उत्तर प्रदेश विधानसभा के चौथे चरण में 60.68 फीसदी मतदान - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 फ़रवरी 2022

उत्तर प्रदेश विधानसभा के चौथे चरण में 60.68 फीसदी मतदान

60.68-percent-poll-in-up-fourth-phase
लखनऊ 23 फरवरी, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में नौ जिलों की 59 सीटों के लिये बुधवार को औसतन 60.68 फीसदी मतदान हुआ। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में 62.55 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस लिहाज से आज संपन्न मतदान का प्रतिशत 2017 के मुकाबले 2.06 फीसदी कम है। चौथे चरण में 91 महिला उम्मीदवारों समेत 624 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में कैद हो गया जिसका फैसला दस मार्च को मतपत्रों की गिनती पर होगा। निर्वाचन आयोग के सूत्रों के अनुसार बांदा में 57. 74 फीसदी मतदान हुआ जबकि फतेहपुर में 60.07, हरदोई में 58.99,लखीमपुर खीरी में 65.54,रायबरेली में 61.90,सीतापुर में 62.66 और उन्नाव में 57.73 फीसदी मतदान हुआ। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि मतदान का चौथा चरण शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ और कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नही है। चौथे चरण में प्रदेश के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह और कारागार मंत्री जय कुमार सिंह की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। इनमें से जय कुमार सिंह उर्फ जैकी भाजपा की सहयोगी अपना दल (एस) के उम्मीदवार हैं। इसके अलावा रक्षा मंत्री एवं लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी और आवास और शहरी मामलों के राज्य मंत्री कौशल किशोर की प्रतिष्ठा भी इस चरण के चुनाव परिणाम में परखी जायेगी। लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा, कानून मंत्री बृजेश पाठक,बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा, केन्द्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर, मंत्री आशुतोष टंडन,महेन्द्र सिंह, विधायक पंकज सिंह ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इनके अलावा सूबे के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी एवं सूबे के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और लोगों से कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुये वोट डालने की अपील की। रायबरेली में भाजपा प्रत्याशी अदिति सिंह और उन्नाव में भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने मतदान किया। पीलीभीत में पूरनपुर इलाके के बूथ संख्या 315 में नशे में धुत पीठासीन अधिकारी ने हंगामा किया, जिसकी सूचना मिलते ही पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। अधिकारी का मेडिकल कराया जा रहा है। उधर, सपा ने रायबरेली के बछरांवा में में बूथ संख्या 237 पर ईवीएम की खराबी को लेकर मतदान प्रभावित होने की शिकायत चुनाव आयोग से की। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि कुछ देर के लिये मतदान रूका था जिसे बहाल कर दिया गया है।


सपा का आरोप था कि उन्नाव में मोहान विधानसभा के बूथ संख्या 191 और सीतापुर के विसंवा क्षेत्र में मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में मतदान करने के लिये दवाब बनाने की कोशिश की जा रही है। लखनऊ में पश्चिम विधानसभा के बूथ संख्या 171 में वोटर लिस्ट में गड़बड़ी का मामला सामने आया। सआदतगंज के सेंट मैरी पब्लिक कालेज स्थित एक बूथ पर एक 85 वर्षीय बुजुर्ग ने नाम न होने पर आपत्ति जतायी। उनका कहना था कि वोटर लिस्ट में नाम न होने की वजह प्रशासन की लापरवाही के चलते उन्हे मृत दिखा दिया गया है। बांदा जिले के नरैनी विधानसभा क्षेत्र के दशरथ पुरवा गांव में अन्ना मवेशियों की समस्या से त्रस्त ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया। बहिष्कार की सूचना पर मुख्य विकास अधिकारी वेद प्रकाश मौर्य, परगना मजिस्ट्रेट नरैनी राजेंद्र सिंह तत्काल दशरथपुरवा गांव पहुंचे जहां काफी देर तक समझाने के बाद भी ग्रामीण मतदान के लिए राजी नहीं हुए। लखीमपुरखीरी जिले में धौरहरा के सिर्सया बूथ संख्या 145 में एक मतदानकर्मी को दिल का दौरा पड़ने से मतदान आंशिक रूप से प्रभावित हुआ। कर्मचारी को अस्पताल में कराया गया है। राजनाथ सिंह ने सुबह साढ़े नौ बजे स्कॉलर होम स्कूल गोमतीनगर स्थित मतदान केन्द्र पर वोट डाला और कहा कि इस बार का चुनाव सुशासन और विकास के मुद्दे पर है। सरोजनी नगर सीट से सपा उम्मीदवार अभिषेक मिश्रा ने मतदान करने के बाद दावा किया कि उनकी पार्टी बहुमत से जीत रही है। लखनऊ में बख्शी का तालाब (बीकेटी) विधानसभा के बूथ संख्या 141 पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) खराब होने से मतदान प्रभावित हुआ हालांकि जल्द ही उसे दुरूस्त कर लिया गया वहीं लखनऊ उत्तरी विधानसभा में शिया पीजी कालेज में बूथ संख्या 97 में ईवीएम मशीन में दिक्कत आने से मतदान में बाधा आयी। उन्नाव, लखीमपुर और रायबरेली में भी कुछ पोलिंग बूथों पर तकनीकी खराबी के चलते मतदान आंशिक रूप से प्रभावित हुआ। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सभी मतदान केन्द्रों पर कोविड प्रोटोकाल के तहत मतदान जारी है। चाैथे चरण में 2.13 करोड़ मतदाता, 91 महिला प्रत्याशियों सहित कुल 624 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। चौथे चरण में बिंदकी, हुसैनगंज और फतेहपुर विधानसभा क्षेत्रों को संवेदनशील घोषित किया गया है। इनके 590 मजरे और 3393 मतदेय स्थलों को अतिसंवेदनशील के रूप में चिन्हित किया गया है। इन मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किये गये हैं। चौथे चरण के मतदान वाली 59 सीटों में 2017 के चुनाव में भाजपा ने 50, सपा ने चार, बसपा और कांग्रेस ने दो दो और अपना दल ने एक सीट जीती थी। 

कोई टिप्पणी नहीं: