बेतिया : वैक्सीनेशन एवं टेस्टिंग की प्रत्येक दिन करें सघन समीक्षा : डीएम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 जनवरी 2022

बेतिया : वैक्सीनेशन एवं टेस्टिंग की प्रत्येक दिन करें सघन समीक्षा : डीएम

  • * 15-18 आयुवर्ग के किशोर-किशोरियों को अविलंब दिलाएं कोविड-19 टीका
  • * जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त एंबुलेंस, कोविड एसेंसिएल ड्रग, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर सहित ह्यूमन रिसोर्स की समुचित व्यवस्था कराने का निर्देश
  • * अस्पतालों में भर्ती मरीजों की अन्य आवश्यक स्वास्थ्य जांच सहित कोविड जांच अनिवार्य रूप से कराने का निर्देश

vaccination-inspaction-betiya
बेतिया। कोविड-19 संक्रमण के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के लेकर जिले में किये जा रहे कार्यों यथा- वैक्सीनेशन, टेस्टिंग सहित सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में सभी चिकित्सीय व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त कराने आदि की लगातार समीक्षा जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा की जा रही है ताकि विषम परिस्थितियों में जिलेवासियों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े। जिलेवासियों को इसी जिले में सभी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करायी जा सके। इसी परिप्रेक्ष्य में आज कार्यालय प्रकोष्ठ में की जा रही तैयारियों की समीक्षा जिलाधिकारी द्वारा की गयी। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वैक्सीनेशन एवं टेस्टिंग की प्रत्येक दिन सघन समीक्षा एवं अनुश्रवण की जाय तथा वैक्सीनेशन एवं टेस्टिंग की गति को बढ़ायी जाय। उन्होंने कहा कि अबतक जिन लोगों द्वारा कोविड-19 टीका नहीं लिया गया है, उन्हें तुरंत टीका के दोनों डोज से लाभान्वित करें।  उन्होंने कहा कि जिले में मिशन मोड में 15-18 आयुवर्ग के किशोर-किशोरियों को टीकाकरण से आच्छादित करने का कार्य चल रहा है, इसे ससमय पूर्ण कर लिया जाय। उन्होंने निर्देश दिया कि जिले के सभी हाईस्कूलों में कैम्प लगाया जाय। साथ ही निजी विद्यालयों के प्रबंधकों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए वहां के बच्चों को भी टीकाकरण से आच्छादित किया जाय। किशोर-किशोरियों को अविलंब कोविड-19 टीका से आच्छादित करने हेतु मेडिकल टीम की संख्या बढ़ायी जाय। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त एंबुलेंस, र्मोच्युरी वैन, कोविड एसेंसिएल ड्रग, ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था, ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता, वेंटिलेटर सहित ह्यूमन रिसोर्स की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की अन्य आवश्यक जांच सहित उनकी कोविड जांच अनिवार्य रूप से करायी जाय।  उन्होंने कहा कि अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए सभी व्यवस्थाएं अपडेट रखनी चाहिए। मरीजों के बेड पर ऑक्सीजन सप्लाई, कोविड अनुरूप दवा सहित अन्य सामग्री हर हाल में उपलब्ध होनी चाहिए। मरीजों को किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े, इसका विशेष ध्यान रखें।   समीक्षा के क्रम में बताया गया कि जिले में प्रत्येक दिन लगभग 05 हजार व्यक्तियों की टेस्टिंग करायी जा रही है। जिलाधिकारी ने निदेश दिया कि टेस्टिंग की गति को और अधिक बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भीड़भाड़ वाले स्थानों यथा-रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, हाट-बाजार आदि जगहों पर प्रत्येक दिन कैम्प लगाकर टेस्टिंग किया जाय।   जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि माईकिंग सहित अन्य माध्यमों से आमजन को कोविड संक्रमण के नए वैरिएंट के प्रति सजग एवं सतर्क रहने को बताएं। उन्हें बतायें कि वे मास्क का प्रयोग हमेशा करें, सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करें, सैनेटाईजर का प्रयोग करें। साथ ही कोविड अनुकूल अन्य व्यवहार को अपनायें। उन्हें यह भी बताएं कि अबतक जिन लोगों ने टीका के दोनों डोज नहीं लिया है, वे तुरंत अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर अवश्य टीका लें। कोविड संक्रमण से बचाव हेतु टीका के दोनों डोज अतिआवश्यक है।  सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि जिले में कुल-458 जगहों पर टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। साथ ही टीकाकरण से वंचित लोगों के घरों पर जाकर भी टीका दिया जा रहा है।  इस अवसर पर अपर समाहर्ता, श्री नंदकिशोर साह, श्री अनिल राय, सिविल सर्जन, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, सभी डीपीएम, स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: