लखीमपुर खीरी हिंसा में दो और गिरफ्तार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 2 जनवरी 2022

लखीमपुर खीरी हिंसा में दो और गिरफ्तार

two-more-arrest-in-lakhimpur-khiri
लखीमपुर खीरी (उप्र) दो जनवरी, उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया क्षेत्र में पिछले वर्ष तीन अक्टूबर को हुई हिंसा की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। तिकुनिया इलाके में तीन अक्टूबर को किसान आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसान और एक पत्रकार तथा प्रतिक्रिया स्वरूप दूसरे पक्ष के हमले में भारतीय जनता पार्टी के दो कार्यकर्ताओं और एक चालक की मौत हो गई थी। भाजपा कार्यकर्ताओं की तरफ से दर्ज कराई गई प्राथमिकी में एसआईटी ने शनिवार की शाम दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एसआईटी अधिकारियों के मुताबिक गिरफ्तार किये गये आरोपियों का नाम तिकुनिया कोतवाली सीमा अंतर्गत खैरतिया गांव निवासी कंवलजीत सिंह और पलिया कोतवाली क्षेत्र के बबौरा निवासी कमलजीत सिंह है। इसमें कहा गया है कि इन पर भाजपा कार्यकर्ताओं शुभम बाजपेयी और श्याम सुंदर निषाद तथा एक चालक हरिओम की हत्या में शामिल होने का आरोप है। इसके अनुसार इस मामले में एसआईटी अब तक कुल छह लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, इसके पहले चार अन्य विचित्र सिंह, गुरविंदर सिंह, रंजीत सिंह और अवतार सिंह को गिरफ्तार किया गया था जो जेल में निरुद्ध हैं। गौरतलब है कि तिकुनिया हिंसा में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के पुत्र आशीष मिश्रा और उसके दर्जन भर साथियों के खिलाफ चार किसानों को थार जीप से कुचलकर मारने और उन पर फायरिंग करने जैसे कई गंभीर आरोप हैं। गृह राज्य मंत्री का पुत्र भी अपने साथियों समेत उपरोक्‍त आरोपों में जेल में बंद हैं। आशीष मिश्रा और उसके साथियों के खिलाफ किसानों की तरफ से दी गई तहरीर के आधार पर हत्या, हत्या के प्रयास समेत कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: