनंदन

मुख्य वक्ता श्रीमती काटदरे का पुष्पमाला और शाल-श्रीफल से श्रीमती सुनिता बाबेल तथा विशेष अतिथि डॉ. जेसी सिन्हा का अभिनंदन वरिष्ठ इतिहासकार एवं सेवानिवृत्त प्राचार्य डॉ. केके त्रिवेदी और कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे समिति अध्यक्ष सीएस चौहान का सम्मान श्रीमती शीतल जादौन एवं धर्मेन्द्रंिसह सोलंकी ने किया। विशेष अतिथि पीजी कॉलेज झाबुआ के प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा ने श्रीमती इंदुमति कटदरे के जीवन के बारे में बताते हुए नारी सशक्तिकरण पर संक्षिप्त प्रकाश डाला। बाद व्यक्तिगत गायन की प्रस्तुति भी दी गई।


भारतीय नारी आज हर क्षेत्र में पुरूषों की बराबरी कर रहीं

मुख्य वक्ता श्रीमती इंदुमति कटदरे ने व्याख्यान देते हुए वर्तमान परिदृष्य में नारियांे की स्थिति पर प्रकाश डालते हुए आगे कहा कि आज के परिदृश्य में हमारी संस्कृति और सभ्यता का लगातार हनन हो रहा है। समाज में जन्म लेने वाली कुरूतियों को आज सामूहिक प्रयासों से ही पूरी तरह से समाप्त करने की जरूरत है। आधुनिक परिवेश में हमे विकृति और संस्कृति में अंतर समझना होगा। हमे विदेशी परपंराओं की ओर आकर्षित नहीं होते हुए अपनी भारतीय संस्कृति और सभ्यता को बरकरार रखना होगा। जात-पात और समाज में नहीं बटते हुए एकजुटता के सूत्र में बंधना होगा। उन्होंने मुख्य रूप से दो मुद्दों पहला ‘‘जैस अन्न वैसा मन’’ पर बात करते हुए कहा कि गृहिणीयां आज पुुरूषों से कंधे से कंधे मिलाकर हर क्षेत्र में आगे है। वह गृहिणी के रूप में अन्नपूर्णा की भूमिका का भी निर्वहन करती है। साथ ही अपने परिवार का पालन-पोषण करने की मुख्य जिम्मेदारी भी नारी की होती है।


नारी का सम्मान करे, तिरस्कार नहीं

श्रीमती इंदुमति कटदरे ने कहा कि हमे नारी का सम्मान करना चाहिए, उनका तिरस्कार नहीं करना चाहिए। उन पर जो शोषण, अत्याचार किए जाते है, वह गलत है। दूसरा मुद्दा ‘‘नई पीढ़ी का निर्माण’’ पर  उन्होंने कहा कि आज की नई पीढ़ी मां के पेट से जन्म लेते ही पहले मोबाईल, कम्प्यूटर, लेपटॉप और टेलिविजन की ओर आकर्षित होती है, इसकी बजाय हमे उन्हें नैतिकता और संस्कारों को पाठ पढ़ाना चाहिए।यदि आज की नारी अपने जिम्मेदारी और कर्तव्यों का सहीं तरीके से निर्वहन करेगी और पुरूष वर्ग भी उनका मान-सम्मान करेगा, तो ही नारी का इस क्षेत्र में भी पूरा विश्व भारत का अनुसरण करेगा। श्रीमती इंदुमति के उद्बोधन से प्रेरित होकर समापन पर सभी ने खड़े होकर एवं तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया।


वंदे मातरम् के सामूहिक गायन के साथ समापन हुआ

अंत में मुख्य वक्ता श्रीमती कटदरे को स्मृति चिन्ह युवा योगेश्वर कहार, एवं विशेष अतिथि डॉ. जेसी सिन्हा को स्मृति चिन्ह श्रीमती सविता गुप्ता ने प्रदान किया। कार्यक्रम का सफल संचालन मोहिनी गिधवानी ने किया एवं दो दिवसीय आयोजन को सफल बनाने पर सभी प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष सहयोगियांे का आभार समिति अध्यक्ष सीएस चौहान ने माना। इस दौरान समिति के वरिष्ठ सदस्य डॉ. वैभव सुराना ने बताया कि समिति के वरिष्ठ सदस्य रहे पूर्व ग्रंथपाल लक्ष्मणसिंह गामड़ का ह्रदयघात से निधन होने हो गया है। जिस पर सभी ने उन्हें मौन रहकर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। समापन पर सभी ने वंदे मातरम् का सामूहिक गायन किया।


मुख्यमंत्री द्वारा पंचायतों को वित्तिय एवं प्रषासनिक अधिकार लौटाने पर सांसद गुमानसिंह डामोर ने धन्यवाद ज्ञापित किया ।

  • अब प्रधान पूर्ववत अपने दायित्वों का निर्वाह कर सकेगें ।

झाबुआ । क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा फिर से सरपंचों के वित्तिय अधिकार लौटाने के निर्णय पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए इसे पंचायती राज प्रणाली में एक उल्लेखनीय कदम बताया है । सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहा है कि प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चौहान ने सोमवार को  पंचायत प्रधानों को वित्तीय अधिकार लौटाने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने सरपंच संघ की मांग पर 12 दिन बाद ही अपना फैसला पलट दिया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि जनता की ताकत से ही सारे काम होते हैं, इसलिए प्रधानों को प्रशासकीय अधिकार लौटा रहे है । श्री डामोर ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पंचायत, जनपद पंचायत और जिला पंचायत स्तर के वित्तीय अधिकार लौटाने की घोषणा की। सांसद ने बताया कि प्रशासकीय समिति और प्रधानों के साथ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वर्चुअल मीटिंग कर प्रधानों से कहा कि पंचायत चुनाव डिले हुए तो प्रशासकीय समिति बनाकर आपको दायित्व सौंपा था। अब पंचायत चुनाव में व्यवधान आ गया है,उनकी दृढ़ मान्यता है कि लोकतंत्र में चुने हुए जनप्रतिनिधि जनता के प्रति जवाबदेह होते हैं, इसीलिए प्रशासकीय समिति के अध्यक्ष और सचिव बनाकर आपको जिम्मेदारी सौंपी थी। श्री डामोर ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि गांव में समाज सुधार के आंदोलन चलाएं। सामाजिक समरसता का भाव बने। ग्रामवासी मिल-जुलकर काम करें। पंचायत चुनाव जब होंगे, तब देखा जाएगा। इसमें दो महीने का समय लगेगा या चार महीने का। उन्होने कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने में प्रधानों से सहयोग की अपील की। कहा कि हमें मैदान में उतरना है। पंचायत स्तर पर कोविड क्राइसिस कमेटी की जिम्मेदारी सरपंचों एवं पंचायत प्रतिनिधियों की है। श्री डामोर ने कहा कि 4 जनवरी को पंचायत एवं ग्रामीण विभाग विभाग ने आदेश जारी किया। पंचायत चुनाव रद्द होने और आचार संहिता खत्म होने के बाद ग्राम पंचायतों के बैंक खातों के संचालन की व्यवस्था पहले की तरह ग्राम पंचायत सचिव और प्रधान के संयुक्त हस्ताक्षर से किए जाने के आदेश थे। साथ ही, जनपद पंचायत व जिला पंचायत को भी पहले की तरह अधिकार दिए गए थे। खास बात यह है कि चुनाव नहीं होने के कारण करीब 7 साल से यह पंचायतों का संचालन कर रहे थे। उसे अब बरकार कर दिया गया है । सांसद  गुमानसिंह डामोर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा पुनः गा्रम पंचायतो, जनपदों एवं जिला पंचायतों के प्रधानों को प्रशासनिक एवं वित्तिय अधिकार लौटा कर सराहनीय कदम उठाया है। अब पंचायत प्रधान सहित जनपद एवं जिला पंचायतों के प्रधान पूर्ववत अपनी सक्रिय भूमिका निभाकर पूरे अंचल के विकास के लिये कार्य कर सकेगें । श्री डामोर ने रतलाम, झाबुआ एवं आलीराजपुर अंचल के सभी गा्रमीणों एवं जनप्रतिनिधियों की ओर से मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का आभार व्यक्त किया है ।


झाबुआ शहर की 6 प्रमुख मांगों को लेकर एनएसयूआई ने नारेबाजी के साथ नपा सीएमओ के नाम प्रभारी कमलेश जायसवाल को सौंपा ज्ञापन, शहर की समस्त समस्याओं के तत्काल निराकरण हेतु रखी मांग


jhabua news
झाबुआ। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन की जिला इकाई ने झाबुआ शहर की विभिन्न समस्याओं और मांगों को लेकर 17 जनवरी, सोमवार को दोपहर नगरपालिका कार्यालय पहुंचकर नपा सीएमओ के नाम प्रभारी कमलेश जायसवाल को ज्ञापन सौंपकर इन मागों के अतिशीध्र निराकरण करने हेतु मांग की। निराकरण नहीं होने पर उग्र आंदोलन करने की भी चेतावनी दी। इस दौरान सभी ने मांगांे संबंधी नारे भी लगाए। ज्ञापन एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विनय भाबोर के नेतृत्व में सौंपा गया। जिसमें उल्लेख किया गया कि झाबुआ में जल नल योजना के अंतर्गत शहर के सभी वार्डाे में पाइप लाइन के माध्यम से सभी घरों में जल उपलब्ध कराने की योजना है, परंतु झाबुआ शहर में ऐसे कही घर है, जहां नागरालिका के द्रारा पाइप लाइन नही डाली गइर्। जिससे कहीं घरों में पानी नही पहुच रहा है, वहीं कई रहवासी काफी परेशान भी है। झाबुआ शहर के सभी वार्डाे का पुनः निरीक्षण कर जिन घरों में पानी के पाइप नही पहुचे है, वहां पाइप लाइन डाली जाए। साथ ही नागरालिका द्रारा शहर में पानी का जो सप्लाय किया जाता है, उसका भी एक निश्चित समय निर्धारित किया जाए। बे-समय पानी सप्लाय के कारण बहुत से लोग पानी भरने से वंचित रहे जाते है। वही बराबर नलो में पानी का फोर्स नही होने के कारण बहुत से घर मे पूरा पानी भी नही भरा पाता है। इस समस्या का भी तत्काल निराकरण किया जाए।


बिजली तारों को करवाया जाए व्यवस्थित

झाबुआ शहर में लगातार मकानों का निर्माण के कारण गलियों में बिजली के तारो का जाल बिछ गया है। गलियों में कोई बड़ी गाड़ी जाती है तो गाड़िया अड़ जाती है और तार टूट कर नीचे गिर जाते है। जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। नागरालिका ने नगर के वार्डाे में लाइट के पोल के लिए सर्वे किए थे, सर्वे किए आज 2 साल हो गए है, परंतु एक भी पोल वार्डाे में नही लगे। आज भी मकान के छत पर बिजली के तार लटके हुए है। जिससे भविष्य में बड़ी घटना-दुर्घटना की संभावना बनी हुई है।


मटन मार्केट के लिए उचित स्थान नहीं

झाबुआ में मटन की दुकान के लिए शासन ने एक शेड़ की व्यवस्था की थी, जहां पर सभी मटन की दुकाने एक साथ व्यवस्थित रूप से लग सके, जहं सभी प्रकार की व्यवस्था रहती है, परंतु नगरपालिका की लापरहवाही के कारण शहर में यह दुकाने जहां-तहां लगी हुई है। शहर में कांजी हाउस भी नहीं है।  बस स्टेंड के पीछे बन रहे नाले का निर्माण कार्य जल्द ही पूरा हो, नहीं तो इस संबंध में  संगठन कलेक्टर कार्यालय पर उग्र धरना देकर इस मांग को बुंलद करेगा।


तालाबों हो रहे दुदर्शा का शिकार, कई हैंडपंप पड़े है बंद

झाबुआ में नए बस स्टैंड के लिए कांग्रेस सरकार ने घोषणा की थी और 10 करोड़ देने की बात भी की थी, परंतु अभी तक नवीन बस स्टैंड का कोई कार्य शुरू नही हुआ है। बस स्टेशन पर आए दिन जाम की स्थिति रहती है। वही तालाबो की स्थिति भी काफी दयनीय है, तालाबो का पानी बदबू मार रहा है। स्ीाी तालाब अपना अस्तित्व खोते जा रहे है। आज नगरपालिका की ला परवाही के कारण नगर के अधिकतर हैंडपंप बन्द पड़े हुए हैख् शिकायत करने के बाद भी कोई हैडपम्प सुधारने नही आता है जिससे गली के लोग पानी के लिए काफी परेशान होते है और दूर तक पानी भरने जाना पड़ता है।


प्रधानमंत्री आवास योजना का नहीं मिल रहा लाभ

शहर के निर्धन वर्ग के लोगों ने प्रधानमंत्री आवास योजना के फॉर्म नगरपालिका में जमा कि, जिसे जमा किए 1 से 2 वर्ष होने को आये है, परंतु अभी तक बहुत से लोग आवास योजना से वंचित है। बहुत कम हितग्राहियों कोयोजना की एक किश्त मिली है, तो दूसरी किश्त के इंतजार में परेशान हो रहे है। नगरपालिका गरीब जनता की समस्याओं की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहंी है। आज आम जनता योजनाओं से वंचित है। ज्ञापन में कहा गया कि जल्द ही इन सभी समस्याओं का निराकरण नही होता है तो एनएसयूआई द्वारा कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया जाएगा, जिसकी संपूर्ण जिमेदारी नागरालिका की होगी।


यह रखी मुख्य मांगे

ज्ञापन में प्रधानमंत्री आवास की राशि हितग्राहियों के खातों में जल्द ही डाली जाने, शहर के सभी वार्ड में जल नल योजना का लाभ दिया जाने तथा जिन घरों में पाईपलाइन नहीं लगी है, वहां लगाकर और पानी सप्लाय का समय तय कर पूरे फोर्स के साथ समय पर जलप्रदाय किया जाने, सभी वार्ड में बिजली के पोल लगाए जाने और सभी घरों के ऊपर लटकने वाले तारों को व्यवस्थित किया जाने, शहर के सभी तालाबो की सफाई कर गहरीकरण का कार्य किया जाने, ांजी हाउस का निर्माण जल्द करने तथा सभी मटन दुकानदार को भी स्थायी जगह दी जाने के साथ नए बस स्टैंड का भी जल्द निर्माण करने हेतु मांग रखी गई। ज्ञापन में सौंपते समय एनएसयूआई से जुड़े किलु भूरिया, सूरज भूरिया, अमरसिंह भाबोर, राजू मेड़ा , कैलाश भूरिया, शंकर बामनिया, प्रकाश बामनिया, कमेश बामनिया आदि सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।


शासकीय स्नातकोत्तर महावि़द्यालय झाबुआ मंे प्राध्यापक छात्र-छात्राओं से करते है अभद्रतापूर्वक व्यवहार, अभाविप ने संस्था के प्रभारी प्राचार्य को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की

  • करीब 15 मिनिट तक इस मामले में परिषद् पदाधिकारियों ने प्राचार्य से की तीखी बहस, ज्ञापन सौंपकर रवैये में सुधार की चेतावनी दी 

jhabua news
झाबुआ। शासकीय शहीद चन्द्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ में कई प्राध्यापकों द्वारा छात्र-छात्राओं से अपमानजनक पूर्व रवैया अपनाने के चलते अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की जिला इकाई झाबुआ द्वारा इसकी शिकायत 17 जनवरी, सोमवार को दोपहर संस्था के प्रभारी प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा से की। इस मामले में अभाविप  के पदाधिकारियों ने संस्था प्राचार्य डॉ. सिन्हा से तीखी बहसबाजी की। बाद ज्ञापन सौंपकर चेतावनी स्वरूप कहा यगा कि यदि छात्र-छात्राओं के प्रति प्राध्यापकों के इस रवैय में सुधार नहीं आया, तो परिषद् कॉलेज के गेट लगाकर समस्त छात्र-छात्राओं के साथ मिलकर इस मामले में उग्र विरोध प्रदर्शन करेगा।  सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया कि अभाविप हमेशा छात्र-छात्राओं की समस्याओं के समाधान के लिए आवाज उठाता है। पिछले कई दिनों से यह देखने में आ रहा था कि शासकीय चंद्रशेखर आजाद महाविद्यालय में प्रोफेसरों का घ्ंण्टों तक विभागों में ना होना तथा बात करने पर छात्रों से अभद्रतापूर्वक व्यवहार करना समझ से परे है। जिससे सभी छात्र-छात्राओं को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ज्ञापन में ऐसे प्राध्याकों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके इस रवैये में सुधार की मांग की गई। इस अवसर पर अभाविप के जिला सह-संयोजक दर्शन कहार, नगर मंत्री वैभव जैन, आशु पवार, अचल घूमरे, सुनिल भूरिया, विनोद गणावा, राजवंश चौहान, कमलेश सिंगर, सेवन निनामा आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।


किरण फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन द्वारा आने वाली फिल्म ष्राज़  डर काष् का टीजर रिलीज किया गया


इंदौर। मकर संक्रांति के अवसर पर किरण फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म ष्राज़  डर काष् का टीजर रिलीज किया गयाए जिसके प्रोड्यूसर लोकेश शर्मा व प्रमोद जैन है और इस फिल्म को लिखा और डायरेक्ट किया है लखन गौड़  ने द्य फिल्म के अंदर मुख्य भूमिका में अयान कपूर एजागृति शेल्केए प्रवीण पुरोहितए पायल राठौड़ए आकाश मणि शिवहरे एवं  संतोष पाल है ए इसमें सभी कलाकार इंदौर एवं मध्य.प्रदेश के अलग.अलग जगहों से है एवं कुछ कलाकारों को मुंबई से भी बुलाया गया है  फिल्म की शूटिंग इंदौर एवं एमपी के कई जगहों पर की गई है द्य लगभग 3 वर्ष की कड़ी मेहनत वह लगन के साथ इस फिल्म का काम किया गया है और फाइनली अब इस फिल्म का टीजर रिलीज किया जा रहा है और 2 अप्रैल 2022 को इसका ट्रेलर रिलीज किया जाएगा द्य फिलहाल कोविड.19 की वजह से  सिनेमा हॉल कई जगहों पर बंद है और कई जगहों पर कब तक चलेंगे कुछ कहा नहीं जा सकता परंतु जब स्थिति सामान्य होगी और सिनेमा हॉल पूर्ण रूप से  खुलेंगे तो इस फिल्म को जल्द ही सिनेमा घरों  में रिलीज किया जाएगा द्य  फिल्म के डायरेक्टर लखन गौड़  से हुई बातचीत में उन्होंने बताया कि बहुत ही कम संसाधनों के बावजूद लगभग 3 साल की कड़ी मेहनत लगन और जुनून के साथ में इस फिल्म का काम कंप्लीट किया गया है इस फिल्म की पूरी टीम अपनी पूरी मेहनत लगन और ईमानदारी से तब तक इस काम में जुटी रही तब तक की है काम कंप्लीट ना हो गया इस फिल्म को कंप्लीट करने में पूरी यूनिट ने  एक टीम की तरह काम किया है सभी ने काफी मेहनत की है तब कहीं जाकर यह फिल्म कंप्लीट हो पाई है और दर्शकों के सामने प्रदर्शित करने के लिए तैयार है  फिल्म की कहानी के बारे में पूछने पर अभी सिर्फ इतना कहा गया है कि यह एक लड़की की कहानी है जो एक लड़की के जीवन संघर्ष को दर्शाती है फिल्म की थीम हॉरर है लेकिन यह एक मोटिवेशनल लव स्टोरी है जो कि काफी अलग है दर्शकों को इस फिल्म में बाकी हॉरर फिल्मों से काफी कुछ अलग देखने को मिलेगा फिल्म का म्यूजिक बहुत ही अच्छा है जो कानों को और दिल को सुकून देने वाला है जैसे तैयार किया है प्रकाश मदन मंडलोई ने जो कि इंदौर के छोटे से गांव गाजिन्दा से बिलॉन्ग करते हैं द्य  इस फिल्म की एक खास बात यह भी  है कि इस फिल्म का म्यूजिक अरेंजमेंट एक ऐसे व्यक्ति द्वारा किया गया है जो की आंखों से देख नहीं सकते फिर भी वह पूरा काम कंप्यूटर के ऊपर बिना किसी रोक.टोक के करते हैं इस फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर और गानों के म्यूजिक का अरेंजमेंट किया है विजय पांचाल ने जो की इंदौर के दतोदा जैसे छोटे से गांव में रहते हे  उनके साथ काम करके बहुत ही खुशी का अनुभव हुआ जो की एक चमत्कार से काम नहीं हे ए लखन गौड़ बताते हे की विजय पांचाल के कंप्यूटर में मॉनिटर ही नहीं हे लेकिन फिर भी वह कंप्यूटर इतने स्पीड में चलते हे और आपने काम को इतनी कुशलता से करते हैं की आप उनको देखकर हैरान रह जाते हे की कैसे वह आखो से देख नहीं पाने के बावजूद भी एक सामान्य व्यक्ति से भी अच्छा कंप्यूटर चला लेते हे उनके साथ काम करना किसी रोमांच से कम नहीं हे। लखन गौड़ बताते हैं की हमारी पूरी टीम ने पुरे दिल से इस फिल्म को बनाया हे और हमें पूरी उम्मीद और भरोसा हे की ये फिल्म लोगो के दिलों तक जरूर पहुंचेगी  द्य


श्वेतांबर जैन श्री संघ झाबुआ अध्यक्ष (व्यवस्थापक) मनोहरलाल भंडारी ने पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी की घोषणा की, सचिव अनिल रूनवाल एवं कोषाध्यक्ष जयेश संघवी हुए मनोनीत, नव-मनोनीत पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी को समाजजनांे ने दी शुभकामनाएं


jhabua news
झाबुआ। श्वेतांबर जैन श्री संघ पेढ़ी श्री ऋषभदेव बावन जिनालय झाबुआ के पिछले दिनों निर्विरोध एवं सर्व-सम्मति से चुने गए अध्यक्ष (व्यवस्थापक) मनोहरलाल भंडारी ने 17 जनवरी, सोमवार को संघ के समस्त पदाधिकारियों एवं कार्यकारिणी का मनोनयन किया है। जिसमें सचिव पद की मुख्य जिम्मेदारी अनिल रूनवाल एवं कोषाध्यक्ष जयेश हस्तीमल संघवी को बनाया गया है। पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी के अलावा विभिन्न समितियां भी गठित की गई है। जानकारी देते हुए समाज अध्यक्ष मनोहरलाल भंडारी ने बताया कि वरिष्ठ उपाध्यक्ष निर्मल मेहता, अशोक राठौर, अभय धारीवाल, यशवंत भंडारी, प्रकाश कटारिया एवं भरत बाबेल, सह-सचिव सुनिल संघवी, मुकेश संघवी, सुनिल राठौर, राजेन्द्र आर भंडारी, कमलेश कोठारी, अमित मेहता एवं देवेन्द्र सेठिया, सह-कोषाध्यक्ष रचित कटारिया, प्रवक्ता डॉ. प्रदीप संघवी, संतोष रूनवाल, योगेन्द्र नाहर, संदीप जैन ‘राजरतन’ एवं रिंकू रूनवाल को बनाया गया।

व्यवस्था एवं निर्माण प्रभारी भी बनाए गए

स्वाध्याय एवं जीवदया समिति प्रभारी धर्मचन्द मेहता एवं मधुकर शाह, आभूषण प्रभारी अनिल राठौर एवं महेश संघवी, विधि-प्रकोष्ठ प्रभारी आनंदीलाल संघवी, राजेन्द्र संघवी, उत्तम जैन एवं अखिलेश संघवी, सोशल मीडिया प्रभारी मुकेश लोढ़ा, एकाउंटेंट एवं देखरेख प्रभारी बाबुलाल कोठारी एवं अशोक कटारिया, गणधर भवन (नवलखा भवन) प्रभारी सुभाष कोठारी, वैयावच्च व्यवस्था में राजेश मेहता, संजय मेहता, रचित कटारिया, अंकित कटारिया, राजेन्द्र भंडारी, अमित जैन, राजेश सेठिया, मनोज जैन ‘नाकोड़ा’, रमेश छाजेड़, संस्कार मेहता, पुनित सकलेचा, संगीत एवं पूजा प्रभारी ओएल जैन, निखिल भंडारी, दीपक मुथा, विजय कटारिया एवं लवेश वागरेचा तथा निर्माण कार्य प्रभारी के रूप में संजय कांठी, संजय सकलेचा, रत्नदीप सकलेचा, अंकित कटारिया, शुभम कोठारी एवं नवीन वागरेचा को जिम्मेदारी सौंपी गई है।


सलाहकार समिति में 30 एवं कार्यकारिणी में 9 सदस्य शामिल

इसी प्रकार सलाहकार समिति में वरिष्ठ राजमल राठौर, आनंदीलाल संघवी, बाबुलाल कोठारी,  सोहनलाल कोठारी, हुक्मीचंद छाजेड़, अशोक कटारिया, राजेन्द्र मेहता, संजय मेहता, मुकेश जैन ‘नाकोड़ा’, अशोक सकलेचा, हेमेन्द्र बाबेल, इंदरसेन संघवी, मनोज बाबेल, डॉ. संतोष प्रधान, राकेश मेहता, मनोज संघ्ज्ञवी, राजेन्द्र जैन ‘शुभम’, कांतिलाल पगारिया, सुरेन्द्र कांठी, संजय पप्पू वागरेचा, निखिल भंडारी, दिपेश सकलेचा बबलूभाई, आशीष पुखराज कांठी, प्रतीक मोदी, दीपक मुथा, अनिल कोठारी, मनोज जैन ‘मनोकामना’, अमित सकलेचा एवं जयेश को लिया गया है। कार्यकारिणी सदस्यों में तेजप्रकाश कोठारी ‘भैयाजी’, मुकेश रूनवाल, महेन्द्र मुथा, अनिल संघवी, दिलीप सेठिया, नरेन्द्र संघवी, संजय कांठी, प्रमोद भंडारी एवं अर्पित कोठारी सम्मिलित रहेंगे। संपूर्ण नव-मनोनीत कार्यकारिणी को समाजजनों ने शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए हर्ष व्यक्त किया है।


अंशधारको की बैठक आयोजित की गई


jhabua news
झाबुआ। नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक श्री नितिन अलोने ने बताया कि 16 जनवरी 2022 को नाबार्ड प्रायोजित झाबुआ कड़कनाथ किसान उत्पादक कंपनी के ग्राम मानपुरा, विकासखंड झाबुआ में अंशधारको की बैठक आयोजित की गई। ग्राम मानपुरा में कम्पनी की 32 महिला अंशधारक है। इन महिलाओं को कृषि विज्ञान केंद्र, झाबुआ की योजनाओं का लाभ दिलाने के उद्देश से बैठक का आयोजन किया गया था। गांव में 11 स्वयं सहायता समूह गठित किए गए है जिनमे से 9 समूह सक्रिय है। गांव के 4 संयुक्त देयता समूहों के 20 महिलाओं को मध्य प्रदेश ग्रामीण बैंक ने कुल छ लाख का ऋण वितरित किया है। इन महिलाओं की ऋण अदायगी नियमित है। आजीविका मिशन का ग्राम संघटन सक्रियता से कार्यरत है।इस गांव की महिलाए नाबार्ड प्रायोजित कल्याणपुरा ग्रामीण हाट में सब्जी बेचती है। इन सभी विशेषताओं के कारण ग्राम मानपुरा को कृषि विज्ञान केन्द्र, झाबुआ की जैव विविधता योजना में शामिल करने का निर्णय लिया गया। कृषि विज्ञान केंद्र के डॉ. श्री चंदन कुमार ने महिलाओं की आवश्यकता के अनुसार गांव में किए जानेवाले कार्यों की जानकारी प्रदान की। नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक श्री नितिन अलोने ने बताया कि सभी कार्य ग्राम संघटन के माध्यम से किए जायेंगे जिससे समाज की भागीदारी सुनिश्चित की जा सके। कार्यक्रम का सफल संयोजन सारा सेवा संस्थान के अध्यक्ष श्री जिम्मी निर्मल और उनकी टीम ने किया।


भारत सरकार के 10000 किसान उत्पादक कंपनी योजना के तहत झाबुआ जिले में दो कंपनियों का गठन इंटीग्रेटेड सोशियो इकनोमिक डेवलपमेंट सेंटर संस्था द्वारा किया गया


झाबुआ। नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक श्री नितिन अलोने ने बताया कि नाबार्ड प्रायोजित और भारत सरकार के 10000 किसान उत्पादक कंपनी योजना के तहत झाबुआ जिले में दो कंपनियों का गठन इंटीग्रेटेड सोशियो इकनोमिक डेवलपमेंट सेंटर संस्था द्वारा किया गया है। एक कंपनी की स्थापना पेटलावद विकास खंड के ग्राम पंथ बोराली में की गई है। दूसरी कंपनी थांदला विकासखंड के ग्राम परवलिया में स्थापित है। जिले के पांच सौ पचास किसान इन दो कंपनियों के अंशधारक बन गए है। पेटलावद स्थित कम्पनी ने व्यवसाय प्रारम्भ कर दिया है। इन कंपनियों के संचालक मंडल सदस्यों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण थांदला में सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण में मुख्यतः किसान कंपनी के सफल संचालन हेतु आवश्यक नियम, कानून की जानकारी प्रदान की गई।  प्रशिक्षण को प्ैम्क् संस्था के श्री द्वारका सिंह, आजीविका मिशन के जिला परियोजना अधिकारी  श्री देवेंद्र श्रीवास्तव, मध्य प्रदेश ग्रामीण बैंक, परवलिया के शाखा प्रबंधक श्री अम्बरीष, मध्य प्रदेश ग्रामीण बैंक, थांदला के शाखा प्रबंधक श्री शिवहरे और नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक नितिन अलोने ने संबोधित किया। सभी संचालको ने प्रशिक्षण के दौरान प्रदान जानकारी को अत्यंत आवश्यक और महत्वपूर्ण माना। उन्होंने इस जानकारी के आधार पर कंपनी को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया।


पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण कार्यक्रम-2022

  • रजिस्ट्रीकरण अधिकारी/सहायक रजिस्ट्रीकरण/अपील प्राधिकारी, अधिकारी क्षैत्र नियुक्त

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा म.प्र. पंचायत निर्वाचन नियम 1995 के नियम-9 एवं 14 के अनुसार पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण कार्यक्रम हेतु मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग के पत्र क्रमांक-एफ-35/पी.एन-01/2022/तीन/09 भोपाल, दिनंाक 12 जनवरी 2022 के संलग्न कार्यक्रम अनुसार मतदाता सूची तैयार करने की कार्यवाही हेतु निम्नानुसार अधिकारियों को कार्यालय पत्र क्रमांक 36/स्था.निर्वा/ दिनांक 13 जनवरी 2022 से रजिस्ट्रीकरण/सहायक रजिस्ट्रीकरण/अपील प्राधिकारी पदाभिहित किया गया है। रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-झाबुआ, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण जनपद पंचायत क्षैत्र झाबुआ, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रामा, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-रामा, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण जनपद पंचायत क्षैत्र रामा, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रानापुर, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-रानापुर, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण जनपद पंचायत क्षैत्र रानापुर एवं रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-मेघनगर, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण जनपद पंचायत क्षैत्र मेघनगर, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-थांदला, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण जनपद पंचायत क्षैत्र थांदला, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-पेटलावद, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण जनपद पंचायत क्षैत्र पेटलावद, को पदाभिहित किया गया है।


नगरीय निकायों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण कार्यक्रम-2022

  • रजिस्ट्रीकरण अधिकारी/सहायक रजिस्ट्रीकरण/अपील प्राधिकारी, अधिकारी क्षैत्र नियुक्त

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा के आदेशानुसार मध्यप्रदेश नगरपालिका निर्वाचन नियम 1994 के नियम-3 के अनुसार नगरीय निकायों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्यक्रम 2022 हेतु मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग के पत्र क्रमांक एफ-52/एनएन-01/2022/पांच/09 दिनांक 12 जनवरी 2022 संलग्न कार्यक्रम अनुसार मतदाता सूची तैयार करने हेतु निम्नानुसार अधिकारियों को रजिस्ट्रीकरण/सहायक रजिस्ट्रीकरण/अपील प्राधिकारी पदाभिहित किया जाता है। जिसमें रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-झाबुआ, अपील प्राधिकारी अपर कलेक्टर झाबुआ, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण नगरपालिका परिक्षेत्र क्षैत्र झाबुआ, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार, तहसील-पेटलावद, सहायक रजिस्ट्रीकरण का नाम नायब तहसीलदार तहसील पेटलावद, अपील प्राधिकारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण नगरपरिषद क्षैत्र पेटलावद, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम तहसीलदार, तहसील-थांदला, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम नायब तहसीलदार तहसील थांदला, अपील प्राधिकारी अनुविभागीय अधिकारी तहसील थांदला, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण नगरपरिषद क्षैत्र थांदला एवं रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार तहसील रानापुर, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम नायब तहसीलदार तहसील रानापुर, अपील प्राधिकारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण नगरपरिषद क्षैत्र रानापुर, रजिस्ट्रीकरण प्राधिकारी का नाम प्रभारी तहसीलदार तहसील मेघनगर, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का नाम मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत मेघनगर, अपील प्राधिकारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर, अधिकारी क्षैत्र संपूर्ण नगरपरिषद क्षैत्र मेघनगर।


कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर पेटलावद क्षेत्र में अनुग्रह राशि का वितरण


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के आदेशानुसार कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर अनुग्रह की राशि न्यायालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत के द्वारा मृतक स्व. श्री कांतिलाल पिता श्री गेंदालाल की वैध वारिसान श्री मती राधाबाई ग्राम तारखेडी को 50 हजार रूपए, मृतक स्व. श्री अनिल पटवा की वैध वारिसान श्रीमती अल्पना निवासी बामनिया रोड पेटलावद को 50 हजार रूपए, मृतक स्व. श्रीमती सीमा पति श्री संजय जैन वैध वारिसान निवासी सुभाष मार्ग पेटलावद को 50 हजार रूपए, मृतक स्व. श्रीमती सीमा पति श्री गणपतलाल लखारा (चौहान) को 50 हजार रूपए, मृतक स्व. श्रीमती भूरीबाई पति श्री संबू डामर वैध वारिसान निवासी ग्राम रामपुरिया तहसील पेटलावद को 50 हजार रूपए, मृतक स्व. अम्बालाल की वैध वारिसान श्रीमती पुष्पा निवासी ग्राम बोलासा तहसील पेटलावद को 50 हजार रूपए सभी को यह राशि उनके बैंक खातों में जारी करने की स्वीकृति दिनांक 13 जनवरी 2022 को की जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं: